लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

HP Cabinet Decisions: प्री प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी, जलवाहकों को तोहफा, सैकड़ों पद भरे जाएंगे

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Published by: Krishan Singh Updated Thu, 22 Sep 2022 10:02 PM IST
हिमाचल कैबिनेट बैठक।
1 of 9
विज्ञापन
हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की बैठक गुरुवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में शिमला में आयोजित की गई। बैठक में विभिन्न विभागों में रिक्त पदों को भरने के अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य संबंधित कई संस्थानों को स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया गया है। कैबिनेट की बैठक में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत राजकीय प्राथमिक विद्यालयों में 3 से 6 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों के लिए हिमाचल प्रदेश आरंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षक योजना-2022 को स्वीकृति प्रदान की गई।  योजना के तहत सरकारी स्कूलों में 4700 प्री प्राइमरी शिक्षक भर्ती किए जाएंगे। आंगनबाड़ी वर्करों को भर्ती प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया है। योजना के अंतर्गत छोटे बच्चों का स्वस्थ मानसिक विकास सुनिश्चित करने के दृष्टिगत आरंभिक वर्षों में उनके मस्तिष्क की उचित देखभाल एवं प्रोत्साहन की परिकल्पना की गई है। योजना के तहत सामाजिक-आर्थिक रूप से सुविधाओं से वंचित जिलों और क्षेत्रों को विशेष प्राथमिकता प्रदान की जाएगी।

ये भी पढ़ें: Himachal: दलाई लामा बोले- मैं भारत में मरना पसंद करूंगा, न कि चीन के कृत्रिम अफसरों से घिरकर

शिक्षा विभाग की ओर से भर्ती के लिए भर्ती एवं पदोन्नति(आरएंडपी) नियम तैयार किए जाएंगे और जब तक आरएंडपी नियमों को अंतिम रूप प्रदान नहीं किया जाता तब तक विभाग हिमाचल प्रदेश राज्य इलेक्ट्रॉनिक्स विकास निगम(एचपीएसईडीसी) के माध्यम से आउटसोर्स पर शिक्षक नियुक्त करेगा। नर्सरी टीचर एजुकेशन/प्री स्कूल एजुकेशन/पूर्व बाल्यकाल शिक्षा कार्यक्रम में एक वर्ष का डिप्लोमा करने वाले अभ्यर्थियों की योग्यता में मापदंडों के अनुसार पात्र बनाने के लिए विभाग ब्रिज पाठ्यक्रम तैयार करेगा। इसके तहत शिक्षक को प्रतिमाह 9,000 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

सरसों तेल एपीएल को 133 और बीपीएल को 123 रुपये प्रतिलीटर मिलेगा
कैबिनेट ने राशन डिपुओं में मिलने वाले खाद्य तेलों पर सात माह सितंबर 2022 से मार्च 2023 तक सब्सिडी दोगुनी करने को मंजूरी दी है। खाद्य आपूर्ति निगम ने निजी कंपनी से 143 रुपये प्रतिलीटर सरसों तेल लेना तय किया। इसमें सरकार ने बीपीएल उपभोक्ताओं को 20 रुपये और एपीएल को 10 रुपये सब्सिडी दी है। दोगुनी सब्सिडी के तहत अब एपीएल उपभोक्ताओं को 133 रुपये और बीपीएल परिवारों को 123 रुपये प्रतिलीटर सरसों तेल मिलेगा। वहीं, एपीएल उपभोक्ताओं को रिफाइंड तेल 119 और बीपीएल परिवारों को 109 रुपये प्रतिलीटर मिलेगा। 
 
हिमाचल कैबिनेट बैठक।
2 of 9
499 पैरा कुक और 563 पैरा हेल्पर नियुक्त करने का निर्णय, अक्षय ऊर्जा एकीकरण के 2000 करोड़ की योजना
बैठक में प्रदेशभर के 499 वन विश्राम गृहों और निरीक्षण कुटीर के उचित रख-रखाव और भोजन प्रबंध के लिए वन विभाग में 499 पैरा कुक और 563 पैरा हेल्पर नियुक्त करने का निर्णय लिया गया। प्रदेश में अक्षय ऊर्जा एकीकरण के लिए विश्व बैंक से स्वीकृत 2,000 करोड़ रुपये की योजना को मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है। पांच वर्ष की इस परियोजना के लिए वर्ल्ड बैंक 1,600 करोड़ और प्रदेश सरकार 4,000 करोड़ रुपये खर्च करेगी। हिमाचल प्रदेश पावर सेक्टर डेवलपमेंट प्रोग्राम के लिए वर्ल्ड बैंक वर्ष 2023 में बजट जारी करेगा। वर्ष 2023 से 2028 तक के लिए यह बजट स्वीकृत हुआ है। प्रोग्राम के तहत पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन और बोर्ड पर बिजली नेटवर्क की मजबूती का जिम्मा रहेगा। प्रदेश में 200 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन पावर कारपोरेशन और हिम ऊर्जा के माध्यम से किया जाएगा। बिजली प्रोजेक्ट लगने से पर्यावरण और सामाजिक नुकसान का अध्ययन कर सुधार करने के लिए रिपोर्ट बनाई जाएगी। बिजली की खरीद और बिक्री के लिए स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर का अपग्रेडेशन किया जाएगा। ऊर्जा क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई जाएगी। अक्षय ऊर्जा में वे सारी ऊर्जा शामिल हैं जो प्रदूषण कारक नहीं हैं। जिनके स्रोत का क्षय नहीं होता या जिनके स्रोत का पुन: भरण होता रहता है। सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, जलविद्युत ऊर्जा, ज्वार भाटा से प्राप्त ऊर्जा, बायोगैस और जैव ईंधन अक्षय ऊर्जा कहे जाते हैं। इस प्रोग्राम के तहत जल विद्युत की कोई भी नई परियोजना शुरू नहीं की जाएगी। पहले से स्थापित परियोजनाओं को ही मजबूत किया जाएगा। परियोजनाओं की क्षमता बढ़ाने के लिए अध्ययन भी किया जाएगा।
विज्ञापन
शिक्षा विभाग।
3 of 9
जलवाहकों को राहत
बैठक में शिक्षा विभाग में कार्यरत जलवाहकों की सेवाओं को नियमित करने का भी निर्णय लिया। इनमें 31 मार्च और 30 सितंबर 2022 तक 11 साल (अंशकालिक जल वाहक और दैनिक वेतनभोगी के रूप में) का सेवाकाल पूर्ण करने वाले जलवाहक शामिल हैं। सोलन जिले के 50 बिस्तरों वाले सिविल अस्पताल धरमपुर में डॉक्टरों के तीन पद, पैरा मेडिकल स्टाफ के दो पद और नर्सों के छह पद सृजित करने का भी निर्णय लिया।
हिमाचल कैबिनेट की बैठक
4 of 9
नई उप तहसीलों को खोलने की मंजूरी
बैठक में सोलन जिले के सुबाथू में नई उप तहसील खोलने व विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों के सृजन व भरने की स्वीकृति प्रदान की गई। शिमला जिले के ठियोग विधानसभा क्षेत्र के मतियाना में नई उप तहसील खोलने व इसके लिए विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों के सृजन और भरने की मंजूरी दी। शिमला जिले में विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों के सृजन एवं भरने के साथ तहसील। बिलासपुर जिले की झंडूता तहसील अंतर्गत तलाई में नई उप तहसील खोलने व विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों के सृजित कर भरने का फैसला लिया। इसी तरह शिमला ग्रामीण के तहत तहसील के बलदेहां में नई उप तहसील खोलने को मंजूरी दी गई। इसके लिए विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों को सृजित कर भरने का भी फैसला लिया गया। बैठक में शिमला जिले की ग्रामीण तहसील शिमला के अंतर्गत कोटी में नई उपतहसील खोलने व विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों को सृजित कर भरने की मंजूरी दी।  
विज्ञापन
विज्ञापन
अस्पताल(सांकेतिक)
5 of 9
अस्पताल किए स्तरोन्नतकैबिनेट ने कांगड़ा जिले के नागरिक अस्पताल ज्वाली की क्षमता 50 से बढ़ाकर 100 बिस्तर के अस्पताल के रूप में स्तरोन्नत करने और आवश्यक पदों को भरने का भी निर्णय लिया गया। इसी प्रकार मंडी जिले के नागरिक अस्पताल गोहर को भी 50 बिस्तरों से स्तरोन्नत कर 100 बिस्तरों वाले अस्पताल, मंडी जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चौक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में मंडी जिले की धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के टॉरखोला में नया आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने तथा आवश्यक पदों के सृजन का निर्णय लिया गया।  धर्मपुर क्षेत्र के पपलोग और ग्राम पंचायत टीहरा के सकोह में नए आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने तथा विभिन्न श्रेणियों के छह पद सृजित कर भरने का निर्णय लिया गया। इसी तरह गोहर विकास खंड की ग्राम पंचायत बाड़ा में कृषि बिक्री केंद्र खोलने का निर्णय लिया गया। मंडी जिले की ग्राम पंचायत सरी के गांव फीहड़, ग्राम पंचायत चौकी के गांव चौकी और ग्राम पंचायत गवैला के गांव छेज में आवश्यक पदों के सृजन  के साथ स्वास्थ्य उप केंद्र खोलने को भी स्वीकृति प्रदान की गई। मंडी जिले के गांव स्योह में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 30 बिस्तरों वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया। निहरी तहसील के गांव पौड़ाकोठी में आवश्यक पदों के सृजन व भरने के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने को मंजूरी दी गई। सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत छातर के गांव छातर में नया स्वास्थ्य उप केंद्र खोलने का निर्णय लिया।
 
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00