बिजली बोर्ड ने कर ली है तैयारी, अप्रैल से लग सकता है झटका

अमर उजाला ब्यूरो, शिमला Updated Sun, 14 Jan 2018 12:39 PM IST
Himachal Electricity Board to hike power tariff from april 2018
हिमाचल के साढ़े 19 लाख घरेलू उपभोक्ताओं और 30 हजार औद्योगिक घरानों को आगामी अप्रैल माह से बिजली का झटका लग सकता है। राज्य बिजली बोर्ड ने साल 2018 -19 में बिजली की दरें बढ़ाने की तैयारी शुरू कर दी है।

साल 2017 में हुए 252 करोड़ रुपये के घाटे का हवाला देते हुए बोर्ड ने विद्युत नियामक आयोग में पिटीशन दायर कर दी है। हालांकि, इसमें दरें बढ़ाने की मांग नहीं की है, लेकिन बिजली बोर्ड का खर्च बढ़ने और बीते साल भी दरें नहीं बढ़ने की दुहाई देते हुए आर्थिक स्थिति को खराब बताया गया है।

बिजली बोर्ड का सालाना खर्च करीब 5532 करोड़ रुपये है। वर्तमान की बिजली दरों से बोर्ड को सालाना 4511 करोड़ रुपये और पड़ोसी राज्यों को बिजली बेचकर 768 करोड़ रुपये की आय हो रही है।

ऐसे में साल 2017 के दौरान बिजली बोर्ड को 252 करोड़ का घाटा हुआ है। साल 2017 के शुरू में हिमाचल में हुई भारी बर्फबारी से बोर्ड को भारी नुकसान उठाना पड़ा है।

आय के साधन कम होने और खर्च अधिक होने की बात बोर्ड ने नियामक आयोग से उठाई है। बोर्ड की याचिका पर आने वाले दिनों में नियामक आयोग स्थिति स्पष्ट करेगा।

आयोग से जवाब आने के बाद बोर्ड फिर से याचिका दायर कर बिजली दरें बढ़ाने का आग्रह करेगा। बता दें कि साल 2017 में राज्य विद्युत नियामक आयोग ने बिजली महंगी करने से इंकार कर दिया था।
आगे पढ़ें

वर्तमान में यह है बिजली दरों का स्लैब

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अगर इस बार भी बर्फबारी नहीं देख पाए तो जरूर देखें ये Video

मौसम ने एक बार फिर से करवट बदली है। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी हुई है।

24 जनवरी 2018