विज्ञापन
विज्ञापन

रेप पीड़िता नाबालिग ने दिया बच्चे को जन्म, मौत

ब्यूरो/अमर उजाला, ऊना Updated Tue, 04 Nov 2014 07:16 PM IST
rape vicitum give birth to a baby at una.
ख़बर सुनें
दुराचार पीड़िता 15 साल की नाबालिग युवती ने एक बच्चे को जन्म दिया, मगर इस बच्चे की मौत हो गई। मामला हिमाचल के जिला ऊना का है। यहां पिछले हफ्ते एक नाबालिग ने एक बच्चे को जन्म दिया था।
विज्ञापन
इस नाबालिग को पड़ोसी ने ही अपनी हवस का शिकार बनाया था। पुलिस में दी शिकायत में युवती का कहना था कि आरोपी काफी समय से उसके साथ दुराचार कर रहा था। आरोपी नाबालिग को धमकाता था कि यदि ये बात किसी को बताई तो वो उसे जान से मार देगा।

इसी डर से युवती खामोश रही और आरोपी इसके साथ रेप करता रहा। एक दिन उसके पेट में दर्द हुआ जिसके बाद पता चला कि वह गर्भवती है। परिजन उसे डॉक्टरों के पास ले गए। साथ ही पुलिस में भी मुकदमा दर्ज करवा दिया।

पिछले हफ्ते ही युवती ने एक बच्चे को जन्म दिया था मगर अब इसकी मौत हो गई है। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। आरोपी के खिलाफ सबूत जुटाने के लिए बच्चे का डीएनए आरोपी के डीएनए से मिलाया जाएगा। पुलिस आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।
विज्ञापन

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Himachal Pradesh

हिमाचल में इस दिन से बिगड़ेगा मौसम, बारिश के आसार

हिमाचल में पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में बदलाव आने की संभावना है।

14 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

आरबीआई की पीएमसी ग्राहकों को और राहत, खाते से रुपये निकालने की सीमा 25 से बढ़ाकर 40 हजार की

त्योहारी सीजन को देखते हुए आरबीआई ने पीएमसी बैंक पर लगी पाबंदियों के बीच ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। पीएमसी ग्राहक अब खाते से 25 हजार के बजाय 40 हजार रुपये तक निकाल सकेंगे।

14 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree