अमृतसर: अटारी बॉर्डर पर अफगानिस्तान से आए ट्रक में मिला बॉक्स, जांच में निकले पटाखे, निष्क्रिय किया गया

संवाद न्यूज एजेंसी, अमृतसर (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Thu, 25 Nov 2021 06:22 PM IST

सार

कस्टम विभाग के संयुक्त कमिश्नर बलबीर सिंह मांगट ने बताया कि आईसीपी पर चौकसी बढ़ाई गई है। पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान से आने वाले हर ट्रक की बारीकी से स्कैनिंग की जाती है। फुल बॉडी ट्रक स्कैनर से सभी ट्रकों की स्कैनिंग करने के साथ ही अधिकारी इनकी मैनुअल जांच भी करते हैं। 
इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (फाइल फोटो)
इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (फाइल फोटो) - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अफगानिस्तान से भारत-पाक सीमा पर स्थित इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (आईसीपी) अटारी पर गुरुवार को पहुंचे प्याज के एक ट्रक में संदिग्ध बॉक्स मिलने से हड़कंप मच गया। कस्टम अधिकारियों ने तुरंत इसकी सूचना सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों को दी और एंटी बम स्क्वायड दस्ते को वहां बुलाया। 
विज्ञापन


एंटी बम स्क्वायड दस्ते ने जांच के बाद जब बॉक्स को खोला तो पटाखों के दो पैकेट मिले, जिन्हें डिफ्यूज करने के बाद मिट्टी में गड्डा खोद कर दबा दिया। इसके बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली। जानकारी के मुताबिक भारत-पाक के मौजूदा संबंधों के चलते दोनों देशों के बीच कारोबार पिछले लंबे समय से बंद चल रहा है लेकिन पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान से ड्राई फ्रूट और प्याज आने का सिलसिला जारी है।


आज सुबह पाकिस्तान के रास्ते जीरो लाइन पार करने के बाद अफगानी प्याज का एक ट्रक आईसीपी पहुंचा। कस्टम अधिकारियों ने आईसीपी पर लगे फुल बॉडी ट्रक स्कैनर से इस ट्रक की जांच की तो स्कैनर ने इसके अंदर विस्फोटक होने का संकेत दिया। आईसीपी पर तैनात कस्टम विभाग के सहायक कमिश्नर ने तुरंत इसकी सूचना सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों को दी और वहां एंटी बम स्क्वायड को बुलाया। स्क्वायड की टीम प्याज के ट्रक में मिले करीब दो फुट लंबे बॉक्स को अपने कब्जे में लेकर सुरक्षित खुली जगह पर ले गई। जांच में पटाखों के दो पैकेट मिले, जिन्हें बम निरोधक दस्ते ने डिफ्यूज कर दिया और वहीं मिट्टी के अंदर करीब तीन फुट गहरे गड्ढे में दबा दिया।

पटाखों से निकले थे दो तार
भारत में बनने वाले पटाखे या आतिशबाजी तो आग लगाने से चलते हैं लेकिन अफगानी प्याज के ट्रक में मिले पटाखे कुछ अलग ही थे। इन्हें आग लगा कर नहीं चलाया जा सकता था। इनके अंदर से दो तार निकले थे, जिन्हें बिजली के साथ जोड़ने के बाद विस्फोट होता है। बताया जा रहा है कि यह ताइवान के पटाखे हैं। जिन्हें किसी शरारत से प्याज के ट्रक में रख कर भारत भेज दिया।  

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00