विज्ञापन

पुलिस की गिरफ्त में अाया शातिर गिराोह, सालभर में राजधानी से उड़ाए 200 वाहन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 16 Mar 2019 01:20 AM IST
पकड़ा गया गैंग
पकड़ा गया गैंग - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
राजधानी में सालभर के अंदर 200 वाहन चुराने वाले गिरोह का पर्दाफाश गोमतीनगर पुलिस ने शुक्रवार को किया। गिरोह के चार गुर्गों को पुलिस ने हैनीमेन चौराहे से पकड़ा है। जबकि तीन अन्य साथियों की तलाश की जा रही है। गिरोह के सदस्य चोरी किए गए वाहन बहराइच के रास्ते नेपाल में ले जाकर बेचते थे।
विज्ञापन
पुलिस ने चारों के पास से एक ऑटो, स्कूटी और चार बाइक बरामद की है। अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी सुकीर्ति माधव के मुताबिक, बाइक चोराें में गोमतीनगर खरगापुर का मोनू दुबे, मलेशेमऊ का रवि उर्फ असफाख, विरामखंड का रोबिन अग्रवाल व बहराइच के मुरतिहा का सतीश है।

फरार साथियों में रायबरेली के बछरावां निवासी राजू, नेपाल के बरदिया का फिदा हुसैन व बहराइच के मुरतिहा का संतोष कुमार की तलाश की जा रही है। क्षेत्राधिकारी गोमतीनगर अवनीश्वर चंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि गिरोह ने सालभर में 200 वाहन उड़ाए हैं।

इसमें सबसे अधिक गोमतीनगर, विभूतिखंड और चिनहट थानाक्षेत्र से बाइक  चोरी की वारदातें हैं। गिरोह ने पूछताछ में गोमतीनगर व विभूतिखंड थानाक्षेत्र में सात वारदातें कुबूली हैं। प्रभारी निरीक्षक गोमतीनगर रामसूरत सोनकर के मुताबिक, गिरोह तीन समूहों में बटकर काम करता था।

लखनऊ व रायबरेली के रोबिन, रवि, राजू और मोनू ऑटो से रेकी करते थे। ऑटो को सुनसान स्थान पर खड़ी बाइक व स्कूटी के पास खड़ा कर देते थे और मौका पाकर लॉक तोड़ देते थे। अगर वाहन चोरी नहीं कर पाते थे तो ऑटो में बैठकर भाग जाते थे।

इसके बाद आसपास घूम रहे गिरोह के दूसरे सदस्य वाहन चोरी कर पार्किंग में खड़ा कर देते थे। कुछ दिन बाद वाहन लेकर बहराइच निकल जाते थे। जहां से गिरोह का दूसरी समूह मुरतिहा के रास्ते वाहनों को नेपाल सीमा तक ले जाता था। इसके बाद तीसरा समूह नेपाल में वाहनों को ले जाकर बेच देता थ

नेपाल से होती थी कोड में वाहनों की डिमांड
वरिष्ठ उपनिरीक्षक अमरनाथ यादव के मुताबिक, गिरोह के तीन समूह कोडवर्ड में बात करते थे। लाल गुलाब कोड का मतलब होता था नेपाल में लाल रंग के वाहनों की मांग हैं। इसके बाद ऑन डिमांड वाहन चोरी कर नेपाल पहुंचा देते थे। गिरोह के सदस्यों को 20-25 हजार रुपये प्रत्येक बाइक पर मिलता था।

बहराइच में तय होता था सौदा, बदली जाती थी नंबर प्लेट
पुलिस के मुताबिक, चोरी किए वाहनों का सौदा बहराइच में होता था। इसके बाद नंबर प्लेट बदलकर वाहन पहुंचाया जाता था और लॉक की चाबी भी बनवाते थे। फिर नेपाल में बाइक बेचने वाले फिदा हुसैन और संतोष कुमार को वाहन सौंप देते थे।

अय्याशियों पर खर्च करते थे मोटी रकम
पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने कुबूला कि वाहन बेचने के बाद मिले रकम से महंगे और ब्रांडेड कपड़े और जूते खरीदते थे। महंगे होटलों में पार्टी करते थे।
विज्ञापन

Recommended

त्योहारों के मौसम में ऐसे बढ़ाएं रिश्तों में मिठास
Dholpur Fresh (Advertorial)

त्योहारों के मौसम में ऐसे बढ़ाएं रिश्तों में मिठास

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

मेरा शरीर केजीएमयू को दान कर दिया जाए... यह लिखकर एलएलबी छात्र ने दी जान 

चिनहट थानाक्षेत्र में एलएलबी के छात्र प्रांजल प्रजापति (23) ने एक हॉस्टल के कमरे में फांसी लगा ली।

23 जनवरी 2020

विज्ञापन

कानपुर में CAA पर बोले योगी आदित्यनाथ,देश विरोधी नारे लगाने वालों पर होगा मुकदमा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़े चेतावनी भरे लहजे में कहा कि यदि उत्तर प्रदेश की धरती पर कोई देश विरोधी नारे लगाएगा, तो उस पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होगा।

22 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us