बूढ़ी आंखों से पत्नी को आखिरी बार देखना चाहता था जख्मी किसान, इलाज के दौरान हुई मौत

amarujala.com- Presented by: चंद्रा पाण्डेय Updated Sun, 17 Sep 2017 08:22 PM IST
The old farmer chunni lal wants to see his injured wife in last with his old eyes
पाक गोलाबारी का निशाना बनें चुन्नी लाल - फोटो : अमर उजाला
पाक की गोलाबारी में घायल पत्नी रतनो देवी की मौत की खबर जैसे ही चुन्नी लाल को पता लगी तो उसकी बूढ़ी आंखों से आंसू बहने लगे। बगल में खड़ा बेटा सुभाष मां की मौत के बाद बुजुर्ग पिता को ढांढस बंधा रहा था। जीएमसी अस्पताल के उसी कमरे में उसकी घायल पत्नी रजनी देवी कराह रही थी।

पीठ में मोर्टार के छर्रे बुरी तरह से जख्म कर गए थे। आपरेशन कराकर रजनी बस कमरे से निकली ही थी। अपने दोनों बेटों को लेकर सुभाष उसी कमरे से अपनी मां को मुखाग्नि देने के लिए घर के लिए निकल रहा था, लेकिन पिता और पत्नी को उस हाल में कैसे छोड़ कर जाए।

इस कशमकश में वह कई बार कमरे के चक्कर लगा रहा था। मोर्टार के छर्रों का जितना दर्द चुन्नी लाल को नहीं था, उससे लाख गुना ज्यादा दर्द पत्नी का मौत का था। वह बार-बार बेटे से कहता कि उसे घर ले चल, कम से कम आखिरी बार तेरी मां को तो देख लूं। 
आगे पढ़ें

परिवार के दो सदस्य गोलाबारी के निशाना बने, एक की हई मौत

Spotlight

Most Read

Budaun

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: LoC से वापस आई पुंछ - रावलकोट के बीच चलने वाली बस

पुछ को पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू और कश्मीर के रावलकोट से जोड़ने वाली बस को एक बार फिर रोक दिया गया। ये बस सोमवार को पुंछ से रावलकोट जाने के लिए चली, लेकिन एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा की जा रही क्रास बार्डर फायरिंग के मद्देनजर इसे वापस भेज दिया गया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper