बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

सोलन

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

paraglaeding site approved

28 जनवरी 2022

Digital Edition

विजिलेंस ने एमईएस का एसडीओ 40 हजार रुपये रिश्वत लेते धरा

विजिलेंस ने हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन में गुरुवार को एमईएस के एक एसडीओ को 40 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। इस कार्रवाई को विजिलेंस ने शिकायत के आधार पर गंबरपुल के एक निजी होटल में अंजाम दिया। इसमें आरोपी अधिकारी सुबाथू छावनी में फायर रेंज का निर्माण कार्य कर रहे ठेकेदार से उसकी नौ लाख रुपये राशि को बहाल करने के एवज में रिश्वत की मांग कर रहा था। शिकायत मिलने पर विजिलेंस डीएसपी सोलन की अध्यक्षता में टीम ने मौके पर अधिकारी को 40 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। 

डीएसपी विजिलेंस संतोष शर्मा ने बताया कि गुरुवार सुबह विजिलेंस को शिकायत मिली कि सुबाथू एमईएस का एक अधिकारी ठेकेदार की पेमेंट बहाल करने के लिए 40 हजार रुपये रिश्वत मांग रहा है। शिकायत के आधार पर विजिलेंस डीएसपी ने एक टीम गठित कर अधिकारी को रंगे हाथ दबोचने के लिए जाल बिछाकर उसे कुनिहार-सोलन मार्ग स्थित गंबरपुल के एक निजी होटल में बुलाया। यहां ठेकेदार को उसे मांगी गई राशि देने के लिए कहा। जैसे ही संबंधित अधिकारी ने रिश्वत ली, टीम ने आरोपी को रंगे हाथ दबोच लिया। आरोपी शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जहां से उसे रिमांड पर लेने की मांग की जाएगी। 
... और पढ़ें

नालागढ़ हत्या मामला: दोस्तों ने दिया था नशे का इंजेक्शन, तीन आरोपी गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के नालागढ़ की कश्मीरपुर पंचायत के बासोवाल सुल्तानी गांव में 22 वर्षीय युवक की मौत के मामले में तीन युवकों को गिरफ्तार किया गया है। ये तीनों मृतक युवक के दोस्त हैं। हत्या का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किए गए तीनों दोस्तों ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया है कि उन्होंने युवक को नशे का इंजेक्शन लगाया था। पुलिस अब मान रही है कि मौत का कारण नशे की ओवरडोज हो सकता है। हालांकि, पुलिस अभी पोस्टमार्टम और बिसरा रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

फिलहाल तीनों आरोपियों को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेज दिया है जबकि इनका चौथा साथी अभी तक फरार है। गुरध्यान सिंह (22) बीते रविवार रात को घर से 8:00 बजे साथ लगते गांव में शादी में गया था लेकिन लौटा नहीं। पिता भाग सिंह ने मोबाइल पर फोन किया तो स्विच ऑफ पाया गया। अगली सुबह गांव की एक महिला ने गुरध्यान का शव नाले में पड़ा देखा। महिला ने इसकी सूचना बरूणा पंचायत के प्रधान गुरपाल सिंह को दी। उन्होंने जोघों पुलिस को बुलाया और युवक का शव नाले से निकाला।

पुलिस के अनुसार गुरध्यान सिंह को शादी में इसके दोस्त होशियार सिंह, कुलदीप सिंह, पवन और काका मिले। इन युवकों ने गुरध्यान सिंह को नशे का इंजेक्शन लगा दिया। पुलिस ने होशियार सिंह, कुलदीप सिंह व पवन सिंह को गिरफ्तार कर लिया है जबकि काका अभी फरार है। डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि तीनों आरोपियों को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। मृतक के मामा और बेरछा पंचायत के पूर्व प्रधान जितेंद्र ने बताया कि उनका भांजा कोई भी नशा नहीं करता था। यहां तक कि वह बीड़ी-सिगरेट भी नहीं पीता था। 
... और पढ़ें

10 रुपये का रिचार्ज किया तो खाते से उड़ाए साढे़ सात लाख

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के अर्की के व्यक्ति को नेट बैंकिंग से 10 रुपये का रिचार्ज करना महंगा पड़ गया। जैसे ही नेट बैंकिंग से रिचार्ज किया तो व्यक्ति के खाते से शातिरों ने साढ़ सात लाख रुपये उड़ा दिए। पीड़ित को सिम कार्ड ब्लॉक करने का झांसा देकर उसे तुरंत रिचार्ज करने के लिए कहा। जैसे ही व्यक्ति ने ऑनलाइन रिचार्ज किया तो खाते से सात लाख 63 हजार 162 रुपये उड़ा दिए। खाते से राशि की ट्रांजेक्शन की शिकायत पीड़ित ने बैंक प्रबंधक और पुलिस को दी। 

जानकारी के अनुसार विजय कुमार गुप्ता पुत्र स्व. गोपाल चंद गुप्ता वार्ड-5 अर्की ने पुलिस को शिकायत दी कि इसका स्टेट बैंक आफ इंडिया अर्की में खाता है। 20 अप्रैल को इसे फोन आया कि इसकी सिम 24 घंटे में ब्लॉक हो जाएगी।

इसे दस रुपये का रिचार्ज करने के लिए कहा, जैसे ही उसने नेट बैंकिंग से रिचार्ज किया तो उसके बाद उसके खाते से सात लाख 63 हजार 162 रुपये शातिरों ने उड़ा दिए। उधर, एसपी सोलन अभिषेक यादव ने मामले की पुष्टि कर बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि किसी भी अंजान व्यक्ति के साथ ऑनलाइन लेन-देन से बचें। 
... और पढ़ें

सोलन: पत्नी के साथ अवैध संबंध के शक में कर दी साथी की हत्या

सोलन जिले के थाना गांव में एक व्यक्ति ने अपने ही साथी की गला दबाकर हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया। उसे बद्दी पुलिस ने हरियाणा के नवांनगर से गिरफ्तार किया। आरोपी बद्दी से यूपी जाने की तैयारी में था। आरोपी ने पत्नी से अवैध संबंध के शक में इस वारदात को अंजाम दिया।

यूपी के संभल जिले के काबुलपुर गांव के संजय कुमार (27) और हरदोई जिले के प्रतापपुर निवासी राहुल (23) बद्दी के थाना क्षेत्र में उद्योगों में काम करते थे। दोनों शादीशुदा थे। बताया जा रहा है कि 15 जनवरी को संजय और राहुल ने कमरे में शराब पी। शराब के नशे में इस दौरान राहुल ने संजय को उसकी पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाने की बात कही।

इसके बाद संजय ने उसे और ज्यादा शराब पिला दी। जब राहुल नशे में चूर हो गया तो उसने गला दबाकर उसे मार दिया और वहां से फरार हो गया। 16 जनवरी को सुबह साढ़े दस बजे थाना पंचायत प्रधान ने इसकी सूचना बद्दी पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लिया। पुलिस संजय की तलाश में जुट गई। रविवार को संजय बद्दी के साथ लगते हरियाणा क्षेत्र में यूपी जाने की तैयारी में बस का इंतजार कर रहा था।

पुलिस ने उसे बस में सवार होने से पहले ही दबोच लिया। एएसपी नरेंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस ने आरोपी संजय को गिरफ्तार कर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। मृतक का पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

फर्जी डिग्री मामला: राजकुमार राणा की पत्नी और बेटी भगौड़े घोषित

फर्जी डिग्री मामले के आरोपी सोलन स्थित मानव भारती विश्वविद्यालय (एमबीयू) ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी एवं संचालक राजकुमार राणा की पत्नी अशोनी कंवर व उसकी बेटी आईना राणा को अदालत ने भगौड़ा घोषित कर दिया है। ये दोनों भी विवि की ट्रस्टी हैं। विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने हाल ही में राणा, उसकी पत्नी और बेटे व बेटी की डिग्रियों की भी जांच की थी, जिसमें उनकी डिग्रियां भी फर्जी पाई गई थीं। उन्हें 3 जनवरी तक कोर्ट में हाजिर न होने पर सोमवार को सोलन स्थित न्यायाधीश प्रथम श्रेणी की अदालत ने दोनों को भगौड़ा घोषित कर दिया। गौर हो कि निजी विवि से लाखों फर्जी डिग्री बेचने के रैकेट की जांच स्टेट सीआईडी और हिमाचल प्रदेश पुलिस की संयुक्त एसआईटी कर रही है। वहीं, इस मामले को अब पीओ सेल के हवाले कर दिया गया है, ताकि आरोपियों की गिरफ्तारी हो सके। इस मामले की अगली सुनवाई आगामी अप्रैल में होनी है।

सहायक लोक अभियोजक सिम्मी शर्मा ने इसकी पुष्टि की है। राणा ने हाईकोर्ट से जमानत ले रखी है, जबकि उसकी पत्नी और बेटी फरार हैं। बताया जा रहा है कि राणा को परिवार सहित अदालत में पेश होने के आदेश दिए गए थे, लेकिन वे तय तिथि पर कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। जिस पर उन्हें भगौड़ा घोषित किया गया। सोमवार को अदालत में सीआरपीसी 82 के तहत सर्विंग कांस्टेेबल के चस्पानगी ब्यान दर्ज किए गए, जिसके बाद आगामी कार्रवाई हुई। गौर हो कि सीआईडी और पुलिस ने अब तक की जांच के आधार पर राणा की पत्नी व दोनों बच्चों के खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट हासिल कर उनके पासपोर्ट भी जब्त करा दिए हैं। फर्जी डिग्री का आरोपी यह परिवार ऑस्ट्रेलिया में रह रहा है। पासपोर्ट जब्त होने के बाद अब इनके पास भारत वापस आने के अलावा कोई और रास्ता नहीं रह गया है। राणा के नाम पर दर्ज करीब 194 करोड़ रुपये की संपत्तियों को सीआईडी पहले ही ईडी से जब्त करवा चुकी है।
... और पढ़ें

बड़ा खुलासा: करनाल की कंपनी के दस्तावेजों पर ठिकाने लगाईं 15 लाख की प्रतिबंधित दवाएं

प्रतिबंधित और नशीली दवाओं की आपूर्ति मामले में एक और खुलासा हुआ है। हरियाणा के करनाल की जिस फार्मा के खिलाफ सीआईडी थाना शिमला में मुकदमा हुआ है, उसने बद्दी और जीरकपुर में स्थापित जैनेट फार्मा से करीब 15 लाख की प्रतिबंधित दवाएं मंगवाईं। इसके लिए उसने फार्मा का लाइसेंस, परचेज ऑर्डर की कॉपी और जीएसटी नंबर आरोपित जैनेट कंपनी को दिया। जैनेट ने लाखों की दवाएं उसके नाम से ट्रांसपोर्ट के जरिये करनाल के बजाय कहीं और ही भेज दीं। करनाल की कंपनी के केवल कागजात लिए गए। जब नारकोटिक्स ब्यूरो ने स्टाक रजिस्ट्रर चेक करवाया तो वह दवाओं की सेल नहीं दिखा पाया। 

इससे स्पष्ट है कि लाखों की प्रतिबंधित दवाओं के लिए सिर्फ दस्तावेजों का इस्तेमाल हुआ। शुरुआती पूछताछ में करनाल की फर्म के प्रबंधकों ने कहा कि उसने जैनेट फार्मा को केवल अपने दस्तावेज दिए थे। इसकी एवज में उसे एक लाख रुपये दिए गए। अब यह दवाएं कहां खपाई गईं, उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। नारकोटिक्स ब्यूरो इस मामले की कडि़यां जोड़ने में लगी हुई है। इसके तार देश के कई ड्रग्स माफिया के साथ जुड़े होने का पूरा अंदेशा है। उधर, डीएसपी नारकोटिक्स शिमला दिनेश शर्मा ने कहा कि मामले की छानबीन चल रही है। 

पंजाब से राजस्थान तक फैला नशीली दवाओं का जाल 
बद्दी स्थित जीरकपुर की जैनेट कंपनी के स्टोर से पकड़ी गई नशीली दवाओं के कारोबार का जाल हिमाचल और पंजाब से लेकर राजस्थान तक फैला है। इस अकेले स्टोर से बाहरी राज्यों में करीब पचास स्थानों तक इन प्रतिबंधित दवाओं की सप्लाई की जाती थी। पुलिस और एनएनसीसी की पड़ताल में यह खुलासा हुआ है। जैनेट फार्मा शॉप के संचालक दिनेश बंसल और मैनेजर सोहन साहनी को अदालत ने 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत के लिए सोलन जेल भेज दिया है।

बीते तीन दिसंबर को इन दोनों को प्रतिबंधित दवाएं बेचने के आरोप में एसएनसीसी यूनिट के अधिकारियों ने बद्दी के जैनेट फार्मा कंपनी की होल सेल की दुकान से गिरफ्तार किया था। 11 दिन तक पुलिस रिमांड पर रहने के बाद इन दोनों को अदालत ने अब न्यायिक हिरासत में भेजा है। पुलिस रिमांड के दौरान पता चला कि कंपनी के दोनों कारिंदों ने राजस्थान, करनाल, पंजाब के बरनाला समेत 50 से अधिक
स्थानों पर प्रतिबंधित दवाएं बेची थीं।

करनाल में केस दर्ज, पुलिस की कई जगह दबिश 
एसनसीसी टीम ने राजस्थान में फरार आरोपी को पकड़ने के लिए टीम भेजी थी। अभी तक वह पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है। पुलिस ने आरोपी के घर पर नोटिस चस्पां कर दिया है। एक अन्य टीम हरियाणा के करनाल गई थी। श्हां पर पुलिस ने वहां की स्थानीय पुलिस में वहां से प्रतिबंधित दवा खरीदने वाले व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इसके अलावा पुलिस टीम पंजाब के बरनाला में भी दबिश दी थी, लेकिन अभी प्रतिबंधित दवाई खरीदने वाले लोग पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाए हैं।

जल्द और आरोपी दबोचे जाएंगे : जी शिवा 
एसएनसीसी यूनिट शिमला के एसपी जी शिवा ने बताया कि दिनेश बंसल और सोहन सहानी को 14 दिन के न्यायिक हिरासत भेजा गया है। इन लोगों ने आगे जिन लोगों को दवाई सप्लाई की है उनकी भी पुलिस धर पकड़ कर रही है। पुलिस ने राजस्थान, हरियाणा व पंजाब के कई स्थानों दबिश दी है। जल्द ही इस मामले में शामिल लोगों को दबोच लिया जाएगा।
... और पढ़ें

हिमाचल: बद्दी में छोटे से कागज के टुकड़े पर लिखे फोन नंबर से सुलझी हत्या की गुत्थी

हिमाचल प्रदेश के बद्दी में बिलांवाली के किराये के कमरे में हुई युवती की हत्या मामले की गुत्थी एक कागज के टुकड़े पर महिला के लिखे मोबाइल नंबर से सुलझी। हत्यारे हसनैन ने कत्ल के बाद कोई भी सुबूत कमरे में नहीं छोड़ा था। हालांकि, कमरे की तलाशी के दौरान पुलिस को महिला का लिखा एक छोटा सा कागज का टुकड़ा मिला। इसके आधार पर थाना प्रभारी दयाराम ठाकुर आरोपी तक पहुंचे और उसे पहले पूछताछ के लिए बद्दी लाया गया। उसने अपना जुर्म कुबूला है। गीता का विवाह मैनपुरी यूपी के रामबीर से 2003 में हुआ था। रामबीर से गीता के चार बच्चे हुए, जिसमें दो लड़के और दो लड़कियां हैं। तीन साल पहले गीता मजदूरी के लिए फिरोजाबाद आ गई थी। इस दौरान वह कौशल के साथ लिव इन रिलेशन में रही। बावजूद इसके वह अपने पति रामबीर और बच्चों का पूरा ख्याल रखती थी। अपने पति को पैसा व बच्चों को कपड़े भेजती रही। बाद में कौशल उससे अलग होने पर हसनैन के साथ रिलेशन में रहने लगी, लेकिन वह उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता रहा। जब उसने धर्म परिवर्तन नहीं किया तो उसे चाकू से मार दिया। संवाद

कमरे में हत्या कर यूपी भाग गया था आरोपी

उधर, बद्दी के बिलांवाली गांव के मकान में रह महिला की मौत मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला की पहचान गीता पुत्री राम प्रसाद गांव दरवार जिला इटावा यूपी के रूप में हुई है। वह बद्दी में एक दवा कंपनी में काम करती थी। यूपी के बरेली जिले के गांव आशिया पोस्ट ऑफिस फरीदपुरी के हसनैन उर्फ मिंटू पुत्र अमीर अहमद के साथ रिलेशन में रहती थी। पुलिस ने आरोपी को दबोच लिया है और उसे वीरवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। गीता देवी हसनैन उर्फ मिंटू के साथ बिलांवाली में देव संडोली के मकान में किराए में रह रही थी। पुलिस के अनुसार 22 नवंबर को हसनैन ने किचन में खाना बनाते समय गीता का गला रेतकर कर हत्या कर दी। सभी साक्ष्य लेकर कमरे का ताला बंद कर भाग गया। दो दिसंबर को कमरे से दुर्गंध आने लगी तो पुलिस ने कमरे का ताला तोड़कर शव को निकाला। शव गल-सड़ गया था। एसपी मोहित चावला ने आरोपी को दबोचने की पुष्टि की है। 
... और पढ़ें

सोलन: बद्दी में व्यापारी से मारपीट मामले में चार अधिकारी गिरफ्तार, जमानत पर किए रिहा

युवती की हत्या मामला(सांकेतिक)
औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में जीएसटी को लेकर एक व्यापारी के साथ मारपीट में पुलिस ने चार अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें हरिंद्रपाल, राकेश बंसल, विक्रम सिंह, संजय पराशर शामिल हैं। बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया है। जीएसटी सतर्कता निदेशालाय बद्दी की ओर से बद्दी के व्यापारी आजाद गुप्ता को 8 नवंबर को टैक्स भरने के लिए नोटिस भेजा गया। नोटिस के बाद वह हर रोज कार्यालय जाता रहा।

16 नवंबर को जब वह सभी औपचारिकताएं पूरी करके जीएसटी कार्यालय गया तो वहां पर अधिकारियों ने उसे कमरे में बंद करके उसके साथ मारपीट की। जिसमें एक आईआरएस अधिकारी भी शामिल है। उसने जब मदद करने के लिए अपने साथी योगेश गोयल को बुलाया तो इन अधिकारियों ने योगेश के साथ भी मारपीट की। योगेश ने किसी तरह वहां से भाग कर पुलिस को बुलाया और बंधक बनाए आजाद गुप्ता को कमरे से बाहर निकाला।

उधर, डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है, जिन्हें बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। इससे पहले गुरुवार को मारपीट के विरोध में कारोबारियों ने प्रदर्शन किया था और अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी। 
... और पढ़ें

सोलन: कारोबारी से मारपीट पर आईआरएस समेत तीन अफसरों के खिलाफ केस दर्ज

औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में जीएसटी को लेकर कारोबारी से मारपीट करने पर एक आईआरएस समेत तीन अफसरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। इधर, बुधवार को व्यापारियों ने जीएसटी कार्यालय के बाहर नारेबाजी की और प्रशासन से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर जल्द ही अधिकारियों को गिरफ्तार नहीं किया तो व्यापारी बद्दी बाजार को बंद कर आंदोलन करेंगे।  

जीएसटी सतर्कता निदेशालय बद्दी ने व्यापारी आजाद गुप्ता को आठ नवंबर को टैक्स को भरने के लिए नोटिस भेजा। नोटिस के बाद वह हर रोज कार्यालय जाता रहा। 16 नवंबर को जब वह सभी औपचारिकताएं पूरी कर जीएसटी कार्यालय पहुंचा तो वहां पर अधिकारियों ने उसे कमरे में बंद कर उसके साथ मारपीट की। इसमें एक आईआरएस अधिकारी भी शामिल है। उसने जब मदद करने के लिए अपने साथी योगेश गोयल को बुलाया तो इन अधिकारियों ने योगेश के साथ भी मारपीट की। योगेश ने किसी तरह से वहां से भाग कर पुलिस को बुलाया और कमरे में बंद आजाद गुप्ता को कमरे से बाहर निकाला।

उधर, व्यापारियों ने मंगलवार को वार्ड पार्षद सुरजीत चौधरी, संडोली पंचायत के पूर्व प्रधान भाग सिंह कुंडल, संजीव कौशल के नेतृत्व में जीएसटी कार्यालय परिसर में नारेबाजी की तथा दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है। थाना प्रभारी बद्दी दया राम ठाकुर ने बताया कि पीड़ित व्यक्ति का मेडिकल करने के बाद हरेंद्र पाल, राकेश बंसल और विक्रम सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। 
... और पढ़ें

सोलन: ट्राले का नंबर बदल धोखे से लोड करवाईं सेब की पेटियां, केस दर्ज

हिमाचल प्रदेश के सेब मंडी सोलन में एक चालक ने ट्रक का नंबर बदलकर धोखे से सेब की 753 पेटियां लोड करवा दीं। संदेह के बाद गाड़ी के दस्तावेज जांचने पर धोखाधड़ी का खुलासा हुआ। आढ़ती ने ट्रक चालक और परिचालक के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार दलजिंदर सिंह पुत्र बलकार सिंह निवासी सन सीटी कॉलोनी राजपुरा जिला पटियाला पंजाब वर्तमान में सेब मंडी में कारोबार कर रहे हैं। उन्होंने सोलन पुलिस को शिकायत दी है कि दो अगस्त को उसने देवी लाल चौधरी, मैनेजर ट्रांसपोर्ट कंपनी पंचकूला को फोन कर बताया कि इसकी सेब की पेटियां नादेड़ महाराष्ट्र जाएंगी।  देवी लाल चौधरी ने इसे बताया कि चौधरी ट्रांसपोर्ट का ट्राला सोलन में ही खड़ा है। ट्राला रात के समय ही सेब मंडी सोलन में पहुंच गया था।

शिकायतकर्ता के पूछने पर चालक ने अपना नाम सुभाष बताया और चौधरी ट्रांसपोर्ट कंपनी में चालक बताया। परिचालक ने अपना नाम पवन बताया। शिकायतकर्ता ने ट्राले में सेब की 753 पेटियां लोड कर दीं और गाड़ी के चलने से पहले चालक सुभाष से ट्राले के कागजात मांगे। चालक ने ट्राले के सारे कागजात चालान में जमा होने की बात कही। संदेह पर इसने मैनेजर देवी लाल को फोन पर इसकी जानकारी दी। देवी लाल अपने साथी के साथ सोलन सेब मंडी आया और बताया कि गाड़ी चालक सुभाष इसकी ट्रांसपोर्ट कंपनी का नहीं है और न ही यह चालक इनके ट्राले को चलाता है। शक होने पर शिकायतकर्ता ने ट्राले में लोड सेब की 753 पेटियां उतार दीं। चालक-परिचालक ने चौधरी ट्रांसपोर्ट के ट्राले की जाली नंबर प्लेट लगाकर उसे और चौधरी ट्रांसपोर्ट कंपनी को धोखा दिया और सेब लोड करवाया। पुलिस ने शिकायत के आधार पर जांच शुरू कर दी है। उधर, एएसपी सोलन अशोक वर्मा ने बताया कि पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

हिमाचल: पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने पर निजी विवि के छात्र पर देशद्रोह का केस

सोलन जिले के वाकनाघाट स्थित एक निजी विश्वविद्यालय में अध्ययनरत मूलतया कश्मीर निवासी छात्र के खिलाफ देशद्रोह का मुकद्दमा दर्ज किया गया है। छात्र ने बीते 24 अक्तूबर को भारत-पाकिस्तान के क्रिकेट मैच के दौरान पाकिस्तान की जीत पर पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत के खिलाफ नारेबाजी की थी। छात्र पर भारतीय सेना के खिलाफ अभद्र टिप्पणी का भी आरोप है। 

छात्र ने सोशल मीडिया अकाउंट पर भी इस बाबत पोस्ट की थी। जिस पर यह कार्रवाई की गई है। युवक के खिलाफ कंडाघाट पुलिस थाना में विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। एसपी वीरेंद्र शर्मा ने बताया कि आरोपी का मोबाइल फोन सीज कर फोरेंसिक जांच के लिए भेजा है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी। 

उधर, धर्म जागरण समन्वय संगठन ने इस मामले में युवक को गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। संगठन के सोलन विभाग के संयोजक वीरेंद्र सहगल ने प्रेस वार्ता में बताया कि संगठन ने 31 अक्तूबर को पुलिस में मामले की लिखित शिकायत की थी।

इसके बाद 11 नवंबर को पुलिस ने एक आरोपी वसीम मुश्ताक के खिलाफ मामला दर्ज किया। उन्होंने कहा कि इस मामले से जुड़े अन्य छात्रों को भी तुरंत गिरफ्तार कर काई कार्रवाई की जाए। सहगल ने कहा कि देश में रहकर देश और सेना को गाली देना एक अपराध है, जिसकी कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उनके साथ जिला संयोजक जगदीश, गुरदीप, दीपक, प्रमोद, राजू व सुरेश आदि मौजूद रहे। 
... और पढ़ें

पहले पेट में घोंपी बोतल, फिर तेजधार हथियार से काटा गला

बरोटीवाला पुलिस ने हत्या मामले की गुत्थी सुलझा ली है। दस जुलाई को कोटला गांव के साथ झाड़ियों में मिले शव की शिनाख्त हो गई है। मृतक बंटी (33) यूपी के जिला बदायूं की तहसील बसोला के बलोलिया गांव का रहने वाला था। उसकी यूपी के बदाऊं के ही सगे भाइयों ने पेट में कांच की बोतल घोंपकर और गला काट कर हत्या कर दी थी। वीरवार को पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी अभी फरार है। 

बीते दस जुलाई को कोटला गांव के पास झाड़ियों में राजेंद्र सिंह के परिवार की एक महिला ने शव देखा। इसकी सूचना गांव वालों ने बरोटीवाला पुलिस को दी। शव काफी पुराना सड़ चुका था। तीन दिन तक शिनाख्त के लिए रखने के बाद नालागढ़ में इसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। पुलिस को वीरवार को मृतक की शिनाख्त के साथ हत्यारे को भी दबोच लिया।

डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद 17 जुलाई को हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी थी। पुलिस ने आरोपी हिमांशु को बदाऊं से गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में शामिल उसका भाई टिंकू अभी फरार है। उसे जल्द पकड़ लिया जाएगा। आरोपी को शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा। 

बहन को भगाने में हाथ होने के शक में कर दिया कत्ल
पुलिस ने अनुसार पकड़े गए आरोपी हिमांशु की बहन होली से पहले किसी युवक के साथ भाग गई थी। हिमांशु का आरोप था कि उसकी बहन को भगाने में बंटी का हाथ था, लेकिन वह मना करता रहा। हिमांशु और उसके भाई टिंकू ने बंटी से बदला लेने की योजना बनाई। दोनों ने उसे बंटी को शराब पिलाई और उसके बाद उसके पेट में खाली बोतल घोंप दी। धारदार हथियार से उसका गला भी काट दिया। बाद में उसका शव कोटला के जंगल में फेंक दिया। 
 
... और पढ़ें

बरोटीवाला में चार साल के बच्चे की गला घोंटकर हत्या

बरोटीवाला थाने के तहत एक चार वर्षीय बच्चे की गला घोट कर हत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने हत्या के आरोप में उत्तर प्रदेश के बरेली के एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। बच्चे का शव आरोपी के कमरे में बोरी में बंद मिला। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर शव पोस्टमार्टम के लिए आईजीएमसी शिमला भेज दिया है। पीड़ित परिवार और आरोपी दोनों उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से हैं और दोनों झुग्गी-झोपड़ी में आपस में थोड़ी दूरी पर ही रहते हैं।

पुलिस के अनुसार यूपी के बरेली जिले के अंबला तहसील की महिला पिछले कुछ वर्षों से बरोटीवाला में मजदूरी का काम कर रही है। उसका चार वर्षीय बच्चा तीन दिन से लापता था। उसने पहले खुद बच्चे की तलाश की, जब नहीं मिला तो उसने बरोटीवाला थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। जिन लोगाें के साथ बच्चे को देखा गया था, पुलिस ने उनसे पूछताछ की। इसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर बरेली के ही अंबला तहसील निवासी हुक्म सिंह (24) को हिरासत में लिया।

कड़ी पूछताछ के दौरान उसने बताया कि बच्चे का शव उसके कमरे में है। इस युवक ने अन्य युवकों के साथ बच्चे का गला घोट कर उसे बोरी में बंद कर दिया और अपने ही कमरे में कपड़ों में छिपा दिया। पुलिस को शक है कि बच्चे को मारने से पहले उसके साथ कुछ गलत हुआ है। इसलिए पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए आईजीएमसी शिमला भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस इस मामले में पोक्सो एक्ट भी लगा सकती है। उधर, डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि हत्या के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया है। अन्य आरोपियों को भी जल्द पकड़ा जाएगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद इसमें और धाराएं जुड़ सकती हैं।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00