विज्ञापन

गजब! इंजीनियरिंग के छात्र ने वायरलेस ईयरफोन लगा कर डाले छह पेपर, फ्लाइंग ने दबोच लिया

अमर उजाला, सोनीपत(हरियाणा) Updated Fri, 24 Jan 2020 01:48 PM IST
विज्ञापन
फाइल फोटो
फाइल फोटो
ख़बर सुनें
छात्र नकल करने के नए-नए तरीके व उपकरण का इस्तेमाल कर रहे हैं। दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी मुरथल में छात्रों ने ऐसा ही कुछ किया है। जहां नकल करने के लिए वायरलेस सिस्टम से ईयर फोन जोड़कर कान में घुसाया हुआ था जो किसी को दिखता भी नहीं था और उसे केवल चुंबक के सहारे ही निकाला जा सकता है।
विज्ञापन
इसीलिए छह पेपर में उसके सहारे खूब नकल की गई और अन्य छात्रों के जानकारी देने पर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसरों ने सातवें पेपर में उसे नकल करते हुए पकड़ लिया। इसके साथ ही इस बार परीक्षा के दौरान नकल करते हुए 77 विद्यार्थियों को पकड़ा गया है। इन सभी की यूएमसी (अनफेयर मींस केसेज) बनाकर कॉपी व अन्य सामग्री सील कर दी गई है और यूएमसी स्टेंडिंग कमेटी इनकी जल्द सुनवाई करते हुए कार्रवाई पर फैसला लेगी।

दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी मुरथल की दिसंबर व जनवरी माह में परीक्षा हुई थीं। जिसमें छात्रों को नकल करते हुए पकड़ा गया तो नकल करने के तरीके को देखकर हर कोई हैरान रह गया। एमबीए में मैनेजमेंट एंड ह्यूमेनिटीज के एक छात्र को नकल करते हुए पकड़ा गया। उस छात्र ने अपनी कमीज के कॉलर में वायरलेस सिस्टम लगाया हुआ था और कॉलर की ऊपर से सिलाई की हुई थी। जिससे वह चेकिंग करते हुए किसी को उसके बारे में पता नहीं लग सके। उस वायरलेस सिस्टम से ईयर फोन को जोड़कर अपने कान में अंदर घुसाया हुआ था।

वह कान के इतने अंदर था कि किसी को आसानी से दिखाई नहीं देता था और उसे काफी खींचतान के बाद चुंबक के सहारे ही बाहर निकाला जा सकता था। मैनेजमेंट एंड ह्यूमेनिटीज विभाग के चेयरमैन प्रो. राजबीर सिंह के अनुसार वह छात्र इस तरह नकल करके छह पेपर कर चुका था और वह किसी की पकड़ में नहीं आ सका। लेकिन प्रबंधन को पता चला कि एक छात्र इस तरह से वायरलेस सिस्टम का इस्तेमाल करके नकल कर रहा है, क्योंकि उसकी पहले ही लगभग 8 पेपर में सप्लीमेंटरी आ चुकी है।

इस कारण उसने किसी भी तरह पास होने के लिए नकल करने का यह तरीका अपनाया है। इसकी जानकारी मिलने के बाद उसके कॉलर खुलवाकर व कान में अंदर तक देखने के बाद ही उसे पकड़ा गया। उसके पास से मिले सभी उपकरण के साथ उसकी कॉपी भी सील करके यूएमसी बनाई गई है और उसपर कार्रवाई को लेकर यूएमसी स्टेंडिंग कमेटी फैसला लेगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us