विज्ञापन
विज्ञापन

हरियाणा की टीम ने किया पंजाब के भ्रूण लिंग जांच केंद्र का पर्दाफाश

ब्यूरो/अमर उजाला सिरसा Updated Thu, 23 Jun 2016 01:34 AM IST
छापा
छापा - फोटो : Bureau
ख़बर सुनें
हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ने पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के गृह जिले श्री मुक्तसर साहिब के एक अस्पताल में हो रही भ्रूण लिंग जांच का पर्दाफाश किया है। पंजाब पुलिस ने अस्पताल की संचालिका एमडी (गाइनी) मीना जग्गा को गिरफ्तार कर लिया है। मौके पर पहुंचे पंजाब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने अल्ट्रासाउंड मशीन सील कर दी है।
विज्ञापन
स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली थी कि श्री मुक्तसर साहिब में कोटकपूरा रोड पर स्थित जनता अस्पताल की संचालिका डॉ. मीना जग्गा लिंग जांच करती हैं। डबवाली की टीम ने उपरोक्त चिकित्सक को ग्राहक भेजने वाले गांव भलाईआना निवासी बलजीत सिंह से संपर्क साधा। बलजीत सिंह ने कहा कि वह उनका काम करवा देगा। तीन-चार दिन में सौदा 25 हजार रुपये में तय हुआ।

एक जाली ग्राहक तैयार किया गया। परिजन के तौर पर सीआईडी का जवान जग्गा सिंह बना। बलजीत ने बुधवार शाम पांच बजे अल्ट्रासाउंड के लिए मुक्तसर में बुलाया। जग्गा सिंह अपनी एक रिश्तेदार की बेटी (फर्जी ग्राहक) के भ्रूण की लिंग जांच करवाने के लिए तय स्थान पर पहुंच गया। बलजीत ने 25 हजार रुपये  लिए। वह उन लोगों को जनता अस्पताल में ले गया।

उसने संचालिका डॉ. मीना जग्गा को पैसे दे दिए। चिकित्सक अपने कंपाउंडर जसपाल सिंह निवासी गांव रोड़ांवाली (श्री मुक्तसर साहिब) के साथ महिला की जांच करने लगी। इशारा मिलते ही अस्पताल के बाहर खड़े डिप्टी सीएमओ सिरसा वीरेश भूषण तथा डॉ. राजकुमार के नेतृत्व में टीम ने रंगे हाथों चिकित्सक को अल्ट्रासाउंड करते पकड़ लिया। सीएम के गृह जिला में लिंग जांच के खेल का पर्दाफाश होने के बाद पंजाब स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। आला अधिकारी मौका पर पहुंचे। टीम ने मशीन को सील कर दिया। आगामी कार्रवाई के लिए चिकित्सक को पुलिस के हवाले कर दिया।

दिसंबर 2014 में हुआ था पर्दाफाश
श्री मुक्तसर साहिब में जाकर घिनौने कृत्य का पर्दाफाश करने में सीआईडी जवान भोला सिंह, बलजिंद्र सिंह तथा जग्गा सिंह की अहम भूमिका रही। इस टीम को इंस्पेक्टर अजय शर्मा लीड कर रहे थे।  इससे पूर्व जग्गा सिंह ने 31 दिसंबर 2014 को गांव मांगेआना (हरियाणा) में देश के पहले मोबाइल अल्ट्रासाउंड केंद्र का पर्दाफाश किया था। जो घरों पर जाकर ही लिंग जांच करता था। यह मोबाइल अल्ट्रासाउंड मोगा के एक झोलाछाप द्वारा संचालित था।

मोगा में हुआ था पर्दाफाश
कुछ समय पूर्व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मोगा के एक आरएमपी चिकित्सक सुनीत को भी गिरफ्तार किया था। जो घुकांवाली निवासी जगदीश के साथ मिलकर कोख में लिंग जांच करके रिपोर्ट देता था। हरियाणा स्वास्थ्य विभाग तथा गुप्तचर विभाग की प्रदेश के बाहर यह दूसरी सफलता है।

सीआईडी को सूचना मिली थी कि हरियाणा के लोग काफी संख्या में पंजाब में जाकर लिंग जांच करवा रहे हैं। चिकित्सक को पकड़ने के लिए हमने प्लानिंग की। हमने एक जाली ग्राहक तैयार किया। लिंग जांच करवाने के बहाने उसे भेजा। हमारे पास 500-500 रुपये  के 50 नोट थे। जिसके नंबर हमने नोट कर लिए। ग्राहक से पैसे लेकर चिकित्सक ने अपने पास रख लिए। जैसे ही इशारा मिला तो डॉ. मीना जग्गा को दो लोगों के साथ पकड़ कर लिया। चिकित्सक के कब्जे से नंबर अंकित किए गए नोट भी बरामद कर लिए। आगामी कार्रवाई पंजाब करेगा।
-वीरेश भूषण, उप-सिविल सर्जन, सिरसा
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Ambala

बिना वोटर कार्ड भी कर सकेंगे मतदान, काम आएंगे ये 11 दस्तावेज, जानिए कौन-कौन

हरियाणा के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इद्रजीत ने कहा कि जिसका नाम मतदाता सूची में है।

20 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

NCRB की 2015-17 की रिपोर्ट: दिल्ली फिर बनी अपराध की राजधानी, साइबर क्राइम में यूपी नंबर वन

NCRB की 2015-17 की रिपोर्ट जारी हो गई है। दिल्ली फिर अपराध की राजधानी दिखी है तो वहीं साइबर क्राइम के मामले में यूपी नंबर वन है। इसके साथ ही निर्भया कांड के बाद कानून सख्त होने के बाद भी रेप पीड़िताओं को इंसाफ के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

21 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree