विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

फतेहाबाद

शनिवार, 18 जनवरी 2020

गोदाम में बंधे मिले दो झोटे, अंदरूनी अंगों में चोट, पुलिस जांच में जुटी

भूना। कुलां रोड पर शुगर मिल के सामने एक गोदाम में दो झोटों को संदिग्ध परिस्थितियों में कैद करने का मामला सामने आया है। इन दोनों झोटों के गुप्तांगों में प्लास्टिक की बोतलें ठूंसी हुई मिली है। जिससे दोनों झोटे पीड़ा से छटपटा रहे थे। गोदाम मालिक विक्रम धारनियां मंगलवार की सुबह सड़क के साथ लगते गोदाम स्प्रे ड्रम को रखने गए तो वह यह सब देखकर चौंक गए। उन्होंने तुरंत मामले की सूचना पशु पालन विभाग और भूना पुलिस को दी। पुलिस के अनुसार गोदाम का ताला तोड़कर दो झोटों को अंदर कैद किया गया था। जिससे आशंका जताई जा रही है कि दोनों झोटों को चोरी के इरादे से चोरों ने गोदाम में छिपाया था। ताकि मौका मिलते ही उन्हें ले जाया जा सके।
जानकारी के अनुसार विक्रम सिंह धारनियां ने भूना-कुलां मार्ग पर शुगर मिल के सामने गोदाम है, जिसमें उसने कृषि यंत्र रखे हुए हैं। मंगलवार की सुबह वह स्प्रे ड्रम को गोदाम में रखने गया था। जब वह गोदाम पर पहुंचा तो उसने देखा कि गोदाम का ताला टूटा हुआ था। जब उसने शटर उठाकर देखा तो उसमें दो झोटे कैद थे। झोटे आवाज न निकाल सके, इसको लेकर चोरों ने उनके गुप्तांगों में बोतलें ठूंस रखी थी। विक्रम धारनियां ने तुरंत अपने परिजन को अवगत करवाया और पुलिस में सूचना दी। सूचना मिलते ही कार्यवाहक एसएचओ सत्यनारायण मौके पर पहुंचे। उन्होंने दोनों झोटों को गोदाम से बाहर निकलवाया और पशु चिकित्सकों को मौके पर बुलवाया। राजकीय पशु चिकित्सालय के वरिष्ठ डॉक्टर राजा राम कसवां ने झोटों को प्राथमिक उपचार किया, जिनमें एक की हालत गंभीर होने के कारण उसे पशु अनुसंधान केंद्र हिसार रेफर किया गया। वहीं दूसरे झोटे को उपचार के बाद नंदीशाला भूना में छोड़ दिया गया है। बता दें कि दोनों झोटों में से एक पर उस दाग का निशान लगाया गया है, जो आमतौर पर पंचायती झोटे पर लगाया जाता है। ताकि उसकी पहचान ग्रामीणों द्वारा की जा सके। जिससे आशंका जताई जा रही है कि दोनों झोटे चोरी के के लिए गोदाम में कैद किए गए थे, ताकि मौका मिलते ही दोनों को ले जाया जा सके।
पहले भी कई झोटे गांवों से हुए चोरी
झोटे चोरी होने की वारदात पहले भी कई गांवों में घटित हो चुकी है। जो पंचायती झोटा गांव में होता है, उसकी कीमत 1 लाख से 5 लाख के बीच मेें होती है। जिसको पशु तस्कर अधिक चोरी करते हैं। गांव मोचीवाली,चौबारा, लहरियां, ढाणी गोपाल, बैजलपुर से पिछले कई महीनों से झोटे चोरी हो चुके हैं। जबकि गांव लहरियां में रात्रि को कैंटर में पशु चढ़ाते समय तस्करों को ग्रामीणों ने दबोच लिया था। ग्रामीणों द्वारा पिटाई के कारण एक तस्कर की मौत भी हो गई थी। जो उत्तर प्रदेश का रहने वाला था। ऐसे में उक्त घटनाक्रम को भी निकटवर्ती क्षेत्र से चोरी की वारदात से जोड़कर देखा जा रहा है।
... और पढ़ें

कचरा लोडिंग के नाम पर तीन माह में पौने 28 लाख रुपये का घोटाला

भूना। शहर को साफ सुथरा रखने के उद्देश्य से लागू की गई कचरा लिफ्टिंग प्रणाली में पौने 28 लाख रुपये का घोटाला किए जाने का मामला सामने आया है। जिसे मुख्यमंत्री और शहरी विकास एवं निकाय मंत्री और जिला उपायुक्त के संज्ञान में लाया गया है। इस संदर्भ में नगर पालिका भूना के पार्षदों के लिखित पत्र पर उपायुक्त फतेहाबाद ने संज्ञान लेते हुए मामले की जांच अतिरिक्त उपायुक्त को सौंप दी है। जिसको लेकर एडीसी ने सोमवार को नगर पालिका के अधिकारियों, चेयरपर्सन और संबंधित ठेकेदार को तलब किया था, मगर चेयरपर्सन और ठेकेदार ने नोटिस को नजरअंदाज कर दिया। किंतु एडीसी ने घोटाले को लेकर नगर पालिका अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई है। घोटाला जाहिर होने के बाद नगर पालिका सचिव, जेई, सैनेंटरी इंसपेक्टर और ठेकेदार में हड़कंप मच गया है। उधर एडीसी ने अपने स्तर पर पूरे मामले की गुप्त जांच शुरू कर दी है।
पौने 15 लाख की जगह बांट दिए साढ़े 42 लाख रुपये
नगर पालिका अधिकारियों और चेयरपर्सन की सांठगांठ का फायदा उठाकर ठेकेदार ने कायदे कानूनों को ताक पर रखकर लाखों रुपये के वारे न्यारे कर लिए हैं। जबकि उपरोक्त बिल की मंजूरी उपायुक्त से लेनी अनिवार्य थी। किंतु नगर पालिका के अधिकारियों और चेयरपर्सन ने स्वयं ही अपने स्तर पर राशि ठेकेदार को सौंप दी।
नगर पालिका के वाइस चेयरमैन अनिल नड्डा, पार्षद नरेंद्र बागड़ी, सुदेश ग्रोवर, सुदेश दहिया, नीलम गर्ग, सरोज सोनी, रिम्पी सोनी, कश्मीरी लाल कंबोज, ओम प्रकाश कंबोज आदि ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि नगर पालिका के अधिकारियों और चेयरपर्सन की मिलीभगत से ठेकेदार को लाखों रुपये का फायदा पहुंचकर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने बताया कि सफाई कूड़ा उठाने के बारे में एक टेंडर 31 मार्च 2019 तक ट्रायल के आधार पर लगाया गया था। टेंडर में ठेकेदार को 15 फीसदी अतिरिक्त चार्ज को मिलाकर 4 लाख 91 हजार 625 रुपये में सौंपा गया था। मगर टेंडर देने के बाद ठेकेदार से इएमओ अर्थात अग्रिम जमानत राशि 5 लाख रुपये जमा करवाना भी जरूरी था। जिसको नगर पालिका अधिकारियों और चेयरपर्सन ने दरकिनार कर दिया। जनवरी माह से डिंग मैनपॉवर एंड सिक्योरिटी सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के ठेकेदार को 4 लाख 91 हजार 625 रुपये देने की जगह 8 मार्च 2019 को 19 लाख 71 हजार 358 रुपये सौंपकर सरकारी खजाने का चूना लगा दिया गया। सरकारी संपत्ति को चपत लगाने का कवायद यहीं समाप्त नहीं हुई बल्कि 15 मार्च 2019 को पुन: 12 लाख 75 हजार 851 रुपये और 13 अप्रैल 2019 को 10 लाख 26 हजार 204 रुपये के चेक दोनों हाथों से लूटा दिए गए। जबकि टेंडर के अनुसार ठेकेदार की कुल राशि महज 14 लाख 74 हजार 875 रुपये ही बनती थी। मगर अधिकारियों और चेयरपर्सन ने फर्जी बिलों के सहारे 42 लाख 53 हजार 413 रुपये के चेक सफाई के नाम पर ठेकेदार को सौंप दिए।
सफाई कर्मचारियों को भी साढ़े 6 लाख रुपये प्रति माह बांटा वेतन
पार्षदों ने शिकायत में बताया कि नगर पालिका भूना में पहले से ही 65 कर्मचारी हैं और एक ट्रैक्टर-ट्रॉली भी है। इसके अतिरिक्त 20 कचरा लोडिंग रिक्शा हैं, जो सफाई कर्मचारी प्रतिदिन शहर की सफाई में इस्तेमाल करते हैं जिससे कूड़ा कर्कट उठाते हैं। जिन पर नगर पालिका साढ़े 6 लाख रुपये खर्च करती आ रही है।
सफाई के नाम पर घोटाले की शिकायत मिली है। जिस पर तुरंत प्रभाव से संज्ञान लिया गया है। मामले की जांच अतिरिक्त उपायुक्त फतेहाबाद कर रही हैं। जांच के बाद तुरंत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
- डॉ. धीरेंद्र खड़गटा, जिला उपायुक्त।
... और पढ़ें

नशे पर रोकथाम को लेकर कागजी है पुलिसिया चौकसी

फतेहाबाद । 27 नवंबर 2015, यह वह तारीख थी जब जिले के गांवों में नशे का कारोबार को लेकर फतेहाबाद की तत्कालीन एसपी संगीता कालिया और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के बीच की तकरार राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बनी थी। चार साल बीतने के बाद स्थितियां पहले से बदतर हुई हैं। संगीता कालिया-अनिल विज के एपीसोड के बाद ये जरूर हुआ कि रतिया-टोहाना के पंजाब बॉर्डर को लेकर फतेहाबाद पुलिस संजीदा हुई और इस एरिया में लगातार नशे पर लगाम लगाने के प्रयास किए लेकिन जिले के दूसरे छोर पर राजस्थान सीमा को खुला छोड़ दिया है। जिले की सीमा से लगता पहला राजस्थानी गांव महराणा है। इस गांव से लेकर भट्टू के गांवों से होते हुए जिला मुख्यालय तक का सफर तकरीबन 37 किलोमीटर का है। एंटी ड्रग्स डे से एक दिन पूर्व ‘अमर उजाला’ ने मंगलवार को राजस्थान सीमा और पंजाब बॉर्डर पर नशे को लेकर पुलिस की चौकसी को लेकर विशेष पड़ताल की।
राजस्थान सीमा से जिला मुख्यालय तक सात गांव, एक भी पुलिस नाका नहीं
मंगलवार को ‘अमर उजाला’ की पड़ताल के दौरान ये सामने आया कि भट्टू पुलिस राजस्थान सीमा से नशे को लेकर बिल्कुल बेपरवाह है। राजस्थानी गांव महराणा से लेकर फतेहाबाद जिला मुख्यालय तक के 37 किलोमीटर के क्षेत्र में लगभग 7 गांव आते हैं। इसमें रामसरा, ढाबीकलां-ढाबीखुर्द, भट्टू, ढिंगसरा, मानावाली, भोड़ियाखेड़ा शामिल हैं। इसके अलावा फतेहाबाद शहर का एरिया भी भोड़ियाखेड़ा से ही शुरू होता है लेकिन 37 किलोमीटर के इस इंटर स्टेट रोड पर एक भी पुलिस नाका नहीं मिला। गांव रामसरा के पास पुलिस बैरिकेड्स जरूर सड़क के साइड में रखे हुए थे। इसके बाद के सभी गांवों में कहीं एक पुलिसकर्मी तक बाइक या जिप्सी पर गश्त करता हुआ नहीं दिखा।
पंजाब बॉर्डर के ब्राह्मणवाला गांव में खाली मिले बेरिकेड्स
दूसरी ओर जिले के दूसरे कोने में स्थित रतिया के गांव ब्राह्मणवाला से आगे का एरिया पंजाब है। ऐसे में पुलिस विभाग ने ब्राह्मणवाला गांव में विशेष पुलिस चौकी स्थापित की हुई है। जबकि फतेहाबाद जैसे इलाके में जहां नशा इतना संवेदनशील मुद्दा बन चुका है। उस इलाके में पंजाब बॉर्डर का सबसे पहला गांव ब्राह्मणवाला में सबसे अधिक जांच पड़ताल होनी चाहिए। मंगलवार को ‘अमर उजाला’ की पड़ताल में ठीक इससे उलटा होते दिखा। पंजाब साइड से आने वाले बाइक और गाड़ियां बिना किसी रोकटोक के हरियाणा क्षेत्र में प्रवेश पा रहे थे। उनकी तलाशी तो दूर, पंजाब बॉर्डर पर बनी ब्राह्मणवाला पुलिस चौकी के बाहर बेरिकेड्स पर कोई पुलिसकर्मी ही नहीं दिखा। पुलिस बेरिकेड्स पर सुरक्षा जांच की बजाए पुलिसकर्मी चौकी के अंदर बैठे नजर आए।
पंजाब से हो रही नशे की खेप, पुलिस अनजान
जिले के अधिकारी फतेहाबाद में बढ़ते नशे के पीछे पंजाब से आने वाले नशे को बड़ा कारण मानते हैं लेकिन पंजाब बार्डर पर ही ऐसी कागजी पुलिसिया सुरक्षा अपने आप में कई सवाल खड़े करती है और कई सवालों के जवाब दे भी देती है।
पांच माह ढाई करोड़ की हेरोइन के साथ दो भाई किए थे काबू
आज तक पंजाब बॉर्डर और इधर से आने वाले रास्तों पर फोकस रखने वाली फतेहाबाद पुलिस को चार-पांच माह पहले उस समय बड़ा झटका लगा था जब पंजाब पुलिस ने भट्टू के गांव पीलीमंदौरी में छापा मारकर रातोंरात दो भाइयों को काबू कर ले गई थी और उनके कब्जे से ढाई करोड़ की हेरोइन बरामद हुई थी। पीलीमंदौरी गांव राजस्थान से बहुत ज्यादा दूर नहीं है। रतिया-टोहाना के गांवों से पुलिस बामुश्किल 5-5 ग्राम की हेरोइन ही पकड़ती आई है।
एक से 20 जून तक नशे के खिलाफ पुलिस की मुहिम
1. एक किलो अफीम
2. 75 किलो चूरापोस्त
3. 225 ग्राम हेरोइन
4. 25 बोतल कफ सिरप
5. साढ़े 22 हजार नशे की गोलियां
6. नशा तस्कर के घर से 8 लाख की रिकवरी
राजस्थान के साथ लगते भट्टू के गांव सिंथेटिड ड्रग्स को लेकर संवेदनशील नहीं है। इस कारण वहां पर नियमित नाकेबंदी नहीं की जाती, लेकिन गुप्त सूचना के आधार पर समय-समय पर नाकाबंदी और अन्य काम किए जाते हैं। पंजाब में नशे का काफी प्रभाव है ऐसे में रतिया इलाके में तीन चौकियां स्थापित की गई हैं, स्पेशल स्टाफ है, सिटी पुलिस है। वो अपने तरह से नियमित जांच पड़ताल करती रहती हैं। इस कारण वहां पुलिस का फोकस ज्यादा नजर आता है। जहां तक नाके पर पुलिसकर्मियों की गैर मौजूदगी की बात है, कई बार गर्मी या अन्य कारणों से भी पुलिसकर्मी को इधर-उधर होना पड़ता है। नशे की रोकथाम को लेकर हमारे लिए पूरा जिला एकसमान है और हम इसके लिए पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध हैं।
... और पढ़ें

एटीएम तोड़ना चाहा तो मुंबई में बजा अलार्म, पुलिस पहुंची तो पथराव कर भागे बदमाश

सिरसा-चंडीगढ़ स्टेट हाईवे दो पर आबादी के बीच स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की जांडलीखुर्द ब्रांच के एटीएम को शुक्रवार की रात्रि को पांच नकाबपोश बदमाशों ने गैस कटर से काटकर उखाड़ने का प्रयास किया। इस दौरान बदमाशों ने एटीएम के ऊपरी भाग में से तीन हजार रुपये निकाल लिए, जबकि निचले भाग में 3 लाख 42 हजार 600 रुपये की नकदी सुरक्षित बच गई।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर वारदात को नाकामयाब कर दिया। किंतु बदमाश पुलिस पर ईंटों से हमला करके मौके से भागने में सफल हो गए। एसएचओ की गाड़ी में बाई ओर बैठे एएसआई खेताराम को हाथ पर पत्थर लगा है। पुलिस ने अज्ञात पांच बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मौके से लूट की वारदात में इस्तेमाल किया जा रहे लोहे की राड, गैस कट्टर, सिलिंडर, हथोड़े, टॉपी, दस्ताने समेत अन्य सामान बरामद किया है।एटीएम सेंसर तकनीक से मिली जानकारी

भारतीय स्टेट बैंक जांडली खुर्द की शाखा के एटीएम से लूट करने के लिए शुक्रवार की रात साढ़े 12 बजे पांच नकाबपोश बदमाश युवक इनोवा गाड़ी में सवार होकर आए। यह घटना बैंक के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। फुटेज में लुटेरों ने पहले एटीएम का शटर चेक किया जो लॉक था।

इनोवा गाड़ी की मदद से तीन बदमाशों ने 12 बजकर 31 मिनट पर रस्सा डालकर एटीएम मशीन के आगे लगे शटर को उखाड़ दिया। इसके बाद बदमाशों ने अंदर घुसकर एटीएम को भी तीन बार रस्से की मदद से उखाड़ने की कोशिश की। लेकिन मशीन नहीं उखड़ी और रस्सा टूट गया तो तीन लुटेरों ने गैस सिलिंडर व कटर इनोवा गाड़ी से बाहर निकाला।
... और पढ़ें
जांडलीखुर्द में एटीएम लूटने का प्रयास करते बदमाश। जांडलीखुर्द में एटीएम लूटने का प्रयास करते बदमाश।

फतेहाबादः ट्रैक्टर-ट्रॉली से जा भिड़ी बाइक और दर्दनाक हादसे में गई तीन सगे भाइयों की जान

हरियाणा के फतेहाबाद में देर रात गांव खुनन के पास एक सड़क हादसे में तीन सगे भाइयों की मौत हो गई है। मृतक तीनों भाइयों की पहचान काला सिंह (32), दीपक (21) एवं छिंदा सिंह (23) के रूप में हुई। तीनों गांव हांसपुर के रहने वाले थे और बरवाला के पास एक ईंट भट्ठे से गांव लौट रहे थे। घर से महज नौ किलोमीटर दूर गांव खुनन के पास एक ट्रैक्टर-ट्रॉली ने बाइक में टक्कर मार दी। इस हादसे में एक युवक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि दो अन्य बुरी तरह घायल हो गए। ट्रैक्टर ट्रॉली को गांव बनावाली सोतर निवासी छिंद्रपाल सिंह चला रहा था।

हादसे के बाद आसपास के लोगों ने घायलों को फतेहाबाद के अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने गंभीर हालत को देखते हुए अग्रोहा मेडिकल रेफर कर दिया। उपचार के दौरान मंगलवार सुबह दोनों की भी मौत हो गई। फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल में तीनों युवकों के शवों का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिए। पुलिस ने मृतक युवकों के पिता बलबीर सिंह के बयानों के आधार पर आरोपी ट्रैक्टर चालक छिंद्रपाल निवासी बनावाली सोतर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

इस मामले में डीएसपी धर्मबीर पूनिया ने बताया कि काला सिंह, दीपक एवं छिंदा अग्रोहा-बरवाला रोड पर स्थित एक ईंट भट्ठे पर काम करते थे और वहीं पास में रहते थे। सोमवार देर रात अपना काम निपटाने के बाद तीनों अपने एक रिश्तेदार के साथ ट्रैक्टर पर गांव नागपुर तक आए और रिश्तेदार के घर से बाइक पर गांव हांसपुर स्थित अपने घर के लिए रवाना हो गए।

इस बीच गांव हांसपुर से नौ किलोमीटर पहले गांव खुनन के पास उनकी बाइक में एक ट्रैक्टर-ट्रॉली ने टक्कर मार दी जिसके बाद काला सिंह की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दीपक सिंह व छिंदा सिंह ने अग्रोहा मेडिकल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। आरोपी ट्रैक्टर-ट्रॉली चालक ट्रैक्टर छोड़कर मौके से फरार हो गया। पुलिस ने ट्रैक्टर-ट्रॉली को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

छह भाइयों में से महज एक की हुई थी शादी
नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाने के लिए पहुंचे मृतक सगे भाइयों के परिजनों ने बताया कि मृतक कुल छह भाई हैं जिसमें से तीन ने हादसे में दम तोड़ दिया। इन सभी भाइयों में सबसे बड़ा काला सिंह ही था और उसकी कुछ समय पहले ही शादी हुई थी। परिजन इसी हादसे में मारे गए दीपक एवं छिंदा सिंह के लिए रिश्ता ढूंढ ही रहे थे लेकिन घर में खुशियों की दस्तक से पहले ही काल के क्रूर हाथों ने एक साथ एक ही परिवार के तीन जवान युवकों को अपने कब्जे में ले लिया।

ट्रैक्टर-ट्रॉली की टक्कर से हांसपुर निवासी काला सिंह, छिंदा सिंह एवं दीपक की मौत हो गई। मृतकों के पिता की शिकायत पर गांव बनावाली सोतर निवासी छिंद्रपाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
-धर्मबीर पूनिया, डीएसपी।
... और पढ़ें

ट्रेन की चपेट में आने से ग्रामीण की मौत

टोहाना। गांव पिरथला के पास ट्रेन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। रेलवे पुलिस ने उसके शव का नागरिक अस्पताल टोहाना में पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। जानकारी अनुसार दिलबाग सिंह (40) निवासी पिरथला रेलवे ट्रैक पार कर रहा था। इस दौरान वह ट्रेन को नहीं देख पाया और ट्रेन की चपेट में आ गया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जांच अधिकारी सब इंस्पेक्टर धर्मपाल ने बताया कि उसके बाद एक अन्य गाड़ी के चालक ने उसे रेलवे ट्रैक पर देखा तो पुलिस को सूचित किया। उस उपरांत पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मृतक के परिजनों को सूचित किया और शव को पोस्टमार्टम हेतु नागरिक अस्पताल लाया गया। उन्होंने बताया धारा 174 के तहत कार्रवाई करते हुए मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। ... और पढ़ें

बहन को बनाया था कंपनी में पार्टनर, पति के साथ मिलकर हड़पे एक करोड़

फतेहाबाद। फतेहाबाद के एक फुटवीयर कंपनी के मालिक की बहन ने पति के साथ मिलकर 1 करोड़ 18 लाख रुपये हड़प लिए। उसने भाई की कंपनी में पार्टनर बनने के बहाने खाली कागजों पर हस्ताक्षर करके पहले कंपनी की एमओयू बनवा ली और बाद में कोर्ट का हवाला देकर रुपये हड़प लिए। शहर पुलिस ने कंपनी मालिक विनोद गुप्ता की शिकायत पर उसकी बहन पूनम जैन, जीजा मनोज जैन, राकेश जैन, श्रुति जैन व दिनेश गोस्वामी निवासी दिल्ली के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।
पुलिस को दी शिकायत में विनोद गुप्ता ने बताया कि उसकी रतिया चुंगी पर एमवी फुटवीयर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी है। इस कंपनी का वह डायरेक्टर है और उसकी पत्नी इसकी शेयर होल्डर है। उसकी कंपनी के सीए उसका जीजा मनोज था। वर्ष 2014 में पारिवारिक सहमति पर उसने अपनी बहन नीलम को कंपनी का पार्टनर बनाया था। उसके जीजा अपने दोस्त राकेश के साथ उसके घर आए और कुछ कागजों पर उसके हस्ताक्षर करवा लिया। इसके बाद दोनों ने साजिश रचकर उन कागजों की फर्जी एमओयू तैयार कर ली और दिनेश गोस्वामी को फर्जी गवाह बनाकर उसकी पत्नी के फर्जी हस्ताक्षर कर दिए। आरोप है कि इसके बाद उक्त लोगों ने 46 लाख रुपये के पेपर ट्रांजेक्शन उसकी कंपनी के खाते में करवाकर उसके खिलाफ दिल्ली विवेक विहार में झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया व कोर्ट में 2 करोड़ 10 लाख रुपये की लायबिलिटी दिखा दी। इसके बाद उसे गिरफ्तारी का डर दिखाकर उससे 1 करोड़ 18 लाख रुपये ऐंठ लिए। अब यह लोग उसकी प्रॉपर्टी हड़पने की फिराक में हैं। विनोद गुप्ता ने बताया कि पहले भी वह उपरोक्त लोगों पर कार्रवाई करवाना चाहता था, लेकिन रिश्तेदारी का नाता देकर उसे रोक लिया गया। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज करके जांच आरंभ कर दी है।
... और पढ़ें

टोहाना में 2016 में दर्ज एनडीपीएस एक्ट के मामले में मुख्य गवाह था पूर्व एसएचओ

टोहाना। लगभग तीन साल पूर्व थाना शहर प्रभारी रहे एसआई संदीप कुमार के नशे के मामले में लगातार सेशन कोर्ट में पेश न होने पर शहर पुलिस ने संदीप कुमार के तलाश के इश्तिहार जारी कर दिए हैं। इश्तिहार के अनुसार संदीप का पता चलने पर उसकी सूचना थाना शहर प्रभारी को देने की अपील की गई है। बार-बार गिरफ्तारी वारंट निकालने के बाद भी संदीप कोर्ट में नहीं आ रहा है, जिसके चलते उसे 11 जुलाई को पेश न होने पर पीओ घोषित करने की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 4 अक्तूबर 2016 को जब संदीप कुमार टोहाना शहर थाना प्रभारी थे, उस समय पुलिस की टीम ने बलियाला हैड की तरफ से बाइक पर आ रहे तीन लड़कों को नशे की गोलियों के साथ काबू किया था। जिनमें आरोपी रामनगर निवासी संजीव, भाटिया नगर निवासी सतीश कुमार व करनाल के जिला रावर निवासी बलविंद्र शामिल थे। पुलिस ने मामले में आरोपियों के कब्जे से माईक्रोलीट नशीली गोलियों के 1398 पैकेट मिले, जिनमें एक लाख 40 हजार नशीली गोलियां बरामद हुई थी। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी । इश्तिहर के अनुसार पूर्व एसएचओ एसआई संदीप कुमार 4 अक्तूबर 2016 को एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज हुआ यह मुकदमा फतेहाबाद की सैशन कोर्ट में विचाराधीन है। मुख्य गवाह होने के कारण एसआई संदीप कुमार 29 मई से पेश नहीं हो रहा है। जिसके चलते माननीय अदालत द्वारा गवाह संदीप कुमार को बार-बार गिरफ्तारी वारंट जारी किए, लेकिन संदीप कुमार अभी तक हाजिर नहीं हुआ है। इश्तिहार के अनुसार, इसलिए संदीप कुमार का इश्तिहार जारी करके सूचना दी गई है कि जिस किसी को भी संदीप कुमार के बारे में पता चले, वह इसकी सूचना सिटी थाना टोहाना अथवा 100 नंबर पर दे। न्यायालय के दिशा निर्देश अनुसार अगर संदीप कुमार 11 जुलाई को कोर्ट में पेश नहीं हुआ तो उसको पीओ घोषित कर दिया जाएगा। जानकारी अनुसार एसएचओ संदीप कुमार पर सिरसा जिलें में ड्यूटी के दौरान रिश्वत लेेने का मामला भी चल रहा है और यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है।
नशा अधिनियम के तहत मुकदमे में मुख्य गवाह टोहाना के पूर्व थाना प्रभारी संदीप कुमार न्यायालय में पेश नहीं हो रहे है। इसलिए उनके तलाशी इश्तिहार निकाले गए है। 11 जुलाई को अगर वे पेश नहीं हुए तो उन्हें पीओ बनाने की कार्रवाई की जाएगी। -संजय कुमार, थाना शहर प्रभारी।
... और पढ़ें

28 हजार रुपये की रिश्वत लेता होमगार्ड काबू

फतेहाबाद। दो होमगार्ड को दोबारा ड्यूटी ज्वाइन करवाने के नाम पर पर 28 हजार रुपये की रिश्वत लेते विजिलेंस ने भूना रोड से एक होमगार्ड को रंगे हाथों काबू कर लिया। विजिलेंस दोनों को हिसार स्थित विजिलेंस थाने में ले गई है। होमगार्ड के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, सरकार का नियम है कि होमगार्ड को तीन माह तक काम पर रखा जाता है। फतेहाबाद में तैनात दो होमगार्ड राजेश व ईश्वर की समयावधि समाप्त होने के बाद उनको सेवामुक्त कर दिया गया था। उनकी मुलाकात फतेहाबाद के गांव मानावाली निवासी श्रवण से हुई। श्रवण ने दोनों को बताया कि उसकी होमगार्ड कमांडेंट से अच्छी जान पहचान है और वह दोनों को फिर से ड्यूटी पर ज्वाइन करवा देगा। इसके लिए श्रवण ने दोनों से 14-14 हजार रुपये की डिमांड की थी। दोनों ने श्रवण को रुपये देने की हामी भर ली। सोमवार देर शाम को श्रवण ने दोनों को भूना मोड़ पर आईडीबीआई बैंक के सामने बुला लिया। इस दौरान राजेश व ईश्वर ने इसकी शिकायत विजिलेंस हिसार को कर दी। शिकायत के बाद विजिलेंस हिसार के डीएसपी शरीप सिंह के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। इस टीम ने फतेहाबाद आकर डीसी को इसकी जानकारी दी। इसके बाद विजिलेंस की टीम ने दोनों होमगार्डों को 14-14 हजार रुपये के हस्ताक्षर व केमिकल युक्त नोट पकड़ाए और भूना मोड़ पर भेज दिया। जैसे ही श्रवण ने यह नोट पकड़े विजिलेंस की टीम ने उसको दबोच लिया। विजिलेंस की टीम ने श्रवण के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।
... और पढ़ें

बाइक सवार तीन युवकों ने कार चालक पर चलाई गोलियां

भट्टूकलां। गांव सिरढ़ान निवासी एक युवक पर अज्ञात लोगों ने चलती गाड़ी पर फायरिंग कर दी। फायरिंग में वह बाल-बाल बचा। सिरढ़ान निवासी कौरसिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह खेतीबाड़ी का कार्य करता है। सोमवार सायं वह अपनी कार लेकर किसी कार्य के लिए गांव बनावाली में गया हुआ था। देर सायं वह कार में सवार होकर वाया किरढ़ान होते हुए अपने गांव सिरढ़ान जा रहा था। रास्ते में पहुंचा तो पीछे से बाइक सवार तीन युवक आए और उन्होंने कार के आगे बाइक लगाकर उसका रास्ता रोक लिया। शिकायतकर्ता ने कहा कि एक युवक ने उसे जान से मारने की नियत से पिस्तौल निकाल कर फायर कर दिया। गोली कार के बोनट पर लगी। फायरिंग होते ही वह कार को पीछे चलाने लगा। कुछ दूर पीछे चलते ही कार सड़क से नीचे उतर कर बंद हो गई। फिर वह पैदल ही एक ढ़ाणी की तरफ भागने लगा। दो हमलावर भी उसके पीछे भागे और उस पर दो फायर किए। इस फायरिंग के बाद हमलावर वापस सड़क पर आ गए। वहां से उन्होंने एक राहगीर से स्कूटर छीना और भाग गए। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीत दंड संहिता की धारा 307, 341, 392, 25, 34, 54 के तहत मामला दर्ज कर दिया है। ... और पढ़ें

गल्ला लूट का दूसरा आरोपी काबू, लिया रिमांड पर

रतिया। रतिया की टिब्बा कॉलोनी से प्रिंस दुकानदार की दुकान से गल्ला लूटने के मामले में पुलिस ने दूसरे आरोपी को काबू कर लिया है। आरोपी की पहचान सुनील निवासी रतिया के रूप में हुई है। पुलिस ने इस मामले में आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां अदालत ने उसे दो दिन के रिमांड पर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने उससे 2 हजार की नकदी व अन्य कागजात बरामद किए है। ज्ञात रहे कि गत दिवस प्रिंस नामक दुकानदार की दुकान से बाइक पर आए तीन युवक गल्ला लूटकर फरार हो गए थे। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी गुरप्रीत को काबू किया था। उससे पूछताछ के बाद उसके अन्य साथियों का पता चला था। अब पुलिस दूसरे आरोपी सुनील को काबू किया है। मामले के जांच अधिकारी एएसआई राधा कृष्ण ने बताया कि रिमांड के दौरान आरोपी सुनील से गल्ले से निकाले गए दो हजार और प्रिंस के कुछ दस्तावेज बरामद किए गए हैं, वही रिमंाड सुनील ने लाली रोड पर गत दिवस चुराई एक बाइक चोरी करने की बात भी कबूली है, पुलिस ने बाइक भी बरामद कर ली है। जांच अधिकारी ने बताया कि गला लूट मामले के तीसरे आरोपी मलकीत की तलाश जारी है, उसे शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा। ... और पढ़ें

हेरोइन तस्करी के आरोप में मां-बेटा गिरफ्तार

फतेहाबाद। शहर के बीघड़ रोड स्थित काठमंडी निवासी मां-बेटे को पुलिस ने हेरोइन तस्करी के आरोप में काबू किया है। पुलिस ने दोनों से 5 लाख रुपये कीमत की 100 ग्राम हेरोइन बरामद की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, स्पेशल स्टाफ पुलिस मिनी बाईपास के पास गश्त कर रही थी। इसी दौरान एक पल्सर बाइक पर सवार एक युवक और महिला वहां आए। पुलिस को देखकर युवक ने बाइक को मोड़ लिया। पुलिस ने शक के आधार पर दोनों को काबू किया और तलाशी ली तो उनके पास से 100 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। सिटी एसएचओ सुरेंद्र कंबोज ने बताया कि युवक की पहचान सुरेंद्र कुमार और उसकी मां की पहचान परमेश्वरी देवी के रूप में हुई है। यह दोनों हेरोइन की तस्करी में लगे हुए थे। दोनों हेरोइन की सप्लाई के लिए जा रहे थे कि पुलिस ने उनको काबू कर लिया। हेरोइन की कीमत लगभग 5 लाख रुपये है। उन्होंने बताया कि महिला परमेश्वरी का बड़ा बेरोजगार था। उसने देखा कि कई लोग हेरोइन तस्करी कर कमाई कर रहे हैं। इसके बाद वह भी हेरोइन तस्करी में संलिप्त हो गया। वह दिल्ली से हेरोइन लेकर आता था और इसके बाद परमेश्वरी देवी अपने छोटे बेटे के साथ इसकी शहर में सप्लाई करती थी। किसी को शक न हो, इसलिए परमेश्वरी अपने बेटे के साथ जाती थी। सिटी एसएचओ ने बताया कि कल मां-बेटे को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा, इसके बाद मामले का खुलासा होगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन