- पांच किलोमीटर दूर मिले पशु, शक की सूई पशु चोरों पर

Rohtak Bureau Updated Wed, 16 May 2018 01:00 AM IST
ख़बर सुनें
शहजादपुर।
पशु चराने गए गांव पिलखनी के बुजुर्ग सुंदर राम की किसी ने रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या का पता तब चला, जब परिजन बुजुर्ग को ढूंढने निकले और शव निकटवर्ती गांव कोड़वा खुर्द में पाया गया। हत्या की सूचना लगते ही एसपी अंबाला अभिषेक जोरवाल सहित अन्य मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी है।
क्षेत्र के गांव पिलखनी का रहने वाला 65 वर्षीय बुजुर्ग सुंदर राम गांव से अपने पशुओं को चराने के लिए सोमवार सुबह निकटवर्ती गांव कोड़वा खुर्द में गया था। लेकिन देर शाम तक जब सुंदर राम घर नहीं पहुंचा, तो परिवार के सदस्यों को चिंता हुई। गांव वालों की मदद से सुंदर राम की तलाश शुरू की लेकिन कोई पता नहीं चल सका। इस कारण मंगलवार सुबह फिर तलाश शुरू की व पशुओं के पांव के निशान को आधार मानते हुए वह कोड़वा खुर्द के जंगल के समीप पहुंचे। यहां पर लोगों ने देखा कि वहां पर एक तलाबनुमा गड्ढे में एक बीड़ी का बंडल मिला। इस बंडल की पहचान कर परिजनों ने की। इसी मार्का की बीढ़ी सुंदर राम पीते थे।
वहीं तलाश करने पर देखा कि वहां पर मौजूद आक के पौधों का झुंड टूटा हुआ था और वहां फुंस फैला हुआ था। इस पर आक में झांक कर देखा तो सुंदर राम का शव पड़ा था व गला रस्सी से घोंटकर आक की जड़ों में बांधा गया था। इसकी सूचना शहजादपुर पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही शहजादपुर थाना प्रभारी हरभजन सिंह, थाना प्रभारी साहा शमशेर सिंह, डीएसपी नारायणगढ़ राजबीर सैनी, डीएसपी बराड़ा सुधीर तनेजा, सीन ऑफ क्राइम की टीम, डॉग स्क्वायड पार्टी, सीआईए नारायणगढ़ टीम व पुलिस कप्तान एसपी अभिषेक जोरवाल भी मौके पर पहुंचे व जांच शुरू की।

परिजन बोले, हमारी किसी से दुश्मनी नहीं
वहीं सुंदर राम की हत्या सूचना गांव में आग की तरह फैली और लोग मौके पर इकट्ठा हो गए। वहीं मृतक के बेटे बिंटू पाल का कहना है कि उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है, पता नहीं किस ने और क्यों हत्या कर दी। उन्होंने बताया कि सोमवार को उनके पिता पशु चराने के लिए घर से निकले थे, वह दिनभर परेशान रहे। मगर उन्हें बिल्कुल भी अंदेशा नहीं था कि उनके पिता के साथ ऐसा होगा। वह अक्सर पशु चराने के लिए जाते थे।

हत्या का शक पशु चोरों पर
जिस समय परिजनों व ग्रामीणों को शव मिला, उस समय पशु आसपास भी नहीं थे। जब इनकी तलाश की गई तो उनके पशु वारदात स्थल से करीब पांच किलोमीटर दूरी से मिले हैं। ऐसे में शक है कि पशु चोरों ने पशुओं को चुराने की नीयत से ही सुंदर राम की हत्या की होगी। इसी को लेकर लोगों ने पुलिस के समक्ष यह शक जताया है। मगर, पुलिस अभी किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है।

चार साल पहले भी हुई थी हत्या
गांव में ही घटना की सूचना मिलते पहुंचे पाल समाज के प्रदेश अध्यक्ष नरसिंह पाल का कहना है कि बिरादरी के एक अन्य व्यक्ति की भी चार साल पहले हत्या हुई थी। युवक अशोक कुमार की चार साल पहले गांव पतरहेड़ी के पास हत्या कर दी गई थी और वह भी गांव पिलखनी का रहने वाला था। इस हत्या का भी आज तक कोई सुराग नहीं लगा। उन्होंने अब सुंदरराम की हत्या के मामले में भी गहन जांच की मांग की है। उन्होंने मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने ठोस जांच की मांग की।

कातिल चाहे कितना भी होशियार क्यों न हो जल्द ही उसे सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा। इस मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है और जल्द ही हत्यारों को काबू कर लिया जाएगा।
- राजबीर सैनी, डीएसपी, नारायणगढ़।

Recommended

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Shimla

शिक्षक को पीटने वाले 5 छात्र कॉलेज से निष्कासित, ये है पूरा मामला

रामपुर कॉलेज में शिक्षक के साथ मारपीट करने वाले पांच छात्रों को निष्कासित कर दिया गया है।

15 अगस्त 2018

Sultanpur

रेलवे-1

14 अगस्त 2018

Related Videos

VIDEO: कांग्रेस नेता ने पड़ोसी को दिनदहाड़े गोलियों से भूना

अंबाला में कांग्रेस नेता विजय शर्मा ने दिनदहाड़े पड़ोसी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी जिसेस उसकी मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक दोनों में कई समय से विवाद चल रहा था। आरोपी विजय शर्मा ने थाने में जाकर सरेंडर भी कर दिया है।

7 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree