असुविधाओं के सिस्टम का नाम सुविधा केंद्र

अमर उजाला, गुड़गांव Updated Fri, 31 Jan 2014 10:42 AM IST
no facilities in civil facility center
गुड़गांव नगर निगम का नागरिक सुविधा केंद्र पिछले लंबे समय से अव्यवस्था का शिकार है। यहां आने वाले लोगों का छोटे से छोटा काम कराने में में भी पसीने छूट रहे हैं।

पिछले एक महीने से यहां के कर्मचारियों की ओर से सिस्टम में खराबी का बहाना बनाया जा रहा है। जिससे शहरवासियों की खासी फजीहत हो रही है।

नागरिकों की सुविधा के लिए नगर निगम की ओर से 2010 में नागरिक सुविधा केंद्र बनाया गया था। यहां जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने से लेकर शादी पंजीकरण, प्रोपर्टी टैक्वस अदायगी के अलावा तमाम छोटे-बड़े कामों की सहूलियत प्रदान की गई थी।

22 दिसंबर तक इसके संचालन का जिम्मा एक निजी एजेंसी संभाल रही थी, लेकिन गड़बड़ी की आशंका से नए कमिश्नर डॉ. प्रवीण कुमार ने उक्त कंपनी का करार रद्द कर दिया। एक जनवरी से यहां की व्यवस्थाएं निगम के आईटी इंजीनियर संभाल रहे हैं।

हालांकि यहां 15 से अधिक आईटी इंजीनियर की नियुक्ति का दावा किया जा रहा है, लेकिन हकीकत में एक आईटी मैनेजर के दम पर कंम्प्यूटर ऑपरेटरों से काम कराया जा रहा है। जिनकी समझ में अभी तक यहां का सिस्टम नहीं आया है। जिस कारण पब्लिक को सिस्टम में खराबी का बहना बनाकर टरकाया जा रहा है।

सबसे अधिक दिक्कत जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र लेने को वालों को हो री रही है। महीनों पहले आवेदन के बाद तय तारीख पर भी लोगों को प्रमाण पत्र नहीं दिए जा रहे हैं।

केंद्र की प्रभारी रीटा दलाल कहती है कि अनुबंध पर काम करने वाली कंपनी ने दो साल का डाटा अपडेट नहीं किया, जिससे कर्मचारियों के साथ लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। धीरे-धीरे इसमें सुधार किया जा रहा है। इसका सर्वर बदला गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018