एसआरएस समूह के निदेशक अनिल जिंदल की अस्पताल में शराब के साथ वीडियो वायरल,तीन पुलिसकर्मी निलंबित

Noida Bureau नोएडा ब्यूरो
Updated Thu, 16 Sep 2021 11:16 PM IST
SRS group director Anil Jindal's video viral with beer in hospital
विज्ञापन
ख़बर सुनें
फरीदाबाद। एसआरएस समूह के निदेशक अनिल जिंदल का अस्पताल के कमरे में बीयर के साथ वीडियो वायरल होने पर पुलिस विभाग ने उसकी सुरक्षा में तैनात तीन पुलिस कर्मियों को निलंबित कर विभागीय जांच शुरू कर दी है। मामले की जांच एसीपी क्राइम अनिल यादव को सौंपी गई है।
विज्ञापन

बुधवार को एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें एसआरएस समूह के निदेशक अनिल जिंदल एक कमरे में बैठे हुए हैं। उनके सामने मेज पर बीयर की केन रखी हुई हैं और उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी भी वीडियो में नजर आ रहे हैं। मामले का संज्ञान लेते हुए एसीपी क्राइम ने तीन पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि अदालत के आदेश पर जिंदल को जेल से इलाज के लिए मेट्रो अस्पताल ले जाया गया था। इस दौरान आरोपी के कमरे में खाने के सामान के साथ बीयर के केन का एक वीडियो 15 सितंबर की शाम वायरल होने लगा। पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा ने एसीपी क्राइम को जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे।

एसीपी क्राइम अनिल यादव ने जांच में पाया कि वायरल वीडियो 28 अगस्त की रात का है। आरोपी को अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया था। विचाराधीन बंदी के कमरे में पहुंचाए गए सामान की ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों ने जांच की। इस लापरवाही के चलते तीनों पुलिसकर्मियों ईएसआई संजीव, हवलदार चंद्रप्रकाश और सिपाही मुकेश को निलंबित किया गया है। इसके साथ ही नीमका जेल अथॉरिटी व मेट्रो हॉस्पिटल के प्रबंधन को भी आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देश दिए गए हैं।
इस मामले में बंद हैं जिंदल
एसआरएस समूह के निदेशक अनिल जिंदल पर लोगों को मुनाफे का झांसा देकर करोड़ों रुपये हड़पने का आरोप है। कई बैंकों के साथ धोखाधड़ी के आरोप भी उनके ऊपर लगे हैं। सीबीआई व ईडी सहित कई एजेंसियां उसके ऊपर लगे आरोपों की जांच कर रही हैं। साल 2017 में फरीदाबाद पुलिस ने आरोपी व उसके साथियों को गिरफ्तार किया था। वे तभी से नीमका जेल में बंद हैं। 28 अगस्त को दिल से संबंधित बीमारी के इलाज के लिए सेक्टर-16 स्थित मेट्रो अस्पताल में भर्ती किया गया था। इस दौरान उनके कमरे में बीयर होने का वीडियो किसी स्टाफ ने बना लिया। अगले दिन उन्हें जेल में वापस भेज दिया गया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00