वक्फ भूमि का कब्जा छुड़ाने गई पुलिस टीम पर पथराव

ब्यूरो/अमर उजाला, भिवानी Updated Fri, 31 Jan 2014 12:54 AM IST
Possession of waqf land: threw stones on rescue team of police
वक्फ बोर्ड की जमीन पर कब्जा छुड़वाने गई पुलिस टीम और ग्रामीणों के बीच वीरवार को भिड़ंत हो गई।

ग्रामीणों के पथराव के कारण आठ पुलिस कर्मचारी घायल हो गए, जिनमें एक की गंभीर हालत को देखते हुए पीजीआई रेफर किया गया है।

तीन ग्रामीणों के भी घायल होने की खबर है। पुलिस ने 15 नामजद सहित तीस लोगों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज कर लिया है।

शहर से सटे गांव गुजरानी के श्मशान घाट और आसपास की वक्फ बोर्ड की जमीन पर कुछ लोगों द्वारा किए गए कब्जे को हटाने के लिए कोर्ट के आदेश पर पुलिस कार्रवाई करने पहुंची थी।

तीन मकान हटाने के बाद चौथे मकान पर जैसे ही जेसीबी मशीन चली, ग्रामीणों ने विरोध करना शुरू कर दिया और जेसीबी को आगे नहीं बढ़ने दिया।

पुलिस ने ग्रामीणों को काफी समझाया, लेकिन लोग नहीं माने। मजबूरन पुलिस ने ग्रामीणों को मौके से खदेड़ने के लिए बल प्रयोग किया।

इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। लगभग घंटे भर चले बवाल के बीच कभी पुलिस ग्रामीणों की तरफ लाठी लेकर दौड़ते तो कभी ग्रामीण पत्थर लेकर पुलिस की ओर भागते दिखाई दिए।

पथराव के कारण सुरेश कुमार, एचसी विनोद कुमार, अजीत कौर, ईएचसी पवन, कुलदीप, ईएचसी रविकांत, सुरेंद्र समेत आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए। सोमवीर, भरथो देवी, रोशनी नामक ग्रामीणों को भी चोटें आईं।

घायल पुलिस कर्मचारियों को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां हवलदार सुरेश को गंभीर हालत के चलते रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया गया।

तहसीलदार रामानंद डयूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर मौके पर मौजूद थे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए तहसीलदार ने मौके से निकलना ही बेहतर समझा।

तहसीलदार और ड्यूटी मजिस्ट्रेट रामानंद ने बताया ‌कि कोर्ट के आदेश पर हम वक्फ बोर्ड की जमीन पर कब्जे को हटाने गए थे। तीन कब्जे हटा भी दिए थे लेकिन जब चौथे कब्जे को हटाने लगे तो ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया।

Spotlight

Most Read

Budaun

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

संरक्षित स्मारक रोजा को मजहबी रंग देने की कोशिश

21 जनवरी 2018

Related Videos

नशे के शिकार लोगों को ऐसे सही रास्ता दिखाने का काम कर रहे हैं ये दो भाई

पूरा पंजाब नशे की गिरफ्त में हैं। बेरोजगारी और आसानी से मिलने वाला नशे का सामान इसके लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार माना जाता है।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper