शव दफनाने को लेकर आजमगढ़ में सांप्रदायिक संघर्ष, पत्थरबाजी में 36 घायल

ब्यूरो, अमर उजाला, आजमगढ़ Updated Sat, 22 Apr 2017 03:12 PM IST
communal clashes took place in Azamgarh, 16 injured
communal clashes in azamgadh - फोटो : अमर उजाला

देवगांव कोतवाली क्षेत्र के कटौली खुर्द गांव में शुक्रवार को दलित की लाश गांव के कब्रिस्तान में दफनाने को लेकर दलित और समुदाय विशेष के बीच विवाद हो गया। इसमें समुदाय विशेष के लोगों ने दलितों पर हमला बोल दिया।

लाठी-डंडा के हमले और पथराव में दलित वर्ग के 36 लोग घायल हो गए। इसमें 16 को अधिक चोटें आईं। घायलों में महिला, पुरुष और बच्चे सभी शामिल हैं। इसके बाद गांव में तनाव हो गया। सूचना पर एसडीएम लालगंज,  सीओ लालगंज, चार थानों की फोर्स पहुंची।

मौके पर पीएसी तैनात कर दी गई। पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने आरोपियों पर रासुका के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। देवगांव कोतवाली क्षेत्र के कटौली खुर्द गांव निवासी नगई राम (112) की बुधवार की दोपहर मौत हो गई थी।

गुरुवार को परिवार के लोगों ने शव देर शाम घर से करीब 50 मीटर दूर दलित कब्रिस्तान में दफना दिया। कब्रिस्तान से सटा गांव के अलाऊ का खेत है। इसलिए शव दफनाने से पहले लोगों ने उसे इसकी सूचना देकर मौके पर देखने की बात कही थी, लेकिन वह नहीं आया।

शुक्रवार को दलित पक्ष के लोग कब्र को पक्का करा रहे थे। इसी बीच अलाऊ के पक्ष के लोग पहुंचे और जमीन अलाऊ की बताते हुए शव दफनाने पर आपत्ति जताई। इसी बात को लेकर कहासुनी हुई और अलाऊ के पक्ष के लोग लाठी-डंडा और ईंट-पत्थर लेकर पहुंचे और दलितों पर हमला बोल दिया।
 

आगे पढ़ें

घायलों में महिला, पुरुष और बच्चे भी शामिल

Spotlight

Most Read

National

प्लेटफॉर्म पर युवती को सिरफिरा करने लगा जबरन किस, तमाशा देखते रहे लोग

महाराष्ट्र के नवी मुंबई में एक युवती के साथ छेड़छाड़ और जबरन किस करने की वारदात सामने आई है।

23 फरवरी 2018

Related Videos

तो इस वजह से ग्रामीणों में मच गया हड़कंप

सोनभद्र के घोरावल में दो मगरमच्छ के नदी से बाहर आने से हड़कंप मच गया। ये दोनों मगरमच्छ बकहर नदी के किनारे आ गए थे।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen