विज्ञापन
विज्ञापन

लड़ती की प्रधान के घर पकता मिला चीतल का मांस

Bareily Bureauबरेली ब्यूरो Updated Wed, 12 Sep 2018 11:36 PM IST
ख़बर सुनें
प्रधान के घर पकता मिला चीतल का मांस
विज्ञापन
विज्ञापन
0 रेंजर ने किया प्रधान पति पर एक लाख रुपये का जुर्माना
अमर उजाला ब्यूरो
खुटार। बुधवार को सूचना पर रेंजर रणवीर मिश्रा के नेतृत्व में वन विभाग की टीम ने गांव लड़ती की प्रधान के घर छापा मारकर चीतल का मांस बरामद किया है। प्रधान पति पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।
रेंजर रणवीर मिश्रा ने बताया कि बुधवार को मुखबिर ने सूचना दी कि गांव लड़ती में कुछ लोगों ने चीतल का शिकार किया है और मांस पकाया जा रहा है। सूचना पर रेंजर ने प्रवर्तन दल प्रभारी सुरेंद्र पाल गौतम, अशोक चतुर्वेदी, कामता प्रसाद वर्मा, श्रीकृष्ण, संदीप यादव आदि को मौके पर भेजा तो पता चला की गांव लड़ती की प्रधान शांति देवी के पति सुरेंद्र कुमार चीतल (झाक) का मांस अपने घर पर लाकर बनवा रहे हैं। टीम ने प्रधान के घर छापामारी कर तलाशी की बात कही तो प्रधान पति टीम से भिड़ गया और सभी का तबादला करा देने की धमकी दी। टीम ने प्रधान के घर में बन रहे चीतल के मांस को बरामद कर लिया और प्रधान पति को रेंज मुख्यालय ले जाया गया।
जानकारी पाकर क्षेत्र के कई प्रधान मैलानी पहुंचे और आरोपी प्रधान पति को छोड़ देने का दबाव बनाने लगे, लेकिन उनकी एक न चल सकी। रेंजर रणवीर मिश्रा ने बताया कि आरोपी पर एक लाख रुपये का जुर्माना किया गया है।
00
बच निकले चीतल के शिकार में शामिल कई लोग
0 प्रधान पति से पूछताछ में मिल सकती थी जानकारी
अमर उजाला ब्यूरो
खुटार। चीतल के शिकार में शामिल गांव लड़ती और आसपास के गांवों के कई लोग बच निकले हैं। मामले की क्षेत्र में व्यापक चर्चा है।
गांव लड़ती खुटार रेंज के जंगल से सटा हुआ है। दूसरी ओर मैलानी रेंज के जंगल हैं जो नेपाल तक चले गए हैं और जंगल में वन्य पशुओं की भरमार है। आसपास के गांवों के कुछ लोग अक्सर जंगल में चीतल, सुअर आदि का शिकार करते रहते हैं। गांव लड़ती के कुछ लोगों ने नाम नहीं छापने के अनुरोध पर बताया कि चीतल के शिकार में कई लोग शामिल थे, जो साफ बच निकले हैं। वन विभाग के लोगों को पूरे मामले की जानकारी कर सभी शिकारियों पर कार्रवाई करनी चाहिए थी।
चीतल का शिकार किए जाने के बाद प्रधान के घर से कुकर में मांस मिलने के बाद भी यह सवाल खड़ा होता है कि चीतल का मांस कहां गया। शिकार में शामिल अन्य लोगों की जानकारी कर कार्रवाई क्यों नहीं की गई? गांव के अन्य संदिग्ध लोगों के घरों की तलाशी लेने से परहेज क्यों किया गया। रेंजर रणवीर मिश्रा का कहना है कि चीतल के शिकार की विवेचना अभी जारी है। किसी को नहीं छोड़ा जाएगा।

बयान.........
वर्जन-
चीतल के मांस के मामले में विभागीय मुकदमा दर्ज कर आरोपी से एक लाख रुपये जुर्माना वसूल किया गया है। मामले में कड़ी कार्रवाई की जा रही है। आरोपी हिरासत में है।
-गोपाल ओझा, डीएफओ
-------
हम लोगों को नहीं पता था कि जो मांस पकाया जा रहा है वह चीतल का है। अधिकारियों के सामने हम अपना पक्ष भी रखेंगे।
- शांति देवी, ग्राम प्रधान

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

मुस्लिम परिवार ने शादी के कार्ड पर छपवाई राम-सीता की तस्वीर, कहा- हमें ईश्वर-अल्लाह दोनों से प्यार

शाहजहांपुर के चिलौवा गांव में एक मुस्लिम परिवार ने अपनी बेटी रुखसार बानो के शादी के निमंत्रण कार्ड पर भगवान राम और सीता की तस्वीर छपवाई है।

25 अप्रैल 2019

विज्ञापन

सीएम योगी के मंत्री का ‘महागठबंधन’ पर तंज, दे दिया ये नाम

यूपी सरकार में मंत्री सुरेश खन्ना ने महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि ये सब फ्यूज्ड ट्रांसफॉर्मर हैं. इनकी क्या चर्चा करना. सुनिए क्या बोले बीजेपी नेता सुरेश खन्ना।

25 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election