विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

#9Pm9Minute: दीपों की जगमग रोशनी के साथ एकजुट नजर आए कानपुर सहित आसपास के जिले, देखें तस्वीरें

दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रविवार रात 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें बंद करने की अपील का लोगों ने खुले दिल से समर्थन किया।

5 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

शाहजहाँपुर

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

शहर के 16 मौलवियों से भी मिले थे तब्लीगी जमाती

शाहजहांपुर। अंटा चौराहे के पास करामत शाह मस्जिद में 12 मार्च से डेरा जमाए तब्लीगी जमात के लोग 16 मौलवियों के संपर्क में भी आए थे। इन सभी मौलवियों को घरों में क्वारंटीन किया गया है। इसके साथ ही इन मौलवियों के संपर्क में आने वाले अब तक 4007 लोगों की स्क्रीनिंग कराई जा चुकी है। वहीं अन्य लोगों की जानकारी जुटाकर प्रशासन सूची तैयार करने में जुटा है।
शहर में अंटा चौराहे के पास स्थित करामत शाह मस्जिद मेें कोरोना संक्रमित के मिलने के बाद से पुलिस और प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस अब यह पता करने में लगी हुई है कि तब्लीगी जमात से जुड़े इन लोगों के संपर्क में कौन लोग आए थे। दो दिन की मशक्कत में पुलिस और प्रशासन को पता लगा कि यह लोग शहर में 16 मौलवियों के संपर्क में आए थे और इन मौलवियों का संपर्क भी तमाम लोगों से हुआ। पुलिस टीम ने मौलवियों को खोज निकाला और उनसे जानकारी की कि वह लोग अब तक कितने लोगों से मिलें होंगे। इसके बाद उन्हें उनके ही घरों में क्वारंटीन किया गया है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम के संपर्क में रहने को कहा है। पुलिस ने अंटा चौराहा मस्जिद के आसपास रहने वाले और मौलवियों के संपर्क में आने वाले 4007 लोगों की स्क्रीनिंग कराई गई है।
जिन 16 मौलवियों से तब्लीगी जमात के लोग मिले थे। उन्हें उनके घरों में क्वारंटीन किया गया है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रहेंगे। जरूरत के हिसाब से सैंपल लेकर लखनऊ भी भेजा जाएगा। मौलवियों के संपर्क में आने वालों में संभावना के तौर पर अभी चार हजार सात लोगों की स्क्रीनिंग कराई गई है। बाकी की सूची तैयार की जा रही है। - डॉ. एस चन्नप्पा, एसपी
... और पढ़ें

तब्लीगी जमातियों के वार्ड से हटाई गईं महिला नर्सें, फोर्स तैनात

शाहजहांपुर। कई जिलों में तब्लीगी जमातियों के उपद्रव के मामले सामने आने पर जिला अस्पताल में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। साथ ही जिस वार्ड में जमातियों को रखा गया है, वहां से महिला नर्सों को भी हटा दिया गया है। जिले में करामत शाह मस्जिद में रुके तब्लीगी जमात के थाईलैंड के एक युवक के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर उसे जिला अस्पताल के आइसालेशन वार्ड में रखा गया है। कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद जिले में अचानक कोरोना संदिग्धों की संख्या बढ़ गई है। दो दिन के अंदर जिला अस्पताल में 14 लोग क्वारंटीन कराए जा चुके हैं, जबकि रामचंद्र मिशन क्षेत्र में भी दो दिन में 14 लोग घरों में क्वारंटीन कराए गए हैं।
दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकले तब्लीगी जमात के जरिये कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले जब पूरे देश में बढ़े तब यहां भी तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों की तलाश शुरू की गई। बृहस्पतिवार को अंटा चौराहे के पास करामत शाह मस्जिद में थाईलैंड के नौ और दो तमिलनाडु के लोग मिले थे, इनमें से थाईलैंड के एक व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अचानक कोरोना संदिग्ध लोगों की संख्या बढ़ गई। दो दिन के अंदर 14 लोग जिला अस्पताल में क्वारंटीन किए जा चुके हैं, जबकि रामचंद्र मिशन में भी 14 लोगों को उनके घरों में क्वारंटीन किया जा चुका है। चूंकि गैर जिलों में कई स्थानों पर जमातियों ने उपद्रव किया है। इसलिए यहां भी कोरोना संक्रमित और क्वारंटीन किए गए लोगों की वजह से जिला अस्पताल में फोर्स तैनात किया गया। ताकि उपद्रव करने की स्थिति में इनसे कड़ाई से निपटा जा सके। साथ ही वार्ड से महिला नर्सों को हटा दिया गया है।
क्वारंटीन वार्ड में महिला नर्सों को कम किया जा रहा है। तब्लीगी जमातियों के पास से सारी नर्सें हटा दी गई हैं ताकि कोई किसी महिला नर्स से अभद्रता न करे। सुरक्षा के लिहाज से अस्पताल में और क्वारंटीन वार्ड के पास पुलिस सुरक्षा बढ़ाई गई है। - डॉ. एमपी गंगवार,सीएमएस
... और पढ़ें

कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद दस और लोग कराए गए क्वारंटीन

शाहजहांपुर। शहर की एक मस्जिद में रुके थाईलैंड निवासी तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों में एक कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद शनिवार को दस और लोगों को जिला अस्पताल में क्वारंटीन कराया है। इनमें एक बिजनौर और नौ देहरादून के रहने वाले हैं। यह लोग एक अप्रैल से यहां रुके हुए थे। वहीं शुक्रवार को चार लोगों को पहले ही कोरोना संदिग्ध होने की वजह से क्वारंटीन किया जा चुका है।
जिले में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। शुक्रवार को लखनऊ से रिपोर्ट आने के बाद से पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने चार ऐसे लोगों को तलाश निकाला, जो तब्लीगी जमात में शामिल होकर लौटे थाईलैंड के जमातियों से मिले थे। इन्हें शुक्रवार को ही जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शनिवार को भी पुलिस ने कई स्थानों पर जानकारी की। सदर पुलिस ने शनिवार दोपहर दिलाजाक, जलालनगर में एक घर में तलाशी के दौरान नौ लोगों को पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला कि इनमें एक बिजनौर और नौ देहरादून के रहने वाले हैं। पूछताछ में इन लोगों ने बताया कि वे लोग एक अप्रैल को देहरादून से आकर यहां रह रहे थे। पुलिस ने सभी दस लोगों को कोरोना संदिग्ध मानते हुए एंबुलेंस से दोपहर को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां सभी को क्वारंटीन किया गया है।
शनिवार को दस और लोगों को जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है, इनके भी सैंपल लेकर जांच को लखनऊ भेजे जाएंगे। जांच रिपोर्ट के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। - डॉ. राजीव कुमार गुप्ता, सीएमओ
दिलाजाक-जलालनगर में एक अप्रैल को बिजनौर से एक और देहरादून से नौ लोग आए थे। सभी एक मकान में साथ ही ठहरे थे। इससे कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ रहा था। एहतियातन सभी को जिला अस्पताल में क्वारंटीन कराया गया है। - केपी सिंह, इंस्पेक्टर सदर बाजार
... और पढ़ें

कोरोनाः नहीं माना घर में रहने का निर्देश.. बहनोई के साथ निकला मुंबई से आया युवक

खुटार। मुंबई से आए एक युवक को डॉक्टरों ने जांच के बाद रिश्तेदार के घर में ही रहने के निर्देश दिए थे, लेकिन युवक रविवार को बहनोई के साथ निकला तो लोगों ने पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने उन्हें बिना कार्रवाई किए ही छोड़ दिया।
मुंबई में काम करने वाला एक युवक लॉकडाउन से पहले बहनोई के घर खुटार आया था, इसके बाद से वह बहनोई के ही घर रुका हुआ था। एक अप्रैल को डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे 14 दिन तक क्वारंटीन में रहने को कहा था। रविवार को युवक अपने बहनोई के साथ थैला लेकर कहीं जा रहा था। लोगों ने दोनों को रोक लिया और पूछताछ की। सही जवाब नहीं मिलने पर दोनों को पुलिस को सौंप दिया। युवक ने पुलिस को बताया कि वह हरदोई के शाहाबाद का रहने वाला है और रविवार को बहनोई के साथ घर जाने को निकला था। पुलिस ने दोनों को घर में ही रहने की चेतावनी देते हुए छोड़ दिया। कार्यवाहक थानाध्यक्ष रतिराम ने बताया कि दरोगा को युवक का मेडिकल कराना चाहिए था। इस मामले में दरोगा से जानकारी की जाएगी। संवाद
... और पढ़ें

व्हाट्सएप पर कोरोना से जुड़ी झूठी अफवाह फैलाने वाला गिरफ्तार

शाहजहांपुर। कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए जागरूकता के बीच प्रधानमंत्री पर टिप्पणी करते हुएअफवाह फैलाने वाला आडियो जारी करने वाले युवक को सिंधौली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसकेे पास से मोबाइल भी बरामद किया गया है।रिपोर्ट दर्ज कर युवक का चालान कर उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
इंस्पेक्टर जगनारायण पांडेय ने बताया कि कोरोकुइयां नहर पुल के पास चर्चा हो रही थी कि मोबाइल के व्हाट्सएप ग्रुप पर एक आडियो वायरल हुआ है, जिसमें अफवाह फैलाई जा रही है। इससे क्षेत्र में भय, अराजकता का माहौल बन रहा है। जानकारी करने पर पता चला कि आडियो जारी करने वाला नगला बलेटू गांव का रहने वाला फरमान है। वह अपने आठ-दस अज्ञात साथियों के साथ मिलकर समाज को कोरोना वायरस महामारी को लेकर देश व सरकार के प्रति भय, आतंक उत्पन्न करने के लिए राष्ट्र के प्रति गलत संदेश दे रहा है। इस पर फरमान और उसके आठ-दस अज्ञात साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर फरमान को रविवार को नहर पुलिया नगला बलेटू से गिरफ्तार कर लिया गया।
... और पढ़ें

चीन से लौटे युवक समेत 13 लोग स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में

तिलहर। चीन के वुहान शहर से निकले कोरोना वायरस ने पूरे विश्व में हड़कंप मचा रखा है। उसी चीन से 28 जनवरी को घर लौटे युवक को उसके घर में आइसोलेट कर स्वास्थ्य विभाग अपनी निगरानी में रखे हुए है। सात फरवरी से अब तक उसका कई बार स्वास्थ्य परीक्षण हो चुका है। फिलहाल वह पूरी तरह से स्वस्थ है। इसी के साथ ही दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा से आए 12 लोग भी स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में हैं। उन्हें भी उनके घरों में क्वारंटीन किया गया है।
क्षेत्र के बिलहरी गांव निवासी 27 वर्षीय युवक चीन के युवू शहर में शैलून में काम करता है। 28 जनवरी को वह चीन से एक महीने के लिए लौटकर गांव आया था, इसके बाद चीन में कोरोना वायरस ने पैर पसारने शुरू किए तो वह वापस नहीं गया। उसके चीन से लौटने के दस दिन बाद शाहजहांपुर से पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया, जिसमें वह स्वस्थ पाया गया। उसके परिवार में छह भाई और माता-पिता हैं। उनका भी स्वास्थ्य परीक्षण हो चुका है। कई बार के परीक्षण के बावजूद भी एहतियातन उसे घर में ही क्वारंटीन किया गया है। वहीं क्षेत्र में लगभग दो हजार लोग बाहरी शहरों से आए हैं, जिनकी सूची बनाकर लेखपालों को दे दी गई है। सर्दी, जुकाम, बुखार से पीड़ित लोगों को घरों में ही एकांत में रहने के निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य टीमों को ऐसे लोगों के परीक्षण के लिए गांव को भेजा जा रहा है।
चीन के युवू शहर से 28 जनवरी को बिलहरी लौटे युवक को घर में ही आइसोलेट किया गया है। हालांकि उसका कई बार स्वास्थ्य परीक्षण हो चुका है। वह स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में हैं। उसमें कोरोना लक्षण नहीं पाए गए हैं। अन्य प्रदेशों से लगभग दो हजार लोगों की सूची मिली है। लेखपालों को निर्देशित किया गया है कि वह बाहर से आए लोगों को घर में ही आइसोलेट कराएं। स्वास्थ्य टीमें गांव-गांव जाकर उनका परीक्षण करेंगी। - सौरभ गंगवार, एसडीएम
... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर के चौक क्षेत्र में ठेले पर समोसे बेचे जा रहे हैं।
शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें

लॉकडाउन : गलियों में बेचे जा रहा है समोसे, चल रहे रिक्शे

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के बावजूद गलियों में समोसे बिक रहे हैं तो सड़कों पर रिक्शे दौड़ाए जा रहे हैं। इससे लॉकडाउन का खुलेआम उल्लघंन हो रहा है, लेकिन प्रशासन अनजान बना हुआ है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वालों की मेहनत असफल होती नजर आ रही है। रविवार को शहर का जायजा लेने पर बाजारों में जहां भीड़भाड़ कम दिखी, वहीं गलियों और मोहल्लों में लोग घूमते मिले। यहां तक कि चौक क्षेत्र के एक मोहल्ले में तो ठेले पर समोसे भी बेचे का रहे हैं और लोग बिना किसी डर के आनंद भी उठाते हैं। यहीं नहीं शहर की मुख्य सड़कों पर रिक्शे दौड़ रहे हैं, जिन पर एक साथ तीन से चार सवारियां बैठा कर आपसी दूरी के नियमों को दरकिनार किया जा रहा है। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मुहिम खुद व खुद फेल होती दिख रही है। हालांकि चौराहों पर तैनात पुलिस सख्ती दिखती रही। 11 बजे के बाद घरों से निकलने वाले लोगों से पूछताछ की गई। वाहनों की चेकिंग और चालान भी हुए। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us