विज्ञापन
विज्ञापन

पुलिस की टीमें दे रहीं दबिश, नहीं मिल रहे ‘पहुंच वाले’

Bareily Bureauबरेली ब्यूरो Updated Sun, 14 Jul 2019 02:22 AM IST
ख़बर सुनें
पीलीभीत। सिटी डाकघर की जमीन पर पहुंच वालों के अवैध कब्जा करने की कोशिश करने के मामले में सख्ती से शुरू हुई कार्रवाई समय के साथ धीमी पड़ती जा रही है। चार आरोपियों को जेल भेजने के बाद अन्य रसूखदार आरोपियों तक पहुंचना पुलिस के लिए चुनौती बना है। तीन टीमें बनाकर दबिश देने का दावा किया जा रहा है, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली है।
विज्ञापन
विज्ञापन
कोतवाली क्षेत्र के बरेली गेट के पास सालों से खाली पड़ी सिटी डाकघर की करीब साढ़े छह सौ गज जमीन पर अवैध कब्जा करने की नीयत से मंगलवार रात रसूखदारों ने बाउंड्री तोड़कर उस पर काबिज होने का प्रयास किया था। बुधवार सुबह डाकघर के अफसरों ने जब शिकायत की तो पुलिस हरकत में आई थी। पूर्व में जिले में तैनात रहे एक बड़े अफसर के भांजे बताए जाने वाले लखनऊ निवासी पारसमणि पांडेय, जहानाबाद चेयरमैन ममता गुप्ता के पुत्र शिवा गुप्ता समेत 13 के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई थी। चार आरोपी भिठौराखुर्द गजरौला निवासी उमेश सिंह, शेष कुमार, आशीष और नई बस्ती सुनगढ़ी निवासी बृजेश को बृहस्पतिवार को जेल भेज दिया गया था। इस मामले में जितनी तेजी से कार्रवाई शुरू की गई, उतनी संजीदगी अब नहीं दिखाई दे रही है। अन्य आरोपी रसूखदारों की गिरफ्तारी अब तक नहीं हो सकी है। जिससे कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं। पुलिस का दावा है कि लगातार दबिश दी जा रही हैं। आरोपी फरार हो गए हैं।

कागजात की भी नहीं शुरू हो सकी जांच
इस प्रकरण में रसूखदारों द्वारा जमीन से जुड़े कागजों में हेराफे री करने का भी अंदेशा है। चूंकि डाकघर की जमीन के गाटा संख्या पर आरोपी पक्ष वही गाटा संख्या दिखाकर अपना हक जमा रहे हैं। मुकदमा दर्ज हुए कई दिन बीत गए लेकिन राजस्व विभाग की ओर से जांच शुरू नहीं हो सकी है।

कहीं राजनीतिक दबाव तो नहीं
कार्रवाई का समय बढ़ने के साथ ही ठंडा पडना राजनीतिक दबाव की ओर भी इशारा कर रहा है। एक आरोपी जहां खुद को एक बड़े अफसर का भांजा बताता है तो दूसरा चेयरमैन पुत्र सत्ताधारी है। सवाल यह है कि कार्रवाई की धीमी गति के पीछे कहीं यही वजह तो नहीं है।

डाकघर प्रकरण में फरार चल रहे आरोपियों की धरपकड़ के लिए टीमें लगातार दबिश दे रहीं है। शनिवार रात को भी कई स्थानों पर दबिश दी गई, लेकिन कोई नहीं मिला। कागजात की जांच राजस्व विभाग करेगा। अभी उनके स्तक से इसको लेकर कार्रवाई नहीं हुई है।
- अजब सिंह, शहर कोतवाल

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

तुरंत पायें अपनी सभी धन, प्यार, नौकरी, व्यापार आदि समस्याओं का समाधान सिर्फ 99 /-  में
Astrology

तुरंत पायें अपनी सभी धन, प्यार, नौकरी, व्यापार आदि समस्याओं का समाधान सिर्फ 99 /- में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Uttar Pradesh

पूर्वोत्तर रेलवे के एडीआरएम (परिचालन) बनाए गए अजय वार्ष्णेय

पूर्वोत्तर रेलवे के एडीआरएम (परिचालन) बनाए गए अजय वार्ष्णेय

15 जुलाई 2019

विज्ञापन

इस महिला गोताखोर को समुद्र में मिली इंसानी कद की जेलीफिश, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

अमूमन आपने समुद्री जीव जेलीफिश के कई फोटोज और वीडियोज देखे होंगे। आकार में बेहद छोटी दिखने वाली जेलीफिश ही आपके जहन में घूम रही होगी। लेकिन अगर हम आपको बताएं कि समुद्र में पाए जाने वाला ये जीव एक इंसानी कद का भी होता है तो यकीनन आपको हैरानी होगी।

17 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree