विज्ञापन
विज्ञापन

गेहूं खरीद में प्रमुख सचिव को मिली खामियां

Pilibhit Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
पीलीभीत/ पूरनपुर। प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास नेपाल सिंह रवि को गेहूं क्रय केंद्रों के निरीक्षण में तमाम खामियां मिली। शाम को गांधी सभागार में गेहूं खरीद की समीक्षा बैठक लेकर उन्होंने खरीद व्यवस्था में सुधार न आने पर कड़े तेवर दिखाए।
विज्ञापन
विज्ञापन
पूरनपुर में निरीक्षण के दौरान प्रमुख सचिव को मंडी समिति के राज्य कर्मचारी कल्याण निगम के गेहूं खरीद केंद्र पर इलैक्ट्रानिक कांटे में दो किलोग्राम का अंतर मिला। इस पर उन्होंने गेहूं के कट्टे को दूसरे कांटे के अलावा एक अन्य क्रय केंद्र पर तुलवाया। बोरों पर सेंटर कोड न मिलने पर नाराजगी व्यक्त की। गेहूं उतार में डाला वसूली की खरीद केंद्र प्रभारी समेत कई कर्मचारियों से जानकारी की। कर्मचारियोें ने उतार में कई दिन लगने की तो शिकायत की, लेकिन डाला वसूली को मुंह नहीं खोला। नमूना को गेहूं न मिलने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। प्रमुख सचिव ने गांव मैनी गुलड़िया के कश्मीर सिंह से गेहूं खरीद के बावत पूछताछ की। इस पर क्रय केंद्रों पर सुविधा शुल्क और तमाम झंझटों को लेकर आढ़तियां को 1130 रुपये प्रति क्विंटल गेहूं बिक्री करने की जानकारी दी। इस दौरान गांव पिपरिया मझारा के किसान रनवीर सिंह ने पिपरिया मंडन खरीद केंद्र पर सौ रुपये प्रति क्विंटल सुविधा शुल्क वसूलने का आरोप लगाया। उसका आरोप था कि अधिकांश गेहूं खरीद केंद्रोें पर सुविधा शुल्क वसूला जा रहा है। गांव मैनाकोट निवासी और भाकियू के जिला सचिव नरेंद्र सिंह ने मंडी समिति के एक गेहूं खरीद केंद्र पर अस्सी रुपये प्रति क्विंटल उससे सुविधा शुल्क वसूले जाने की शिकायत की। एग्रो के खरीद केंद्र पर गेहूं से भरे बोरों में कम टांके लगे होने पर प्रमुख सचिव ने ठेकेदार से इसकी कटौती करने के निर्देश दिए।
पीसीएफ गेहूं खरीद केंद्र पर शिकायत पंजिका सार्वजनिक रुप से नहीं रखी पायी गयी। इसके अलावा गेहूं खरीद केेंद्रों पर किसानों को दी जाने वाली सुविधाएं भी नहीं मिली। निरीक्षण के दौरान डीएम राजशेखर, एडीएम प्रवीण कुमार, सीडीओ सुरेंद्र कुमार, डिप्टी आरएमओ वीके त्रिपाठी, एसडीएम पीके आर्या, मंडी समिति सचिव उमेश अवस्थी आदि अधिकारी थे। बाद में उन्होंने गांधी सभागार में क्र य केन्द्र प्रभारियों की बैठक ली। टारगेट लिस्ट के आधार पर कार्य करने समय से भुगतान के निर्देश दिए। बैठक में मंडलायुक्त केमोहन राव डीएम राजेश्वर, सिटी मजिस्ट्रेट एमएम खान सहित कई अधिकारी थे।
इंसेट
बोरों में टांके कम तो ठेकेदारों से कटौती
पूरनपुर। प्रमुख सचिव के निरीक्षण के दौरान अधिकांश गेहूं खरीद केंद्रों पर बोरों को सिलने को लगाए गए टांके कम पाए गए। प्रत्येक बोरा में बारह के जगह नौ-दस टांके लगे मिले। प्रमुख सचिव ने इस पर गेहूं बोरों से गिरने की बात कहते हुए नाराजगी व्यक्त की। साथ ही कार्रवाई के निर्देश दिए। इस पर डीएम ने अब बोरों में टांके कम होने पर ठेकेदार से कटौती करने के निर्देश दिए।
इंसेट
इलेक्ट्रानिक कांटे पर तोला वजन
पूरनपुर। निरीक्षण के दौरान एक इलेक्ट्रानिक कांटा सही मिलने पर उसकी जांच को अफसर अपना वजन तोलने से नहीं चूके। डीएम के अलावा सीडीओ, पीडी ने भी अपना वजन तोला।

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

सत्ता मिली तो विधवा पेंशन तीन हजार कर देंगे : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि गठबंधन की सरकार बनने पर विधवा महिलाओं की पेंशन 500 रुपये से बढ़ाकर तीन हजार रुपये कर दी जाएगी।

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

सीएम योगी के मंत्री का ‘महागठबंधन’ पर तंज, दे दिया ये नाम

यूपी सरकार में मंत्री सुरेश खन्ना ने महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि ये सब फ्यूज्ड ट्रांसफॉर्मर हैं. इनकी क्या चर्चा करना. सुनिए क्या बोले बीजेपी नेता सुरेश खन्ना।

25 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election