बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

चार वन्य जीवों का था मांस, उतराखंड लेकर जाएगी टीम

Updated Sat, 03 Jun 2017 10:27 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
घोरल, पार्किंग बीयर, नीलगाय, पाड़ा का था मांस
विज्ञापन

मेरठ। शूटर प्रशांत विश्नोई के घर से मिला मांस घोरल (हिमालयन गोट), पार्किंग बीयर, नीलगाय और पाड़ा का था। वहीं वन विभाग ने शनिवार को प्रशांत के पिता रिटायर्ड कर्नल देवेंद्र कुमार विश्नोई से पूछताछ की। सोमवार को वन विभाग पटियाला हाउस में चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की कोर्ट में प्रशांत की रिमांड के लिए प्रार्थना पत्र दाखिल करेगी।
डीएफओ अदिति शर्मा के मुताबिक प्रशांत के घर से बरामद मांस चार जानवरों का था। इनमें से नीलगाय और पाड़ा उत्तर प्रदेश में भी पाए जाते हैं। हिमालयन गोट ऊंचे पहाड़ों पर हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में पाई जाती है। पार्किंग बीयर भी उत्तराखंड के राजाजी पार्क और जिम कॉर्बेट में पाया जाता है। यह हिमाचल प्रदेश में भी है। घर से बरामद मांस कहीं से मंगाया गया था या खुद प्रशांत ने शिकार किया, इसकी पुष्टि पूछताछ में प्रशांत से होनी है। डीएफओ का कहना है सोमवार को प्रशांत को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल किया जाएगा। जहां शिकार किया होगा, वहां पर टीम प्रशांत को लेकर तस्दीक करेगी। तेंदुए की खाल भी घर से मिली है। जिम कॉर्बेट पार्क के पास तेंदुए का शिकार करने की बात सामने आ रही है।


रिटायर्ड कर्नल बोले, मैं शामिल नहीं
वन विभाग ने नोटिस देकर प्रशांत के पिता रिटायर्ड कर्नल देवेंद्र कुमार विश्नोई को पूछताछ के लिए बुलाया था। वह विभाग पहुंचे। डीएफओ अदिति शर्मा और जांच अधिकारी एसडओ संजीव कुमार ने उनसे पूछताछ की। देवेंद्र कुमार ने कहा मांस, हथियार और वन्य जीवों के अवशेष के बारे में उन्हें कुछ नहीं पता। वह इसमें शामिल नहीं है। वह तो बरेली रहते हैं। मेरठ आवास पर आते-जाते रहते हैं। यहां प्रशांत अपनी पत्नी दो बेटी के साथ रहता है। उनकी पत्नी भी आती-जाती रहती है। दूसरे फ्लोर पर प्रशांत रहता है। वह ऊपर नहीं जाते थे। डीआरआई और वन विभाग के छापे के दौरान घर पर देवेंद्र कुमार और परिवार के अन्य लोग मिले थे। मकान उनके नाम है। इस आधार पर वन विभाग चार्जशीट में उनका नाम भी शामिल करेगा।
मुख्य बातें
घोरल और पार्किंग बीयर मिलते हैं उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में
शूटर प्रशांत की रिमांड के लिए सोमवार को कोर्ट में प्रार्थना पत्र देगा वन विभाग

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us