पांच साल में जिले में लगाए 8 लाख पौधे

Meerut Bureau Updated Mon, 05 Jun 2017 01:25 AM IST
ख़बर सुनें
- वन विभाग ने अभियान के तहत जिले में किया पौधरोपण
अमर उजाला ब्यूरो
मेरठ।
पौधरोपण अभियान के तहत वन विभाग ने पांच साल में 8 लाख 26 हजार 655 पौधे लगाए हैं। वन विभाग की माने तो करीब 70 प्रतिशत पौधे जीवत हैं। सबसे ज्यादा पौधे 2016-17 में 285750 लगाए गए। पौधरोपण मेरठ, रिठानी, हस्तिनापुर, परीक्षितगढ़, सरधना रेंज में किया गया। अधिक पौधे हस्तिनापुर और परीक्षितगढ़ रेंज में लगाए गए हैं।
वर्ष क्षेत्रफल पौधा लगाए
2012-13 152.22 82342
2013-14 161.02 116303
2014-15 186.61 120050
2015-16 220.64 222210
2016-17 280.20 285750
(नोट: क्षेत्रफल हेक्टेयर में है और आंकड़े वन विभाग से लिए गए हैं।)

40 हजार वाहन हर साल उतरते है जनपद की सड़कों पर
जनपद की सड़कों पर हर साल छोटे-बड़े करीब 40 हजार वाहन उतरते हैं। आरटीओ से मिली जानकारी के अनुसार जिले में करीब साढ़े छह लाख वाहन पंजीकृत है। वाहनों की इतनी भारी संख्या वायु और ध्वनि प्रदूषण को न केवल बढ़ा रही है बल्कि लोगों की सेहत भी बिगाड़ रही है। इसके अलावा शहर में करीब दो हजार वाहन अनाधिकृत रूप से डग्गामारी में चल रहे हैं जिनका कहीं कोई पंजीकरण नहीं है। कुछ वाहन डीजल पंप सेटों के जरिये भी चलाए जा रहे हैं जिन्हें जुगाड़ कहा जाता है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

मामाजी, कृपया जाति को शिक्षा में न लाएं, छात्रों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा

ऐसा अक्सर नहीं होता है कि आप शैक्षिक संस्थानों में आरक्षण और छात्रों की जाति के आधार पर मुफ्त लैपटॉप जैसी सुविधाएं देने जैसे संवेदनशील विषय पर एक मुख्यमंत्री से सवाल पूछ सकें। 

22 मई 2018

Related Videos

मुजफ्फरनगर दंगों पर बीजेपी का पलटवार

मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर रालोद अध्यक्ष अजित सिंह के बयान पर बीजेपी सांसद संजीव बालियान और बुढ़ाना से विधायक उमेश मलिक ने पलटवार किया है।

20 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen