नाम नहीं होने से निराश होकर लौटे

अमर उजाला ब्यूरो Updated Mon, 27 Nov 2017 01:14 AM IST
nam cut out of list
nagr palika, lalitpur news - फोटो : amar ujala
जिला प्रशासन निकाय चुनाव में अधिक से अधिक मतदान कराने के लिए जागरूकता अभियान चला रहा था और लोगों से मतदान करने की अपील भी की जा रही थी। प्रशासन की इस अपील से शहर का मतदाता मतदान करने बूथ पर पहुंचे, लेकिन वहां अधिकांश मतदाताओं को अपना नाम नहीं मिला। इस कारण उन्हें मतदान करने से वंचित रहना पड़ा और वह लोकतंत्र के इस पर्व में शामिल होने की वजह निराशा लेकर वापस चले गए। इसके साथ ही इससे प्रशासन की निष्पक्ष मतदान प्रक्रिया पर भी लोगों ने सवालिया निशान लगाए हैं।
गर्मजोशी व उत्साह के साथ मतदाता अपना वोटर कार्ड पहचान पत्र व आधार कार्ड लेकर पहुंचे, लेकिन मतदान केंद्र पर जब वह अपने बीएलओ के पास मतदान पर्ची लेने के लिए पहुंचे तो उन्हें वोटर लिस्ट से नाम नदारत रहा है। इससे अनेकों वोटर ऐसे थेे जो पहले लोकसभा, विधानसभा व निकाय चुनाव में भी पहले मतदान कर चुके हैं। नगर पालिका क्षेत्र में ऐसे एक दो नहीं बल्कि लगभग पांच प्रतिशत मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में शामिल नहीं है और वह अपना अध्यक्ष व पार्षद नहीं चुन पाए हैं। वहीं कुछ लोग मतदाता सूची में गलत नाम अंकित होने की वजह से भी अपना मतदान नहीं कर सके हैं। अनेकों जगहों पर मतदाता या फिर उनके पिता का नाम गलत अंकित है।

पीएन इंटर कॉलेज मतदान बूथ के बाहर बेचैन खड़े वार्ड नंबर 18 के मतदाता कमलेश नामदेव ने बताया कि इससे पहले वह लोकसभा, विधानसभा व निकाय के चुनाव में मतदान कर चुके हैं, लेकिन निर्वाचन के जिम्मेदार कर्मियों की लापरवाही के चलते इस बार उनका मतदाता सूची से नाम हटा दिया गया है और वह अपने वोट नहीं दे सके हैं। इसी बूथ पर नझाई बाजार निवासी मोनिका साहू भी अपना वोटर कार्ड लेकर मतदान करने पहुंची, लेकिन मतदाता सूची में नाम नहीं होने के कारण उनको लोकतंत्र के इस महापर्व से दूर रहना पड़ा। हाल में ही विधानसभा चुनाव में उन्होंने मतदान किया था, लेकिन इस बार विभागीय लापरवाही के चलते उनका नाम सूची में शामिल नहीं हो सका है।
वहीं वार्ड नंबर तीन नेहरू नगर में रहने वाली दो सगी बहनों भारती नरवरिया व प्रतीभा नरवरिया ने बताया कि नगर निकाय के चुनाव में मतदान करने का यह उनका पहला मौका था। वोट डालने का काफी दिनों से इंतजार कर रहे थे और जब इंतजार का वक्त समाप्त हुआ तो वोटर लिस्ट में नाम नहीं होने के कारण दोनों ही मतदान नहीं कर सके। इसमें जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही है।

वार्ड नंबर 26 क्षेत्र के मुहल्ला सरदारपुरा में रहने वाले सौरभ पाठक विगत 17 वर्षों से समस्त चुनाव में मतदान करते आ रहे हैं, लेकिन इस बार उनसे बोट डालने का हक छीन लिया गया है।  इसी तरह नईबस्ती के मतदाता देवेंद्र साहू और उनके परिवार के अन्य तीन सदस्या पत्नी, भाभी व बहिन भी वोटर लिस्ट में नाम नहीं होने के कारण वोट नहीं डाल सके हैं। इसी तरह शहर के समस्त 26 वार्डों के चार-पांच हजार मतदाता ऐसे हैं, तो वोटर होने के बाद भी वोटर लिस्ट में नाम नहीं होने के कारण वोट नहीं डाल सके हैं। वहीं इनमें से अनेकों मतदाताओं ने इस पर जिला प्रशासन के द्वारा किए जा रहे निष्पक्ष मतदान पर सवालिया निशान भी लगाए हैं।

Spotlight

Most Read

National

'पद्मावत' के विरोध में मल्टीप्लेक्स के टिकट काउंटर में लगाई आग

रात करीब पौने दस बजे चार-पांच युवक जिन्होंने अपने चेहरे ढक रखे थे, मॉल में आए और टिकट काउंटर के पास पहुंच कर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper