लखीमपुर खीरी: बाढ़ से दो और लोगों की मौत, सौ से ज्यादा गांवों में भरा पानी, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी 

संवाद न्यूज एजेंसी, लखीमपुर खीरी Published by: सुशील कुमार कुमार Updated Fri, 22 Oct 2021 08:51 PM IST

सार

शारदानगर के शारदा बैराजपर शारदा नदी का जलस्तर 136.20 मीटर रिकॉर्ड किया गया जो खतरे के निशान 135.4 से करीब एक मीटर ऊपर है, जबकि पलिया के शारदा पुल पर शारदा नदी का जलस्तर 154.90 रिकॉर्ड किया गया।
प्रतापगढ़ में बाढ़ के चलते जलमग्न हो गई है फसल।
प्रतापगढ़ में बाढ़ के चलते जलमग्न हो गई है फसल। - फोटो : pratapgarh
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

लखीमपुर खीरी में नदियों के जलस्तर में मामूली गिरावट रही। शुक्रवार को निघासन क्षेत्र में बाढ़ से दो और लोगों की मौत हो गई। अब बाढ़ से मरने वालों की संख्या आठ हो गई है। दस लोग अब भी लापता हैं। शारदा, घाघरा, मोहाना, कर्णाली और सुहेली नदी में आई भीषण बाढ़ से नदी तट के आसपास बसे 300 से अधिक गांवों में मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बाढ़ का पानी लगातार गांवों और सड़कों पर फैल रहा है।
विज्ञापन


गुरुवार रात से पीलीभीत-बस्ती हाईवे पर भदफर चौकी के पास तेज रफ्तार से बह रहा पानी पुलिया और सड़क को काट रहा है। सड़क पर करीब दो फीट पानी बह रहा है, जिससे छोटे वाहनों को उधर से गुजरने से रोका गया है। गांवों में पानी भरा होने के कारण प्रभावित गांवों के लोग छतों और छप्परों पर डेरा डाले हैं। उन्हें बचाव के लिए एनडीआरएफ की टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाई गई हैं।


लखीमपुर तहसील के नौवापुर, रेहरिया कलां और रेहरिया खुर्द में एनडीआरएफ की टीमों ने 58 लोगों को, धौरहरा के समदहा में 45 लोगों को, निघासन के लुधौरी गांव से दस लोगों को रेस्क्यू किया है। बाढ़ में फंसे अन्य लोगों को निकालने का प्रयास जारी है। उधर, पलिया के कई गांवों में ग्रामीणों को सुरक्षित निकाला जा रहा है। शुक्रवार को शारदानगर के शारदा बैराजपर शारदा नदी का जलस्तर 136.20 मीटर रिकॉर्ड किया गया जो खतरे के निशान 135.4 से करीब एक मीटर ऊपर है, जबकि पलिया के शारदा पुल पर शारदा नदी का जलस्तर 154.90 रिकॉर्ड किया गया, जो खतरे के निशान 154.10 से करीब 80 सेमी ऊपर है। घाघरा नदी के जलस्तर में तेजी से कमी आई है। गिरजा बैराज पर घाघरा नदी का जलस्तर 135.55 रिकार्ड किया गया जो खतरे के निशान 136.78 से कम है।

शुक्रवार को प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने शारदानगर बैराज पहुंचकर बाढ़ ग्रस्त इलाके का सर्वेक्षण कर जिले में हालात का जायजा लिया है। उन्होंने बाढ़ अधिकारियों और प्रशासन के साथ बैठक कर बाढ़ एवं राहत कार्यों की समीक्षा कर मारे गए लोगों को मुआवजा व जिनके घर गिर गए हैं। उन्हें आवास मुहैया कराने और पीड़ितों को राहत सामग्री उपलब्ध कराने की बात कही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00