ये टेंपो वाले तो चोर हैं

Kanpur Updated Fri, 04 May 2012 12:00 PM IST
कानपुर। स्मैक और चरस की लत पूरी करने के लिए सवारियों का माल पार करने वाले टेंपो चालकों के गैंग का खुलासा हुआ है। इनसे हिस्सा न मिलने पर मुखबिर ने ही सरगना समेत गैंग के नौ सदस्यों को काकादेव पुलिस को हवाले करा दिया। इनमें तीन सगे भाई शामिल हैं। पुलिस ने इनके पास से एक किलोग्राम चरस, ढाई किलोग्राम गांजा, 230 डायजापाम की गोलियां, चोरी केतीन पर्स, दो मोबाइल फोन और 655 रुपए बरामद करने का दावा किया है। पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त एक आटो और टेंपो को भी सीज किया है। आरोपियों ने मुखबिर पर थाने में मारपीट और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। डीआईजी ने आरोपों के जांच की बात कही है।
एसपी पूर्वी उमेश कुमार सिंह ने पत्रकारों को बताया कि बुधवार को थानाध्यक्ष टीम के साथ रावतपुर क्रासिंग के निकट वाहन चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान एक व्यक्ति ने उन्हें सूचना दी कि टेंपो में बैठे किसी शख्स ने उनका पर्स पार कर दिया है। थानाध्यक्ष ने वह टेंपो ढूंढ निकाला। इसके बाद पूरे गैंग का खुलासा हुआ है। इनमें बगदौधी मंधना में रहने वाले तीन सगे भाई शामिल हैं। वहीं आरोपियों ने पुलिस के सामने गुडवर्क की पोल खोल दी। पकड़े गए शिवनंदन ने बताया कि रावतपुर में रहने वाला अश्वनी मुखबिर है। वह राकेश केसाथ मिलकर नशीले पदार्थो का भी कारोबार करता है। बकौल शिवनंदन अश्वनी को उनके काले धंधे की जानकारी है। वह इसके एवज में हर दिन उन लोगों से मोटी रकम वसूल करता था। इधर, कुछ दिनों से वसूली देना बंद कर दिया गया था। इस वजह से अश्वनी ने काकादेव पुलिस को गुडवर्क करा दिया। उसका कहना है कि थाने में पुलिस के सामने अश्वनी ने उन्हें जमकर पीटा। शरीर पर ठंडा पानी भी डाला, लेकिन थाना पुलिस मूकदर्शक बनी रही। शिव नंदन का कहना है कि अश्वनी के काले कारोबार का राजफाश करने के बाद भी पुलिस ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की। हाल में अश्वनी एक आपराधिक मामले में जेल से छूटकर आया है।

यह हैं पकड़े गए टेंपो चालक
आईआईटी गेट देवी सहाय नगर निवासी सरगना बउवन, रामप्रकाश, बगदौधी मंधना के शिव नंदन राठौर, उसका भाई राजेश राठौर उर्फ पंकज, हरी राठौर उर्फ हरिया, अशोक गोस्वामी, सर्वोदय नगर कच्ची झोपड़ी के हलीम मोहम्मद, गुड्डू शर्मा, फूलमती मंदिर ग्वालटोली में रहने वाले मनोज करानी हैं।


ऐसे करते थे काम
सरगना बउवन ने बताया कि गैंग के ज्यादातर सदस्य टेंपो चालक हैं। रावतपुर-झकरकटी मार्ग पर टेंपो चलाते हैं। जान पहचान वाले टेंपो पर चालक केबगल और पीछे की सीट पर गैंग के सदस्य बैठ जाते हैं। रास्ते में पान मसाला और पान की पीक थूंकने के बहाने अपना शरीर बगल में बैठी सवारी को टच करते हैं। इसी दौरान कमीज की जेब में रखा मोबाइल फोन, पैसा और पर्स पार कर देते हैं। उसके साथी जेब कतरी में भी माहिर हैं। टेंपो से उतरने के बाद सवारी को माल साफ होने का पता चलता है। तब तक वे लोग दूर निकल चुकेहोते हैं। बउवन ने बताया कि सभी साथी स्मैक और चरस केलती है। दिन भर में 10-12 पुड़िया एक आदमी स्मैक पीता है। सौ रुपए की पुड़िया स्मैक मिलती है। टेंपो चलाकर नशे की लत पूरी कर पाना संभव है। इस वजह से सवारियों का माल पार करते हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls