बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

महिला संगठनों ने किया हंगामा, नारेबाजी

Kanpur Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
कानपुर। डीएम दफ्तर के पास बुधवार सुबह मां-बेटी के आत्मदाह की कोशिश के प्रकरण में गुरुवार को कई सामाजिक संगठनों ने विरोध जताया। झुलसी मां-बेटी, बेटे और रिश्तेदार की गिरफ्तारी की सूचना से आक्रोशित महिला संगठनों ने उर्सला में हंगामा किया। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। अफसरों ने किसी की गिरफ्तारी न करने और समुचित इलाज कराने का भरोसा दिया। तब लोगों को गुस्सा थमा। पुलिस ने आत्मदाह के लिए उत्प्रेरित करने वाले एक रिश्तेेदार को भी गिरफ्तार किया, पर दबाव में शाम को कोतवाली थाने से उसे जमानत पर छोड़ दिया।
विज्ञापन

किराएदार द्वारा मकान पर कब्जे के विवाद में चमनगंज निवासी तसलीम फातिमा ने अपनी बेटी साहिबा के साथ बुधवार सुबह कलेक्ट्रेट में डीएम आफिस के पास आ लगा ली थी। दोनों को उर्सला में भर्ती कराया गया है। गुरुवार को महिला मंच की अध्यक्ष नीलम चतुर्वेदी, संतोष, अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति की उर्मिला अवस्थी, रूपा कुमारी, माया, नीलम तिवारी, मुस्लिम वेलफेयर एंड एजूकेशन संस्था के इकलाख अहमद, ़डेविड, गुलाबी गैंग की जिला कमांडर अंजली श्रीवास्तव, लक्ष्य संस्था की अनिता दुआ, सपा नेता कुलजीत कौर समेत कई सामाजिक और धार्मिक संगठनों के लोग उर्सला पहुंचे। वहां बेटे हयात और रिश्तेदार ताज्जुउद्दीन को गिरफ्तार किए जाने की अफवाह से महिला संगठनों के लोग भड़क गए। उन लोगों ने अस्पताल में ही पुलिस और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर इस कार्रवाई का विरोध किया। मामला बढ़ता देख एडीएम सिटी अनूप श्रीवास्तव, सिटी मजिस्ट्रेट अविनाश सिंह, एसपी पूर्वी रतन कांत पांडेय समेत कई पुलिस और प्रशासनिक अफसर वहां पहुंचे और लोगों को शांत कराया। बाद में आत्मदाह के लिए प्रेरित करने के आरोपी ताज्जुउद्दीन को गिरफ्तार करने के बाद थाने से ही जमानत पर छोड़ दिया गया। शहर काजी मौलाना आलम रजा नूरी, मौलाना रियाज हशमती, सपा नेता मोहम्मद हसन रुमी ने भी उर्सला पहुंचकर पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। उधर, तसलीम के बेटे मोहम्मद हयात जफर हाशमी का आरोप है कि पुलिस के दबाव में गुरुवार की सुबह की उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। जबकि मां-बहन को बचाने के दौरान शरीर में लगी चोट से सीने में दर्द है। बाद में प्रशासनिक अफसरों के दखल पर उनका डिस्चार्ज रोका गया।



कोट---

तसलीम के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में चमनगंज थानाध्यक्ष शीलेश कुमार यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। आत्मदाह के मामले में पुलिस की भूमिका और लापरवाही की विभागीय जांच भी कराई जा रही है। अमिताभ यश, डीआईजी नगर

मैंने शाम को तसलीम और साहिबा को देखा हैं, दोनों की हालत खतरे से बाहर नहीं है। डा. पोरवाल इनका इलाज कर रहे है। मां-बेटी का प्राइवेट वार्ड में उपचार चल रहा है। यह लोग दोबारा इस तरह का कदम न उठा सके। इसलिए कमरे के बाहर पुलिस का पहरा भी लगा है।
यूके सिन्हा, उर्सला के निदेशक

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us