लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Kanpur ›   26 HIV Positive Found in 17 Months in unnao

झोलाछाप की सिरिंज कर रही गड़बड़ी, कहीं आप भी न हो जाएं 'AIDS' के शिकार

टीम डिजिटल, अमर उजाला, कानपुर Updated Mon, 27 Nov 2017 10:22 AM IST
डेमो पिक
डेमो पिक
विज्ञापन
ख़बर सुनें
एड्स के लिए एचआईवी वायरस जिम्मेदार होता है। यह वायरस एक इंसान से दूसरे में फैलता है। वायरस से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। एचआईवी पॉजिटिव मरीज अन्य बीमारियों का भी शिकार हो जाता है। बीमारी के दौरान शरीर में टीबी का अटैक भी होता है। 

वर्ष 2016-2017 में जिले में 42 एचआईवी मरीजों की पहचान हुई थी

डेमो पिक
डेमो पिक
यूपी के उन्नाव जिले के बांगरमऊ कस्बे में एचआईवी से पीड़ित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। वर्ष 2016-2017 में जिले में 42 एचआईवी मरीजों की पहचान हुई थी। इनमें 12 बांगरमऊ के थे। वहीं मौजूदा साल में 14 मरीजों में एचआईवी की पुष्टि हो चुकी है। इनमें सात महिलाएं व बच्चे शामिल हैं।

झोलाछाप के एक ही सिरिंज का कई मरीजों पर प्रयोग करने की शिकायत भी की थी

डेमो पिक
डेमो पिक
बांगरमऊ में लगातार बढ़ रहे एचआईवी पीड़ितों की संख्या की वजह जानने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कोई पहल नहीं की है। यह हाल तब है जब इसी क्षेत्र के एचआईवी पीड़ित ने एक झोलाछाप के एक ही सिरिंज का कई मरीजों पर प्रयोग करने की शिकायत भी की थी।

बांगरमऊ में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है

डेमो पिक
डेमो पिक
जिले के अन्य हिस्सों में एचआईवी पीड़ितों की संख्या में कमी आ रही है। वहीं बांगरमऊ में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। वर्ष 2016-2017 में आईसीटीसी सेंटरों पर बांगरमऊ के 458 लोगों ने जांच कराई थी। इनमें 12 में एचआईवी की पुष्टि हुई थी। इन मरीजों का एआरटी सेंटर पर उपचार चल रहा है।

14 लोगों में एचआईवी की पुष्टि हुई है

डेमो पिक
डेमो पिक
वहीं मौजूदा वर्ष में बांगरमऊ क्षेत्र से अब तक 700 से अधिक लोगों ने एचआईवी की जांच कराई है। इनमें 14 लोगों में एचआईवी की पुष्टि हुई है। इससे पूर्व वर्ष 2015 में बांगरमऊ में एचआईवी से पीड़ित 10 मरीज मिले थे। वहीं बांगरमऊ में लगे शिविर में 13 रिएक्टिव केस मिलने से हड़कंप है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार 13 रिएक्टिव केस की एलाइजा जांच कराई जाएगी। जांच में सभी में एचआईवी की पुष्टि होती है तो यह गंभीर मामला होगा।  

इन लक्षणों पर तुरंत जांच कराएं

डेमो पिक
डेमो पिक
जिला अस्पताल के आईसीटीसी सेंटर में तैनात काउंसलर पंकज कुमार शुक्ला ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति को बिना खास वजह से बुखार बना रहता है, या वह लगातार डायरिया से पीड़ित है तो उसे एचआईवी जांच जरूर करानी चाहिए। इसके साथ ही लगातार सूखी खांसी आने, मुंह में सफेद छालों के निशान होना, कम समय में वजन का कम होना, शरीर में लगातार थकान रहना, डिप्रेशन व याददाश्त  कम होने पर भी एड्स की जांच करानी चाहिए। 

आज होगी 13 रिएक्टिव मरीजों की जांच

डेमो पिक
डेमो पिक
बांगरमऊ के प्रेमगंज में मिले एचआईवी के 13 रिएक्टिव मरीजों की जांच सोमवार को  जिला अस्पताल के आईसीटीसी सेंटर में की जाएगी। सभी मरीजों को जिला अस्पताल बुलाया गया है। जांच के बाद एचआईवी की पुष्टि हो सकेगी। जरूरत पड़ने पर मरीजों की ईएलआईएसए(एंजाइम लिंक्ड इम्यूनोसारबेंट) जांच भी कराई जा सकती है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00