बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

मूली वाला खेत में कटते हैं चोरी के चार पहिया वाहन

ब्यूरो, अमर उजाला फिरोजाबाद Updated Tue, 07 Mar 2017 11:25 PM IST
विज्ञापन
पुलिस ने चोरी की गाड़ियां बरामद की।
पुलिस ने चोरी की गाड़ियां बरामद की।
ख़बर सुनें
रामगढ़ थाना क्षेत्र के मोहल्ला कश्मीरीगेट मूलीवाला खेत स्थित एक कबाड़ी के यहां चोरी की गाड़ी काटी जाती है। इसका खुलासा औरैया और रामगढ़ थाना पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई के बाद हुआ। इस दौरान मौके से दो बोलेरो मैक्स लोडिंग कटी हुई तथा दो कार बरामद की गई है, जो दिल्ली नंबर की है। वहीं, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब की गाड़ियोें की नंबर प्लेटें भी मौके से बरामद की गईं हैं।
विज्ञापन

बदमाशों ने एक मार्च की रात औरैया के थाना अजीतमल के बाबरपुर शास्त्रीपुरम निवासी आढ़ती सतीश चंद्र पोरवाल और जितेंद्र कुमार की बोलेरो लोडिंग मैक्स चोरी कर ली थी। पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। इस बीच अजीतमल थाने पर तैनात उपनिरीक्षक को जानकारी हुई किचोरी की गई गाड़ियों को फिरोजाबाद के रामगढ़ थाना क्षेत्र के मोहल्ला कश्मीरीगेट मूली वाला खेत में कबाड़ी आफाक के यहां बेची गई हैं। अजीतमल पुलिस पीड़ित को लेकर रामगढ़ थाना पहुंची और घटनाक्रम से अवगत कराया। रामगढ़ थानाध्यक्ष भी औरैया पुलिस के साथ बताए गए स्थान पर दबिश देकर आसिफ को गिरफ्तार कर लिया। औरैया से चोरी करके लाई गई बोलेरो मैक्स लोडिंग वाहन कटे हुए हालत में मिले। वहीं दिल्ली नंबर की दो कारों को रामगढ़ पुलिस ने कबाड़ी के गोदाम से बरामद किया। रामगढ़ थानाध्यक्ष का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। बरामद की गई गाड़ियां चोरी की हैं। उनके मालिकों को पता लगाया जा रहा है। अजीतमल पुलिस आसिफ को साथ ले गई है। कबाड़े के गोदाम से दिल्ली, हरियाणा के साथ अन्य प्रदेशों के वाहनों की नंबर प्लेट भी बरामद हुई है।

श्रमिक नेता का भाई है आरोपी
क्षेत्रीय लोगों की माने तो आरोपी आफाक श्रमिक नेता का भाई है। गोदाम के पास ही आरोपी का घर भी है। श्रमिक नेता ने चुनाव भी लड़ा था।
रामगढ़ और रसूलपुर क्षेत्र में कटतीं हैं चोरी की गाड़ियां
 रसूलपुर थाने के सामने जहां चोरी की गाड़िया खुले आम काटी जाती है। वहीं रामगढ़ थाना क्षेत्र में इससे अछूता नहीं है। कई बार पुलिस ने गैर जिले और अन्य प्रदेश की पुलिस के साथ दबिश देकर गाड़ियों को बरामद भी किया है।  वहीं, सूत्रोें की मानें तो चोरी की गाड़ियों को काटने के लिए कबाड़ियोें के हाथ इसलिए नहीं कांपते। वे थाने से लेकर चौकियाें तक बैठकी लगाते हैं। साथ ही पुलिस का उन पर हाथ रहता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X