'My Result Plus
'My Result Plus

ठग बाप दो बेटों संग गिरफ्तार

Kanpur Bureau Updated Sun, 14 Jan 2018 10:53 PM IST
ख़बर सुनें
अमर उजाला ब्यूरो
फतेहपुर। नौकरी का झांसा देकर लोगों को ठगने के आरोपी को पुलिस ने उसके बेटों के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी थरियांव में पड़ोसी परिवारों को नशीला लड्डू खिलाकर परिवार संग एक साल पहले फरार हो गया था।

थरियांव थाना क्षेत्र के कस्बा निवासी रामप्यारे दुकानदार हैं। उनके पड़ोस में एक परिवार किराए में रहता था। रामप्यारे से परिवार के लोगों ने लड़की की शादी के लिए डेढ़ लाख रुपये उधार लिए थे। रकम न चुका पाने पर बेटे को बैंक में नौकरी दिलाने का भरोसा दिया था। खुद के ससुर को बैंक का चेयरमैन बताया था। उसके सारे कागजात भी ले लिए थे। करीब एक साल पहले प्रसाद के बहाने पड़ोसियों को नशीला लड्डू खिलाकर परिवार फरार हो गया था। पुलिस रिपोर्ट दर्ज करके मामले की छानबीन में जुटी थी।

थरियांव एसओ बिपिन कुमार सिंह ने शनिवार की रात आरोपी की तलाश में असोथर कस्बे में दबिश दी। पुलिस को चकमा देकर आरोपी व उसके दो बेटे भाग निकले थे। मामले की खबर मिलने पर असोथर पुलिस छानबीन में जुट गई थी। एसओ राजेश मौर्या ने बताया कि सरकंडी के फूलबाग के पास असोथर थाने के रिठवां निवासी रामनरेश मिश्रा उर्फ राजन और उसके बेटे दुर्गेश उर्फ बउवा, राहुल मिश्रा उर्फ शैलेश को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से दो तमंचे, 29 कारतूस, चाकू, पहचान पत्र नौ, दो आधार कार्ड, फर्जी नंबर प्लेट लगी बाइक बरामद हुई। आरोपियों के खिलाफ असोथर पुलिस ने फर्जीवाड़े की एफआईआर दर्ज की है। एसओ बिपिन सिंह ने बताया कि वादी ने आरोपियों ने पहचान की है। इन्हीं लोगों ने उसे ठगी का शिकार बनाया था।

खागा में कई लोगों से कर चुका ठगी
नौकरी दिलाने के बहाने आरोपी रामनरेश और उसके बेटों ने कई लोगों को शिकार बनाया था। उसने सभी को थरियांव का पता बताया था। शिकार लोग थरियांव पुलिस के पास पहुंचे थे। ठगी की घटना खागा में होने के कारण पुलिस ने खागा में रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए भेजा था।

नाम पता बदल लेते थे
आरोपी 11 माह से असोथर कस्बे में भाजपा नेता आनंद मान सिंह के घर में रह रहा था। भाजपा नेता को आरोपी रामनरेश ने खुद को बकेवर के मुसाफा निवासी सुरेंद्र बताया था। पत्नी की टीचर के पद पर असोथर में तैनाती होने के कारण किराए में मकान मांगा था। वह थरियांव में अवधेश बनकर रहता था। हालांकि पुलिस को जांच के दौरान उसका असली नाम रामनरेश उर्फ राजन पता चला था।

दबिश में हुई चूक दरवाजे तोड़ने पड़े
आरोपी रामनरेश और उसके परिवार के सदस्यों को लेकर असोथर कस्बेवासी कुछ दिनों से संदिग्ध समझने लगे थे। घर से रामनरेश को तमंचा साथ लेकर निकलते लोग देखते थे। इससे उसकी गतिविधि पर ग्रामीणों को शक होने लगा था। थरियांव पुलिस उसे पकड़ने के लिए पहुंची तो वह पड़ोसी के घर चला गया था। पुलिस के आने की भनक लगते ही आरोपी भाग निकले थे। पुलिस सही ठिकाने पर पहुंची तो आरोपी की पत्नी ने दरवाजा बंद कर लिया। काफी हंगामा होने के बाद भी दरवाजा नहीं खोला। पुलिस ने दरवाजे को तोड़ा। हालांकि बाद में ग्रामीणों के सहयोग से असोथर पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

National

चलती ट्रेन में युवक कर रहा था महिला से रेप की कोशिश, RPF कॉन्सटेबल ने ऐसे छुड़ाया चंगुल से

MTRC की चलती ट्रेन में युवक कर रहा था महिला से रेप की कोशिश, जानिए दूसरे कम्पार्टमेंट में बैठे आरपीएफ कॉन्सटेबल ने कैसे बचाया महिला को।

25 अप्रैल 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस के इस सिपाही ने किया खाकी को शर्मसार

फतेहपुर में एक बार फिर पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। यूपी पुलिस के सिपाही ने एक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पुलिसवाले ने युवक की पिटाई इसलिए कर दी क्योंकि युवक की बाइक से सिपाही को टक्कर लग गई।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen