लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Bareilly ›   headmaster throw stone on teacher

बच्चे चश्मदीद... हेडमास्टर पर लगे अश्लीलता के आरोप, जवाब में महिला शिक्षकों पर पत्थरबाजी

Bareily Bureau बरेली ब्यूरो
Updated Sat, 02 Jul 2022 02:03 AM IST
फोटो शिक्षकों द्वारा बनाई गई वीडियो से- प्रधानाध्यापक द्वारा पत्थर मारा जा रहा।
फोटो शिक्षकों द्वारा बनाई गई वीडियो से- प्रधानाध्यापक द्वारा पत्थर मारा जा रहा। - फोटो : BAREILLY
विज्ञापन
ख़बर सुनें
बरेली। सैदपुर प्राइमरी स्कूल में मासूम बच्चों के सामने जो कुछ हुआ, शायद उसे वे जीवन भर न भूल पाएं। महिला शिक्षकों के हेडमास्टर पर अश्लील नजरिए से छिप-छिपकर उनके वीडियो बनाने का आरोप लगाने के बाद कुछ देर के लिए स्कूल जंग का मैदान बन गया। आपे से बाहर हुए हेडमास्टर ने महिला शिक्षकों से हाथापाई के बाद उन्हें पत्थर मारने शुरू कर दिए। इस पूरी घटना का वीडियो भी वायरल हो गया है।

स्कूल के हेडमास्टर खुर्शीद अली और यहां तैनात महिला शिक्षकों के अपने-अपने आरोप है। हेडमास्टर का कहना है कि महिला शिक्षक बच्चों को पढ़ाने के बजाय लैपटॉप चलाती रहती हैं। कई बार चेतावनी देने के बावजूद बदलाव न आने पर वह अधिकारियों के सामने पेश करने के लिए उनका वीडियो बना रहे थे जिस पर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। उधर, महिला शिक्षकों का आरोप है कि हेडमास्टर पहले से ही अक्सर छिप-छिपकर उनके वीडियो बनाते रहे हैं। कई बार बच्चों और स्टाफ के सामने उनके साथ अशोभनीय हरकतें भी कर चुके हैं।

महिला शिक्षकों के मुताबिक बृहस्पतिवार को भी हेडमास्टर को छिपकर वीडियो बनाते देख उन्होंने विरोध जताया तो वह उग्र हो गए। उनके साथ गालीगलौज और हाथापाई शुरू कर दी।
वायरल वीडियो की गवाही... महिला शिक्षक से मोबाइल छीनने की कोशिश, नाकाम हुए तो मारे पत्थर
एक महिला शिक्षक का बनाया पूरी घटना का वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह यह कहते हुए अपने मोबाइल से हेडमास्टर का वीडियो बना रही है कि गांव वालों को भी तो पता चले कि करता क्या है ये बुड्ढा। हेडमास्टर यह कहते सुनाई दे रहे है- तुम्हारा वीडियो बनाने के अलावा मेरे पास और कोई काम नहीं क्या है। गर्मागर्मी बढ़ने के बाद अचानक हेडमास्टर शिक्षिका के हाथ से मोबाइल छीनने की कोशिश करते हैं। धमकी देते हैं कि रास्ते में मरवा दूंगा। स्टाफ की बीचबचाव की कोशिशों के बीच शिक्षिका मोबाइल बचाकर वीडियो बनाती रहती है तो उस पर पत्थर फेंकने लगते हैं। पुरुष स्टाफ ने बमुश्किल उन्हें काबू में किया।
बैठे-बैठे जड़ हो गए बच्चे, घर जाओ कहते ही स्कूल से भागे
वीडियो में स्कूल में पेड़ के नीचे जमीन पर बैठकर पढ़ाई कर रहे बच्चे इस घटनाक्रम के दौरान चेहरों पर बेहद हैरानी और डर के भाव के साथ सकते में दिखाई दिए। हाथापाई और पत्थरबाजी के दौरान वे अपनी जगह जड़ बने बैठे पूरा नजारा देखते रहे। इसी बीच हेडमास्टर ने उन्हें घर जाने को कहा तो उनमें भगदड़ मच गई। अपने बस्ते उठाकर वे घर की ओर दौड़ पड़े।
बीईओ ने बीएसए को भेजा वीडियो हेडमास्टर पर कार्रवाई की सिफारिश
इस घटना के बाद स्कूल के महिला और पुरुष शिक्षकों ने बीईओ शशांक शेखर मिश्रा को घटनाक्रम के वीडियो के साथ शिकायत सौंपी। बीईओ ने बताया कि उन्होंने वीडियो को अपनी रिपोर्ट के साथ बीएसए को भेज दिया है। इस रिपोर्ट में स्कूल के हेडमास्टर के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की है।
उत्पीड़न और शोषण की शिकायतें आम
शिक्षक ने दी खुदकुशी की धमकी
शहर के एक स्कूल में तैनात महिला अनुदेशक ने प्रधानाध्यापक पर शोषण और उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए विभागीय अफसरों को खुदकुशी कर लेने की धमकी दे दी थी। महिला अनुदेशक का कहना था कि प्रधानाध्यापक शिक्षक नेता भी है और पड़ोस के स्कूल में तैनाती होने के बावजूद उस पर अपने स्कूल में आकर काम करने का दबाव डालता है। इनकार करने पर कई बार उसके खिलाफ कार्रवाई कराने की धमकी दे चुका है। अफसर भी उसी की सुनते हैं। महिला अनुदेशक की खुदकुशी की धमकी के बाद अफसरों ने प्रधानाध्यापक को सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी, तब कहीं यह क्रम रुका।
अफसर पर ठोका पांच लाख का दावा
अफसरों पर भी नाजायज अपेक्षाएं पूरी न होने पर शिक्षकों के शोषण के आरोप लगते रहे हैं। कुछ समय पहले ही बेसिक शिक्षा विभाग की जिला समन्वयक पर अवकाश लेने के बावजूद अनुपस्थित दिखाकर एक दिन का वेतन काट देने का आरोप लगाते हुए एक शिक्षक कोर्ट चला गया था और जिला समन्वयक पर मानसिक उत्पीड़न की एवज में पांच लाख रुपये का दावा कर दिया था। अफसरों ने इसके बाद शिक्षक को मनाकर लीगल नोटिस वापस कराया।
डर, पति के साथ आती थी स्कूल
शेरगढ़ ब्लॉक के एक स्कूल में महिला शिक्षक ने प्रधानाध्यापक के उत्पीड़न की वजह से अपने पति के साथ आना शुरू कर दिया था। उसने अफसरों से शिकायत की थी कि प्रधानाध्यापक उसके साथ अनुचित व्यवहार करते हैं। उसे अक्सर छुट्टियों में भी स्कूल आने को मजबूर करते हैं। उसने अफसरों से की शिकायत में कहा था कि प्रधानाध्यापक की हरकतों की वजह से उसके पति भी उस पर शक करने लगे हैं और उसका दांपत्य जीवन तबाह होने के कगार पर पहुंच गया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00