विज्ञापन
विज्ञापन

भीड़ की पिटाई से नहीं हुई थी तेंदुए की मौत

Bareily Bureauबरेली ब्यूरो Updated Sat, 18 May 2019 01:59 AM IST
ख़बर सुनें
बरेली। हाफिजगंज क्षेत्र में मृत मिले तेंदुए की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की स्थित साफ नहीं होे पाई है। विसरा सुरक्षित रख लिया गया है। आईवीआरआई में शुक्रवार हुए पोस्टमार्टम के बाद रिपोर्ट में कहा गया है कि तेंदुए के शरीर की कोई भी हड्डी टूटी नहीं थी। उसके पेट में भोजन नहीं था। पेट में कृमि पाए गए। इस रिपोर्ट से वन विभाग द्वारा तेंदुए को घेर कर लाठी-डंडों से मारे जाने की 100 लोगों के खिलाफ लिखाई गई रिपोर्ट पर भी सवालिया निशान लग गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
गुरुवार को गांव बढेपुरा निवासी भुवनेश्वर व कमुआ निवासी शिव कुमार को तेंदुए ने घायल कर दिया था। दोपहर हुई इस घटना के बाद सायं क्षेत्र निवासी एक ग्रामीण के गन्ने के खेत में एक तेंदुए का शव पड़ा मिला था। शुक्रवार को वन विभाग की टीम ने तेेंदुए का पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने वन विभाग द्वारा तेंदुए को पीट-पीट कर मार डालने की बात को सिरे से खारिज कर दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक तेंदुए के शरीर पर किसी भी तरह की कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं। उसके शरीर की कोई हड्डी भी नहीं टूटी है। चोट के नाम पर तेंदुए के सिर पर एक अंदरूनी गुम चोट जरूर मिली है। इस हालत में मौत का कारण स्पष्ट न होने पर चिकित्सकों ने उसका विसरा सुरक्षित रख लिया है। पीएम रिपोर्ट में तेंदुए की मौत 24 घंटे के भीतर बताए जाने से यह साफ हो गया है कि यह वही तेंदुआ हो सकता है, जिसने ग्रामीण पर हमला किया था। तेंदुए के अगले पंजे में मिला घाव का निशान भी ताजा नहीं था। मिला। इसकी पुष्टि वन संरक्षक पीपी सिंह ने भी की है।

एसडीओ, रेंजर और वन दरोगा को नोटिस
बरेली। मृत मिले तेंदुए की सूचना के बाद वन संरक्षक ने इस मामले में गुरुवार रात एसडीओ आरवी सिंह को पूरे मामले की जांच को कहा था। शुक्रवार आरवी सिंह की लापरवाही मिलने पर उनसे जांच हटा कर एसडीओ आवला बीएन सिंह को सौप दी गई है। वन संरक्षक पीपी सिंह ने बताया कि क्षेत्र में सतर्कता बरतने में देरी और लापरवाही पाई गई। इसके लिए एसडीओ आरवी सिंह, रेंजर नीलमणि के साथ उस क्षेत्र के वन दरोगा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

वन दरोगा बोला- ग्रामीणों की पिटाई से मरा तेंदुआ
हाफिजगंज। वन दरोगा चंद्रशेखर ने शुक्रवार को टीम के साथ मौका मुआयना करने के बाद कहा कि तेंदुए को ग्रामीणों ने ट्रैक्टरों से घेर कर लाठी-डंडों से पीट कर मारा है। उसने इस मामले में शुक्रवार 100 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज कराई है। वन दरोगा ने बताया कि वन विभाग की एक टीम, जिसमें पुष्कर जोशी, नीलमणि, अकबर अली, वेदप्रकाश, माधौसिह शामिल थे उन्होंने सबूत तलाशने के लिए कांबिंग की। टीम को गांव के कोेटेदार के खेत में कई ट्रैक्टर द्वारा रौंदने के निशान भी मिले। एक स्थान पर खून और एक स्थान पर बाल मिले। हालांकि यह दोनों तेंदुए के ही हैं या नहीं यह कहना अभी मुश्किल है। , लेकिन यह साफ है कि तेंदुए को ग्रामीणों ने ही मारा है।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
ज्योतिष समाधान

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

तीन तलाक पीड़िता का हाथ थामा तो मिलीं धमकियां, धर्म परिवर्तन कर मंदिर में रचाई शादी

पीलीभीत की तीन तलाक पीड़िता रेशमा ने बुधवार को धर्म परिवर्तन कर पीलीभीत के ही दीपू से बरेली के मंदिर में शादी कर ली। वह नाम बदलकर रेशमा से रानी बन गई है।

17 मई 2019

विज्ञापन

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर एग्जिट पोल में भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए आखिरी चरण का मतदान संपन्न होते ही एग्जिट पोल सामने आ गए है। उत्तर प्रदेश में छह में से पांच एग्जिट पोल में भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें।

19 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election