विज्ञापन

1.60 करोड़ की लूट का खुलासा, 1.84 लाख बरामद

अमर उजाला ब्यूरो Updated Mon, 01 Dec 2014 12:05 AM IST
Disclose the spoils of 1.60 million , 1.84 million recovered
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पोंटी चड्ढा ग्रुप के शिव शक्ति ट्रेडर्स के कैशियर राजकुमार चांदवानी के साथ 26 सितंबर को नवाबगंज के मेंडारा गांव में हुई 1.60 करोड़ रुपये की लूट के खुलासे का दावा किया गया है। पुलिस ने कंपनी के ड्राइवर विनय गुप्ता (घूरपुर) समेत कीडगंज के गुलाब सिंह पटेल, करछना के रफीक उर्फ भुल्लू, खरवई प्रतापगढ़ के दिलीप कुमार तिवारी और मऊ चित्रकूट के पवन कुमार मिश्र को गिरफ्तार कर लूट के 1.84 लाख रुपये बरामद दिखाए हैं। पुलिस ने लूट के रुपये से खरीदी गई टवेरा, मोटर साइकिल, बंदूक, पिस्टल और तमंचा भी बरामद किया है। गिरफ्तारी और बरामदगी शनिवार को हाइवे के पीवीआर ढाबे से दिखाई जा रही है।
विज्ञापन
कैश ले जाने की जानकारी विनय गुप्ता ने ही लीक की थी। वह कंपनी के पुराने गार्ड पवन मिश्रा के संपर्क में था। पवन वर्ष भर पूर्व काम छोड़ चुका था। विनय को रुपये ले जाने की जानकारी मनमोहन पार्क स्थित दफ्तर से चांदवानी के जरिए ही मिली थी। उसने सिविल लाइंस बस स्टेशन के पीसीओ से बदमाशों को सूचना दी थी। लूट में एक भाई जी तथा छह और बदमाश भी शामिल थे।

 रविवार को एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि दो गाड़ियों में 12 लोग सवार थे। जिस नीली बत्ती लगी बोलेरो ने टवेरा को रोका गया था, उसे रफीक चला रहा था जिसे सभी दीवान जी कह रहे थे। बोलेरो में पवन मिश्रा और दिलीप तिवारी पुलिस की वर्दी में थे। दूसरी गाड़ी जिसमें पांच लोग थे, वह बैकअप के लिए पीछे थी। लूट के बाद सभी सहसों पहुंचे ओर दो बोरा खरीदा। झूंसी के पास से लाल बैग से रुपये निकालकर बोरोें में भरे गए।

दारागंज चुंगी के पास से सभी बाइक और रिक्शे से निकल गए। बोलेरो को प्रतापगढ़ भेज दिया गया। हालांकि यह बोलेरो पुलिस अब तक बरामद नहीं कर सकी है। एसएसपी के मुताबिक सभी बदमाशों ने दो-दो लाख रुपये बांट लिए थे। गुड्डू ने इन्हीं रुपये से टवेरा खरीदी। भुल्लू ने जमीन खरीदी और अपने पिता का आपरेशन करवाया। बाकी के बचे हुए रुपये भाई जी के पास हैं। विनय पर कंपनी को काफी भरोसा था। इसलिए उसे पिस्टल का लाइसेंस भी दिलवाया गया था। भाई जी का रहस्य पुलिस अभी सुलझा नहीं सकी है।



क्राइम ब्रांच ने 26 सितंबर को लूट के वक्त चांदवानी के साथ रहे गार्ड शंखदत्त ओझा और ड्राइवर शमशेर से भी कई बार पूछताछ की थी। दोनों को शनिवार को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया था लेकिन बाद में छोड़ दिया गया था।




चर्चा रही कि क्राइम ब्रांच का काम एक गुमनामी चिट्ठी ने आसान बना दिया। चिट्ठी लिखने वाले शख्स से ही बदमाशों के नाम मिलने की बात सामने आई है लेकिन अफसर इससे इंकार कर रहे हैं।



पुलिस ने लगे हाथ चेतन सांवला के भाई तरुण सांवला से हुई तीन लाख की लूट का भी खुलासा कर डाला। दावा किया गया है कि नौ जुलाई को गुलाब पटेल ने सीडी डॉन मोटर साइकिल से लूट की थी। लूट के ही 70 हजार रुपये से प्रतापगढ़ जेल में बंद अबरार के जरिए सिल्वर रंग की चोरी की बोलेरो खरीदी गई थी। इसी बोलेरो से शराब कंपनी के कैशियर से लूट की गई थी।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Prayagraj

इलाहाबाद-फैजाबाद ही नहीं, बीते एक साल में कम से कम 25 जगहों के नाम बदले गए

केंद्र सरकार ने पिछले एक साल में कम से कम 25 नगरों और गांवों के नाम बदलने के प्रस्ताव को हरी झंडी दी है, जबकि नाम परिवर्तित करने के कई प्रस्ताव उसके पास लंबित हैं और इनमें पश्चिम बंगाल का नाम बदला जाना भी शामिल है।

12 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

‘भाई दूज’ के मौके पर भाई-बहनों ने लगाई यमुना में डुबकी

प्रयागराज में भी भाईदूज के मौके पर  यमुना नदी में स्नान के लिए श्रद्धालु उमड़े। हजारों की संख्या में भाई-बहनों ने एक-दूसरे का हाथ पकड़कर डुबकी लगाई और दीपदान किया।

9 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree