विज्ञापन
विज्ञापन

#KabTakNirbhaya: स्वच्छता और इज्जत घर नहीं, महिलाओं की सुरक्षा चाहिए

Aligarh Bureauअलीगढ़ ब्यूरो Updated Thu, 05 Dec 2019 02:09 AM IST
ख़बर सुनें
हैदराबाद की हैवानियत पर युवतियों व महिलाओं के जहन में उठी विरोध के स्वर की चिंगारी अभी बुझने का नाम नहीं ले रही है। हैवानियत पर उबाल की झलकी बुधवार को मडराक स्थित जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान में # कब तक निर्भया अमर उजाला अपराजिता के तहत आयोजित फोकस ग्रुप में डीएलएड प्रशिक्षु व प्रवक्ताओं में दिखी। यहां प्रशिक्षुओं ने कहा कि सरकार से हमें इज्जत घर, स्वच्छता जैसे अभियान नहीं चाहिए। महिलाओं की सुरक्षा का अभियान ही हमको समानता का अधिकार दिलाएगा।
विज्ञापन
प्रवक्ता गरिमा रानी ने कहा कि छोटे-छोटे प्रकरण तो राजनीतिक दबाव या बड़ी हस्तियों की सिफारिशों पर दबा दिए जाते हैं। यही वजह है कि ऐसे हादसे बढ़ते जा रहे हैं। प्रवक्ता साधना बघेल ने कहा कि अरब देशों जैसे कड़े कानून बनने चाहिए।
प्रवक्ता आयशा परवीन ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ नारे को बदलकर बेटा पढ़ाओ बेटा सुधारो मुहिम चलाई जाए। डीएलएड प्रशिक्षु वंदना गौड़ ने कहा कि ऐसे कानून बनाए जाएं, जिसमें जल्द से जल्द फैसला हो। आरती वर्मा ने कहा कि लड़कों में संस्कार और खौफ डालने की बहुत जरूरत है। सूफिया खातून ने कहा कि पीड़िता का फोटो और नाम सोशल मीडिया पर ट्रोल नहीं किया जाना चाहिए। निर्भया, कठुआ और उन्नाव जैसे प्रकरण सुनकर गुस्सा आता है। पूर्णिमा सारस्वत ने कहा कि पीड़िता तथा उसके परिवार को समाज हीन भावना से देखता है। जैसे उसकी ही गलती हो, लेकिन छोटी बच्चियों का क्या दोष है। इसका जवाब किसी के पास नहीं होगा।
रीमा यादव ने कहा कि दुष्कर्म के आरोपियों को तो जिंदा जला देना चाहिए। नीलम यादव ने कहा कि मंदिर, मस्जिद के अलावा बेटियों की सुरक्षा ही बड़ा मुद्दा है। रिया यादव ने कहा कि लड़कियों को सुरक्षा के गुर सीखने चाहिए। क्योंकि जो करना है अब तो खुद ही करना है। साक्षी जैन ने कहा कि नजर का इलाज संभव है, नजरिये का नहीं है। कनीज फातिमा खान ने कहा कि दोषियों का चेहरा सामने नहीं आता और वह फोर्स के साथ अलग से ले जाया जाता है। नीलम रानी ने कहा कि घटना के बाद पीड़िता व परिवार को और परेशान किया जाता है।
राधा देवी ने कहा कि अगर हैदराबाद वाली पशु चिकित्सक की बेटी किसी पीएम, सीएम या भारत सरकार के उच्च पदस्थ वाले व्यक्ति की होती तो अब तक अनुच्छेद ही बदल दिया गया होता, लेकिन अफसोस यह किसी आम आदमी की बेटी है। कीर्ति नंदिनी गौड़ ने कहा कि न्यायपालिका के निर्णय देरी से आते हैं। ऐसे में कैसे लड़कों के मन में खौफ पैदा होगा। स्वाति यादव ने कहा कि विश्व में इंडिया ही ऐसा देश है, जहां सबसे ज्यादा महिलाएं असुरक्षित हैं।
कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि देते बच्चे।
कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि देते बच्चे।- फोटो : CITY OFFICE
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur Fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

नएवर्ष में कराएं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का एक माह तक जलाभिषेक, होगी परिवारजनों के अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति
Astrology Services

नएवर्ष में कराएं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का एक माह तक जलाभिषेक, होगी परिवारजनों के अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Aligarh

अलीगढ़ में गर्माया माहौल, सड़कों पर उतरे हिंदूवादी नेता, बोले- आतंकवादी अड्डा बन गया है एएमयू

एएमयू के छात्रों की गतिविधियों से ऐसा लगता है जैसे कोई आतंकवादी संगठन का हाथ इनके उपर रखा हुआ है। उन्होंने कहा कि एएमयू एक आतंकवादी अड्डा बन चुका है।

15 दिसंबर 2019

विज्ञापन

इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह ने खून से लिखा अमित शाह को खत, निर्भया के गुनहगारों पर दिया ये बयान

इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह ने अपनी एक मांग को लेकर गृह मंत्री अमित शाह को खून से खत लिख सबको हैरत में डाल दिया है. दरअसल वर्तिका सिंह निर्भया के दोषियों को खुद फांसी देना चाहती हैं। सुनिए क्या कहना है भारतीय शूटर वर्तिका सिंह का।

15 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Safalta

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us