अलीगढ़ः सराय मिस्र में जबर्दस्त तनाव, जद्दोजहद के बीच अंतिम संस्कार

अमर उजाला नेटवर्क, अलीगढ़ Updated Thu, 29 Oct 2020 02:50 AM IST
विज्ञापन
tension...
tension... - फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • हत्या-बवाल के दूसरे दिन जाम लगाने की कोशिश, हंगामा-नोकझोंक 
  • घंटों बातचीत के बाद दो लाख रुपये मुआवजा, मकान व नौकरी पर माने परिजन

विस्तार

महानगर के सासनी गेट थाने के सराय मिस्र इलाके में मंगलवार रात वाल्मीकि समाज के युवक की हत्या के बाद बुधवार को भी माहौल बेहद तनावपूर्ण रहा। पोस्टमार्टम केंद्र से लेकर घटनास्थल तक हंगामा-हायतौबा का आलम रहा। इसे लेकर पुलिस, पीएसी व आरएएफ को तैनात कर दिया गया। इस दौरान अंतिम संस्कार से पहले मुआवजा, मकान और नौकरी की मांग उठी। घंटों की वार्ता के बाद प्रशासन के स्तर से दो लाख रुपये मुआवजा देकर परिवार को सुरक्षा, नगर निगम में संविदा नौकरी व एक मकान की मांग पूरी करने का भरोसा दिलाया गया। तब जाकर शाम चार बजे शव श्मशान पहुंचा। इलाके में जबरदस्त तनाव के हालात बने हुए हैं।
विज्ञापन

सासनीगेट के सराय मिस्र गोबर खूंदा में मंगलवार रात वाल्मीकि समाज के युवक शक्ति पुत्र प्रमोद की कोली समाज के युवकों ने झगड़े के बीच गोली मारकर हत्या कर दी थी। युवक की मौत के बाद इलाके में जबरदस्त बवाल हुआ था। रात जैसे तैसे पुलिस ने हालात सामान्य किए थे। इधर, बुधवार सुबह से ही पोस्टमार्टम केंद्र पर लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया। करीब 12 बजे पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये मुआवजा, नगर निगम में नौकरी, सुरक्षा के लिए शस्त्र लाइसेंस और मकान की मांग उठी। बातचीत के लिए एसीएम द्वितीय कई थानों के फोर्स के साथ पोस्टमार्टम केंद्र पहुंचे। बाद में वे अधिकारियों से विमर्श करने की बात कहकर चले गए। 
इस बीच काफी संख्या में महिलाएं व युवा सराय मिस्र में एकत्रित होकर आगरा रोड पर आ गए और नारेबाजी करने लगे। यह देख एक कंपनी पीएसी, एक कंपनी आरएएफ के अलावा जिले के कई थानों का फोर्स बुला लिया गया। इस दौरान आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए आगरा रोड पर दुर्गापुरी के बाहर जाम लगाने की कोशिश की गई। सीओ प्रथम व सीओ द्वितीय ने समझाने का प्रयास किया तो उनसे तीखी नोकझोंक हुई। किसी तरह भीड़ को सड़क से हटाया गया। इस पर लोग सड़क किनारे जमीन पर धरना देकर बैठ गए। यहां बैरीकेडिंग कर लोगों को पुलिस बल ने घेर लिया। इस दौरान रुक-रुककर प्रदर्शन व नारेबाजी होती रही।
इसी बीच अधिकारियों से वार्ता कर एसीएम वापस पोस्टमार्टम केंद्र पहुंचे, जहां उन्होंने मां के नाम दो लाख रुपये का चेक दिया, परिवार में नौकरी संविदा पर, कांशीराम आवास योजना में मकान व सुरक्षा का वायदा किया। तब जाकर कई घंटे की बातचीत पर शक्ति का भाई व समाज के लोग इस बात पर सहमत हुए कि शव मौके पर पहुंचने पर किसी तरह का हंगामा नहीं होगा। इसके बाद कड़ी सुरक्षा में युवकों की भीड़ वाहनों के साथ शव लेकर सराय मिस्र पहुंची। शव पहुंचते ही कुछ देर को गहमागहमी व हंगामी माहौल बना। मगर पुलिस प्रशासनिक टीम ने आनन-फानन औपचारिकताएं पूरी कर अंतिम संस्कार के लिए शव महेंद्र नगर श्मशान रवाना करा दिया। तब जाकर सब कुछ समान्य हुआ। इलाके में तनाव बरकरार है, जिसे लेकर पुलिस बल तैनात है।

हत्या में एक नामजद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाकी नामजदों की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हुई हैं। परिवार की जो मांगें थीं, उन पर प्रशासन ने मदद दी है। अब स्थिति सामान्य है। एहतियातन पुलिस बल तैनात है।
- मुनिराज जी, एसएसपी
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X