विज्ञापन
विज्ञापन

चार कागज में छिपा है वारदात का राज

अमर उजाला ब्यूरो आगरा Updated Thu, 23 Jun 2016 02:08 AM IST
दो गोलियां लगने के बाद भी नहीं छोड़े संजीव ने कागजात
दो गोलियां लगने के बाद भी नहीं छोड़े संजीव ने कागजात - फोटो : अमर उजाला ब्यूरो
ख़बर सुनें
भरतपुर हाउस गोलीकांड के सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि संजीव रस्तोगी के हाथ में नजर आ रहे चार कागजों में बड़ा राज छिपा है। उन्हाेेंने दो गोलियां लगने के बाद भी इन कागजों को नहीं छोड़ा। पुलिस इन्हें बरामद भी नहीं कर पाई है। ये कागज स्टांप पेपर माने जा रहे हैं। शक यह भी है कि इन पर संजीव ने राजकुमार से कुछ लिखवा लिया था।
विज्ञापन
राजकुमार का एक मोबाइल फोन भी गायब है। माना जा रहा है कि इसे भी संजीव उठाकर ले गए थे। इसमें भी करोड़ों के लेन-देन की बातें रिकार्ड बताई जा रही हैं। राजकुमार के नजदीकी लोगों का कहना है कि संजीव ने ही राजकुमार को वायदा के अवैध कारोबार में लगाया था। इसमें राजकुमार को लगातार घाटा हो रहा था। संजीव इसका फायदा उठा रहे थे। वह राजकुमार के साथ प्रापर्टी में भी पैसा लगा रहे थे।
घाटा होने पर राजकुमार के प्लाट बिकवा रहे थे। छह प्लॉट और एक फार्म हाउस बिक वा चुके थे। अब संजीव की नजर राजकुमार की कोठी पर थी। माना जा रहा है कि  स्टांप पेपर पर कोठी ही अपने नाम लिखवा ली थी। संजीव का परिवार इस बारे में कुछ बताने को तैयार नहीं है। पुलिस ने उनके बेटे सनी से पूछा तो उसने कहा कि उसे कुछ पता नहीं। उधर, राजकुमार के भाई सुंदर लालवानी का कहना है कि संजीव ने कागजों में उनके भाई से कुछ ऐसा लिखवा लिया था जो इस वारदात की वजह बना। इंस्पेक्टर हरीपर्वत ने बताया कि संजीव का परिवार उन कागजों और मोबाइल फोन के बारे में कोई जानकारी नहीं दे रहा है।

‘डिब्बा’ में बंद है कारोबारियों का सुकून
चंद दिनों में करोड़ों के वारे-न्यारे करने की चाहत में शहर के व्यापारी डिब्बा कारोबार के फंदे में फंसते जा रहे हैं। भरतपुर हाउस गोलीकांड के बाद शहर के व्यापारियों ने वायदा कारोबार को बंद कराने की मांग तो उठाई है, लेकिन यह कारोबार देन भी तो इन्हीं की है। 
हींग की मंडी में जिस तरह से पर्ची सिस्टम चलता है, ठीक वैसे ही व्यापारियों ने डिब्बा कारोबार को एमसीएक्स के समानांतर खड़ा कर दिया। एमसीएक्स के वायदा कारोबार के लिए तो व्यापारी को एकाउंट, मार्जिन मनी, पहचान पत्र, केवाईसी और टैक्स देने होते हैं, लेकिन डिब्बा कारोबार में इन सबसे बचते हुए करोड़ों का लेन-देन एक झटके में ही हो जाता है। सोने और चांदी जैसी धातुओं पर ही डिब्बे का कारोबार सबसे ज्यादा है। हैरत की बात ये है कि खरीद बिक्री के रेट तो एमसीएक्स के माने जाते हैं, लेकिन बाकी नियम-कायदे डिब्बे कारोबार की गद्दियों ने खुद ही बनाए हुए हैं। आपसी विश्वास पर पर्चियों के जरिए वायदा की बुकिंग होती है। एमसीएक्स की तरह यहां न तो लिमिट है और न ही कोई टर्मिनल। भविष्य के सौदों पर व्यापारी इसी लालच में सब कुछ दांव पर लगाए चले जाते हैं। हर बार कुछ खोने के बाद पाने की उम्मीद में वह डिब्बा कारोबार में फंसते रहते हैं। सीताराम कालोनी का मामला हो या आवास विकास कालोनी का या फिर कमला नगर और अब भरतपुर हाउस का मामला। डिब्बा कारोबार शहर में दो दर्जन से ज्यादा बड़े व्यापारियों के बीच झगड़े की वजह बन चुका है।

बंद हो वायदा और डिब्बा कारोबार
आगरा। आगरा मंडल व्यापार संगठन संस्थापक अध्यक्ष गोविंद अग्रवाल और महामंत्री हरेश अग्रवाल ने कहा कि वायदा कारोबार अब खतरनाक बन चुका है। बड़े उतार-चढ़ाव से कारोबारी पल भर में ही कंगाल हो रहे हैं। कई व्यापारी आत्महत्या पर विवश हुए तो कई की हत्या हो चुकी है। व्यापार संगठन अध्यक्ष और भरतपुर हाउस वेलफेयर सोसायटी अध्यक्ष चरनजीत थापर ने लाटरी की तरह वायदा कारोबार पर प्रतिबंध लगाने की मांग उठाई है, ताकि कई परिवार बर्बाद होने से बच सकें।
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur Fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Agra

मौसम ने ली करवट

मौसम ने ली करवट

12 दिसंबर 2019

विज्ञापन
Agra

ब्लैक लिस्टेड

12 दिसंबर 2019

Agra

नाम 100 शैया

12 दिसंबर 2019

घर के पास दिखा अजगर, महिला ने हाथ से पकड़कर बैग में रखा, वीडियो वायरल

करीब 20 किलो के अजगर को हाथ से पकड़कर बैग में भरने का एक अफसर की पत्नी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

12 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Safalta

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election