बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सराफ हत्याकांडः रंगा की पार्टी में ऐश करते थे पुलिस वाले

ब्यूरो/ अमर उजाला मथुरा Updated Sat, 20 May 2017 05:53 PM IST
विज्ञापन
राकेश उर्फ रंगा
राकेश उर्फ रंगा - फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
राकेश उर्फ रंगा ने पुलिस वालों पर भी अपना रंग चढ़ा रखा था। पुलिस वालों के लिए पार्टियां देता था। बताया गया कि तमाम शिकायतों के बाद भी पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं करती थी।
विज्ञापन


चौबियापाड़ा का रहने वाला राकेश यूं ही अपराध की दुनिया का एक बड़ा नाम नहीं बन गया। उसने नए लड़कों को अपने गैंग में शामिल कर लिया था। उनको असलहे उपलब्ध कराया करता। पुलिस में भी रंगा की खासी पहचान थी। 


उसके घर पर पुलिस वाले आया करते थे लेकिन कभी उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई। बताया जाता है कि पूर्व में अफसरों से भी शिकायत की गई थी कि रंगा के कई पुलिस वालों के साथ गहरे रिश्ते हैं। लेकिन इन शिकायतों की जांच भी ठंडे बस्ते में डाल दी गई थी। 

अगर उसके गहरे संबंध न होते तो बीस से ज्यादा मुकदमों में नामजद रंगा कभी का गिरफ्तार हो गया होता। उसकी गिरफ्तारी पर इनाम था लेकिन पुलिस ने फिर भी नहीं पकड़ा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us