टीका ही बचाएगा जान: आगरा देहात के गांवों में टीकाकरण का जानिए क्या है हाल, पढ़िए ये खास रिपोर्ट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, आगरा Published by: Abhishek Saxena Updated Wed, 16 Jun 2021 12:01 PM IST

सार

देहात के 15 ब्लॉक में 62 केंद्रों पर हो रहा टीकाकरण, एक ओर जहां शहर में केंद्रों पर कतार देखी जा सकती है वहीं देहात में अधिकांश केंद्र खाली रहते हैं।
टीकाकरण: कोरोना की वैक्सीन लगवाती महिला
टीकाकरण: कोरोना की वैक्सीन लगवाती महिला - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दूसरी लहर में देहात क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की दर अधिक रही। अब हालात नियंत्रण में हैं लेकिन शहर के मुकाबले देहात क्षेत्र की आबादी में टीकाकरण की दर कम है। पहली डोज के आधार पर तुलना करें तो शहर में करीब 3.25 लाख लोगों ने टीका लगवाया है जबकि देहात के 15 ब्लॉक में 2.16 लाख लोगों ने ही कोरोना से सुरक्षा का कवच पहना है। देहात के 15 ब्लॉक में टीकाकरण में अछनेरा के लोग सबसे आगे है। जैतपुर कलां, पिनाहट ब्लॉक फिसड्डी हैं। 
विज्ञापन


शहर में जहां टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ के कारण लोगों को लौटना पड़ रहा है वहीं देहात के केंद्रों पर कॉलम पूरा नहीं हो पा रहा है। अफवाहों और जागरूकता की कमी टीकाकरण को रफ्तार नहीं पकड़ने दे रही।


देहात के 15 ब्लॉक में करीब 22 लाख आबादी है। 15 ब्लॉक में 62 स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन लगवाने की व्यवस्था की गई है। प्रत्येक केंद्र पर एक हजार ग्रामीणों के लिए टीके की खुराक उपलब्ध है। जिले में मंगलवार तक 5,40,992 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है।

टीकाकरण की देहात क्षेत्रों में स्थिति
टीकाकरण की देहात क्षेत्रों में स्थिति - फोटो : अमर उजाला
45 साल से अधिक उम्र में बरौली अहीर आगे
देहात के ब्लॉकों में युवाओं (18-44 साल उम्र) और बुजुर्गों (45 साल से अधिक उम्र) के टीकाकरण की तुलना करें तो बरौली अहीर में बुजुर्ग वैक्सीन लगवाने में सबसे आगे हैं। यहां 15604 बुुजुर्गों ने टीका लगवाया है। युवाओं के मामले में अछनेरा ही अव्वल है। मंगलवार तक यहां 10220 युवाओं ने टीका लगवाया है। शमसाबाद और पिनाहट में 45 साल से अधिक उम्र के लोेग दूसरी खुराक में पीछे हैं। शमसाबाद में 7529 लोग पहली खुराक ले चुके हैं जबकि सिर्फ 463 लोगों दूसरी खुराक ली है। पिनाहट में 45 साल के 4850 लोग पहली खुराक ले चुके हैं। महज 324 लोगों ने दूसरी खुराक ली है।

ब्लॉक                    45 साल से अधिक                          18-44 साल 
अछनेरा                         13949                                     10220
अकोला                         9785                                        4969
बाह                              5771                                        6948
बरौली अहीर                15604                                        6281
बिचपुरी                       11698                                        7657
एत्मादपुर                       8277                                        5507
फतेहाबाद                     6832                                        5507
फतेहपुर सीकरी              7864                                      4557
जगनेर                          5349                                       3753
जैतपुरकलां                    4759                                      3391
खंदौली                         5599                                     4875
खेरागढ़                         8507                                     4875
पिनाहट                         4850                                     3780
सैंया                              7879                                     5020
शमसाबाद                    7529                                      5077



मौके पर ही होगा पंजीकरण
1.टीकाकरण के लिए पंजीकरण टीकाकरण केंद्र पर हो सकता है। केंद्र पर एक कम्प्यूटर ऑपरेटर की व्यवस्था की है। 18 से 44 साल की उम्र के लोग मौके पर ही पंजीकरण कर स्लॉट बुक कर सकते हैं।
2.ग्रामीण क्षेत्रों में 400 से अधिक जनसुविधा केंद्रों पर टीकाकरण के लिए पंजीकरण निशुल्क है। 45 साल से अधिक उम्र के लोग बिना पंजीकरण कराए सीधे केंद्र पर जाकर टीका लगवा सकते हैं।
3.ग्रामीण अपने गांव में भी टीका लगवा सकते हैं। जिस गांव में 100 ग्रामीण टीका लगवाने के लिए तैयार हो जाएं, उन गांव में ब्लॉक कार्यालय से टीकाकरण के लिए मोबाइल वैन जाएगी और लोगों को टीका लगाया जाएगा।
4. गांवों में लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक करने के लिए एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, प्रधान, बीडीसी सदस्यों को जिम्मेदारी दी गई है। घर-घर जाकर लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित कर रही हैं।
-जैसा कि मुख्य विकास अधिकारी ए मनिकन्डन ने बताया

 

टीके वाला गांव बनेगा मॉडल
जिन गांव में अधिक टीकाकरण होगा उन्हें मॉडल गांव का दर्जा दिया जाएगा। अतिरिक्त विकास कार्य कराए जाएंगे। इस बारे में जागरूक किया जा रहा है। टीका पूरी तरह सुरक्षित व जरूरी है। अधिक से अधिक लोग टीका लगवाएं। -प्रभु एन सिंह, जिलाधिकारी

हमारे पास सुरक्षा कवच है...आप कब ले रहे
टीका लगवाने में ही समझदारी
मैंने तो 4 मई को ही कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवा लिया है। कहीं कोई परेशान नहीं हुई। सभी को इसके लिए प्रेरित भी कर रहा हूं कि वैक्सीन लगवाने में ही समझदारी है। इससे कोई खतरा नहीं है। - राहुल चौधरी, अभैदोपुरा

संक्रमण का खतरा कम होगा
मैंने कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए पहली डोज लगवा ली है। टीके से संक्रमण का खतरा कम रहता है। मन में अब एहसास रहता है कि कोरोना से सुरक्षा कवच मेरे पास है। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। - निशा, अरदाया

महत्व समझने लगे हैं लोग
जिस तरह से कोरोना के संक्रमण की दूसरी लहर ने कहर बरपाया है। उससे समझ में आ गया है कि वैक्सीन लगवाकर ही खुद को सुरक्षित किया जा सकता है। खुद वैक्सीन लगवाई है। कोई परेशानी नहीं हुई। - योगेंद्र सिंह, बसैया राजपूत

बचाव का एकमात्र उपाय है
कोरोना से निपटने के लिए वैक्सीन लगवाना ही एकमात्र उपाय है। मैंने टीका लगवा लिया है। अस्पताल में वैक्सीन लगवाने के लिए भीड़ से साफ है कि लोग भ्रांतियों से धीरे-धीरे बाहर निकल चुके हैं। - नरेश तोमर, ग्रामीण

वाह ताज: ऐतिहासिक स्मारक के 'ताले' खुले, ब्राजील की पर्यटक ने सबसे पहले देखा ताजमहल, जानें टिकट और नियम की व्यवस्था
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00