आगरा नगर निगम: सीवर, सफाई की शिकायतों से सदन में फूटेगा गुबार

अमर उजाला ब्यूरो, आगरा Published by: Abhishek Saxena Updated Fri, 22 Oct 2021 09:15 AM IST

सार

आजमपाड़ा के पार्षद राहुल चौधरी के मुताबिक सेनेटरी इंस्पेक्टरों के तबादले और नए सिरे से पुनर्गठन के कारण व्यवस्थाएं चौपट हो गई हैं। उनके वार्ड में जो सेनेटरी इंस्पेक्टर भेजे गए हैं, वह 5 दिन तक कचरा नहीं उठवाते। 
आगरा नगर निगम
आगरा नगर निगम
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आगरा नगर निगम सदन में सीवर और सफाई को लेकर शुक्रवार को विशेष अधिवेशन होने जा रहा है। 22 पार्षदों ने मेयर को बीते पखवाड़े प्रस्ताव सौंपा था, जिस पर आज दिन 3 बजे से विशेष अधिवेशन बुलाया गया है, जिसमें पार्षदों का गुबार फूटेगा। 40 से ज्यादा पार्षद सफाई व्यवस्था और सीवर समस्या से परेशान हैं। आरोप है कि नगर निगम के कर्मचारी और सीवर में वबाग के कर्मचारी उनकी बताई समस्याओं को दूर नहीं कर रहे।
विज्ञापन

बीते साल जनवरी में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की व्यवस्था कंपनियों के घोटाले के कारण बिगड़ गई जो अब तक सुधर नहीं सकी। नगर निगम न तो नई कंपनी को बुला सका और न ही अपने कर्मचारियों से काम ही करा पाया। इससे हालात और बिगड़ गए। डेंगू से घर घर में मरीज मिलने और गंदगी, जलभराव से परेशानी के बीच पार्षद सदन में अपनी आवाज उठाएंगे।

मेयर नवीन जैन ने बताया कि दिन में तीन बजे से नगर निगम सदन में सफाई और सीवर पर विशेष अधिवेशन बुलाया गया है। जो पार्षद अपनी बात रखना चाहते हैं, उन्हें पूरा मौका दिया जाएगा।

48 करोड़ रुपये सीवर पर हो रहे खर्च
पार्षद शिरोमणि सिंह ने कहा कि 48 करोड़ रुपये हर साल वबाग को दिए जा रहे हैं, पर कंपनी काम नहीं कर रही। 400 से ज्यादा शिकायतें लंबित पड़ी हैं। टोल फ्री नंबर पर शिकायत करके भी सुनवाई नहीं हो रही। बाग फरजाना के पार्षद संजय राय भी सीवर की समस्याओं से परेशान हैं। बताया कि लगातार शिकायतें करने के बाद भी कंपनी सफाई के लिए टीम नहीं भेजती।

5 दिन तक कचरा नहीं उठवा रहे इंस्पेक्टर
आजमपाड़ा के पार्षद राहुल चौधरी के मुताबिक सेनेटरी इंस्पेक्टरों के तबादले और नए सिरे से पुनर्गठन के कारण व्यवस्थाएं चौपट हो गई हैं। उनके वार्ड में जो सेनेटरी इंस्पेक्टर भेजे गए हैं, वह 5 दिन तक कचरा नहीं उठवाते। सड़कों पर कचरे के ढेर से लोग परेशान होकर शिकायतें करते हैं, पर कचरा उससे पहले हटवाया नहीं जाता।

 

किले के पास 1600 एमएम सीवर लाइन धंसी
आगरा। सीवर और सफाई के लिए विशेष अधिवेशन से पहले आगरा किला के सामने रामलीला मैदान से सटी 1600 एमएम व्यास की सीवर लाइन धंस गई। सीवर लाइन धंस जाने और चोक हो जाने के कारण पीछे के क्षेत्रों में सीवर उफनने लगा, जिसे नालों से जोड़ा गया। वीए टेक वबाग के कर्मचारियों ने सीवर लाइन की मरम्मत का काम शाम को शुरू किया। लाइन बाईपास करके मंटोला नाले में छोड़ी गई। सीवर लाइन की बड़ी लाइन की मरम्मत का काम तीन दिन तक चल सकता है। पुराने शहर में सीवर उफनने से तीन दिन तक लोगों की परेशानी बढ़ सकती है।

पुराने अधिवेशनों के फैसलों पर नतीजा सिफर
राजनगर के पार्षद बंटी माहौर की शिकायत है कि विशेष सदन में जो निर्णय लिए जाते हैं, उनका पालन अधिकारी नहीं करते। पार्षदों को सफाई कर्मचारियों का ड्यूटी चार्ट उपलब्ध कराने, सफाई के लिए जवाबदेह बनाने और क्षेत्र में एक इलाके को डस्टबिन मुक्त, साफ करने का निर्णय लिया गया था, लेकिन अधिकारियों ने एक भी काम नहीं किया। अधिवेशन के फैसलों का उल्लंघन करने वालों पर पहले कार्रवाई हो।

हिरासत में मौत का मामला: पुलिस ने की थी सफाईकर्मी की पिटाई ? पोस्टमार्टम रिपोर्ट से फंसेगी गर्दन
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00