विज्ञापन
Hindi News ›   Himachal Pradesh ›   Hamirpur (Himachal) News ›   HPSSC Paper Leak Case: Female candidate arrested in art teacher recruitment paper leak case

HPSSC Paper Leak Case: कला अध्यापक भर्ती पेपर लीक मामले में महिला अभ्यर्थी गिरफ्तार

संवाद न्यूज एजेंसी, हमीरपुर Published by: Krishan Singh Updated Wed, 29 Mar 2023 10:40 AM IST
सार

पोस्ट कोड 980 कला अध्यापक के पेपर लीक मामले में नामजद महिला अभ्यर्थी सुनीता देवी को भी एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे हमीरपुर के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया है।

HPSSC Paper Leak Case: Female candidate arrested in art teacher recruitment paper leak case
पेपर लीक मामला(सांकेतिक) - फोटो : अमर उजाला

विस्तार
Follow Us

भंग किए जा चुके हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग के पेपर लीक मामलों में अब गिरफ्तारियां शुरू हो गई हैं। सोमवार को पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। मंगलवार को पोस्ट कोड 980 कला अध्यापक के पेपर लीक मामले में नामजद महिला अभ्यर्थी सुनीता देवी को भी एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे हमीरपुर के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया है। बुधवार को आरोपी महिला को हमीरपुर न्यायालय में पेश किया जाएगा। एसआईटी के हाथ अभी तक जो सबूत हाथ लगे हैं, उनके आधार पर महिला अभ्यर्थी को पुलिस रिमांड पर लेने की पैरवी एसआईटी की ओर से न्यायालय में की जाएगी। कला अध्यापक पेपर लीक मामले में एसआईटी ने तीन मार्च को विजिलेंस थाना हमीरपुर में निलंबित वरिष्ठ सहायक उमा आजाद, उसके बेटे निखिल आजाद और महिला अभ्यर्थी सुनीता देवी के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके बाद मुख्यालय से इस मामले की जांच चंबा में तैनात अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजिलेंस अभिमन्यु वर्मा को सौंपी।


ये भी पढ़ें: HPSSC Paper Leak Cases: पेपर लीक मामले में उमा आजाद के दोनों बेटों और दलाल सहित पांच गिरफ्तार



मामला दर्ज होने के बाद महिला अभ्यर्थी ने प्रदेश उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी लगाई थी, जिसे 14 मार्च को उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया। इस मामले में एसआईटी ने सरकार से कला अध्यापक मामले में चयन आयोग के कार्यालय से रिकॉर्ड उपलब्ध करवाने की मांग की थी। सरकार ने एचएएस अधिकारी अनुपम कुमार को भंग हो चुके चयन आयोग का ओएसडी नियुक्त कर जांच अधिकारी को रिकॉर्ड उपलब्ध करवाने के लिए कहा। गत दिवस यह रिकॉर्ड एसआईटी को मिला। रिकॉर्ड में सामने आए गड़बड़ी के आधार पर मंगलवार को महिला अभ्यर्थी सुनीता देवी को गिरफ्तार किया गया है। आयोग ने पोस्ट कोड 980 के तहत ड्राइंग शिक्षकों के 314 पदों को भरने के लिए 24 मई 2022 को अधिसूचना जारी की थी। छंटनी परीक्षा के बाद 971 अभ्यर्थियों का 16 से 22 दिसंबर 2022 तक आयोजित दस्तावेजों के सत्यापन के लिए चयन किया गया था। लेकिन, अभी तक अंतिम परिणाम घोषित नहीं हुआ। इससे पहले की भर्ती परीक्षा का परिणाम घोषित होता, विजिलेंस ने भर्ती में गड़बड़ी का खुलासा कर दिया। अब कला अध्यापक भर्ती परीक्षा का परिणाम भी लटक गया।

तीन मामलों में पांच आरोपियों को 31 मार्च तक रिमांड पर भेजा
तीन विभिन्न मामलों में सोमवार को गिरफ्तार किए गए पांच आरोपियों को एसआईटी ने मंगलवार को हमीरपुर न्यायालय में पेश किया। जहां से पांचों को 31 मार्च तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। निखिल आजाद को पोस्ट कोड 980 कला अध्यापक, जबकि उसके भाई नितिन आजाद को कंप्यूटर ऑपरेटर और जूनियर ऑडिटर के मामले में न्यायालय से मंजूरी मिलने पर एसआईटी ने गिरफ्तार किया। यह दोनों पूर्व में न्यायिक हिरासत में चल रहे थे। कंप्यूटर ऑपरेटर और जूनियर ऑडिटर के मामले में दलाल सोहन लाल को भी 31 मार्च तक पुलिस रिमांड मिला है। जबकि, पोस्ट कोड 939 जेओए आईटी भर्ती के दौरान ओएमआर शीट्स से छेड़छाड़ के आरोपी अभ्यर्थियों विशाल चौधरी और दिनेश कुमार को ज्वालामुखी के खुंडियां स्थित घर से गिरफ्तार कर हमीरपुर न्यायालय में पेश किया गया। इन दोनों को भी 31 मार्च तक पुलिस रिमांड मिला है।

एसआईटी ने अभी तक तेरह आरोपियों को किया गिरफ्तार, चार को मिल चुकी जमानत
एसआईटी अभी तक पांच विभिन्न एफआईआर में कुल तेरह लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। वर्तमान में चार आरोपियों को हमीरपुर न्यायालय से जमानत पर रिहा किया जा चुका है। जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया और गिरफ्तार किए गए, उनमें निलंबित वरिष्ठ सहायक उमा आजाद, उसके दो बेटे निखिल और नितिन, जेओए आई पेपर लीक का दलाल संजीव कुमार, उसका भाई शशिपाल, उमा आजाद का नौकर नीरज कुमार, पोस्ट कोड 965 जेओए आईटी के अभ्यर्थी तनु शर्मा और अजय शर्मा, पोस्ट कोड 939 जेओए आईटी मामले में दो चपरासी मदन लाल, किशोरी लाल, मदन लाल का बेटा विशाल चौधरी, दिनेश कुमार और अब पोस्ट कोड 980 कला अध्यापक मामले में आरोपी अभ्यर्थी सुनीता देवी को गिरफ्तार किया गया। जबकि शशिपाल, नीरज कुमार, तनु शर्मा और अजय शर्मा चार आरोपी न्यायालय से जमानत पर रिहा हो चुके हैं। माना जा रहा है कि अब आयोग के पूर्व सचिव डॉ. जितेंद्र कंवर और ट्रैफिक इंस्पेक्टर रवि कुमार की भी जल्द गिरफ्तारी हो सकती है।

ट्रैफिक इंस्पेक्टर मामले की जांच करेंगे निरीक्षक यशवंत सिंह
पोस्ट कोड 819 हिमाचल प्रदेश राज्य परिवहन विभाग में ट्रैफिक इंस्पेक्टर पेपर लीक मामले की जांच के लिए विजिलेंस मुख्यालय ने निरीक्षक यशवंत सिंह को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। इस मामले में 22 मार्च 2023 को ट्रैफिक इंस्पेक्टर रवि कुमार, उमा आजाद, उमा के दो बेटों नितिन और निखिल आजाद के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है।
विज्ञापन



 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Independence day

अतिरिक्त ₹50 छूट सालाना सब्सक्रिप्शन पर

Next Article

फॉन्ट साइज चुनने की सुविधा केवल
एप पर उपलब्ध है

app Star

ऐड-लाइट अनुभव के लिए अमर उजाला
एप डाउनलोड करें

बेहतर अनुभव के लिए
4.3
ब्राउज़र में ही
X
Jobs

सभी नौकरियों के बारे में जानने के लिए अभी डाउनलोड करें अमर उजाला ऐप

Download App Now

अपना शहर चुनें और लगातार ताजा
खबरों से जुडे रहें

एप में पढ़ें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

Followed

Reactions (0)

अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं

अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करें