स्ट्रोम सीवरेज डालने के लिए बनाई जा रही डीपीआर के लिए चल रहा है सर्वे

अमर उजाला, लुधियाना Updated Wed, 29 Jan 2014 11:06 PM IST
punjab, ludhiana, rain
बारिश के दौरान पानी भरे जाने वाले इलाकों में अब आने वाले समय में राहत मिल सकती है। नगर निगम ने पूरे शहर में स्ट्रोम सीवरेज डालने के लिए विश्व बैंक से कर्ज की मांग की थी। इसके बाद विश्व बैंक ने स्ट्रोम सीवरेज की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने से पहले सर्वे के लिए अपनी टीम लुधियाना भेजी है।

उसने आज शहर के कई इलाकों का दौरा किया जहां बारिश के दौरान पानी भर जाता है। विश्व बैंक की तरफ से शहर आए मुंबई आईआईटी के प्रोफेसर डॉ. कपिल गुप्ता के साथ नगर निगम के तकनीकी अधिकारियों ने कई उन इलाकों का दौरा किया जहां बारिश के बाद बुरा हाल होता है।

दौरे के बाद डॉ. गुप्ता ने निगम कमिश्नर राहुल तिवारी, मेयर हरचरण सिंह गोहलवड़िया और एडिशनल कमिश्नर सुमित कुमार के साथ मीटिंग की। विश्व बैंक की टीम के साथ नगर निगम के एक्सईएन रविंदर गर्ग और एसडीओ इकजोत सिंह भी मौजूद थे। अधिकारियों ने कहा कि टीम के सदस्य सबसे पहले जनकपुरी इलाके में गए।

उसके बाद वे सेक्टर 39, शिवाजी नगर, गुरु अर्जुन देव नगर, भाई रणधीर सिंह नगर, डीएवी स्कूल की बैक साइड इलाके में गए। जहां उन्होंने आस पास के लोगों से बारिश के दौरान आने वाली मुश्किलों के बारे में पूछताछ की। टीम के सदस्यों ने कई जगहों पर फोटो भी खींची है जिसके बाद वह अपना सर्वे कर उसकी रिपोर्ट तैयार करेंगे।

टीम ने बुड्डे नाले के साथ जा रही सड़क का दौरा किया। बाद में उन्होंने सीवरेज बोर्ड के दफ्तर में अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने शहर के साथ संबंधित कई इलाकों का डाटा भी इकट्ठा किया। एसडीओ इकजोत सिंह ने कहा कि इस समय शहर का सिर्फ कुछ हिस्सा ही स्ट्रोम सीवरेज के अधीन है। लेकिन बरसात में स्ट्रोम सीवरेज न होने के चलते शहर में पानी भर जाता है। इस कारण पूरे शहर में स्ट्रोम सीवरेज डालने के लिए डीपीआर तैयार करवाई जा रही है। यह काम की पहली सीढ़ी है इसके बाद बैंक डीपीआर तैयार करने के लिए कंसलटेंट कंपनी को भेजेगा।

डॉ. गुप्ता ने कहा कि शहर के कई इलाकों में पार्कों का लेवल सड़क से काफी ऊंचा है जिस कारण पानी सड़कों पर आ घरों में घुस जाता है। पार्कों का लेवल सड़कों से नीचे कर पानी के कुछ बचाव किया जा सकता है। इसके अलावा उन्होंने बुड्डे नाले के साथ साथ दीवार कर उसे प्रदूषित होने से बचाने का सुझाव भी दिया गया है।

Spotlight

Most Read

National

मौजूदा हवा सेहत के लिए सही है या नहीं, जान सकेंगे आप

दिल्ली के फिलहाल 50 ट्रैफिक सिग्नल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) डिस्पले वाले एलईडी पैनल पर यह जानकारी प्रदर्शित किए जाने की कवायद हो रही है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper