सीबीआई की बड़ी कार्रवाई: कस्टम विभाग के एडिशनल कमिश्नर व सुपरिंटेंडेंट को पकड़ा, रिश्वत लेने का आरोप

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लुधियाना (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Fri, 10 Sep 2021 09:36 AM IST

सार

पंजाब में रिश्वत लेने के आरोप में पुलिस ने दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया। स्क्रैप के दो कंटेनर छोड़ने की एवज में 1.50 लाख रुपये की मांग की थी। हालांकि सौदा 1.30 लाख रुपये में तय हुआ। जाल बिछाकर सीबीआई की टीम ने अमृतसर में तैनात सुपरिंटेंडेंट को रंगे हाथ पकड़ा। 
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मंडी गोबिंदगढ़ के एक कारोबारी से स्क्रैप के दो कंटेनर छोड़ने की एवज में 1.30 लाख रुपये रिश्वत लेने के मामले में कस्टम विभाग में तैनात एक एडिशनल कमिश्नर और एक सुपरिंटेंडेंट को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। सीबीआई की टीम ने सबसे पहले बुधवार को अमृतसर में तैनात सुपरिंटेंडेंट को रंगे हाथ पैसा लेते दबोचा, इसके बाद आगे की जांच में लुधियाना में तैनात एडिशनल कमिश्नर को गिरफ्तार किया। 
विज्ञापन


सीबीआई ने विभिन्न ठिकानों से नकदी व अन्य सामान भी बरामद किया है। दोनों अधिकारियों को मोहाली स्थित सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया। जानकारी के अनुसार मंडी गोबिंदगढ़ में विदेश से स्क्रैप आयात करने वाले कारोबारी के दो कंटेनर कस्टम विभाग के पास पहुंचे थे। कारोबारी ने अपने दोनों कंटेनर रिलीज करवाने के लिए अमृतसर में तैनात सुपरिंटेंडेंट धर्मवीर सिंह से संपर्क किया था। उसने दोनों कंटेनर छोड़ने की एवज में 1.50 लाख रुपये की मांग की थी। उसने कारोबारी को बताया कि इस पैसे में लुधियाना के साहनेवाल में तैनात एडिशनल कमिश्नर पारूल गर्ग को भी हिस्सा देना है। 


आखिरकार सौदा 1.30 लाख रुपये में तय हो गया। कारोबारी ने मामले की शिकायत सीबीआई के पास की, जिसके बाद सीबीआई ने रंगे हाथ गिरफ्तार करने के लिए एक ट्रैप लगाया। बुधवार को सीबीआई ने सबसे पहले सुपरिंटेंडेंट को 1.30 लाख रुपये लेते रंगे हाथ काबू किया। इसके बाद देर शाम सीबीआई टीम ने दबिश देकर लुधियाना में तैनात एडिशनल कमिश्नर पारूल गर्ग से पूछताछ की। इस पूछताछ के बाद सीबीआई ने होशियारपुर, लुधियाना और चंडीगढ़ स्थित कई ठिकानों पर दबिश दी।

सूत्रों के अनुसार सीबीआई टीम ने एडिशनल कमिश्नर के पास से लगभग 59.40 लाख रुपये के अलावा कुछ दस्तावेजों कब्जे में लिए हैं। वहीं सुपरिंटेंडेंट के पास से 2.60 लाख रुपये और कुछ दस्तावेजों को अपने कब्जे में लिया है। बता दें कि इससे पहले सीबीआई की दबिश को इंपोर्टेड सिगरेट के कंटेनरों की डिलीवरी से जोड़ा जा रहा था लेकिन ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00