विवाद के चलते ससुराल में घुस पत्नी और साले पर तानी पिस्तौल

Panchkula bureau Updated Sun, 14 Jan 2018 10:18 PM IST
ससुराल में पत्नी और साले पर तानी पिस्तौल
फायर न होने पर तेजधार हथियार किया हमला, गिरफ्तार
अमर उजाला ब्यूरो
लुधियाना।
पत्नी से चल रहे विवाद को लेकर जमालपुर इलाके में रहने वाला एक व्यक्ति लोहड़ी वाले दिन सुबह अपने ससुराल में पिस्तौल लेकर घुस गया। आरोपी ने ससुराल वालों पर पिस्तौल तान दी। जब दो बार ट्रेगर दबाने पर गोली नहीं चली तो आरोपी ने तेजधार हथियार से ससुराल वालों पर हमला करने की कोशिश की। जब सब लोग बच गए तो आरोपी फरार हो गया।
सूचना मिलने के बाद थाना सलेम टाबरी की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुुलिस ने भगवान दास कालोनी निवासी कुलजीत सिंह की शिकायत पर पुलिस ने उसके जीजा मनमोहन सिंह के खिलाफ हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने आरोपी को देर शाम दाना मंडी के पास से गिरफ्तार कर पिस्तौल और तेजधार हथियार बरामद कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को रविवार अदालत में पेश किया, जहां से उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया।
पुलिस को दी गई शिकायत में कुलजीत सिंह ने बताया उसकी बहन की शादी मनमोहन सिंह से वर्ष 1994 में हुई थी। करीब चार साल पहले मनमोहन सिंह ने नशा करना शुरू कर दिया। इससे रोजाना घर में क्लेश रहता था। कई बार आरोपी ने उसकी बहन के साथ मारपीट की और घर से निकाल दिया। कई बार दोनों परिवारों के बीच समझौते भी हुए। कुछ दिन बाद आरोपी फिर से उनकी बहन से मारपीट करता। इस पर वह बहन को अपने घर ले आया। करीब एक वर्ष से अदालत में उनका तलाक का केस चल रहा है। लोहड़ी वाले दिन वह घर पर ही मौजूद थे। इसी दौरान आरोपी घर में घुस आया और पिस्तौल निकाल कर उन पर तान दी। आरोपी ने दो बार ट्रेगर दबाया। फायर न होने पर कारण वह बच गए। जब गोली नहीं चली तो आरोपी ने तेजधार हथियार सेा हमला किया, लेकिन वह सब लोग फिर बच गए। इस पर आरोपी फरार हो गया। एसएचओ इंस्पेक्टर विजय कु्मार ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बरामद पिस्तौल नाजायज है। आरोपी पिस्तौल कहां से लाया अभी कुछ पता नहीं चला है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही सारी सच्चाई सामने आ जाएगी।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

तेज धमाके के बाद खुला दिल्ली की 150 फुट लंबी सुरंग का राज, ये थी बनाए जाने की वजह

राजधानी दिल्ली के द्वारका में 150 फुट लंबी सुरंग मिलने से सनसनी मच गई है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls