लखनऊ KGMU में पति का इलाज कराने आई महिला से दरिंदगी

टीम डिजिटल/अमर उजाला, लखनऊ Updated Fri, 02 Jun 2017 01:18 AM IST
महिला से गैंगरेप का आरोपी शिवकुमार
महिला से गैंगरेप का आरोपी शिवकुमार - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
केजीएमयू के शताब्दी अस्पताल में पति का इलाज कराने आई हरदोई की एक महिला से बंधक बनाकर गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात हुई। महिला से दो सि‌क्योरिटी गार्ड और एक लिफ्टमैन ने बुधवार रात चार घंटे तक दरिंदगी की।
विज्ञापन


रात करीब डेढ बजे महिला किसी तरह दरिंदों के चंगुल से छूटकर भागी। बृहस्पतिवार सुबह पति के साथ चौक कोतवाली पहुंची और तीनों के खिलाफ केस दर्ज कराया।

इंस्पेक्टर आईपी सिंह ने बताया कि गार्ड शिवकुमार और संतोष कश्यप को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों ने गुनाह कुबूल कर लिया है। लिफ्ट मैन विनय फरार है। एएसपी पश्चिम विकास चंद त्रिपाठी ने बताया कि पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। एएसपी पश्चिम ने बताया कि महिला का पति मजदूरी करता है।


उसे न्यूरो की बीमारी है। उसके गर्दन की कोई नस दब गई है। पांच महीने पहले डॉ. क्षितिज श्रीवास्तव ने सर्वाईकल डिस्क का ऑपरेशन किया था। मंगलवार को वह पति का चेकअप कराने आई थी।

यहां उसके परिचित व चौपटिया की मिश्रा सिक्योरिटी कंपनी में गार्ड सरफराजगंज निवासी शिवकुमार ने शताब्दी के फर्स्ट फ्लोर पर स्थित ओपीडी के सामने बरामदे में सोने के लिए जगह दिला दी।

खाना खिलाने के बहाने ले गया और की दरिंदगी

आरोपी शिवकुमार व संतोष
आरोपी शिवकुमार व संतोष - फोटो : amar ujala
बुधवार रात करीब 10 बजे महिला व उसका पति बरामदे में लेटे थे। उसी समय शिवकुमार आया और महिला को खाना खिलाने की बात कहकर चौथे फ्लोर पर मशीन कक्ष में ले गया। वहां अपने साथियों के साथ दरिंदगी की।

मशीनों की आवाज में दब गईं चीखें
गार्ड शिवकुमार उसे मशीन कक्ष में ले गया। यहां उसका साथी गार्ड मिर्जा मंडी निवासी संतोष, लिफ्टमैन विनय पहले से मौजूद था। पीड़िता का आरोप है कि तीनों ने उसे दबोच लिया।

वह चीखी लेकिन मशीनों के शोर में उसकी आवाज चीखें दब गईं। पीड़ता का कहना है कि‌ शिवकुमार कुछ देर बाद चला गया जबकि विनय व संतोष रात करीब डेढ़ बजे तक ‌दरिंदगी करते रहे।

50 हजार का लालच दिया, जान से मारने की धमकी भी दी
पीड़िता ने जब चीख पुकार मचाई तो दोनों दरिंदों ने रात में शिवकुमार को फोन कर अस्पताल बुलाया । पीड़िता ने पुलिस से शिकायत की धमकी दी। तब शिवकुमार ने उन पर समझौते का दबाव बनाया। पुलिस से जान पहचान की धमकी दी। 50 हजार रुपये का लालच दिया। न मानने पर जान से मारने की धमकी भी दी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00