लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   Police arrested four for offer namaz in Lulu Mall.

Lulu Mall: लुलु माल में नमाज पढ़ने वाले चार गिरफ्तार, पांच अन्य की तलाश जारी, सीएम योगी बोले- ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई करें

अमर उजाला नेटवर्क, लखनऊ Published by: ishwar ashish Updated Tue, 19 Jul 2022 08:44 PM IST
सार

लुलु मॉल में नमाज पढ़ने के आरोपी चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया है कि ऐसे लोगों से प्रशासन सख्ती से निपटे।

लुलु मॉल में नमाज पढ़ने के आरोपी।
लुलु मॉल में नमाज पढ़ने के आरोपी। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले नौ में से चार युवकों को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। चारों ने नमाज पढ़ने की बात कुबूलने के साथ किसी संगठन से जुड़े होने से इनकार किया है। उधर, युवकों की गिरफ्तारी के तुरंत बाद नया हंगामा खड़ा हो गया। अयोध्या के जगद्गुरु परमहंस लुलु मॉल पहुंच गए और नमाज पढ़ने वाली जगह का शुद्धिकरण करने की बात कही। इस पर पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेजा। उधर, मुख्यमंत्री योगी ने लुलु मॉल के घटनाक्रम पर कहा कि कुछ लोग जनता के आवागमन को रोकने के लिए अनावश्यक रूप से टिप्प्णी और प्रदर्शन कर रहे हैं। लखनऊ प्रशासन को इस पर मामले पर पूरी गंभीरता दिखानी चाहिए और ऐसे लोगों से सख्ती से निपटना चाहिए।

एडीसीपी दक्षिण राजेश कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक लुलु मॉल में 12 जुलाई को कुछ युवकों के नमाज पढ़ने का वीडियो अगले दिन वायरल हुआ था। विवाद बढ़ने लगा तो मॉल के जनसंपर्क अधिकारी सिब्तैन हुसैन ने सुशांत गोल्फ सिटी थाने में तहरीर दी, जिस पर मुकदमा दर्ज किया गया। सीसीटीवी फुटेज से नौ युवक चिह्नित किए गए। इंस्पेक्टर सुशांत गोल्फ सिटी शैलेंद्र गिरि की टीम ने सोमवार देर रात दबिश देकर इनमें से मो. रेहान, आतिफ खान, लुकमान व नोमान को खुर्रमनगर से पकड़ा। ये सभी खुर्रमनगर के अबरारनगर में रहते हैं। इनमें से सगे भाई लुकमान व नोमान मूल रूप से सीतापुर के मंगोलपुर गांव के हैं। वहीं, रेहान मूल रूप से लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी का है। चारों को देर शाम कोर्ट में पेश किया गया।



आरोपियों ने नमाज पढ़ने की बात कुबूल की
पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने कहा, जब मॉल पहुंचे तो नमाज का समय हो गया था। ऐसे में खाली स्थान देखकर नमाज पढ़ ली। यह भी कहा कि हमने सही दिशा में नमाज पढ़ी थी। वहां एक और व्यक्ति नमाज पढ़ रहा था, जो दूसरी दिशा का रुख किए था। उससे हमारा ताल्लुक नहीं है। चारों ने यह भी कहा कि हमने आठ से नौ मिनट में नमाज खत्म कर दी थी। इस दौरान किसने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया, नहीं मालूम। चारों ने यह भी बताया कि भूतल और प्रथम तल पर सुरक्षाकर्मियों ने नमाज पढ़ने से रोका था। चार में से दो युवक मदरसे में हाफिज की पढ़ाई करते हैं। एक युवक मदरसे में पढ़ने के साथ छोटी कक्षा में बच्चों को पढ़ाता भी है। आरोपियों ने कहा कि उन्हें नहीं पता था कि मॉल में नमाज पढ़ने पर इतना बड़ा विवाद खड़ा हो जाएगा। इनके साथ आए पांच अन्य युवकों की तलाश जारी है।

पुलिस से कहासुनी के बीच लगे धार्मिक नारे
पुलिस अभी नमाज के मामले को सुलझा भी नहीं पाई थी कि इसी बीच जगद्गुरु परमहंस समर्थकों के साथ लुलु मॉल के मुख्य द्वार पर पहुंच गए। वह नमाज पढ़ी जाने वाली जगह के शुद्धिकरण की बात करने लगे। इस पर सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोककर पुलिस को सूचना दी। पुलिस टीम से उनकी कहासुनी के बीच धार्मिक नारे भी लगे। काफी खींचतान के बाद उन्हें हिरासत में लेकर पुलिस लाइन पहुंचाया गया।

डीएम व जेसीपी ने मॉल पहुंचकर परखी सुरक्षा व्यवस्था
डीएम सूर्यपाल गंगवार और संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया दोपहर चार बजे लुलु मॉल पहुंचे और सुरक्षाकर्मियों से बातचीत की। इसके बाद ड्रोन से दोनों गेटों की सुरक्षा व्यवस्था जांची गई। बिना जांच के किसी को अंदर जाने पर रोक लगा दी गई है।


 

जगदगुरु परमहंस पहुंचे मॉल, कहा- शुद्धिकरण जरूरी

अभी पुलिस नमाज के मामले को सुलझा भी नहीं पाई थी। इसी बीच लुलु मॉल के मुख्य द्वार पर अयोध्या के जगदगुरु परमहंस अपने समर्थकों सहित पहुंच गये। उन्होंने जिस जगह नमाज पढ़ी गई थी। उसका शुद्धिकरण की बात करने लगे। जगदगुरू परमहंस को सुरक्षाकर्मियों ने रोका। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस टीम से जगदगुरु परमहंस की कहासुनी होने लगी। वहीं पर धार्मिक नारे भी लगे। इसके बाद पुलिस ने काफी खींचतान के बाद जगदगुरु को हिरासत में लिया। उनको पुलिस लाइन पहुंचा दिया।

मदरसे में पढ़ाई करते हैं दो युवक
पुलिस के मुताबिक पकड़े गये चार युवकों में दो मदरसे में हाफिज की पढ़ाई करते हैं। एक युवक ने बताया कि वह मदरसे में पढ़ने के साथ ही अपने से छोटी कक्षा में बच्चों को शिक्षा देता है। उनको यह नहीं पता था कि उनके मॉल में नमाज पढ़ने पर इतना बड़ा विवाद खड़ा हो जाएगा। फिलहाल पुलिस ने चारों को देर शाम कोर्ट में पेश किया है।
विज्ञापन

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00