Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   muslim leaders meet akhilesh yadav.

अखिलेश से मिले मुस्लिम धर्मगुरू, दोबारा सरकार बनने की उम्मीद जताई

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Sun, 12 Feb 2017 07:04 AM IST
मुस्लिम प्रतिनिधिमंडल से मिलते मुख्यमंत्री अखिलेश
मुस्लिम प्रतिनिधिमंडल से मिलते मुख्यमंत्री अखिलेश - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली की अगुवाई में उलमा के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की।

विज्ञापन


सीएम आवास पर हुई मुलाकात के दौरान मौलाना खालिद रशीद ने कहा कि सपा सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय के विकास के लिए काफी काम किए हैं। उन्होंने सपा के दोबारा सत्ता हासिल करने की उम्मीद जताई।


प्रतिनिधिमंडल में नदवा के प्रधानाचार्य मौलाना सईदुर्रहमान आजमी नदवी, किछौछा शरीफ के मौलाना शाह फखरुद्दीन अशरफ, देवबंद से मौलाना अब्दुल्लाह इब्नुल कमर, शाहमीना शाह दरगाह के सज्जादानशीन पीरजादा शेख राशिद अली मीनाई, मौलाना इकबाल कादरी, मौलाना इदरीस बस्तवी, मौलाना नईमुर्रहमान सिद्दीकी, शाह अनवर रहमान जीलानी सफवी, खैराबाद केसज्जादानशीन शाह नजमुल हसन उर्फ शब्बू मियां, ज्ञानवापी मस्जिद के इमाम मुफ्ती अब्दुल बातिन नोमानी शामिल रहे।

आशीर्वाद देने एमपी व गुजरात से आए सूफी

अखिलेश यादव को आशीर्वाद देने के लिए शनिवार को मध्य प्रदेश और गुजरात की खानकाहों के गद्दीनशीन लखनऊ पहुंचे। प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत में मेहसाणा से आए सूफी सैय्यद अली शाह मलंग और ग्वालियर से आए सूफी सैय्यद रफीक अली शाह मलंग ने यूपी के विकास के लिए सपा को वोट देने की अपील की।

बहुजन मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वली मोहम्मद ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर पर अखिलेश सरकार को घेरा जाता है, जबकि बसपा शासनकाल में थानों पर मुकदमे लिखे ही नहीं जाते थे।

शिया उलमा का एक गुट अखिलेश के पक्ष में
शिया उलमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अली हुसैन रिजवी कुम्मी और मुस्लिम वक्फ  बोर्ड ऑफ  भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष हाजी मुहम्मद फहीम सिददीकी ने सपा-कांग्रेस गठबंधन को समर्थन देने का एलान किया।

तहफ्फुजे मिल्लत काउंसिल का बसपा को समर्थन

तहफ्फु ज-ए-मिल्लत काउंसिल के अध्यक्ष अल्लामा सैयद हमीयतउल्लाह ने बसपा को समर्थन देने का एलान किया।

प्रेस क्लब में शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में हमीयतउल्लाह ने कहा कि संसद में मुस्लिम विरोधी पॉलिसी के खिलाफ बहस में बसपा ही मुसलमानों के पक्ष में खड़ी हुई है।

उन्होंने सपा पर सांप्रदायिक ताकतों को मजबूत करने का आरोप लगाया। कहा कि सपा सरकार में 400 से ज्यादा दंगे हुए जिनमें मुसलमानों का सबसे ज्यादा नुकसान हुआ।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00