लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu News ›   Rahul Gandhi press conference in jammu said no evidence needed for army work not agree with digvijay singh

Jammu: राहुल गांधी ने कहा- सेना के काम के लिए सबूत की जरूरत नहीं, दिग्विजय के बयान से पार्टी सहमत नहीं

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू Published by: kumar गुलशन कुमार Updated Tue, 24 Jan 2023 04:40 PM IST
सार

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के सर्जिकल स्ट्राइक के बयान से जुड़े सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह इस बयान से सहमत नहीं है। सेना कुछ भी करे। इसके लिए सबूत की जरूरत नहीं है। यह दिग्विजय सिंह का निजी विचार हैं। यह पार्टी और उनका विचार नहीं है।

Rahul Gandhi
Rahul Gandhi - फोटो : संवाद
विज्ञापन

विस्तार

भारत जोड़ो यात्रा मंगलवार को नगरोटा से चलकर झज्जर कोटली पहुंची। यहां राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि कन्याकुमारी से शुरू हुई यात्रा अब जम्मू कश्मीर पहुंची है। इसका लक्ष्य देश को जोड़ने का है। जो नफरत का माहौल भाजपा और आरएसएस के लोगों ने देश में बनाया है, यह उसके खिलाफ खड़े होने का लक्ष्य है। 



चुने लोगों के हाथों में जा रहा देश का धन
आगे उन्होंने कहा कि देश का धन चुने हुए लोगों के हाथ में जा रहा है। इससे कारण महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है। इन मुद्दों को लेकर वे चले हैं। जम्मू कश्मीर में पूर्ण राज्य का मुद्दा है। हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द प्रदेश में विधानसभा शुरू हो। प्रदेश जो यूटी बन चुका है यहां लोकतांत्रिक प्रणाली बहाल हो। जम्मू कश्मीर के लोगों से मिलकर काफी सीखने को मिल रहा है। उनके दिल में जो दुख-दर्द है, उसे समझने का मौक मिल रहा है।


वार्ता के दौरान अमर उजाला संवाददाता अमित वर्मा ने राहुल गांधी से उनकी अगली रणनीति के बारे में पूछा। इस पर राहुल गांधी ने कहा कि जब तक यात्रा खत्म नहीं होती तब तक इस पर ही उनका ध्यान रहेगा। इसके बाद क्या करना है यह यात्रा के बाद तय होगा। अभी जिन मुद्दों को लेकर चले हैं, इन पर ही फोकस है।



अनुच्छेद 370 के सवाल क्या बोले राहुल

अनुच्छेद 370 के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की वर्किंग कमेटी के रेजोल्यूशन को पढ़ लिजिए। पार्टी का अब भी यही पक्ष है। मंत्री राजनाथ सिंह के एक बयान पर आए सवाल के जवाब में कहा कि उनके दिल में किसी के लिए भी नफरत नहीं है। यह यात्रा जब से शुरू हुई है। इससे किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। किसी पर हमला नहीं किया है। यह यात्रा मोहब्बत और सद्भावना को लेकर आगे बढ़ रही है।

दिग्विजय सिंह के बयान पर क्या कहा

राहुल गांधी ने कहा कांग्रेस ने इस देश को आजादी दी है। कांग्रेस ने देश के सभी संस्थान बनाए हैं। जब कांग्रेस अंग्रेजों से लड़ रही थी। भाजपा और आरएसएस के लोग अंग्रेजों के साथ खड़े थे। उनके नेताओं ने टू नेशन थ्योरी दी थी। लेकिन आज वो क्या कहते हैं वो बात अलग है। दिग्विजय सिंह ने जो बयान दिया है वो उनका निजी मत है। कांग्रेस का मत नहीं है। कांग्रेस जनतांत्रिक पार्टी है। इसमें संवाद के लिए स्थान है, जबकि भाजपा और आरएसएस में संवाद का स्थान नहीं है। सेना कुछ भी करे। इसके लिए सबूत की जरूरत नहीं है।
विज्ञापन

राहुल गांधी को मार दिया के बयान के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनके जेहन में राहुल गांधी नहीं है। उनके जेहन में हिंदुस्तान के किसान और मजूदर हैं। आमजन है। उनके जेहन में है जो देश में नफरत फैलाई जा रही है। उसे मिटाना है। यह देश मोहब्बत का देश है। उन जैसे करोड़ो लोग हैं, जो इस बात को मानते हैं। 

बीबीसी डाक्यूमेंट्री बैन पर बोले राहुल

राहुल गांधी ने कहा कि भगवत गीता व अन्य धार्मिक ग्रंथ में साफ लिखा है कि सच की हमेशा जीत होती है। उसे कोई रोक नहीं सकता है। वो (भाजपा) सीबीआई या बाकि एजेंसी का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन सच सच होता है। वो बाहर आ ही जाता है।

पूर्व मंत्री लाल सिंह और गुलाम नबी आजाद पर क्या कहा

पूर्व मंत्री लाल सिंह और गुलान नबी से जुड़े सवाल पर कहा- वह पूर्व मंत्री लाल सिंह की भावनाओं की सराहना करते हैं। उन्होंने यात्रा का स्वागत किया। गुलाम नबी आजाद के 90 प्रतिशत नेता उनकी पार्टी में ही हैं। अगर उनके किसी कृत्य से लाल सिंह या किसी अन्य को ठेस पहुंची हो तो इसके लिए उन्हें खेद है।

जम्मू कश्मीर के समस्याओं को कैसे हल करेंगे

राहुल गांधी ने कहा, हम समझते हैं कि जम्मू कश्मीर मुश्किल समय से निकल रहा है। जम्मू और कश्मीर के बीच में भाजपा ने खाई बनाई है। उसे दूर करना चाहते हैं। यहां पर युवा बेरोजगारी से परेशान है। किसान को की समर्थन नहीं मिला रहा। कांग्रेस की यात्रा का लक्ष्य लोगों की आवाज सुनने का है और जो लोगों के दिल में उस आवाज को ऊंचा उठाने का है। मोहब्बत की एक नहीं बल्कि बहुत सी दुकानें खोली जानी चाहिए। हिंसा से कुछ हासिल नहीं हो सकता है। मोहब्बत और सद्भावना से आगे बढ़ा जा सकता है। 

एक अन्य सवाल के जवाब में कहा- आरएसएस भाजपा नेता के दिमाग में है कि पैसे से, सत्ता से कुछ भी किया जा सकता है। कोई भी सरकार खरीदी जा सकती है। किसी की भी छवि को बिगाड़ा जा सकता है। लेकिन यह सच नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, भाजपा को बता देगी कि यह देश सचाई से चलती है। पैसा, घमंड और सत्ता से नहीं।

अनुच्छेद 370 पर उनका क्या पक्ष है। इस सवाल के जवाब में राहुल बोले, इसके लिए पार्टी का रेजोल्यूशन  देख सकते हैं। इस सवाल के जवाब में उन्होंने बार-बार यही कहा। कश्मीरी पंडित के सवाल पर कहा कि उनका समर्थन करते हैं और उनके मद्दों को सांसद में उठाएंगे और यहां भी उन्हें मौके मिला वह उनकी समस्याओं को उजागर करेंगे।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00