17 की उम्र में रेप, 28 साल बाद कोर्ट में बयान

Rahul Yadavराहुल यादव Updated Mon, 12 Oct 2015 10:13 AM IST
विज्ञापन
raped at 17, woman records statement in court after 28 years

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
वह मात्र 17 साल की थी जब उसके साथ गैंगरेप हुआ। उसने एफआईआर भी दर्ज कराई, लेकिन पुलिस करीब तीन दशक तक कोर्ट में उसके बयान नहीं दर्ज करवा पाई।
विज्ञापन

अब 28 साल बाद एक पब्लिक प्रोसिक्यूटर (पीपी) ने उसे न्याय दिलाने के लिए बांडीपोरा कोर्ट में उसके बयान दर्ज किए गए। पीड़िता के अनुसार तीन जून 1987 को चार लोगों ने नाडिहाल स्थित उसके घर से उसका अपहरण किया था।
अपहरणकर्ता उसे श्रीनगर के एक होटल में ले गए और 12 दिनों तक उसके साथ बलात्कार करते रहे। पीपी शफीक अहमद भट ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर 1987 में केस दर्ज किया गया था।
28 साल गुजर जाने के बाद उन्होंने बांडीपोरा के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में बीते 6 अक्तूबर (मंगलवार) को उसके बयान दर्ज करवाए। पीड़िता अपने बयान पर अब भी कायम है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

इस दौरान मर चुके हैं दो आरोपी

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us