अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तोपों और सेना की तैनाती, 1 शहीद, 3 जवानों सहित 12 से अधिक घायल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sun, 21 Jan 2018 05:34 PM IST
artillery and troops deploying on the international border after heavy firing by Pakistan
ख़बर सुनें
पाकिस्तान की ओर से लगातार  नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) पर भारी गोलाबारी की जा रही है। भारतीय चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोले दागे जा रहे हैं। शनिवार को इसमें सेना का एक जवान शहीद हो गया, जबकि तीन नागरिकों की मौत हो गई।
तीन जवानों सहित दर्जन भर से अधिक लोग घायल हुए हैं। 100 से अधिक मकान क्षतिग्रस्त हो गए। 40 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। जवाबी कार्रवाई में पाक के आठ रेंजरों के मारे जाने और कई चौकियों के ध्वस्त होने की सूचना है। इससे सीमा पर जबर्दस्त तनाव है। इस बीच आईबी पर सुचेतगढ़, अब्दुलियां, कोरटाना खुर्द इलाकों में तोपें तैनात कर दी गई हैं। सेना के जवानों की भी तैनाती की गई है।

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाक ने आरएस पुरा सेक्टर, रामगढ़ और अरनिया सेक्टर में गोले बरसाए। इसमें आरएस पुरा के कपूर पुर निवासी 17 वर्षीय गारू राम, अब्दुल्लियां के 45 वर्षीय गार सिंह और गजनसू निवासी 35 वर्षीय तरसेम लाल की मौत हो गई।

बीएसएफ प्रवक्ता के अनुसार सुचेतगढ़ सेक्टर में ऑक्ट्राय से लेकर चिनाब (अखनूर) तक पाक ने गोले दागे। आरएस पुरा सेक्टर में शुक्रवार रात डेढ़ बजे गोलाबारी थम गई थी, लेकिन चार घंटे बाद फिर से शुरू हो गई। परगवाल सेक्टर में एक जवान घायल हो गया। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 14 बटालियन का जवान लल्लू राम भी घायल हो गया।
आगे पढ़ें

300 स्कूल बंद कर दिए गए हैं

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Shimla

मरीज को लाने जा रही एंबुलेंस सड़क से नीचे खड़े वाहनों पर गिरी

मरीज को लाने जा रही एंबुलेंस खुद हादसे का शिकार हो गई।

22 मई 2018

Related Videos

60 सेकेंड में जाने एशिया की सबसे बड़ी सुरंग जोजिला टनल के बारे में

जम्मू-कश्मीर में एशिया की सबसे बड़ी टनल यानि कि जोजिला टनल दुनिया की चंद सबसे बड़ी परियोजनाओं में शामिल है। इस परियोजना का मकसद कश्मीर घाटी और लद्दाख के बीच हर मौसम में संपर्क बनाए रखना है। देखिए आखिर क्यों खास है ये टनल।

19 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen