विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

महिला ने पड़ोसी पर लगाया घर में घुसकर छेड़छाड़ करने का आरोप

चरखी दादरी। सदर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला ने पड़ोसी पर घर में घुसकर छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस को दी शिकायत में मानकावास निवासी एक महिला ने बताया कि गत 27 जून को उसका पति किसी काम से बाहर गया हुआ था। वह अपने बच्चों सहित घर पर सो रही थी। इसी दौरान मौका पाकर उनका पड़ोसी घर में घुस गया और बुरी नीयत से उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा। महिला ने बताया कि जब उसने बोलने का प्रयास किया तो आरोपी ने उसका मुंह दबा लिया। इसी दौरान उसके बच्चों के उठ जाने पर आरोपी मौके से भाग गया। पीड़िता ने बताया कि इसके बाद फोन पर उसने घटना की जानकारी अपने पति को दी। पीड़िता ने थाने में शिकायत देकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
... और पढ़ें

ट्रक और रोडवेज की भिंड़त के बाद महेंद्रगढ़ चौक पर लगा जाम

चरखी दादरी। महेंद्रगढ़ चौक के समीप मंगलवार शाम एक डंपर, ट्राला और बस में भिड़त हो गई। घटना में किसी को चोटें नहीं आईं लेकिन ट्रैफिक व्यवस्था बाधित हो गई। जाम और हादसे की सूचना पाकर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद ट्रैफिक व्यवस्था बहाल कराई।
जानकारी के अनुसार मंगलवार शाम पांच बजकर चालीस मिनट पर रोडवेज बस माई और चंदेनी जाने के लिए बस स्टैंड से चली थी। बस में करीब 45 सवारियां बैठी थीं। जब बस महेंद्रगढ़ चौक के समीप पहुंची तो नारनौल की तरफ से आ रहे ट्राले के सामने अचानक डंपर आ गया। इसके चलते ट्राला चालक ने स्टेयरिंग बस की तरफ घुमा दिया। वहीं, भिड़ंत से बचने के लिए बस चालक ने जब कट लगाया तो बस डंपर से जा टकराई। हादसे के बाद महेंद्रगढ़ चौक की ट्रैफिक व्यवस्था बाधित हो गई और कुछ ही देर में वाहनों की कतार लग गई। इसके तुरंत बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और जाम खुलवाया। बता दें कि करीब एक सप्ताह पहले भी यहां एक रोडवेज बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। बस की चपेट में आने से यहां मौजूद दो लोग भी घायल हो गए थे।
... और पढ़ें

ननिहाल आए भांजों ने पैसों के लेनदेन में गला रेतकर मामा को मार डाला

चरखी दादरी/बाढड़ा। गांव बेरला निवासी एक किसान की पैसों के लेनदेन को लेकर हुए झगड़े के दौरान उसके दो भांजों ने हत्या कर दी। ननिहाल आए भांजों और मामा के मध्य सोमवार रात शराब पीते समय विवाद हुआ था। इसके बाद उन्होंने गले पर धारदार हथियार से वार कर दिया। सूचना मिलते ही बाढड़ा पुलिस और सीआईए टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने इस संबंध में मृतक के भाई के बयान पर आरोपी भांजों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। मंगलवार दोपहर एक बजे तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।
पुलिस को दी शिकायत में बेरला निवासी तेजपाल ने बताया कि वे छह बहन-भाई थे। वह अपने भाई कुलदीप (41), अपनी मां और परिवार के साथ खेत में मकान बनाकर रह रहा है। उसने बताया कि उसका तीसरा भाई दिल्ली में अपने परिवार सहित रहता है। पुलिस बयान में तेजपाल ने बताया कि सोमवार को झज्जर जिले के गौरिया गांव से उसके दो भांजे अपने एक दोस्त के साथ इनोवा में सवार होकर दोपहर तीन बजे उनके गांव बेरला आए थे। उन्होंने पहले से ही शराब पी रखी थी। तेजपाल ने बताया कि जब वे घर आए तो कुलदीप, उसका परिवार और मां भी घर पर मौजूद थी। घर आते ही उसके भांजे प्रवीन और सोमबीर ने खाना भी खाया।
तेजपाल ने बताया कि इसके बाद उसका भाई कुलदीप दोनों भांजों और उनके दोस्त के साथ शराब बैठकर शराब पीने लगा। रात करीब साढ़े आठ बजे उनके बीच पैसों को लेकर कहासुनी हो गई। इस दौरान आरोपियों ने गाली-गलौज की और किसी धारदार हथियार से कुलदीप के गले पर वार कर दिया। कुलदीप के गले पर कट लगने से काफी खून बह गया। परिजन उसे बाढड़ा पीएचसी ले जाने लगे लेकिन बीच रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद परिजन शव को सिविल अस्पताल ले आए। मामले की सूचना पाकर बाढड़ा पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने सोमवार रात ही कुलदीप के शव को डेड हाउस में रखवा दिया। मंगलवार सुबह बाढड़ा पुलिस ने कागजी कार्रवाई पूरी कर चिकित्सकों के बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं। पुलिस शिकायत में मृतक के भाई और दोनों आरोपियों के मामा तेजपाल ने बताया कि हत्याकांड को दोनों भाइयों ने मिलकर अंजाम दिया है। उन्होंने बताया कि कहासुनी के बाद सोमबीर ने कुलदीप के हाथ पकड़ लिए और प्रवीन ने धारदार हथियार से उसका गला रेत दिया। तेजपाल ने बताया कि वो दोनों रोहतक निवासी अपने दोस्त शेखर के साथ उसकी इनोवा गाड़ी में बेरला आए थे।

जमीन पर तार खिंचवाने की दी थी धमकी
मृतक के भाई तेजपाल ने पुलिस शिकायत में बताया कि शराब पीते समय कुलदीप का प्रवीन और सोमबीर के साथ रुपयों के लेन-देन पर विवाद हो गया था। उन दोनों ने रुपये न देने पर कुलदीप की चार एकड़ जमीन पर तार खिंचवाने की धमकी भी दी थी। मृतक के भाई ने दोनों आरोपी भाइयों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग पुलिस से की है। हत्याकांड के बाद बाढड़ा पुलिस ने एफएसएल टीम को भी मौके पर बुलाया। टीम पहले घटनास्थल पर पहुंची और वहां साक्ष्य जुटाने का प्रयास किया। इसके बाद टीम सिविल अस्पताल भी पहुंची। यहां टीम ने शव का जायजा लिया। बाढड़ा थाना प्रभारी रामौतार ने बताया कि मृतक कुलदीप की गर्दन पर एक ही वार किया गया है। यह वार किसी धारदार हथियार से किया गया है। अधिक खून बहने के चलते कुलदीप ने दम तोड़ दिया।

मृतक के भाई तेजपाल की शिकायत पर उसके भांजे सोमबीर और प्रवीन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। मृतक कुलदीप का पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल में चिकित्सकों के बोर्ड से कराया गया है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। - रामौतार, एसआई एवं बाढड़ा थाना प्रभारी
... और पढ़ें

लॉकडाउन के बीच बड़ी वारदात, दिल्ली पुलिस के जवान और पड़ोसी की गोली मारकर हत्या

बहादुरगढ़ के लाइनपार क्षेत्र से गुजर रही मुंगेसपुर ड्रेन पर सोमवार की सुबह वत्स कॉलोनी निवासी दिल्ली पुलिसकर्मी और उसके पड़ोसी की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। दोहरे हत्याकांड के पीछे क्या कारण हैं और मारने वाले कौन थे, इसका अभी पता नही चल पाया है। सूचना मिलने पर डीएसपी अजायब सिंह, राहुल देव व लाइनपार थाना प्रभारी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। 

एफएसएल टीम को साक्ष्य जुटाने के लिए वारदातस्थल पर बुलाया गया है। पुलिस कई पहलुओं पर जांच कर रही है। कुछ व्यक्तियों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ भी शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार मूलरूप से गांव खांडा व हाल वत्स कॉलोनी निवासी 35 वर्षीय मनोज अपने पड़ोस में रहने वाले 52 वर्षीय रमेश के साथ प्रतिदिन की तरह सोमवार को भी घूमने गया था।

सुबह करीब 7 बजे दोनों को मुंगेशपुर ड्रेन की पटरी पर अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारने की सूचना मिली। सूचना मिलने पर दोनों के परिजन मौके पर पहुंचे और इसकी खबर पुलिस को भी दी। बताया गया है कि मनोज दिल्ली पुलिस में है और विकासपुरी में तैनात था। जबकि रमेश लॉकडाउन से पहले फेरी कर कपड़े बेचता था।
... और पढ़ें
वारदातस्थल पर जांच करते पुलिस अधिकारी। वारदातस्थल पर जांच करते पुलिस अधिकारी।

पिस्तौल तानकर मोबाइल और पांच हजार रुपये लूटे, विरोध करने पर मार दी गोली, हालत गंभीर

ड्यूटी से घर लौट रहे एक व्यक्ति के साथ दो युवकों ने लूटपाट की। व्यक्ति ने विरोध किया तो उसे गोली मार दी। शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती घायल की हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। घायल की पहचान 35 वर्षीय संजय निवासी लाइनपार के रूप में हुई है। संजय पुराना औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक कंपनी में काम करता है। 

गुरुवार को ड्यूटी खत्म होने के बाद पैदल ही घर की ओर चल दिया। जब दुर्गा कॉलोनी के पास पहुँचा तो सुनसान स्थान पर दो युवकों ने उसका रास्ता रोक लिया। उक्त युवकों ने संजय पर पिस्तौल तान मोबाइल व पांच हजार रुपये लूट लिए। जब संजय ने लूटपाट का विरोध किया तो युवकों ने गोली चला दी और फरार हो गए।

गोली संजय के पेट में लगी। गोली लगने के बाद मदद के लिर शोर मचाता हुआ संजय वहां से भागा। लोगों की नजर पड़ी तो उसे संभाला और शहर ब्रह्मशक्ति संजीवनी अस्पताल में भर्ती कराया। उधर, सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और तफ्तीश शुरू की। फिलहाल संजय की हालत गम्भीर है। उसके बयान नहीं हो पाए हैं। 

वारदातस्थल को लेकर दो थानों की पुलिस में संशय बना हुआ है। दरअसल, जहां वारदात हुई है वहां लाइनपार और सेक्टर छह थाने की सीमाएं नजदीक लगती हैं। इसलिए देर रात तक दोनों ही पुलिस जांच में लगी थी। घायल के बयान के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।
... और पढ़ें

बहादुरगढ़ः बेटे का जन्मदिन मनाने आई थी, बदले में मिली मौत, पति ने बेड में छिपाया था शव

पांच साल से पति से अलग रह रही महिला 22 नवंबर को बेटे का जन्मदिन मनाने ससुराल आई तो पति ने चुन्नी से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद शव को बेड में छिपा दिया। जब शव से बदबू आने लगी तो वारदात का खुलासा हुआ। सूचना पर डीएसपी अजायब सिंह, आसौदा थाना प्रभारी बीर सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या और शव को खुर्द-बुर्द करने के आरोप में केस दर्ज किया है। आरोपी फरार है। सोनीपत के चौहान जोशी गांव की रहने वाली ललिता (34) की शादी जसौरखेड़ी गांव के रहने वाले राजवीर के साथ हुई थी। ललिता की पति से किसी बात पर अनबन चल रही थी। इस कारण वह करीब पांच साल से पति से अलग गुरुग्राम में रह रही थी।

22 नवंबर को उसके बेटे निशांत का जन्मदिन था। जन्मदिन मनाने के लिए ललिता राजवीर के घर आई थी। इसी रात राजवीर और ललिता में किसी बात पर फिर झगड़ा हो गया। बताया गया कि राजवीर ने गुस्से में आकर ललिता की चुन्नी से गला दबाकर हत्या कर दी। शव को खुर्द-बुर्द करने की नीयत से बेड में छिपा दिया।

24 नवंबर को जब शव से बदबू आने लगी तो आसपास के लोगों को कुछ शंका हुई और इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर एफएसएल टीम को बुलाया। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में भिजवा दिया है। पोस्टमार्टम सोमवार को होगा।
... और पढ़ें

झज्जरः बाइक-डंपर की भिड़ंत, रिटायर्ड कमांडेंट समेत तीन की मौत, ड्राइवर की डूबने से गई जान

हरियाणा के झज्जर जिले में बाइक और डंपर की टक्कर में तीन लोगों की जान चली गई। मरने वालों में बाइक सवार सेना के दो अधिकारी और डंपर चालक शामिल हैं। डंपर चालक की मौत नाले में डूबने से हुई। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। 

मिली जानकारी के अनुसार, सीआरपीएफ से रिटार्यड कमांडेंट सुरेश फौगाट और बीएसएफ में एएसआई जगबीर सहरावत दोनों कैंटीन में कार्यरत हैं। हर रोज की तरह मंगलवार सुबह दोनों बाइक पर सवार होकर कैंटीन के लिए निकले, लेकिन सामान्य अस्पताल के पीछे वाली सड़क पर वे दुर्घटना के शिकार हो गए। 

बाइक की डंपर के साथ टक्कर हो गई और दोनों सवारों की मौके पर ही जान चली गई। वहीं टक्कर लगने के बाद डंपर नाले में उतर गया और ड्राइवर की नाले में डूबने से मौत हो गई। जब तक लोग उसे निकालते, तब तक वह दम तोड़ चुका था। हालांकि डंपर के मृतक ड्राइवर की अभी शिनाख्त नहीं हो पाई है। 
... और पढ़ें

रात में साथ बैठकर पी शराब, कहासुनी के बाद ईंट-पत्थर से दोस्त की कर दी हत्या

सड़क हादसे में मृतक
बहादुरगढ़ के निजामपुर रोड स्थित माया विहार कॉलोनी में गुरुवार की अल सुबह एक व्यक्ति की ईंट-पत्थर मारकर हत्या कर दी गई। रात को साथ बैठकर शराब पीने वाले युवक पर ही हत्या का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। गुरुवार दोपहर बाद पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया गया।

मृतक की पहचान 35 वर्षीय बबलू के रूप में हुई है। मूलत: गांव अंगपुर जिला हरदोई (यूपी) निवासी बबलू पिछले करीब 15 वर्ष से बहादुरगढ़ में निजामपुर रोड स्थित माया विहार कॉलोनी में रहता था। वह मजदूरी करता था। बुधवार की रात को वह अपने एक परिचित युवक के साथ अपने घर के बाहर बैठा था। गुरुवार की अल सुबह करीब तीन बजे तक भी परिजनों ने बबलू व युवक को घर के बाहर बैठे देखा था।

 जानकारी के मुताबिक दोनों साथ बैठकर खा-पी रहे थे। इसी बीच किसी बात पर दोनों के बीच झगड़ा हो गया और उक्त युवक ने ईंट-पत्थर से बबलू के मुंह व सिर पर प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया। सुबह करीब छह बजे जब बबलू का कुत्ता बाहर निकला तो शव को देखकर भौंकने लगा। कुत्ते की भौंकने की आवाज सुनकर बबलू की मां बाहर निकली। 
... और पढ़ें

कैंटर की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत

बहादुरगढ़। बादली-बहादुरगढ़ मार्ग पर गांव सोलधा में बुधवार की सुबह बाइक और कैंटर की टक्कर हो गई। इस हादसे में बाइक सवार एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल युवक को पीजीआई रोहतक में भर्ती कराया गया है। वहीं आरोपी कैंटर चालक मौके से फरार है। पुलिस ने केस दर्ज कर चालक की तलाश शुरू कर दी है। घटना बुधवार सुबह करीब साढ़े 9 की है। दरअसल, नयागांव बाईपास स्थित एक ढाबे पर काम करने वाले शनिया और बबलू बुधवार की सुबह किसी काम के सिलसिले में सोलधा की तरफ जा रहे थे। बाइक शनिया चला रहा था। जब दोनों सोलधा में पेट्रोल पंप के पास पहुंचे तो सामने से आ रहे एक कैंटर के साथ बाइक की सीधी टक्कर हो गई। इस हादसे में दोनों घायल हो गए। इस दौरान चालक अपना कैंटर छोड़कर मौके से फरार हो गया। इत्तफाक से ढाबे का मालिक मंजीत वहां से गुजर रहा था। उसने अपने कर्मचारियों को देखा तो तुरंत संभाला। दोनों को बहादुरगढ़ के नागरिक अस्पताल में लाया गया। जहां डॉक्टर ने शनिया को मृत घोषित कर दिया, वहीं बबलू को पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया। सूचना मिलते ही सदर थाने से पुलिस मौके पर पहुंची और तफ्तीश शुरू कर दी। कैंटर को कब्जे में ले लिया गया। इसके बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू की। सदर थाने से मामले के जांच अधिकारी सुरेंद्र ने बताया कि ढाबा संचालक मंजीत की शिकायत पर कैंटर चालक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। वहीं मृतक के परिजनों के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। दरअसल, ये शनिया और बबलू कुछ दिन पहले ही ढाबे पर काम करने आए थे। दोनों ने ढाबा संचालक को अपने नाम के सिवाय ज्यादा कुछ नहीं बता रखा था। पोस्टमार्टम करवाकर शव नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया गया है। वहीं पीजीआई में भर्ती घायल की हालत में सुधार है। ... और पढ़ें

डेढ़ साल की बेटी का गला घोंटकर पिता ने कर दी हत्या, दफनाया

झज्जर। सुलोधा गांव में एक पिता ने मंगलवार को अपनी डेढ़ साल की बेटी की हत्या करने के बाद परिजनों के साथ मिलकर उसे गांव की श्मशान भूमि में दफना दिया। बुधवार को घटना की सूचना मिलने पर पुलिस गांव में पहुंची। ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव को निकलवाया गया तथा पोस्टमार्टम के लिए डेड हाउस में रखवा दिया गया है। जहां वीरवार को पोस्टमार्टम होगा, जिसमें मौत की वजह साफ हो पाएगी। वहीं मृतका की मां लक्ष्मी की शिकायत पर बच्ची के पिता सहित पांच के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार झज्जर के गांव सुलोधा में नरवीर नामक युवक अपनी पत्नी लक्ष्मी देवी व डेढ़ साल की मासूम के साथ अपने परिवार से अलग रहता था। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी के बीच अनबन भी रहती थी। आरोप है कि मंगलवार को जब लक्ष्मी अपने मकान से कुछ ही दूरी पर स्थित खाली प्लॉट में किसी काम से गई हुई थी तो उसी दौरान नरवीर ने अपनी डेढ़ साल की मासूम बेटी का गला घोंट दिया। बाद में जब लक्ष्मी घर पहुंची तो पति ने मासूम की मौत कूलर का तार उसके स्वयं गले में लपेट दिए जाने की वजह से होना बताया। हालांकि लक्ष्मी ने उस दौरान विरोध भी जताया, लेकिन लक्ष्मी के विरोध के बावजूद नरवीर ने अपने परिजनों के साथ मिलकर मासूम बेटी के शव को गांव के ही श्मशान घाट में रात्रि के समय ही दफना दिया। देर रात ही लक्ष्मी ने इस मामले की सूचना पुलिस को दी।

सूचना पर हरकत में आया प्रशासन
लक्ष्मी की सूचना पर बुधवार को पुलिस प्रशासन हरकत में आया और शव को जमीन से बाहर निकलवाने व मामले की सच्चाई का पता लगाने के लिए स्थानीय तहसीलदार ईश्वर को ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया। बुधवार की शाम करीब चार बजे झज्जर पुलिस के जांच अधिकारी रवींद्र, एफएसएल टीम, डॉक्टर नरवाला व पुलिस बल को लेकर गांव सुलोधा पहुंचे। यहां उन्होंने ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में मासूम के शव को जमीन से बाहर निकलवाया। शव को जमीन से बाहर निकलवाने के बाद पुलिस ने शिकायतकर्ता लक्ष्मी को अपनी मासूम बेटी के शव की पहचान करने के लिए शमशान घाट बुलवाया। शव की पहचान किए जाने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए झज्जर के नागरिक अस्पताल पहुंचाया।

शव देख लक्ष्मी बोली, मार दिया मेरे जिगर के टुकड़े को
शव की शनाख्त के लिए जब लक्ष्मी को परिजन शमशान घाट लेकर पहुंचे तो शव को देखते ही लक्ष्मी बुरी तरह से रोने लगी। यहां उसने चीख-चीख कर कहा कि मार दिया मेरे जिगर के टुकड़े को। काफी देर तक लक्ष्मी का रो-रोकर बुरा हाल रहा। बाद में पुलिस व वहां मौजूद अधिकारियों ने किसी तरह लक्ष्मी को घर भेजा।

पीड़िता लक्ष्मी की शिकायत पर बच्ची के पिता सहित पांच के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। प्राथमिक जांच में सामने आया है बच्ची की हत्या गला घोंटकर की गई है। असली वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चलेगा। वीरवार को शव का पोस्टमार्टम होगा।
आनंद, एसएचओ, सदर थाना झज्जर।
... और पढ़ें

शेड से गिरकर थर्मल प्लांट में कर्मचारी की मौत, परिजनों ने लगाया जाम

झज्जर। इंदिरा गांधी सुपर थर्मल पावर प्लांट झाड़ली में मंगलवार रात शेड से गिरने के कारण सुपरवाइजर की मौत हो गई थी। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। इसके बाद पुलिस ने मौका मुआयना करने के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल झज्जर भेज दिया था। लेकिन बुधवार की सुबह कर्मचारियों ने एकत्रित होकर हड़ताल शुरू कर दी और धरने पर बैठ गए कर्मचारी मृतक के परिवार को क्लेम व नौकरी देने की मांग कर रहे थे। उसके बाद गांव के लोग भी वहां पर पहुंच गए और उन्होंने दोपहर के समय करीब 12 बजे बहु झोलरी मार्ग पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन की तरफ से मातनहेल के खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, तहसीलदार, साल्हावास पुलिस थाना प्रबंधक, झाड़ली पुलिस चौकी प्रभारी, डीएसपी मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया और उसके बाद कंपनी के अधिकारियों प्रशासनिक अधिकारियों के साथ-साथ ग्राम पंचायतों के सरपंच और परिवार के लोगों के बीच बैठक शुरू हो गई। दोपहर के समय एक बार तो उनके बीच हुई वार्ता विफल हो गई और कर्मचारियों और ग्रामीणों ने जाम लगा दिया।

21 लाख रुपये और नौकरी पर बनी सहमति
शाम के समय एक बार फिर से बैठक हुई और उस बैठक में परिवार के लोगों, प्रशासनिक अधिकारियों व कंपनी के अधिकारियों के बीच लिखित में समझौता हुआ कि मृतक के लड़के को 12वीं कक्षा पास करने के बाद ठेकेदार के माध्यम से नौकरी दी जाएगी और 5 लाख कंपनी की तरफ से 5 लाख रुपये ठेकेदार की तरफ से और 11 लाख रुपये इंश्योरेंस, पीएफ आदि के मिलाकर 21 लाख रुपये परिवार को देने का आश्वासन दिया गया। इस समझौते के बाद कंपनी ने 5 लाख का चेक उनके परिजनों को दे दिया।

अब भी जाम लगाए बैठे हैं कर्मचारी
परिजनों के साथ समझौता होने के बाद भी कर्मचारी धरने से नहीं उठे हैं। फिलहाल जाम लगाकर सड़क पर बैठे हैं। मृतक के परिजनों के अनुसार जाम लगाकर बैठे कर्मचारियों ने उनके परिजनों को शव लेकर धरना स्थल पर आने के लिए ही कहा है। लेकिन मृतक के परिजन रात को शव ले जाने से इनकार कर रहे हैं। शव को सुबह झाड़ली गांव में लेकर जाएंगे। उनका कहना है कि पांच लाख रुपये का चेक उन्हें मिल गया है और पांच लाख रुपये दस दिन में देने और लड़के को नौकरी देने का लिखित समझौता हुआ है।

यह था मामला
जानकारी के अनुसार झाड़ली गांव निवासी मुकेश पुत्र शिंभूराम थर्मल पावर प्लांट में सुपरवाइजर के पद पर कार्य कर रहा था और वह करीब पिछले 11 साल से प्लांट में काम करता था। मंगलवार को वह शेड पर चढ़कर काम कर रहे था। जहां से गिरने के कारण मुकेश की मौत हो गई। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई पुलिस ने मौका मुआयना करने के बाद शव को कब्जे में लेकर सामान्य अस्पताल में भिजवाया। लेकिन दिन भर पोस्टमार्टम के लिए चिकित्सक भी इंतजार करते रहे। मृतक के भाई श्यामसुंदर ने कहा कि जाम लगने के बाद समझौता न होने की वजह से मामला शाम तक अटका रहा। शाम के समय पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाने का प्रयास किया लेकिन हालात को देखते हुए शव को गांव में ले जाने से इनकार कर दिया है।

कर्मचारियों ने जाम नहीं खोला है। परिवार के लोगों, सरंपचों की मौजूदगी में कंपनी व ठेकेदार के बीच समझौता हो चुका है। पोस्टमार्टम के बाद अब वीरवार को शव का अंतिम संस्कार करवाया जाएगा।
सुरेश कुमार, एसएचओ, पुलिस थाना, साल्हावास।
... और पढ़ें

खेल स्टेडियम के जीर्णोद्धार के लिए ग्रामीणों ने शुरू किया आमरण अनशन

चरखी दादरी। झोझू कलां कस्बा स्थित खेल स्टेडियम से दूषित पानी की निकासी न होने, कोच की सुविधा व पीने के पानी व बिजली की व्यवस्था न होने
पर ग्रामीणों का धरना बुधवार को भी जारी रहा। पूर्व सरपंच राजेश सांगवान, सुरेश पहलवान, मास्टर बिशन सिंह आर्य, पंच प्रदीप के नेतृत्व में अनिश्चित कालीन धरना दूसरे दिन भी जारी रहा। धरने में बड़ी सं या में महिलाओं व झोझू कलां सहित आसपास के गांवों के ग्रामीणों की उपस्थिति रही। अपने पूर्व प्रस्तावित निर्णय अनुसार बुधवार से ग्रामीणों ने आमरण अनशन भी शुरू कर दिया है। आमरण अनशन पर पूर्व सरपंच राजेश सांगवान, बिशन सिंह आर्य, पंच प्रदीप, जय सिंह बैठे हैं। इस दौरान ग्रामीणों ने प्रशासन पर इस मामले की पूरी अनदेखी का आरोप लगाया और कहा कि यह हाल तो तब है जबकि एक विधायक ने झोझू कलां को गोद ले रखा है। जब तक समस्याओं का समाधान नहीं होगा आंदोलन व आमरण अनशन जारी रहेगा। धरना स्थल पर पहुंचकर जेजेपी कर्मचारी प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष संजीव मंदौला ने अपना पूर्ण समर्थन दिया और कहा कि वे ग्रामीणों की जायज मांग के लिए पूरी तरह से उनके संघर्ष में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार बातें तो बड़ी- बड़ी कर रही है, खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक गांव में व्यायामशाला खुलवाने, खेल सुविधा व कोच उपलब्ध करवाने का दम भर रही है, लेकिन यह बड़े ही खेद व शर्म का विषय है कि झोझू कलां का क्षेत्र जिसने देश को गौरव का क्षण उपलब्ध करवाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी दिए, वहां के युवाओं को खेल अ यास के लिए स्टेडियम सुधार के लिए आमरण अनशन जैसा मार्ग अपनाना पड़ रहा है। धरने को सांगवान खाप 13 की ओर से सचिव सुरेंद्र कुब्जा, पूर्व सरपंच अतर बलाली, सरपंच संजय बादल, राज सिंह चंदेनी, जन सेवा महासंघ संयोजक सत्यवान , राम अवतार आर्य ने भी समर्थन देने की घोषणा की। इस अवसर पर सुरेश पहलवान, गुरदीप सांगवान, पूर्व बीडीसी सदस्य हरिकिशन, वेद प्रकाश, छतर सिंह, सत्यप्रकाश, पूर्व पंच प्रदीप, रामबीर मंदौला, मास्टर संजू, ईश्वर, व्यापार मंडल झोझू प्रधान कुलदीप सांगवान, रविंद्र पहलवान, वीरभान, सुशील, रमेश शर्मा, बिट्टू, नरेंद्र, प्राचार्य योगेश लीली, महेंद्र सिंह, विनय सांगवन, अशोक, रामकुमार आर्य, दर्शन, शकुंतला देवी, लक्ष्मी, रोशनी देवी, कृष्णा देवी, अनीता, रोशनी, उर्मिला, कविता, बिमला, भतेरी, अंकिता, शरबती, आदि उपस्थित थे।
... और पढ़ें

शहर छोड़कर भागे आढ़ती से पुलिस ने 70 लाख की नकदी की बरामद

चरखी दादरी। किसानों का भुगतान किए बिना शहर छोड़कर भागे आढ़ती रोशनलाल से बुधवार को पुलिस ने 70 लाख की नकदी और बरामद की है। आरोपी की निशानदेही पर यह राशि महम में आढ़ती के किसी रिश्तेदार से बरामद की गई है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। पुलिस पूछताछ में आढ़ती रोशनलाल ने बताया कि उसके कारोबार में लगातार घाटा हो रहा था इसी वजह से उसने यह पूरा खेल रचा।
सीआईए पुलिस टीम इंचार्ज दिलबाग सिंह ने बताया कि आढ़ती ने पुलिस को यह भी बताया कि किसान उसे ब्याज पर राशि देने के लिए खुद ही उसके पास आते थे। वह डेढ़ रुपया प्रति सैकड़ा के हिसाब से किसानों से राशि लेता था। दिलबाग सिंह ने बताया कि बुधवार को पुलिस आढ़ती को साथ लेकर महम पहुंची और उसके रिश्तेदार के मकान पर पहुंचे। वहां मकान से पुलिस ने 70 लाख रुपया बरामद किया है। यह राशि आढ़ती रोशनलाल ने मकान में रखी थी।
सीआईए इंचार्ज ने बताया कि आढ़ती रोशनलाल के बैक खातों की भी जांच की गई है लेकिन बैक खाते खाली मिलेे हैं। उनमें पैसा नहीं मिला। पुलिस पूछताछ में आढ़ती ने यह भी स्वीकार किया है कि उसका कुछ लोगों और किसानों का करीब डेढ़ करोड़ रुपया बकाया है।
ज्ञात रहे कि एसआईटी मंगलवार को रोशनलाल को साथ लेकर दिल्ली के बुध विहार गई थी। करीब 10 लाख रुपये उसकी साली के बेटे से बरामद किए थे। रोशनलाल ने पुलिस गिरफ्त में आने से पहले गोरखपुर और उड़ीसा की हवाई यात्रा भी की है।

यह था मामला
13 जून को चरखी दादरी अनाज मंडी के दो फर्म संचालक किसानों से करोड़ों का अनाज खरीद भुगतान किए बिना ही शहर छोड़कर फरार हो गए थे। विभिन्न गांवों के किसानों ने जय दादा गुंसाई ट्रेडिंग कंपनी संचालक मनीष, निरंजन उर्फ गोल्डी, जगदीश व कृष्ण उर्फ केशु सहित किरोड़ीमल रामकुमार ट्रेडिंग कंपनी के संचालक रामनिवास और रोशनलाल के खिलाफ सिटी थाने में सात एफआईआर दर्ज करवाई थीं। एसआईटी इंचार्ज दिलबाग व सीटी पुलिस टीम ने आरोपी आढ़ती रोशनलाल को दिल्ली के फखरुद्दीन नगर से गिरफ्तार कर लिया था। आढ़ती रोशनलाल शहर छोड़कर दिल्ली चला गया था। वहां अपने एक रिश्तेदार के पास वह कुछ दिन रुका था।

किसानों ने चार करोड़ बकाया होने का किया था दावा
252 किसानों ने चार करोड़ 56 लाख का भुगतान बकाया होने के दावे मार्केट कमेटी कार्यालय में दर्ज करवा रखे थे। किसानों ने चार करोड़ 41 लाख की दस हजार क्विंटल सरसों, दो लाख 26 हजार का 130 क्विंटल गेहूं व दस लाख की 250 क्विंटल ग्वार का भुगतान न होने के दावें फर्मों द्वारा दी गई कच्ची पर्ची सहित दर्ज कराए थे।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन