विज्ञापन

झज्जर/बहादुरगढ़

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बहादुरगढ़: सीपीसीबी के अधिकारी को फैक्टरी में बंधक बनाने का आरोप, दो पर केस दर्ज, उद्यमियों ने किया विरोध

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के एक अधिकारी और हरियाणा के बहादुरगढ़ में फैक्टरी मालिक में बुधवार को विवाद हो गया। अधिकारी ने एक फैक्टरी मालिक व एक कर्मचारी पर चेकिंग के दौरान उसे बंधक बनाने व सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करवा दी। उधर, काफी संख्या में उद्यमी पुलिस चौकी में इकट्ठे हो गए और अधिकारी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए उन्हें तंग करने के आरोप लगाए।

सीपीसीबी के वैज्ञानिक यतींद्र नाथ मिश्रा बुधवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे बहादुरगढ़ के आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र (एमआइई) के प्लॉट नंबर 708 में चल रही मशीनें बनाने वाली फैक्टरी में गए थे। इस बीच उनका फैक्टरी प्रबंधकों से विवाद हो गया। मिश्रा ने फैक्टरी मालिक रमेश यादव पर बुरा बर्ताव करने और बंधक बनाने का आरोप लगाते हुए फोन के जरिए उच्च अधिकारियों को शिकायत दे दी।

उच्च अधिकारियों की सूचना पर बहादुरगढ़ के एसडीएम भूपेंद्र सिंह और शहर थाना पुलिस फैक्टरी पहुंच गई। एसडीएम की देखरेख में पुलिस टीम अधिकारी मिश्रा व फैक्टरी मालिक को एमआइई पुलिस चौकी ले आई और कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी। फैक्टरी मालिक रमेश यादव, कर्मचारी योगेश के खिलाफ सरकारी अधिकारी के काम में बाधा डालने और उनको घेरे रखने के आरोप में केस दर्ज कर लिया।

केंद्र सरकार के वायु गुणवत्ता आयोग के उड़नदस्ते के रूप में कार्यरत हैं। उन्हें बहादुरगढ़ में उद्योगों के निरीक्षण की जिम्मेदारी दी गई है। मिश्रा ने बताया कि बुधवार को उन्होंने फैक्टरी के गेट पर उपस्थित व्यक्ति को अपना आई कार्ड दिखाया और फैक्टरी के निरीक्षण के लिए मालिक को बुलाने के लिए कहा। अंदर जाकर फोटोग्राफी शुरू ही की थी कि फैक्टरी मालिक ने बदसलूकी शुरू कर दी। सभी कर्मचारियों को बुलाकर मुझे घेर लिया व अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।

पुलिस मिश्रा की शिकायत पर फैक्टरी मालिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही थी तो कॉन्फेजरेशन ऑफ बहादुरढ़ इंडस्ट्रीज (कोबी) के अध्यक्ष प्रवीन गर्ग, गणपति धाम औद्योगिक क्षेत्र से उद्यमी नवीन मल्होत्रा, बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अशोक रेढ़ू, आरबी यादव व अशोक मित्तल आदि उद्यमी चौकी में इकट्ठे हो गए।

फैक्टरी मालिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का विरोध किया। उद्यमी करीब दो घंटे तक चौकी में डटे रहे, लेकिन पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। उद्यमियों का कहना है कि यतींद्र नाथ मिश्रा उद्योगों को परेशान करते हैं। प्लॉट नंबर 708 में चल रही फैक्टरी में भी उनसे आई कार्ड दिखाने को कहा गया तो उन्होंने नहीं दिखाया। झूठी शिकायत दे दी। जबकि यह फैक्टरी श्वेत श्रेणी की है। गणपति धाम के उद्यमी नवीन मोल्हेत्रा ने कहा कि फैक्टरी में आने वाले किसी भी व्यक्ति की पहचान के लिए उसका आई कार्ड देखना उनका अधिकार है। 
 
... और पढ़ें

झज्जर में हत्या: बहराना गांव में खून से लथपथ मिली लाश, चार के खिलाफ मामला दर्ज

हरियाणा के झज्जर जिले के बहराना गांव में एक व्यक्ति का गांव के शिव मंदिर के पास खून से लथपथ शव मिला है। व्यक्ति के सिर और मुंह पर ईंट आदि से चोट मारकर हत्या की गई है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने मृतक के भाई की शिकायत पर गांव के ही चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार बरहाना गांव निवासी नरेश कुमार पुत्र राजबीर ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि उसका छोटा भाई सुरेश कुमार (44) मंगलवार की रात घर नहीं आया। रात को उसने आखिरी बार सुरेश को गांव के ही धर्मेंद्र व राकेश के साथ जाते देखा था। बुधवार सुबह करीब छह बजे उसने अपने भाई की तलाश शुरू की।

इसी बीच पता चला कि सुरेश कुमार का शव शिव मंदिर बरहाणा के सामने सड़क पर पड़ा। उसका आरोप है सुरेश कुमार के साथ जतिन व जगमेंद्र निवासी बरहाणा के साथ कहासुनी हुई थी। उन्होंने धर्मेंद्र व राकेश के साथ मिलकर उसकी हत्या की है।

पुलिस ने सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने मामले की सूचना पुलिस के आला अधिकारियों को भी दी। थाना प्रबंधक विजय कुमार, सीआईए की टीम, डीएसपी व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने एफएसएल टीम को भी मौके पर बुलाया। एफएसएल टीम ने घटनास्थल से सबूत जुट्राए।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पांच टीमें गठित
पुलिस ने हत्यारोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। उनकी गिरफ्तारी के लिए पांच टीमों का गठन किया गया है। इनमें सीआईए झज्जर व बहादुरगढ़, साइबर सेल, थाना प्रभारी दुजाना, पुलिस चौकी डीघल की टीमों का गठन किया है। टीमें आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विभिन्न स्थानों पर दबिश दे रही हैं, लेकिन फिलहाल तक कोई सफलता नहीं मिल पाई है।
 
... और पढ़ें

बहादुरगढ़ में वारदात: सोमवार रात से लापता बच्चे का अधजला शव मिला, मुंह और सिर पर ईंट मारकर की गई हत्या

बहादुरगढ़ शहर के लाइनपार क्षेत्र की कॉलोनी सुभाष नगर में एक बालक की हत्या कर दी गई। ईंट व पत्थर आदि से उसके मुंह व सिर पर वार कर मौत के घाट उतारा गया। शव को पास के ही खाली प्लॉट में पड़े कूड़े में जलाने का प्रयास किया गया। मंगलवार सुबह कूड़ा बीनने आई एक महिला ने शव को अधजली हालत में देखा तो उसने इसकी सूचना आसपास लोगों को दी।

मनीष उर्फ गोलू (10) सोमवार की शाम से ही घर से लापता था। उसके पिता राजकुमार वाहन ड्राइवर है और मां शकुंतला एक फुटवियर फैक्टरी में काम करती हैं। दोनों सोमवार को ड्यूटी से लौटे तो मनीष घर में नहीं मिला। आसपास तलाश की तो पता चला कि शाम को साढ़े सात बजे तक वह घर में था और टीवी देख रहा था।

अचानक टीवी बंद करके कहीं निकल गया। मनीष शंकर गार्डर के राजकीय प्राथमिक स्कूल में चौथी कक्षा का छात्र था। वह इकलौती संतान थी। यूपी के जिला जौनपुर के गांव नदियाव निवासी मनीष के माता-पिता दो-तीन साल से बहादुरगढ़ के सुभाषनगर की गली नंबर-3 में किराये के घर में रहते हैं।

शाम को जब काफी तलाश के बाद भी मनीष नहीं मिला तो परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। रात को पुलिस ने भी आसपास काफी तलाश किया। सुबह घर से करीब 200 मीटर दूर खाली प्लॉट में कूड़े के ढेर में मनीष का शव मिलने की सूचना मिली तो परिजनों में मातम छा गया। 

सूचना मिलते ही लाइनपार थाना पुलिस घटनास्थल पहुंच गई। झज्जर से एसपी वसीम अकरम, एएसपी विक्रांत भूषण और डीएसपी अरविंद दहिया भी मौके पर पहुंचे। सीआईए की टीम भी जांच में जुट गई। एफएसएल की टीम ने घटनास्थल से सुबूत जुटाए। फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं लग सका। मनीष की हत्या किसने और क्यों की है, इसकी जानकारी पुलिस जुटा रही है।

आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की शाम सात बजे के बाद से रातभर की फुटेज को खंगाली जा रही है। सोमवार रात को ही मां शकुंतला ने लाइन पार थाना पुलिस को दी शिकायत में अपने बेटे का अपहरण होने की आशंका जताई थी। पुलिस ने शिकायत पर मनीष की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर ली थी।

शिकायत में शकुंतला ने कहा था कि उसका बेटा अपने मामा रामजीत के घर खेल रहा था। शाम को वह आई तो घर से गायब मिला। उसका अवश्य किसी ने अपहरण किया होगा। उधर मनीष की हत्या की जानकारी जिस भी व्यक्ति को मिली उसने कड़ी निंदा की और आरोपियों को कड़ी सजा देने की मांग की।
 
... और पढ़ें

झज्जर में वारदात: मनी ट्रांसफर की दुकान चलाने वाले युवक की सीने में गोली मारकर हत्या, नकाबपोश बदमाशों ने की वारदात

हरियाणा के झज्जर शहर की सब्जी मंडी के सामने मनी ट्रांसफर का काम करने वाले युवक की नकाबपोश बदमाशों ने सोमवार की देर शाम गोली मार कर हत्या कर दी। युवक को घायल अवस्था में सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। पुलिस ने मौका मुआयना कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने सीसीटीवी की फुटेज खंगालनी शुरू कर दी है। पुलिस ने एक लोडेड मैगजीन व खोल भी मौके से बरामद किया है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ग्वालीशन गांव निवासी सोनू 32 साल पुत्र सुरेश कुमार शहर की सब्जी मंडी के सामने मनी ट्रांसफर का काम करता था। सोमवार की शाम करीब सवा आठ बजे तीन-चार नकाबपोश युवक उसकी दुकान पर आए और वहां बैठे ग्वालीशन गांव निवासी मंजीत पुत्र रमेश ने जब गोली चलाने का प्रयास किया तो वह कूलर के पीछे छिप गया।

वहीं साथी दुकानदार ग्वालीशन गांव निवासी सुरेंद्र उर्फ डिल्लू पर भी गोली दागने का प्रयास किया गया। दुकान से निकल कर घर जा रहे सोनू को बदमाशों ने छाती में गोली मार दी। जिससे वह घायल हो गया। घायल अवस्था में जब उसे अस्पताल लाया गया तो चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मृतक सोनू का बड़ा भाई कपिल सेना में कार्यरत है। सोनू की शादी नहीं हुई थी। परिवार में इनके अलावा उसकी मां, भाभी व भाई के दो बच्चे हैं। उनके पिता सुरेश की पिछले साल हृदयगति रूकने से मौत हो गई थी। ग्रामीणों ने भी एसपी वसीम अकरम से आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

एसपी व डीएसपी पहुंचे मौके पर व अस्पताल
मामले की जानकारी मिलते ही पहले डीएसपी राहुल देव, फिर एसपी वसीम अकरम मौके पर पहुंचे। उन्होंने मौका मुआयना भी किया और उस समय दुकान पर मौजूद युवकों से भी मामले की जानकारी ली है। एसपी ने शहर पुलिस थाना प्रभारी, सीआईए प्रभारी को मामले को लेकर आवयश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।   

एफएसएल टीम ने जुटाए साक्ष्य
सूचना मिलते ही एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंच गई थी। एफएसएल टीम ने वारदात के संबंध में साक्ष्य जुटाए हैं। फिलहाल तक इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि युवक की हत्या के पीछे क्या कारण रहे हैं। 
 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

झज्जर पुलिस को कामयाबी: 25 हजार का ईनामी बदमाश जलदीप गिरफ्तार, तीन दिन के रिमांड पर लिया

हरियाणा के झज्जर में बरहाना गांव निवासी शराब ठेकेदार प्रवीण की हत्या, षड़यंत्र के आरोपी 25 हजार के ईनामी बदमाश जलदीप बरहाना को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह हत्या, हत्या का प्रयास, जान से मारने की धमकी, आपराधिक साजिश आदि के अनेक आपराधिक मामलों में अति वांछित है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया। जहां से अदालत ने उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा है। 

रिमांड के दौरान पुलिस ने उससे पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस इस मामले में पहले भी नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।  निरीक्षक मनोज कुमार के नेतृत्व में अपराध जांच शाखा द्वितीय बहादुरगढ़ की टीम ने इनामी बदमाश जलदीप निवासी बहराना को कुलताना सांपला रोड क्षेत्र से गिरफ्तार किया है।

मनोज कुमार ने बताया कि शराब के ठेके में हिस्सेदारी को लेकर हुए विवाद की रंजिश पर 5 सितंबर 2021 को रामबीर व प्रदीप उर्फ धोला निवासी बहराना ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर गांव बहराना में गोलियां मारकर प्रवीण की हत्या करने की वारदात को अंजाम दिया था।

हत्या की उपरोक्त वारदात के संबंध में थाना दुजाना में आरोपियों के खिलाफ 5 सितंबर 2021 को अलग-अलग धाराओं के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि सीआईए टू बहादुरगढ़ की गिरफ्त में आए आरोपी जलदीप उर्फ कालू पुत्र बेड़ा सिंह निवासी गांव बहराना ने प्रारंभिक पूछताछ में गांव बहराना में हुई प्रवीण की हत्या की वारदात के संबंध में खुलासा किया। 
 
... और पढ़ें

बहादुरगढ़: दो सड़क हादसों में मामा-भांजा सहित तीन की मौत, पसरा मातम

हरियाणा के बहादुरगढ़ के बादली क्षेत्र में दो अलग अलग स्थानों पर हुई सड़क दुर्घटनाओं में मामा भांजा सहित तीन लोगों की मौत हो गई। भांज घर का इकलौता चिराग था। हादसे के बाद परिवार में मातम पसरा था। बादली-बुपनियां रोड पर सोमवार देर शाम शनि मंदिर के पास हुई दुर्घटना में बादली गांव के रहने वाले सोनू पुत्र रामचंद्र और उसके 14 वर्षीय भांजे लक्ष्य पुत्र सत्यवान की मौत हुई है।

सोनू अपने भांजे लक्ष्य के साथ राजस्थानी ग्वालों से दूध लेकर मोटर साइकिल से घर लौट रहा था। उनकी बाइक शनि मंदिर के सामने बाइक की एक ट्रैक्टर से आमने-सामने की भिड़ंत हो गई। इसमें सोनू और लक्ष्य को गंभीर चोटें आईं। दोनों को राहगीरों की मदद से झज्जर के राजकीय अस्पताल ले जाया गया।

यहां डाक्टर ने सोनू को मृत घोषित कर दिया। लक्ष्य की गंभीर हालत देखते हुए पीजीआई रोहतक रेफर किया, जहां इलाज के दौरान लक्ष्य की भी मौत हो गई। लक्ष्य घर का इकलौता बेटा था। उधर, दुर्घटना के बाद ट्रैक्टर चालक ट्रैक्टर को मौके पर छोड़कर भाग गया।  

सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आवश्यक कार्यवाही शुरू की। पुलिस ने हादसे का कारण बने ट्रैक्टर को कब्जे में ले लिया। चालक की तलाश में पुलिस जुटी है। दोनों शव के पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिए गए हैं। सोनू के शव का पोस्टमार्टम मंगलवार की सुबह झज्जर अस्पताल में हुआ और लक्ष्य के शव का पोस्टमार्टम पीजीआई रोहतक में दोपहर बाद किया गया। मामले में बादली थाना पुलिस कानूनी कार्रवाई कर रही है। बादली थाने से जांच अधिकारी कृष्ण और अशोक ने बताया कि ट्रैक्टर को मौके से कब्जे में ले लिया गया है और अज्ञाच ट्रैक्टर चालक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। ट्रैक्टर चालक की तलाश की जा रही है। 

ड्यूटी से लौट रहे युवक की हादसे में मौत
बादली। दूसरी घटना बहादुरगढ़ रोड पर जरदकपुर गांव के पास हुई। एक अज्ञात वाहन की चपेट में आने से गांव लुकसर के निवासी मोटर साइकिल सवार युवक की मौत हो गई। गांव लुकसर निवासी प्रवीण (34) पुत्र नरेश कुमार बहादुरगढ़ में नौकरी करता था। वह सोमवार सुबह ड्यूटी गया था।

शाम को छुट्टी होने के बाद अपनी बाइक से घर लौट रहा था। रास्ते में अपने गांव लुकसर से थोड़ा ही पहले जरदकपुर के पास किसी वाहन की टक्कर लगी और प्रवीण सड़क पर गिर गया। उसे गंभीर चोटें आईं। वहां से गुजर रहे राहगीरों ने ग्रामीणों को इसकी जानकारी दी।

ग्रामीणों की सूचना पर प्रवीन के चाचा विजय मौके पर पहुंचे तब तक प्रवीन की मौत हो चुकी थी। मौके पर काफी मात्रा में खून फैला हुआ था। सूचना मिलने पर बादली थाना पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों की सहमति से शव को पोस्टमार्टम के लिए बहादुरगढ़ के राजकीय अस्पताल ले जाया गया।

मंगलवार की सुबह शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया गया। बादली थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि विजय के चाचा विजय पुत्र ईश्वर की शिकायत पर अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू की गई है। 
... और पढ़ें

झज्जर: दुबलधन में अधेड़ की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या, सुबह लहूलुहान हालत में मिला शव

झज्जर के बेरी में पलड़ा मार्ग पर खेतों में मकान बना कर रहने अधेड़ की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या कर दी गई । मृतक का चेहरा क्षतिग्रस्त था। परिजनों की सूचना पर पुलिस और एफएसएल टीम मौके पर पहुंचे और सुराग जुटाए।मृतक की पहचान दुबलधन गांव निवासी 50 वर्षीय संजय पुत्र कवल के रूप में हुई है। संजय खेतों में बने मकान में अपने घर में ही अकेला रहता था।

मंगलवार को उसका शव लहूलुहान हालत में घर में ही मिला।  संजय के शरीर पर चोट के काफी गहरे निशान थे। किसी ने उस पर लाठी और डंडों से वार किए हैं। जिसके चलते उसकी मौत हो गई। हत्या किए जाने के पीछे कारण क्या रहे इस बात का अभी खुलासा नहीं हुआ है।

फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने मृतक के भाई शमशेर के बयान पर अज्ञात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। चेहरा भी क्षतिग्रस्त था।  संभवत: जानवरों ने नोचा हुआ था लेकिन सही पुष्टि पोस्टमार्टम के बाद होगी।

डीएसपी ने किया मौका मुआयना
सूचना मिलने के बाद बेरी डीएसपी नरेश व बेरी थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए झज्जर के नागरिक अस्पताल में भिजवाया, लेकिन पोस्टमार्टम के लिए संजय के शव को पीजीआई रेफर कर दिया है।

कई वर्ष पहले पत्नी हो चुका है देहांत 
संजय की पत्नी का कई वर्षों पहले देहांत हो चुका है। बेटी की शादीशुदा है, बेटा सांपला अखाड़े में कुश्ती की कोचिंग ले रहा है। इस लिए संजय अपने मकान में अकेला ही रहता था।  
 
... और पढ़ें

बहादुरगढ़ में वारदात: युवक की गला रेतकर हत्या, तीन दिन पहले किराए पर लिया था कमरा, लहूलुहान हालत में मिला शव

सांकेतिक तस्वीर
हरियाणा के बहादुरगढ़ शहर के लाइनपार क्षेत्र की कॉलोनी विकास नगर में एक युवक की तेज धार वस्तु से गला रेतकर हत्या कर दी गई। मामले की जानकारी उस समय हुई जब कमरे से दुर्गंध आने लगी। सूचना मिलते ही लाइनपार थाना पुलिस मौके पर पहुंची और कार्रवाई शुरू की। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया है। अभी तक मृतक की पहचान नहीं हो पाई है।

विकासनगर स्थित धर्मवीर के मकान में अलग-अलग कमरों में कई किरायेदार रहते हैं। गत 29 अप्रैल को एक युवक यहां किराए पर रहने के लिए आया था। रविवार दोपहर को उसको यहां आखरी बार देखा गया था। उसके बाद वह नजर नहीं आया। सोमवार शाम को जब कमरे से दुर्गंध आनी शुरू हुई तो पड़ोसी किरायेदारों ने उसका दरवाजा खोलकर देखा। अंदर युवक लहूलुहान हालत में मृत पड़ा हुआ था। उसका गला तेजधार औजार से कटा हुआ था। कुछ ही देर में घटना स्थल पर लोगों की भीड़ लग गई। कमरे में कुछ बर्तन, कपड़े और कंबल आदि मिले। 

वारदात की सूचना मिलते ही लाइनपार थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश कुमार मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। मृतक की उम्र 30 से 32 वर्ष के आसपास आंकी जा रही है। कमरे से एक आधार कार्ड मिला है। उस पर हरी भूषण पुत्र उमाशंकर तिवारी निवासी बिहार अंकित है।

यह इसकी आईडी मानी जा रही है, मगर पुलिस ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है। पुलिस ने मृतक की पहचान सुनिश्चित करने के लिए लोगों से मदद मांगी। लेकिन मृतक को जानने वाला कोई भी व्यक्ति सामने नहीं आया। फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने भी मौके पर पहुंचकर सुबूत जुटाए। 

फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है। लाइन पार थाना पुलिस मृतक की पहचान के लिए कमरे में मिले आधार कार्ड में अंकित बिहार के पते पर संपर्क करने का प्रयास कर रही है। 
 
... और पढ़ें

बहादुरगढ़ में वारदात: जसौरखेड़ी में युवा किसान को गोलियों से भूना, शनिवार रात हुई वारदात, सात गोलियां मारी, मौत

हरियाणा के बहादुरगढ़ क्षेत्र के गांव जसौर खेड़ी में एक 35 वर्षीय युवा किसान की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस के अनुसार उसे सात से आठ गोलियां लगी हैं।  सिर और कूल्हे के पास गोलियों के घाव मिले हैं। घटना शनिवार रात की बताई गई है।

हत्या के कारणों व हमलावरों का कोई पता नहीं लग सका है। आसौदा थाना पुलिस सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच गई थी। मामले की जांच की जा रही है। एफएसएल की टीम ने भी मौके का मुआयना किया और वारदात स्थल से जरूरी सुबूत जुटाए हैं।

गांव जसौर खेड़ी निवासी आनंद पुत्र बाघेराम एक प्राइवेट स्कूल में ड्राइवर है। वे दो भाई हैं। छोटा भाई 35 वर्षीय ओमबीर उर्फ भोलू खेतीबाड़ी करता था। आनंद ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है शनिवार रात करीब आठ बजे वह स्कूल में ड्यूटी के लिए जा रहा था। रास्ते में गांव निवासी राजसिंह ने उसे बताया कि

हुड्डा नहर पर कुलासी वाले पुल के पास किसी ने उसके भाई ओमबीर उर्फ भोलू को तीन-चार गोलियां मार रखी हैं जिससे उसकी मौत हो गई है। उसका शव मौके पर ही पड़ा है। राजसिंह की सूचना पर वह मौके पर पहुंचा तो उसके भाई ओमबीर का लहूलुहान शव पड़ा था। उसके सिर और कूल्हे के पास से खून बह रहा था। सूचना पर असौदा थाना पुलिस मौके पर पहुंची।

एफएसएल की टीम ने भी पहुंचकर जरूरी सुबूत जुटाए। शनिवार रात शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल बहादुरगढ़ के शव गृह में रखवाया गया। जहां रविवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। मृतक को 7-8 गोली लगी थीं। घटना स्थल पर दो खाली कारतूस मिले हैं। 

ओमबीर एक बेटे और एक बेटी का पिता था। वर्ष 2008 से पहले उसके खिलाफ चार आपराधिक मामले दर्ज हुए थे। बाद में अदालत ने उसको सभी मामलों में बरी कर दिया था। मामले की जांच की जिम्मेदारी सहायक निरीक्षक राकेश को सौंपी गई है। 

घटना से पहले शराब पी रहे थे 
मृतक के भाई आनंद के अनुसार राज सिंह ,उसका भाई ओमबीर के अलावा विकास उर्फ कालू बैठकर शराब पी रहे थे। ये बात खुद राजसिंह ने ही उसे बताई लेकिन गोली कैसे लगी और किसने मारी ये पता नहीं चल सका।
 
... और पढ़ें

नकली नोटों के धंधे का भंडाफोड़: अपराध अनुसंधान शाखा ने तीन आरोपी पकडे़, 47 हजार 500 रुपये बरामद

झज्जर जिला पुलिस की अपराध अनुसंधान शाखा ने तीन लोगों को 100 और 500 रुपये के नकली नोटों का धंधा करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से 47 हजार 500 रुपये के नकली नोट बरामद किए गए हैं। यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इन नकली नोटों का असली स्रोत क्या है, इनको कौन और कहां छापता है। पकड़े गए लोगों में एक दिल्ली का, एक सोनीपत जिले का और एक उत्तर प्रदेश का निवासी है। 

गुरुवार को उपपुलिस अधीक्षक अरविंद दहिया ने प्रेस वार्ता में बताया कि सीआईए-2 बहादुरगढ़ ने दिल्ली के गांव पंजाब खोड़ के निवासी मंजीत, सोनीपत जिले के गांव पीपली निवासी फारूख और उत्तर प्रदेश के जिला बागपत के गांव पांची निवासी इसरार को नकली नोटों का अवैध धंधा करने के आरोप में पकड़ा है। फारूख के कब्जे से 38 हजार 200 रुपये और मंजीत से नौ हजार 500 रुपये के नकली नोट बरामद हुए हैं।
... और पढ़ें

झज्जर में हादसा: पेड़ से टकराई कार, युवक की मौत और दो गंभीर घायल, जन्मदिन समारोह से लौट रहे थे

चरखी दादरी मार्ग पर शुक्रवार की रात करीब साढे नौ बजे बरानी मोड़ के पास एक कंटेनर ने साइड दबाने के कारण एक कार पेड़ से टकरा गई। कार में सवार एक युवक की मौके पर मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। घायलों को राहगीरों की मदद से सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने उन्हें रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया है।

छुछकवास गांव निवासी रूपेश पुत्र अशोक (24), सचिन पुत्र बालकिशन, पवन उर्फ प्रेमी पुत्र अशोक झज्जर में किसी परिचित के यहां जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने के बाद वापस आ रहे थे। बरानी मोड़ के पास एक कंटेनर ने साइड दबा दी। जिससे उनकी कार का संतुलन बिगड़ गया और कार सड़क किनारे एक सफेदे के पेड़ से टकरा गई।

इसमें रूपेश की मौके पर मौत हो गई और पवन व सचिन घायल हो गए। घायलों को राहगीरों की मदद से सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से पवन व सचिन को रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया गया है। सूचना मिलते ही मृतक व घायलों के परिजन भी मौके पर पहुंच गए थे। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी।
 
... और पढ़ें

बहादुरगढ़: किशोर ने की थी गोलू की हत्या, मां के बारे में अपशब्द कहने पर दिया था वारदात को अंजाम

हरियाणा के बहादुरगढ़ क्षेत्र में 18 अप्रैल को हुई मासूम मनीष उर्फ गोलू की हत्या की वारदात का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक गोलू की एक किशोर के साथ तकरार हो गई थी। इस दौरान गोलू ने उसकी मां के बारे में अपशब्द कहे इसी बात पर उसे गुस्सा आ गया और गोलू के सिर में ईंट से वार कर उसकी हत्या कर दी। शव जलाने की कोशिश भी की। पुलिस ने आरोपी किशोर को गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह भेजा गया है। सीसीटीवी की मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंची।

मंगलवार को सीआईए-2 प्रांगण में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी वसीम अकरम ने बताया कि एसपी वसीम अकरम से अनुसार इस मामले में पुलिस ने पूरी कॉलोनी और घटना स्थल के आसपास पूरा मुआयना किया। पास में ही लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चेक की गई तो एक किशोर बार बार वारदात स्थल के आसपास आता जाता नजर आया।

उसकी संदिग्ध गतिविधियां नजर आने पर पुलिस ने इस संबंध में उससे बात भी की लेकिन उसने मना कर दिया। बाद में पुलिस ने कुछ सख्ती दिखाई तो उसने पूरे मामले का खुलासा कर दिया। आरोपी की उम्र 15 साल है । गोलू अपने मामा के घर आता जाता था तो उस वक्त भी गोलू और आरोपी के बीच कहासुनी होती रहती थी।

18 अप्रैल की रात को भी गोलू और आरोपी में खटपट हो गई थी। गोलू वहां से भागकर मकान से कुछ दूर एक प्लॉट में जाकर छिप गया। तलाशते हुए आरोपी भी वहां पहुंच गया और उसने ईंट से गोलू के सिर पर प्रहार किया। ईंट लगते ही गोलू के सिर से रक्त बहने लगा। एक बार तो आरोपी वहां से चला आया था लेकिन दोबारा वापस गया और फिर से ईंट मार दी। तब तक चक्कर लगाता रहा, जब तक गोलू की सांस न थम गई। इसके बाद शव को जलाने की कोशिश की। एसपी के अनुसार हत्या की गुत्थी सुलझा ली गई है। मामले में नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसने वारदात कुबूल कर ली है। आरोपी को बालसुधार गृह भेजा गया है।

शिकायत के डर से दोबारा जाकर मारी ईंट 
एसपी के अनुसार आरोपी ने बताया कि गोलू ने तकरार के दौरान उसकी स्व. मां के बारे में अपशब्द भी कहे थे, इसलिए उसने गुस्से में आकर ईंट मार दी। गोलू घायल हो गया था वो शिकायत न करे इसलिए उसे दोबारा ईंट मार दी। एसपी के अनुसार आरोपी को बाल सुधारगृह भेज दिया है। 

यह थी घटना
जौनपुर उत्तर प्रदेश का निवासी राजकुमार एक मोहल्ले में किराये पर रहता है। 18 अप्रैल को सुभाष और उसकी पत्नी शकुंतला ड्यूटी गई थी। शाम को उनका इकलौता पुत्र 10 वर्षीय मनीष उर्फ गोलू लापता हो गया। इस संबंध में रात को अपहरण का केस दर्ज हुआ। अगली सुबह मकान के नजदीक खाली प्लॉट में मनीष का शव बरामद हुआ। सिर और चेहरे पर ईंट से प्रहार किया गया था। शव को जलाने की भी कोशिश की गई थी। इस संबंध में परिजनों ने किसी पर हत्या का शक नहीं जताया था। 
... और पढ़ें

बहादुरगढ़ में मर्डर: युवक ने घर में घुसकर की अंधाधुंध फायरिंग, बड़े भाई की मौत, भाभी-भतीजों समेत चार घायल

बहादुरगढ़ के लाइनपार क्षेत्र की वत्स कालोनी में एक व्यक्ति ने अपने बड़े भाई के घर में घुसकर उसके परिवार पर अंधाधुंध गोलियां बरसा दीं। घटना में हमलावर के बड़े भाई की मौत हो गई और भाभी व दो भतीजों के अलावा बीच बचाव करने आया एक पड़ोसी घायल हो गया। सभी चार घायलों को पीजीआई रोहतक में भर्ती कराया गया है। वारदात के बाद हमलावर भाग निकला। पुलिस ने मौके से उसकी लाइसेंसी पिस्तौल बरामद की है। झगड़े का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। कहा जा रहा है कि दोनों भाइयों में जमीन को लेकर विवाद था।

मृतक की पहचान 55 वर्षीय राजेंद्र पुत्र रघुवीर सिंह के रूप में हुई। उसको तीन गोली लगी हैं। घायल होने वालों में राजेंद्र की पत्नी रतन कुमारी (43), पुत्र अमित (21) व मयंक (8) के अलावा पड़ोसी कुलदीप शामिल हैं। महिला रतनी और उसके पुत्र अमित को दो-दो गोली लगी हैं। मयंक को पांव में गोली लगी है। सूचना मिलते ही पुलिस की कई टीमें जांच के लिए पहुंची। बताया गया है कि हमलावर ने 8-10 राउंड गोली चलाई है। मौके से पांच खोल बरामद हुए हैं। पुलिस ने मृतक राजेंद्र की घायल पत्नी रतन कुमारी के बयान पर केस दर्ज किया है। 

रतन कुमारी ने बताया कि हमला उसके देवर विजय ने किया। वह उनके पड़ोस में ही रहता है और बिल्डिंग मैटीरियल सप्लाई का काम करता है। सोमवार रात साढ़े 10 बजे वे खाना खा रहे थे। विजय शराब पीकर आया और गाली गलौज करने लगा। उन्होंने गेट बंद कर लिया। वह गेट के ऊपर से कूदकर अंदर आया और उन पर गोलियां बरसा दी। एफआईआर के अनुसार हमलावर ने पहले अपने भाई राजेंद्र को गोली मारी। फिर उसकी पत्नी को और उसके बाद राजेंद्र के दोनों बेटों को। पड़ोस में रहने वाला अमित का दोस्त कुलदीप बचाव में आया तो विजय ने उस पर भी गोली चला दी। 

डीएसपी अरविंद दहिया ने बताया कि चारों घायल लोगों की हालत फिलहाल खतरे से बाहर है। पुलिस का कहना है कि अभी झगड़े का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। जांच की जा रही है। चर्चा है कि दोनों भाइयों के परिवारों के बीच काफी दिनों से जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। कहा जा रहा है कि वसीयत को लेकर झगड़ा हुआ। हमलावर की तलाश की जा रही है। यह परिवार मूल रूप से झज्जर जिले के गांव बहराना का रहने वाला है।

बंद कमरे में थी तनु, इसलिए बच गई

जिस समय राजेंद्र के परिवार पर विजय हमला कर रहा था उस समय राजेंद्र की बेटी तनु घर के कमरे में थी। इसलिए वह गोलियों से बच गई। हमलावर के निकल जाने के बाद वह कमरे से बाहर आई तो पूरा परिवार लहूलुहान था। उसने अपने दादा रघवीर सिंह को फोन करके घटना के बारे में बताया। 
 
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00