बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दादी के साथ भैंस को पानी पिलाने गया सवा साल का मासूम, किसी ने पानी की टंकी में डूबोकर मार डाला

दादी के साथ भैंसों को पानी पिलाने गए सवा साल के रक्षित का शव थोड़ी दूरी पर स्थित एक अन्य प्लॉट की अंडरग्राउंड पानी की टंकी से बरामद हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मासूम बच्चे के शव को बाहर निकलवाकर पोस्टमार्टम को भेजा। इसके बाद परिजनों की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। परिजनों ने गांव के एक दंपती पर मासूम रक्षित की हत्या का संदेह जताया है। 

बौंदकलां थाना क्षेत्र के गांव सौंप निवासी सतबीर ने बताया कि गुरुवार शाम करीब सात बजे उसके पोता रक्षित (14 माह) अपनी दादी के साथ घर के पास ही प्लाट में भैंसों को पानी पिलाने गया था। प्लॉट पहुंचने पर दादी ने रक्षित को गेट के पास गोद से उतारकर जमीन पर बैठा दिया। करीब पांच मिनट बाद जब वह वापस आई तो रक्षित वहां नहीं मिला। इस पर दादी ने सोचा कि शायद दादा सतबीर रक्षित को घर ले गया होगा। 
 

यह भी पढ़ें: चंडीगढ़ः कूड़े में नवजात को फेंकने वाला पिता गिरफ्तार, बोला- मृत थी, दफनाने जा रहा था जंगल
 
इसके बाद भी वह हड़बड़ाहट में घर पहुंची तो वहां भी रक्षित नहीं मिला। इसके बाद घर के सभी सदस्य मासूम रक्षित की तलाश में जुट गए। रात करीब दस बजे रक्षित का शव एक प्लॉट में बनी अंडरग्राउंड टंकी से बरामद हुआ। मामले की सूचना पाकर बौंदकलां थाना प्रभारी राम अवतार और सीआईए टीम भी मौके पर पहुंची। देर रात ही जिला पुलिस कप्तान बलवान सिंह राणा भी घटनास्थल पर पहुंचे और हालातों का जायजा लिया। 
... और पढ़ें

चरखी दादरीः किसान की हत्या करके फरार हुए 7 श्रमिक, यूपी के रहने वाले हैं सभी आरोपी, केस दर्ज

हरियाणा के चरखी दादरी जिले में एक किसान की शुक्रवार रात उसके ही खेत में प्रवासी श्रमिकों ने हत्या कर दी और फिर वे फरार हो गए। किसान के सिर पर ट्रैक्टर लिफ्ट की रॉड से कई वार किए गए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। शनिवार सुबह सदर थाना पुलिस और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने सिविल अस्पताल में चिकित्सकों के बोर्ड से मृतक का पोस्टमार्टम कराया और सातों श्रमिकों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। सभी आरोपी उत्तर-प्रदेश के पीलीभीत जिले के गांव आमडर के रहने वाले हैं और उनकी तलाश पुलिस ने शुरू कर दी है। हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के अनुसार, टिकान कलां निवासी कश्मीर(35) शुक्रवार शाम श्रमिकों के साथ खेत में तूड़ा डालने के लिए घर से गया था। शनिवार सुबह वह खेत में मृत मिला। मृतक के पिता लीलाराम ने बताया कि गत 15 मार्च को उत्तर-प्रदेश के पीलीभीत जिले के गांव आमडर निवासी सात श्रमिक उनके यहां काम करने आए थे। उन सभी को रहने के लिए उन्होंने कमरा दिया हुआ था। शुक्रवार शाम कश्मीर उन सभी को साथ लेकर तूड़ा लेने के लिए खेत में गया हुआ था। इसी दौरान अज्ञात कारणों के चलते उनके बीच झगड़ा हो गया और श्रमिकों ने ट्रैक्टर की लिफ्ट की रॉड से कश्मीर के सिर पर कई वार कर मौत के घाट उतार दिया।

हत्याकांड को अंजाम देकर सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। मृतक के पिता ने बताया कि शनिवार सुबह उनके खेत के समीप बने मकान में रहने वाला एक व्यक्ति मौके पर पहुंचा तो उसे कश्मीर मृत मिला। इसके बाद मामले की जानकारी परिजनों को दी गई। सूचना मिलते ही परिजन और ग्रामीण खेत में पहुंचे। वहीं, मामले की सूचना मिलते ही सदर थाना प्रभारी नरेंद्र दहिया मौके पर पहुंचे और उन्होंने शव को अपने कब्जे में ले लिया। कुछ देर बाद ही एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंच गई और शव की जांच की। इसके बाद शव को सिविल अस्पताल लाया गया और कागजी प्रक्रिया पूरी कर पुलिस ने चिकित्सकों के बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया।
... और पढ़ें

हरियाणाः बिना मास्क लगाए सड़कों पर निकल रहे लोग, चरखी दादरी में दंपती समेत तीन गिरफ्तार

कोरोना संक्रमण का खतरा अभी भी बरकरार है और लोग बिन मास्क लगाए सड़कों पर घूम रहे हैं, जिनके खिलाफ पुलिस भी सख्त रवैया अपना रही है। वीरवार देर शाम सिटी थाना पुलिस ने बिन मास्क लगाए सड़क पर घूम रहे दपंती समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी मध्य प्रदेश के मुरैना जिला के गांव पोरसा व बड़ा गांव के रहने वाले हैं। इनके खिलाफ सिटी थाने में डिजास्टर मैनजमेंट एक्ट सहित 188, 269, 270 व 271 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया गया है।

लॉकडाउन में सरकार और जिला प्रशासन ने लोगों के लिए मास्क अनिवार्य कर दिया है। प्रशासन बार-बार हिदायत दे रहा है कि बेहद जरूरी काम होने पर हीलोग घरों से बाहर निकलें। इस दौरान मास्क का प्रयोग अवश्य करें। लेकिन प्रशासन की हिदायतें नजरअंदाज करना तीन प्रवासी लोगों को भारी पड़ गया। मास्क का प्रयोग न करने पर पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया और उनके खिलाफ सिटी थाने में केस दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

हरियाणा में वारदात: आठ माह पुराने विवाद में छह युवकों ने चाकुओं से गोदा, युवक की मौत

चंपापुरी जलघर में रविवार रात छह युवकों ने एक व्यक्ति की चाकुओं से हमला कर हत्या कर दी। मृतक विकास (22) चंपापुरी की गली नंबर चार का रहने वाला था। पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि करीब आठ माह पहले किसी बात को लेकर हुई कहासुनी को लेकर यह हत्या की गई है। मृतक का पोस्टमार्टम चिकित्सकों के बोर्ड से करवाया गया। पुलिस ने इस संबंध में तीन नामजद समेत छह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार चंपापुरी निवासी विकास तीन भाइयों में मंझला था। रविवार देर शाम वह जलघर परिसर में आया था। बताया जा रहा है कि इसी दौरान छह युवक वहां पहुंच गए। उनमें एक युवक के साथ विकास की करीब आठ माह पहले कहासुनी हुई थी। उक्त युवकों को आता देख विकास ने वहां से भागने का प्रयास किया लेकिन कुछ दूरी पर आरोपियों ने उसे पकड़ लिया। इसके बाद विकास के पैरों पर चाकुओं से कई वार किए गए, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने विकास को संभाला और भिवानी में अस्पताल लेकर गए। वहां से उसे हिसार रेफर कर दिया गया। लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। सिटी थाना पुलिस ने मृतक के शव को अपने कब्जे में ले लिया। दोपहर बाद सिविल अस्पताल में उसका पोस्टमार्टम करवाया गया। जांच अधिकारी एसआई अनिल कुमार ने बताया कि इस संबंध में मृतक के भाई सुखबीर और रवि के बयान पर चंपापुरी निवासी अजय, रावलधी निवासी टांडा व एक अन्य नामजद सहित छह लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।
... और पढ़ें
मृतक विकास मृतक विकास

हरियाणा में वारदात: पत्नी से चल रहा था विवाद, रात को ससुराल जाकर गोली से उड़ाया 

हरियाणा में शनिवार को एक सनसनीखेज वारदात हुई। झज्जर जिले के मातनहेल का एक व्यक्ति रात साढ़े तीन बजे अपनी ससुराल ढलानवास पहुंचा और तीन गोली मारकर अपनी पत्नी की हत्या कर दी। दो गोली महिला के सिर में और एक जांघ में लगी है। 

झाड़ली चौकी पुलिस ने मृतका का पोस्टमार्टम शनिवार सुबह दादरी सिविल अस्पताल में करवाया। आरोपी पति के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। बताया जा रहा है कि आरोपी टीकरी बॉर्डर में दूध की डेयरी चलाता है और पति-पत्नी की आपसी अनबन के चलते वारदात को अंजाम दिया गया है। आरोपी ने कुछ दिन पहले भी पत्नी के घर आकर फायरिंग की थी। जिसके बाद परिवार को सुरक्षा के लिए गनमैन दिया गया था। 


झाड़ली चौकी प्रभारी एसआई रामपाल ने बताया कि ढलानवास निवासी यशवंती की शादी 2004 में मातनहेल निवासी महाबीर से हुई थी। उनके दो बच्चे हैं और पति-पत्नी में किसी बात को लेकर अनबन चल रही थी। सूत्रों के अनुसार करीब एक माह पहले महाबीर अपनी पत्नी को मायके छोड़ गया था। 30 अप्रैल की रात करीब साढ़े तीन बजे वह अपनी ससुराल पहुंचा। उसने गेट खटखटाया तो बैठक में सो रही उसकी पत्नी यशवंती गेट खोलने बाहर आई।

इसी दौरान महाबीर ने अपनी पत्नी पर लगातार तीन फायर झोंक दिए और वहां से फरार हो गया। गंभीर हालत में परिजन यशवंती को लेकर दादरी सिविल अस्पताल पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। एसआई रामपाल ने बताया कि इस संबंध में महाबीर के खिलाफ सशस्त्र अधिनियम और हत्या का केस दर्ज कर लिया है। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 
... और पढ़ें

हरियाणा : रोडवेज के जीएम से बिश्नोई गैंग ने मांगी 50 लाख की फिरौती, न देने पर पूरे परिवार को भूनने की धमकी

हरियाणा के चरखी दादरी में रोडवेज के जीएम रविश हुड्डा को एक धमकी भरा पत्र भेजा गया है। पुलिस को दी शिकायत के अनुसार पत्र में 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई है और न देने पर जीएम और उनके परिवार को दिन-दहाड़े गोलियों से भूनने की धमकी दी गई है। पत्र के अंत में प्रधान बिश्नोई गैंग लिखा है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे है कि यह फिरौती बिश्नोई गैंग की तरफ से मांगी गई है।

सिटी थाना पुलिस को दी शिकायत में जीएम रविश हुड्डा ने बताया कि उनके कार्यालय के एक कर्मचारी ने उन्हें एक लिफाफा लाकर दिया था। 15 अप्रैल को छुट्टी होने के कारण कर्मचारी इसे नहीं देख पाया। अब जब उन्होंने इसे चेक किया तो इसमें एक पत्र मिला।


पत्र में उनसे 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई है। जीएम को यह राशि 25 अप्रैल को मकड़ोली गांव के श्मशान घाट में खड़े गैंग के गुर्गों को देने की बात कही गई है। जीएम की शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने इस संबंध में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

हरियाणा : सेना में भर्ती करवाने के नाम पर तीन युवकों से ठगे 21 लाख, फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भी थमाया

हरियाणा में सेना भर्ती के नाम पर तीन युवकों के परिजनों से 21 लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया है। बाढड़ा थाना पुलिस ने बड़राई, चिड़िया और ढाणी भालोठिया निवासी युवकों के परिजनों से की गई ठगी के संबंध में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

शिकायतकर्ता पक्ष का कहना है कि आरोपी ने दो बार में उनसे ये रुपये लिए और उन्हें फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भी थमाए। पुलिस को दी शिकायत में बड़राई निवासी उमेश ने बताया कि कादमा निवासी दिनेश ने उससे, उसके साले चिड़िया निवासी रविंद्र और दोस्त ढाणी भालोठिया निवासी मुनेश से संपर्क किया था। उसने उन्हें बताया कि वह आर्मी ऑर्डिनेंस फैक्टरी मुरादनगर में भर्ती है और वहां उसकी काफी जान-पहचान है। वह यहां युवाओं को भर्ती भी करवा सकता है। 


उमेश ने बताया कि प्रति युवा सात लाख रुपये में बात तय हुई। छह अक्तूबर 2020 को दिनेश उनके घर दस्तावेज और रुपये लेने आया। वहां उमेश ने अपने साले रविंद्र और दोस्त मुनेश को भी बुला लिया। मुनेश के साथ उसका बड़ा भाई दिनेश भी वहां आ गया। वहां मौजिज ग्रामीणों की मौजूदगी में उमेश, रविंद्र और मुनेश ने कादमा निवासी दिनेश  को तीन-तीन लाख और तीनों युवाओं के दस्तावेज दे दिए।

उस दौरान दिनेश ने कहा कि एक युवा को भर्ती करवाने के सात लाख रुपये लगेंगे और ज्वाइनिंग लेटर देने पर बाकी चार-चार लाख रुपये वो ले जाएगा। इसके बाद दिनेश का उनके पास फोन आया और बाकी रुपयों का इंतजाम करने की बात कही। उमेश ने बताया कि दिनेश 23 नवंबर 2020 को उनके घर रुपये लेने और ज्वाइनिंग लेटर देने आया।

इसके चलते उसने अपने साले रविंद्र और दोस्त मुनेश को भी बड़राई स्थित अपने घर बुला लिया। वहां आकर दिनेश उन्हें ज्वाइनिंग लेटर दे गया और 12 लाख रुपये कैश ले गया। बाढड़ा थाना प्रभारी वीर सिंह ने बताया कि इस संबंध में पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

चरखी दादरी में हादसा : सड़क हादसे में दो दोस्तों की जान गई, बाइक का संतुलन बिगड़ने से नाले में गिरा युवक 

प्रतीकात्मक तस्वीर
हरियाणा के चरखी दादरी में झिंझर-सांवड़ मोड़ पर सड़क हादसे में दो दोस्तों की मौत हो गई। एक मृतक उमरवास तो दूसरा रावलधी गांव का रहने वाला था। बौंदकलां थाना पुलिस ने दोनों के शव अपने कब्जे में ले लिए हैं। परिजनों के बयान के आधार पर पुलिस अगली कार्रवाई करेगी। 

जानकारी के अनुसार उमरवास निवासी प्रदीप (25) और रावलधी निवासी प्रदीप (35) दोनों दोस्त थे। वे झिंझर गांव से बाइक पर दादरी लौट रहे थे। वे झिंझर-सांवड़ पर पहुंचे तो अचानक बाइक का संतुलन बिगड़ गया। हादसे में एक युवक बाइक समेत सड़क किनारे बने नाले में गिर गया। वहीं, दूसरा भी बाइक गिरने के कारण करीब 30 गज तक घसीटता चला गया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। सुबह दौड़ की तैयारी कर रहे युवकों ने दुर्घटनाग्रस्त बाइक देखी तो तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों के शव कब्जे में ले लिए। 


जानकारी के अनुसार, उमरवास निवासी प्रदीप की शहर के चंपापुरी क्षेत्र में आरओ ठीक करने की दुकान की थी जबकि रावलधी निवासी प्रदीप खेती करता था। रावलधी निवासी प्रदीप विवाहित था और उसके दो बच्चे हैं। वहीं, उमरवास निवासी प्रदीप अविवाहित था। दोनों मृतक दो भाइयों में बड़े थे। बौंदकलां थाना प्रभारी का कहना है कि मृतकों के परिजनों के बयान के आधार पर अगली कार्रवाई की जाएगी। पोस्टमार्टम के लिए शव सिविल अस्पताल भेज दिए गए हैं।


 
... और पढ़ें

हरियाणा में फायरिंग : पेशी से लौट रहे युवकों पर बाइक सवारों ने चलाईं गोलियां, नजदीक से गुजरी मौत 

हरियाणा के चरखी दादरी में गुरुवार को अदालत में पेशी से लौट रहे ऑल्टो सवार छह युवकों पर दो बाइक पर आए बदमाशों ने फायरिंग कर दी। शहर के मथुरी घाटी क्षेत्र में हुई इस वारदात में बदमाशों ने कार पर तीन गोलियां चलाईं। इनमें से दो गोलियां ड्राइवर के पास वाली सीट पर बैठे चंद्रपाल फौगाट को छू कर निकल गईं। वह घायल हो गया और उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहीं फायरिंग से मथुरी घाटी क्षेत्र के लोग सहम गए। घायल के बयान पर पुलिस ने छह अज्ञात युवकों के खिलाफ सशस्त्र अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।
 
जानकारी के अनुसार चरखी दरवाजा क्षेत्र निवासी चंद्रपाल वीरवार सुबह अपने साथी साहुवास संदीप उर्फ जादूगर, दीपक उर्फ टपलू, रामनाथ, दीपक उर्फ छतरी  व नवीन के साथ गुरुवार सुबह पेशी पर कोर्ट में आया था। पेशी भुगतने के बाद वे ऑल्टो में सवार होकर चरखी दरवाजा क्षेत्र वापस जा रहे थे। जब वे मथुरी घाटी क्षेत्र के मोड़ पर पहुंचे तो दो बाइकों पर आए छह युवकों  ने बाइक आगे खड़ी कर उनकी कार रुकवा ली। 


ऑल्टो सवार युवक कुछ समझ पाते इससे पहले ही बाइकर्स ने फायरिंग शुरू कर दी। घटना में दो गोलियां शीशा तोड़ते हुए चंद्रपाल फौगाट को छू कर निकल गईं। एक गोली हाथ को तो दूसरी  दाहिने तरफ के पेट को छू कर गुजरी। फायरिंग के बाद कार सवार युवक  अपनी जान बचाने के लिए गलियों में भाग गए। घायल चंद्रपाल और  उसके साथियों ने बताया कि फायरिंग करने वाले बदमाश गलियों में भी उनके  पीछे गन लेकर दौड़े लेकिन ऑल्टो सवारों के भागने के कारण बदमाश भी वहां से फरार हो गए।  इसके बाद चंद्रपाल के साथियों ने उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया। 

फायरिंग की सूचना मिलते ही सिटी थाना प्रभारी वीर सिंह, सीआईए इंचार्ज हितेंद्र दांगी सिविल अस्पताल पहुंचे और घायल चंद्रपाल से वारदात और अंजाम देने वाले बदमाशों के बारे में पूछताछ की। डीएसपी रामसिंह बिश्नोई ने भी घायल चंद्रपाल से वारदात के संबंध में पूछताछ की।
... और पढ़ें

चरखी दादरी में हादसा : ट्रैक्टर ने बाइक को मारी टक्कर, एक किमी तक घसीटा, किशोर समेत दो की मौत

दादरी कलियाणा रोड पर मंगलवार देर शाम एक ट्रैक्टर ने सामने से आ रही बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में बाइक ट्रॉली के पिछले हिस्से में फंस गई। ट्रैक्टर चालक करीब एक किलोमीटर तक बाइक को घसीटते ले गया। हादसे में कलियाणा निवासी किशोर समेत दो लोगों की मौत हो गई है। किशोर की मौत के साथ ही घर का इकलौता चिराग भी बुझ गया। बुधवार सुबह सदर थाना पुलिस ने सिविल अस्पताल में मृतकों का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिए। इस संबंध में ट्रैक्टर चालक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

जानकारी के अनुसार कलियाणा निवासी सोमबीर (37) राजमिस्त्री था, जबकि 16 साल का अंकित उसके साथ काम सीखने जाता था। मंगलवार को वो दोनों बाइक पर सवार होकर काम करने दादरी आए थे। देर शाम जब वो गांव लौट रहे थे तो कलियाणा मोड़ से थोड़ा आगे चलते ही सामने से तेज रफ्तार में आ रही ट्रैक्टर-ट्रॉली ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। 

बताया जा रहा है कि हादसे में अंकित ट्रॉली के नीचे आ गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, बाइक ट्रॉली में फंसने से सोमबीर करीब 600 मीटर तक घसीटता हुआ चला गया और उससे करीब 400 मीटर आगे जाकर बाइक ट्रैक्टर से अलग हुई। हादसे में गंभीर रूप से घायल सोमबीर को उपचार के लिए दादरी सिविल अस्पताल लाया गया। वहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मामले की सूचना मिलते ही सदर थाना पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और क्षतिग्रस्त बाइक व ट्रैक्टर-ट्रॉली को अपने कब्जे में ले लिया। बुधवार
सुबह मृतक सोमबीर के परिजनों के बयान दर्जकर शवों का पोस्टमार्टम करवाया गया। सदर थाना प्रभारी जगबीर सिंह ने बताया कि इस संबंध में ट्रैक्टर चालक के खिलाफ केस दर्जकर लिया गया है।
... और पढ़ें

शर्मनाक : एसटीएफ ने पहले गोली मारकर ली थी भाई की जान, अब पुलिस ने किया टॉर्चर, इन पर गिरी गाज  

सात फरवरी को रोहतक एसटीएफ की गोली लगने से दम तोड़ने वाले बिंदर के  ताऊ के बेटे को थाने लाकर टॉर्चर करने का मामला सामने आया है। आरोप है कि पुलिसवालों ने युवक को पीटा जिससे उसका पैर फ्रेक्चर हो गया। मामले का खुलासा होने के बाद एसपी विनोद कुमार ने सिटी एसएचओ समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। वहीं, दो  एसपीओ को बर्खास्त कर दिया गया है। एसपी ने सिटी एसएचओ वीर सिंह की विभागीय  जांच करने का भी आदेश दे दिया है। पीड़ित पक्ष ने एसपी को 14 मार्च को शिकायत सौंपने के बाद इस संबंध में कार्रवाई की मांग को लेकर 18 मार्च को
लोकायुक्त, राज्य पुलिस शिकायत प्राधिकरण, सीएम विंडो, डीजीपी और मानवाधिकारी को शिकायत भेजी थी।
 
... और पढ़ें

कार पहचानने में बड़ी चूक: हरियाणा में एसटीएफ ने कर दी बेगुनाह की हत्या, चार सस्पेंड, सिपाही गिरफ्तार

दादरी में गत सात फरवरी को हुए बिंदर हत्याकांड को जिला पुलिस ने सुलझा लिया है। निर्दोष बिंदर की हत्या गलतफहमी में रोहतक एसटीएफ के हाथों हुई। दादरी एसपी विनोद कुमार ने मंगलवार को इसका खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि चार सदस्यीय एसटीएफ टीम में शामिल सिपाही हरेंद्र की गन से निकली गोली से बिंदर की मौत हुई है। 

आरोपी सिपाही को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दादरी पुलिस ने नौ एमएम की पिस्टल के अलावा लाल रंग की ब्रेजा भी बरामद कर ली है। मामला ट्रेस होने के बाद गुरुग्राम एसटीएफ एसपी ने चार सदस्यीय टीम को सस्पेंड कर दिया है। एसपी विनोद कुमार ने बताया कि रोहतक एसटीएफ से अल्टो पहचानने में चूक हुई जो हत्याकांड का कारण बनी।

उन्होंने बताया कि दरअसल रोहतक एसटीएफ को इनपुट मिला था कि रोहतक के बलियाणा गांव में हुए विक्की हत्याकांड में इस्तेमाल काले रंग की अल्टो दादरी में महेंद्रगढ़ चुंगी पर खड़ी है। इस आधार पर ओआरए एएसआई हितेंद्र कादयान के नेतृत्व में साइबर सेल एएसआई रणबीर और सिपाही सचिन और हरेंद्र दिल्ली रजिस्ट्रेशन नंबर की ब्रेजा में सवार होकर दादरी पहुंचे। 
... और पढ़ें

हरियाणा : घर में बैठकर एक साथ पहले पिया हुक्का, जब ठेकेदार उठने लगा तो कर दी हत्या

हरियाणा में चरखी दादरी के गांव दूधवा में जनस्वास्थ्य विभाग के ठेकेदार की शुक्रवार देर शाम बाइक सवार तीन युवकों ने घर में गोली मारकर हत्या कर दी। चिड़िया चौकी पुलिस ने एक नामजद समेत तीन आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। वहीं परिजनों ने किसी प्रकार की रंजिश होने से इनकार किया है। 

दूधवा निवासी एवं बीएसएफ से सेवानिवृत्त रामबीर ने बताया कि शुक्रवार शाम एक बाइक पर सवार होकर तीन युवक उनके घर आए और उसके बड़े बेटे नितिश उर्फ जोनी (25) के बारे में पूछा। जोनी के घर पर न होने की बात सुनकर वे वहां से चले गए। संदेह होने पर उन्होंने नितिश को फोन घर बुला लिया। इसके बाद बाइक सवार तीन युवक उनके घर पहुंचे।

रामबीर ने बताया कि आरोपियों ने उसके बेटे के साथ कमरे में हुक्का पीया और करीब 15 मिनट तक बातचीत की। जब नितिश हुक्का पीकर उठने लगा तो एक युवक ने देसी कट्टा निकालकर नितिश पर फायर कर दिया। गोली नितिश के सीने में लगी और उसने दम तोड़ दिया। वहीं, वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गए। राजबीर ने बताया कि एक हत्यारोपी उनके गांव का ही रहने वाला है, जबकि दो अन्य उसके साथ ही घर आए थे। 

बीएससी पास था मृतक, महेंद्रगढ़ में लेता था ठेका 
रामबीर ने बताया कि नितिश बीएससी पास था और महेंद्रगढ़ शहर में पेयजल लाइन डालने के लिए जनस्वास्थ्य विभाग के ठेके लेता था। उसका छोटा भाई मनीष इस समय दिल्ली में कोचिंग ले रहा है। नितिश दो भाइयों में बड़ा था। परिजनों के अनुसार उसकी किसी से कोई रंजिश नहीं थी।

सीआईए और डीएसपी पहुंचे मौके
वारदात के बाद चिड़िया चौकी प्रभारी बलबीर सिंह, झोझूकलां थाना प्रभारी समेत सीआईए और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। शनिवार सुबह पोस्टमार्टम के दौरान सिविल अस्पताल पहुंचे डीएसपी ने परिजनों को जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया।
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन