विज्ञापन

चरखी दादरी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

चरखी दादरी: स्कूल बस का किया गलत चालान, अदालत ने आरटीए स्टाफ पर केस दर्ज करने के दिए आदेश

हरियाणा के चरखी दादरी में टैक्स न भरने की बात कहकर एक निजी स्कूल की बस का गलत चालान करने पर कोर्ट ने आरटीए और सहकर्मियों पर मामला दर्ज करने का आदेश दिया है। स्कूल प्राचार्य सुरेश सोलंकी की याचिका पर सुनवाई करते हुए सीजेएम संदीप यादव की कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। 

याची पक्ष के अधिवक्ता इंद्रजीत फौगाट और पवन कुमार लांबा ने बताया कि मौड़ी स्थित सीबीएस स्कूल की बस सात दिसंबर को करीब 11 बजे स्कूल से विद्यार्थियों को लेकर चरखी के एससीआर स्कूल परीक्षा केंद्र जा रही थी। इसी बीच आरटीए स्टाफ ने बस रोक ली, चेकिंग टीम में आरटीए दर्शना भारद्वाज भी शामिल थीं।

उन्होंने चालक को रोड टैक्स की अदायगी न करने की बात कहते हुए बस से नीचे उतार लिया। इसके बाद चालक ने जब स्कूल संचालक से बात करवाई तो टीम ने विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र तक छोड़ने की सहमति दे दी। विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र पर छोड़ने के बाद आरटीए स्टाफ बस को कार्यालय के समीप ले गया और वहां 21 हजार रुपये जुर्माना के साथ 300 रुपये पार्किंग फीस भरवाई गई।

अधिवक्ता इंद्रजीत फौगाट ने बताया कि उस दौरान पेनल्टी टैक्स को लेकर लगाई गई थी, लेकिन आरटीए स्टाफ ने जुर्माना राशि लेने के बाद रोड टैक्स तक नहीं भरवाया। इसके अगले ही दिन उनके मोबाइल पर 8820 रुपये रोड टैक्स भरने की स्लिप भेजी गई जबकि उन्होंने रोड टैक्स भरा ही नहीं।

इस मामले को लेकर 22 मार्च को सीजेएम संदीप यादव की कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। वहीं, एडवोकेट इंद्रजीत फौगाट ने बताया कि इससे पहले इस मामले में एसपी कार्यालय में भी शिकायत दी गई, लेकिन पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिसके बाद उन्हें न्यायालय की शरण लेनी पड़ी। 

31 मार्च को कोर्ट ने सुनाया फैसला
एडवोकेट इंद्रजीत फौगाट ने बताया कि  सीजेएम कोर्ट ने 31 मार्च को ही इस संबंध में फैसला सुनाया है और आरटीए दर्शना भारद्वाज समेत सहकर्मियों पर छह धाराओं 166, 167, 192, 465, 467 व 471 के तहत केस दर्ज करने का आदेश दिया। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए पुलिस को सात मई तक चालान पेश करने का भी आदेश भी जारी किया है।
... और पढ़ें

सामूहिक दुष्कर्म मामला: मुख्य आरोपी गिरफ्तार, परिजनों ने किया मृतका का अंतिम संस्कार

चरखी दादरी के एक गांव निवासी किशोरी के सामूहिक दुष्कर्म से आहत होकर फंदा लगाकर आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अमित को पुलिस ने अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। मामले के दो आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। वहीं, पीड़ित परिवार ने शनिवार को मृतका का दाह-संस्कार कर दिया। 

पुलिस प्रवक्ता पवन कुमार ने बताया कि शुक्रवार को बाढड़ा थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी नाबालिग ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस तुरंत घटनास्थल पर पहुंची। मृतका के परिजनों ने इस संबंध में पुलिस को शिकायत दी, जिसमें अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया गया था। 

पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो और एससी-एसटी एक्ट समेत अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म संबंधी केस दर्ज किया था। पुलिस अधीक्षक दीपक गहलावत के आदेश पर पुलिस ने मुख्य आरोपी अमित को हंसावास खुर्द मोड़ से गिरफ्तार कर लिया। वहीं, दो अन्य आरोपियों की तलाश में बाढड़ा थाना प्रभारी चंद्रशेखर और डीएसपी देशराज के नेतृत्व में दो टीमें दबिश दे रही हैं।
... और पढ़ें

हरियाणा: अपहरण कर तीन युवकों ने किशोरी से किया सामूहिक दुष्कर्म, आहत होकर फंदा लगाकर दी जान

हरियाणा के चरखी दादरी में बाढड़ा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी से गांव के ही तीन युवकों ने गैंगरेप किया। इससे आहत होकर किशोरी ने घर आकर फंदा लगा लिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतका के परिजनों के बयान पर पुलिस ने इस संबंध में तीनों आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो और एससी-एसटी एक्ट समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। तीनों आरोपी गांव से फरार बताए जा रहे हैं।

बाढड़ा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर चंद्रशेखर ने बताया कि शुक्रवार दोपहर उन्हें सूचना मिली थी कि थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी साढ़े 17 साल की किशोरी ने घर पर फंदा लगा लिया है। इसके आधार पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची। मृतका के परिजनों ने गांव निवासी तीन युवकों पर अपहरण के अलावा गैंगरेप का आरोप लगाया।

उन्होंने बताया कि सिविल अस्पताल में मृतका का पोस्टमार्टम करवाया गया है। किशोरी के मौसेरे भाई ने बताया कि शुक्रवार सुबह उसकी मौसी और अन्य परिजन लावणी के लिए खेत में गए थे, जबकि घर पर उसकी मौसेरी बहन अकेली थी। उसी दौरान गांव निवासी तीन युवकों ने उसकी बहन का अपहरण कर लिया और एक आरोपी के घर ले गए।

वहां उन्होंने उससे गैंगरेप किया। मृतका के मौसेरे भाई ने बताया कि गली से गुजरते समय उसने बहन की चिल्लाने की आवाज सुनी तो वो अपने ताऊ के साथ वहां पहुंचा और अपनी बहन को उक्त युवकों के चुंगल से छुड़ाया। शिकायतकर्ता ने बताया कि गैंगरेप से आहत होकर उसकी बहन ने घर पर आकर फंदा लगा लिया। 

मृतका के परिजनों से की मारपीट
सिविल अस्पताल पहुंचे मृतका के मौसेरे भाई ने बताया कि शोर सुनकर वो अपने ताऊ के साथ एक आरोपी के घर गया और वहां उन्होंने छत पर बने कमरे के दरवाजे को ईंटों से तोड़ा। उनके कमरे के अंदर पहुंचते ही आरोपियों ने उससे मारपीट की। मृतका के मौसेरे भाई ने बताया कि तीनों में से एक आरोपी सेना में है।
 
... और पढ़ें

चरखी दादरी: होटल में खड़े ट्राले में किया विस्फोट, दो बम को बम निरोधक दस्ते ने किया निष्क्रिय, एक गिरफ्तार

हरियाणा के चरखी दादरी जिले के गांव कलियाणा के समीप होटल पर खड़े ट्रॉले में खनन में इस्तेमाल होने वाले बारूद से विस्फोट किया गया। इससे ट्रॉले को काफी नुकसान पहुंचा है। सूचना पर रेवाड़ी से बम निरोधक दस्ते ने मौके पर पहुंच दो विस्फोटकों को निष्क्रिय कर अपने कब्जे में ले लिया है। वारदात रंजिश से जोड़कर देखी जा रही है। 

पुलिस ने मामले में एक आरोपी सोनू को गिरफ्तार कर एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। गांव कलियाणा निवासी विजेंद्र ने पुलिस को बताया कि 14 मई की रात को उसने अपना ट्रॉला कलियाणा के समीप एक होटल के पास खड़ा किया था। सुबह आकर देखा तो ट्रॉले में काफी नुकसान मिला।

वहीं, होटल मालिक ने बिजेंद्र को बताया कि रात तीन बजे कुछ लोगों ने पहाड़ में पत्थर तोड़ने वाले बारूद से ब्लास्ट कर दिया। इससे ट्रॉले के टर्बो रेडियटर, अल्टीनेटर, इंजन में नुकसान हुआ है। बिजेंद्र ने पुलिस को बताया कि उसके भाई का कुछ दिन पहले कुछ लोगों से झगड़ा हुआ था। इस दौरान आरोपियों ने उसे चंद मिनटों में बर्बाद करने की धमकी थी। इसी रंजिश में आरोपियों ने वारदात की है। 
 
... और पढ़ें
ट्राला में विस्फोटक सामग्री को निष्क्रिय करने में जुटा बम निरोधक दस्ता। ट्राला में विस्फोटक सामग्री को निष्क्रिय करने में जुटा बम निरोधक दस्ता।

चरखी दादरी में हादसा: टक्कर मारने के बाद डंपर ने कार को 50 मीटर तक घसीटा, लोगों ने घायलों को छत काटकर निकाला बाहर

हरियाणा के चरखी दादरी में बरसाना और अटेला कलां के बीच गुरुवार दोपहर को हुए हादसे में रफ्तार का कहर देखने को मिला। कार को टक्कर मारने के बाद डंपर उसे करीब 50 मीटर की दूरी तक घसीटता हुआ ले गया। कार का अगला हिस्सा डंपर के नीचे घुस गया। हादसे के तुरंत बाद मौके पर बचाव कार्य के लिए पहुंचे ग्रामीणों ने अपने स्तर पर लोडर का प्रबंध कर कड़ी मशक्कत के बाद कार को डंपर के नीचे से निकाला।
 
हादसे में दम तोड़ने वालीं सगी बहनें सुमित्रा और भतेरी पीछे बैठी थीं। दोनों को ही गंभीर चोट लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं संजीत आगे बैठा था। उसकी भी मौत हो गई। मौके पर पहुंचे लोगों ने कार की छत काटकर घायलों को बाहर निकाला।
 
गुरुवार दोपहर हुए हादसे में एकसाथ तीन सदस्यों की मौत होने से भतेरी और सुमित्रा के परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूटा। सुमित्रा और भतेरी की शादी बुपनिया गांव निवासी राजेश और चंद्रहास नामक भाइयों से हुई थी। वो सात बहनें थीं और बड़ी बहन ओमपति की मौत के बाद दोनों बहनें अपने बेटों समरदीप और संजीत के साथ कार में सवार होकर गमी में आई थीं।
 
उन्हें क्या पता था कि यह उनका आखिरी सफर होगा। संजीत सुमित्रा का छोटा बेटा था। सुमित्रा न जहां मौके पर दम तोड़ दिया तो वहीं करीब ढाई घंटे बाद हादसे में गंभीर रूप से घायल बेटे संजीत की रोहतक पीजीआई में उपचार के दौरान मौत हो गई। कार संजीत ही चला रहा था जबकि सागर आगे बैठा था। घायलों के अनुसार हादसा एकाएक हो गया और उन्हें संभलने तक का मौका नहीं मिला।
 
वहीं, इस हादसे के बाद घटनास्थल पर लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। समय गंवाए बिना ही ग्रामीण और राहगीर बचाव कार्य में जुट गए। पहले एक लोडर को मौके पर बुलाया गया और फिर कार के पतरे को काटकर घायलों को बाहर निकाला गया। करीब 20 मिनट से अधिक समय कार को डंपर से अलग करने में लग गया।

हादसे की सूचना मिलते ही अस्पताल में स्टाफ हुआ अलर्ट
हादसे की सूचना मिलते ही सिविल अस्पताल में स्टाफ अलर्ट हो गया। इमरजेंसी कक्ष में तैनात चिकित्सक के अलावा अन्य चिकित्सक ओर स्टाफ सदस्य मदद करने के लिए इमरजेंसी कक्ष पहुंच गए। वहीं, घायलों के पहुंचने से पहले ही सिविल अस्पताल के गेट पर स्ट्रेचर की व्यवस्था कर दी गई।

एक ही हादसे में राजेश ने खोए पत्नी और बेटा
इस हादसे ने राजेश और चंद्रहास नामक भाइयों के परिवारों को जीवनभर का दर्द दे दिया। घटना में चंद्रहास की पत्नी भतेरी की मौत हो गई जबकि बेटा समरदीप घायल हो गया। वहीं, उसके छोटे भाई राजेश ने इस हादसे में छोटे बेटे संजीत और पत्नी सुमित्रा को खो दिया। एक दिन में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत होने से झज्जर जिले के बुपनिया गांव में भी सन्नाटा पसरा है। 
... और पढ़ें

चरखी दादरी: डंपर ने दूध वाहन को मारी टक्कर, दो की मौत, सुबह साढ़े पांच बजे हुआ हादसा

चरखी दादरी में दादरी-लोहारू मुख्यमार्ग पर बुधवार सबह एक डंपर और दुग्ध वाहन टाटा मैजिक की आमने-सामने टक्कर हो गई। हादसे में टाटा मैजिक सवार दो लोगों की मौत हो गई। अटेला कलां चौकी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों शव कब्जे में ले लिए। मृतकों का पोस्टमार्टम दादरी सिविल अस्पताल में करवाया जाएगा।

जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह एक दुग्ध वाहन बाढड़ा की तरफ जा रहा था जबकि डंपर दादरी की तरफ आ रहा था। करीब साढ़े पांच बजे अटेला कलां के समीप दोनों वाहन टकरा गए। हादसे में डंपर पेड़ से जा टकराया जबकि दुग्ध वाहन का अगला हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया और इसमें सवार दोनों लोगों की मौके पर मौत हो गई। मृतकों की पहचान भिवानी की राजीव कॉलोनी निवासी संदीप (32) और बिचला बाजार निवासी विकास (35) के रूप में हुई है।
... और पढ़ें

चरखी दादरी: राजस्व विभाग के कार्यालय से गायब हुआ 15 साल पहले बंटे मुआवजे का रिकॉर्ड, आरटीआई से जानकारी मांगने पर खुलासा

राजस्व विभाग के कार्यालय से सात गांवों में 15 साल पहले बंटे मुआवजा का रिकॉर्ड चोरी होने का मामला सामने आया है। नायब तहसीलदार की शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात के खिलाफ धारा 380 के तहत केस दर्ज कर लिया है। रिकॉर्ड चोरी का खुलासा एक व्यक्ति द्वारा आरटीआई में मुआवजा वितरण संबंधी रिकॉर्ड मांगने पर हुआ। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
 
पुलिस को दी शिकायत में नायब तहसीलदार कृष्ण कुमार ने बताया कि तहसील कार्यालय के ऑफिस कानूनगो रिकॉर्ड रूम में वर्ष 2007 में बांटे गए ओलावृष्टि के मुआवजा का रिकॉर्ड रखा था, जिसकी एफीआर और मास्टर कॉपी नहीं मिली है। ये जरूरी दस्तावेज चोरी हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि यह मामला तब संज्ञान में जब एक व्यक्ति ने आरटीआई के तहत सूचना मांगी। इसके चलते उक्त व्यक्ति ने सूचना आयुक्त चंडीगढ़ को अपील भेजी। इस पर संज्ञान लेते हुए सूचना आयुक्त ने कार्यालय में रिकॉर्ड की तलाश करने के आदेश दिए थे, लेकिन रिकॉर्ड वहां नहीं मिला।
 
इन गांवों का रिकॉर्ड है गायब
जिन सात गांवों के मुआवजा वितरण का रिकॉर्ड कार्यालय से गायब है उनमें गांव फतेहगढ़, मिसरी, साहुवास, चरखी, पैंतावास कलां, अखत्यापुरा व मानकावास शामिल है।
 
 
 
... और पढ़ें

चरखी दादरी में वारदात: बस में महिला स्टेनो के बैग से निकाली सोने की चेन, दो महिलाएं गिरफ्तार

चोरी
चरखी दादरी से अपने गांव आने के लिए बस में सवार हुई एक महिला स्टेनो के बैग से दो महिलाओं ने सोने की चेन निकाल ली। मकड़ाना निवासी स्टेनो को कुछ देर बाद ही वारदात का पता चल गया। इसके बाद उसने मामले की सूचना कंट्रोल रूम में दी और ईआरवी टीम ने बस को रुकवाकर दोनों महिलाओं से चेन बरामद कर ली। वहीं, झोझूकलां थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर दोनों आरोपी महिलाओं के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। दोनों आरोपी होडल की रहने वाली हैं।

जानकारी के अनुसार मकड़ाना निवासी मीनाक्षी स्टेनो है और उनकी पोस्टिंग भिवानी में है। सोमवार शाम वह अपनी ड्यूटी कर भिवानी से दादरी आई थी और शाम करीब सवा छह बजे अपने गांव जाने के लिए दादरी बस स्टैंड से कनीना वाली बस में सवार हुई थी। मीनाक्षी के अनुसार बस में उसके पास दो महिलाएं बैठी थीं और उसने अपना बैग अपनी गोद में रखा हुआ था। उक्त दोनों महिलाओं ने मौका पाकर बैग में रखी करीब दो तोला वजन की सोने की चेन निकाल ली। महिलाओं के वारदात करने के कुछ देर बाद ही मीनाक्षी को आभास हो गया। इसके बाद उसने बैग की जांच की तो सोने की चेन नहीं मिली। उसने शोर मचाया तो चालक ने बस रोक ली। मीनाक्षी ने होश से काम लेते हुए तत्काल मामले की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम में दी। 

दस मिनट में झोझूकलां थाना क्षेत्र में तैनात ईआरवी एचआर-99-0158 मौके पर पहुंची और मकड़ाना के समीप बस को रुकवा लिया। पुलिस टीम को देखकर दोनों महिलाएं सकपका गईं और पूछताछ करते ही उन्होंने चेन चुराने की वारदात कबूल कर ली। इसके बाद उक्त महिलाओं ने पुलिस टीम को चुराई गई चेन सौंप दी। पुलिस ने दोनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया और उन्हें झोझूकलां थाने ले आई। वहां उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया।

इस संबंध में दोनों महिलाओं के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। उनसे चेन बरामदगी हो गई है। दोनों आरोपी महिलाएं होडल की रहने वाली हैं। - जसमेर गुलिया, इंस्पेक्टर एवं झोझूकलां थाना प्रभारी
... और पढ़ें

चरखी दादरी: मोबाइल चुराकर निजी डाटा किया वायरल, क्षुब्ध होकर जहर निगलने से युवक की मौत

हरियाणा के चरखी दादरी के बौंदकलां कस्बा निवासी एक युवक का दुकान से मोबाइल चुराकर एक शख्स ने उसका निजी डाटा सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इससे क्षुब्ध युवक ने शुक्रवार सुबह अपने घर में जहर निगल लिया। युवक की पीजीआई रोहतक में मौत हो गई। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। वहीं, रोहतक पीजीआई में शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। मृतक की पहचान विकास (29) के रूप में हुई है।

पुलिस को दिए बयान में मृतक विकास के पिता नत्थूराम ने बताया कि उसके दो लड़के व एक लड़की है। जिसमें से विकास सबसे छोटा व अविवाहित था। उसने गांव ऊण में खल-बिनौला की दुकान की हुई थी। एक मई को विकास ने धर्मबीर नामक व्यक्ति की दुकान पर फोन रखा हुआ था, जिसे रवि नामक युवक ने चोरी कर लिया।

इसके बाद रवि ने उसके बेटे के निजी ऑडियो व वीडियो वायरल कर दी। आरोपी ने उसके बेटे पर और भी वीडियो वायरल करने की बात कहकर दबाव बनाया। मृतक के पिता के अनुसार पांच मई को इस संबंध में पुलिस को शिकायत दी गई थी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।

वहीं, फोन वापस न मिलने और निजी ऑडियो व वीडियो वायरल होने से क्षुब्ध होकर उसके बेटे ने 6 मई को जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। वे उसे उपचार के लिए पीजीआई रोहतक ले गए। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

आरोपी पर दो मामले हुए दर्ज
बौंदकलां थाना पुलिस ने शनिवार को शव का पोस्टमार्टम रोहतक पीजीआई में करवाया। पुलिस ने विकास द्वारा 5 मई को दी गई शिकायत पर संज्ञान लेते हुए 6 मई को आरोपी रवि के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। वहीं, विकास द्वारा आत्महत्या करने के बाद पुलिस ने पिता के बयान आरोपी रवि के खिलाफ 7 मई को केस दर्ज किया है।

परिजनों ने पुलिस पर लगाए कार्रवाई न करने के आरोप
मृतक के पिता नत्थूराम ने पुलिस पर आरोपी युवक के खिलाफ कार्रवाई न करने के आरोप लगाए है। उनका कहना है कि पुलिस ने विकास के द्वारा एफआईआर दर्ज करवाने के बाद भी आरोपी के खिलाफ कोई कानूनी कदम नहीं उठाया। जिसके कारण विकास मानसिक रूप से परेशान हो गया और उसने आत्महत्या कर ली। अगर पुलिस समय रहते आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लेती तो विकास की जान बच सकती थी।
 
... और पढ़ें

चरखी दादरी: गाड़ी खड़ी करने को लेकर चल रही थी रंजिश, व्यक्ति को घर के बाहर मारी गोली

चरखी दादरी में गैराज के सामने गाड़ी खड़ी करने को लेकर चल रहे विवाद में गुरुवार रात रावलधी निवासी एक व्यक्ति को मकान के बाहर गोली मारने का मामला सामने आया है। गोली व्यक्ति के पेट में लगी और उसका अस्पताल में उपचार चल रहा है। देर रात ही सदर थाना पुलिस और सीआईए टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने इस संबंध में घायल के भतीजे के बयान पर आठ नामजद समेत 15 अन्य के खिलाफ सशस्त्र अधिनियम समेत धारा 147, 148, 149, 307, 506 और 427 के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
 
सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में रावलधी निवासी जितेंद्र ने बताया कि वह दादरी में रेडीमेड कपड़ों की दुकान चलाता है। उसने बताया कि गांव में मंदिर के पास मुख्य रोड पर नरेश उर्फ टैनी ने चाय की दुकान कर रखी है और उसकी दुकान के पास ही हमने भी गाड़ी खड़ी करने के लिए एक दुकान किराये पर ली हुई है। जितेंद्र ने बताया कि नरेश उर्फ टैनी उनके गैराज के सामने  ट्रक खड़े करवा देता है, जिससे उन्हें गाड़ी निकालने व खड़ी करने में दिक्कतें होती हैं। इस बात को लेकर उनकी कहासुनी हो चुकी है।

जितेंद्र ने बताया कि गुरुवार रात नौ बजे वह गाड़ी लेकर दादरी से रावलधी आया था। उसने नरेश की दुकान के पास अपनी गाड़ी पार्क कर दी और घर चला  गया। रात को उन्हें घर के बाहर गाली-गलौज और घर के दरवाजों को डंडों से पीटने की आवाज सुनाई दी। आवाज सुनकर उसका चाचा विनोद बाहर निकला तो करीब 20 युवक बाहर लाठी-डंडे व हथियार लिए खड़े थे। उन्होंने जान से मारने की नीयत से फायर किया। गोली विनोद के पेट में जा लगी। जितेंद्र ने बताया कि फायरिंग की आवाज सुनकर आस-पड़ोस के लोगों के बाहर निकलने पर आरोपी फरार हो गए।
 
... और पढ़ें

चरखी दादरी: 22 साल से फरार चल रहा उद्घोषित अपराधी मुंबई से गिरफ्तार, पांच हजार का इनाम था घोषित

हरियाणा के चरखी दादरी में 22 साल से फरार चल रहे एक उद्घोषित अपराधी को स्पेशल स्टाफ ने मुंबई से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी पर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया हुआ था। आरोपी के खिलाफ सिटी थाने में धारा 174-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस प्रवक्ता पवन कुमार ने बताया कि झोझूकलां निवासी विकास पर वर्ष 1999 में दो मामले दर्ज थे। 20 जुलाई 2000 को कोर्ट ने उसे पीओ घोषित किया था। इसके बाद से ही जिला पुलिस को उसकी तलाश थी। प्रवक्ता ने बताया कि स्पेशल स्टाफ प्रभारी शमशेर सिंह ने उसे गुप्त सूचना के आधार पर मुंबई से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर पूछताछ के लिए एक दिन के रिमांड पर लिया है।

2016 में पुलिस ने घोषित किया था इनाम
कोर्ट ने आरोपी को एक साल बाद ही उद्घोषित अपराधी घोषित कर दिया था। जब आरोपी पकड़ में नहीं आया तो करीब 16 साल बाद पुलिस ने आरोपी पर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। आरोपी पर एक केस धारा 294 और दूसरा केस 363 व 366 के तहत दर्ज था। सूत्रों ने बताया कि इनाम घोषित होने के बाद भी आरोपी करीब 6 साल तक पुलिस की पकड़ से बाहर रहा। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर आरोपी को मुंबई से पकड़ने में सफलता हासिल की है। आरोपी को एक दिन के रिमांड पर लेकर अब उससे पूछताछ कर अन्य जानकारी हासिल करेगी।
... और पढ़ें

कार्रवाई: दिल्ली पुलिस ने इमलोटा में पकड़ी नकली सिक्के बनाने की फैक्टरी, चार श्रमिक भी गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने चरखी दादरी के इमलोटा गांव में दबिश देकर नकली सिक्के बनाने की एक फैक्टरी पकड़ी है। यह कार्रवाई शुक्रवार देर रात की गई। बताया जा रहा है कि इस दबिश से पहले पुलिस ने दादरी निवासी नरेश को दिल्ली क्षेत्र से नकली सिक्कों के साथ दबोचा था और उसकी निशानदेही पर यह कार्रवाई की गई। वहीं, सदर थाना पुलिस का कहना है कि इस संबंध में 22 अप्रैल को दिल्ली में ही केस दर्ज हुआ था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल टीम वाटिका में चलाई जा रही फैक्टरी से सिक्के बनाने की मशीनें ले गई जबकि यहां से चार प्रवासी श्रमिकों को भी काबू किया गया है। गिरफ्तार किए गए श्रमिक बिहार के बताए जा रहे हैं।
... और पढ़ें

चरखी दादरी: सेना भर्ती के नाम पर तीन युवकों से 21 लाख रुपये ठगने का चौथा आरोपी गिरफ्तार, बागपत से धरा

आर्मी ऑर्डिनेंस फैक्टरी मुरादनगर में भर्ती के नाम पर तीन युवकों से 21 लाख रुपये की ठगी करने के चौथे आरोपी को हरियाणा के चरखी दादरी जिले के बाढड़ा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी बागपत से हुई है। आरोपी अतुल जैन गाजियाबाद के लोनी देहात का निवासी है। पुलिस ने बुधवार को आरोपी को अदालत में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है।

पुलिस प्रवक्ता पवन कुमार ने बताया कि बड़राई निवासी उमेश ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायत देकर बताया कि कादमा निवासी दिनेश कुमार ने उनसे संपर्क कर उनके बेटों को आर्मी ऑर्डिनेस में भर्ती करवाने का झांसा दिया था। इसके अलावा उसके दोस्त मुनेश और चिड़िया निवासी उसके साले रविंद्र ने भी दिनेश से बेटे को नौकरी लगाने की बात कही।

छह अक्तूबर 2020 को भर्ती करवाने के लिए दिनेश उसके घर से तीनों लड़कों के कागजात व तीन तीन लाख रुपये ले गया। इस दौरान उसने एक युवक की भर्ती पर सात लाख रुपये लेने की बात कही। इसके बाद 23 नवंबर 2020 को दिनेश कुमार तीनों के ज्वाइनिंग लेटर लाया और चार-चार लाख रुपये भी ले लिए।

ज्वाइनिंग लेटर देते समय दिनेश ने एक से 10 दिसंबर 2020 तक ज्वाइनिंग करने की बात कही। तीनों लड़कों के साथ आठ दिसंबर 2020 को ज्वाइनिंग लेटर लेकर ऑर्डिनेंस फैक्टरी मुरादनगर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि ज्वाइनिंग लेटर फर्जी है।

इसके बाद उन्होंने दिनेश से संपर्क किया तो उसने 21 लाख रुपये लौटाने की बात कही, लेकिन रुपये दिए नहीं। इस मामले में पुलिस ने आरोपी दिनेश समेत उसके साथियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। इस मामले में अब पुलिस ने चौथी गिरफ्तारी की है।

इन तीन आरोपियों को पहले किया जा चुका गिरफ्तार
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी अतुल जैन की इस मामले में चौथी गिरफ्तारी है। इससे पहले कादमा निवासी दिनेश, कांहड़ा निवासी दीपक और जावा निवासी राजेश उर्फ राजू मास्टर को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें
सबसे तेज और बेहतर अनुभव के लिए चुनें अमर उजाला एप
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00