विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दिल्ली पुलिस के जवान और दोस्त को चलती बाइक सवार में पल्सर सवारों ने पीटा

चरखी दादरी। गांव नौसवा निवासी दिल्ली पुलिस के जवान और उसके दोस्त पर चलती बाइक में पल्सर सवारों ने डंडे बरसा दिए। हमले में पुलिस जवान को चोटें आईं हैं। उसे पीजीआई रोहतक रेफर किया गया है। सदर पुलिस ने घायल के बयान पर पल्सर सवारों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। घायल का आरोप है कि दो दिन पहले उक्त हमलावरों ने उसके दोस्त को भी घायल किया था।
पुलिस बयान में नौसवा निवासी सुमित ने बताया कि वह दिल्ली पुलिस में सिपाही है। इस समय वह छुट्टी पर घर आया हुआ है। वह अपने साथी मिंटू और प्रीतम के साथ बाइक पर सवार होकर चिड़िया निवासी दोस्त रविंद्र से मिलने आया था। रविंद्र को पीजीआई से हाल ही में छुट्टी मिली थी और वह हमले में घायल हुआ था। सुमित ने बताया कि जब वे मौड़ी छोटी नहर से नीचे उतरे तो पीछे से एक पल्सर बाइक आई। युवक ने चलती बाइक में उसके माथे पर डंडा मारा। इसके बाद आरोपी ने पीछे बैठे उसके दोस्त मिंटू पर भी डंडे से हमला किया लेकिन वह हाथ से डंडा पकड़कर बचाव करने में कामयाब रहा। घायल ने बताया कि उक्त लोगों ने उनकी बाइक रुकवाने का भी प्रयास किया लेकिन उन्होंने बाइक को वहां से दौड़ा लिया। भगा लिया। घायल ने बताया कि सिर में डंडा लगने से उसे चक्कर आने लगे और मिंटू और प्रीतम ने उसे उपचार के लिए दादरी सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। वहां से उसे प्राथमिक उपचार के बाद रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया गया। आदमपुर पुलिस चौकी से हेड कांस्टेबल जोरा सिंह ने बताया कि घायल के बयान पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जल्द ही पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर लेगी।
... और पढ़ें

पुलिस पर लगाया आरोपियों को गिरफ्तार न करने का आरोप


चरखी दादरी। रोहतक जिले के गांव चमारियां निवासी एक चालक ने डंपर सहित 20 हजार रुपये की-नकदी छीनने के आरोपियों पर पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में सोमवार को उसने एसपी कार्यालय व सीएम विंडो पर शिकायत दी है। शिकायर्ता ने फरियाद में बताया कि उससे छीना गया डंपर सदर थाने में खड़ा है लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। वहीं, पुलिस उस पर समझौते का दबाव बना रही है।
एसपी ऑफिस व सीएम विंडो पर दर्ज करवाई शिकायत में डंपर चालक सोनू ने बताया कि वह पानीपत के समालखा निवासी एक व्यक्ति का डंपर चलाता है। उसे बिरही कलां क्रशर जोन से डंपर में माल भरना था। डंपर को क्रशर जोन पर खड़ा कर रखा था। इसी बीच तीन व्यक्ति वहां आए उन्होंने रात के समय हथियार दिखाकर उसे नीचे उतार दिया। तीनों व्यक्ति उससे डंपर, 20 हजार की नकदी और कागजात छीन ले गए। इस घटना के बाद उसने पुलिस को फोन पर सूचित किया और पुलिस मौके पर भी पहुंची। शनिवार सुबह पुलिस ने डंपर गाड़ी को तिवाला गांव से बरामद कर लिया। डंपर चालक का आरोप है कि इस मामले में पुलिस का एक अधिकारी उस पर समझौते का दबाब बना रहा है। एसपी से की शिकायत में बताया कि उसने डंपर गाड़ी में जीपीएस सिस्टम भी लगवा रखा है जिससे डंपर की लोकेशन गांव तिवाला दर्शाई जा रही है। इस संबंध में सदर पुलिस थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह का कहना है कि पुलिस ने डंपर छीनने संबंधी केस दर्ज नहीं किया है।
... और पढ़ें

निगम टीम से मारपीट करने पर दो के खिलाफ दर्ज हुआ केस

चरखी दादरी। घिकाड़ा गांव में निगम टीम से मारपीट करने के आरोप में सदर पुलिस ने शनिवार देर शाम केस दर्ज कर लिया है। मामला घायल लाइनमैन अमित की शिकायत पर दो लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है। रविवार शाम तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी और निगम के चारों कर्मचारियों से छीने गए मोबाइल भी अभी पुलिस को बरामद नहीं हुए हैं। इसकी पुष्टि सदर थाना प्रभारी सुरेंद्र कुमार ने की। सदर थाना पुलिस का कहना है कि मामले की जांच शुरू हो चुकी है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
शनिवार दोपहर बिजली निगम की पांच सदस्यीय टीम बिजली चोरी पकड़ने घिकाड़ा गांव गई थी। इस दौरान बिजली चोरी पकड़ में आने के बाद निगम टीम से हाथापाई की गई। पुलिस शिकायत में घायल लाइनमैन अमित ने बताया कि घिकाड़ा निवासी एक ग्रामीण को उन्होंने बाहर बुला लिया। टीम में शामिल अन्य सदस्य बिजली चोरी की वीडियो बनाने लगे। इस दौरान उक्त ग्रामीण ने एक अन्य के साथ मिलकर टीम से बदतमीजी की और विरोध करने पर मारपीट भी की गई। लाइनमैन अमित ने बताया कि दोनों आरोपियों ने चारों के मोबाइल भी छीन लिए। गांव के सरपंच ने उसे उपचार के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया। सदर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि घायल कर्मचारी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी प्रदीप और कुलदीप पर मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हा पाई है। पुलिस जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर छीने गए मोबाइल भी बरामद कर लेगी।
... और पढ़ें

दादी के साथ भैंस को पानी पिलाने गया सवा साल का मासूम, किसी ने पानी की टंकी में डूबोकर मार डाला

दादी के साथ भैंसों को पानी पिलाने गए सवा साल के रक्षित का शव थोड़ी दूरी पर स्थित एक अन्य प्लॉट की अंडरग्राउंड पानी की टंकी से बरामद हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मासूम बच्चे के शव को बाहर निकलवाकर पोस्टमार्टम को भेजा। इसके बाद परिजनों की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। परिजनों ने गांव के एक दंपती पर मासूम रक्षित की हत्या का संदेह जताया है। 

बौंदकलां थाना क्षेत्र के गांव सौंप निवासी सतबीर ने बताया कि गुरुवार शाम करीब सात बजे उसके पोता रक्षित (14 माह) अपनी दादी के साथ घर के पास ही प्लाट में भैंसों को पानी पिलाने गया था। प्लॉट पहुंचने पर दादी ने रक्षित को गेट के पास गोद से उतारकर जमीन पर बैठा दिया। करीब पांच मिनट बाद जब वह वापस आई तो रक्षित वहां नहीं मिला। इस पर दादी ने सोचा कि शायद दादा सतबीर रक्षित को घर ले गया होगा। 
 

यह भी पढ़ें: चंडीगढ़ः कूड़े में नवजात को फेंकने वाला पिता गिरफ्तार, बोला- मृत थी, दफनाने जा रहा था जंगल
 
इसके बाद भी वह हड़बड़ाहट में घर पहुंची तो वहां भी रक्षित नहीं मिला। इसके बाद घर के सभी सदस्य मासूम रक्षित की तलाश में जुट गए। रात करीब दस बजे रक्षित का शव एक प्लॉट में बनी अंडरग्राउंड टंकी से बरामद हुआ। मामले की सूचना पाकर बौंदकलां थाना प्रभारी राम अवतार और सीआईए टीम भी मौके पर पहुंची। देर रात ही जिला पुलिस कप्तान बलवान सिंह राणा भी घटनास्थल पर पहुंचे और हालातों का जायजा लिया। 
... और पढ़ें
मासूम रक्षित का फाइल फोटो। मासूम रक्षित का फाइल फोटो।

चरखी दादरीः किसान की हत्या करके फरार हुए 7 श्रमिक, यूपी के रहने वाले हैं सभी आरोपी, केस दर्ज

हरियाणा के चरखी दादरी जिले में एक किसान की शुक्रवार रात उसके ही खेत में प्रवासी श्रमिकों ने हत्या कर दी और फिर वे फरार हो गए। किसान के सिर पर ट्रैक्टर लिफ्ट की रॉड से कई वार किए गए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। शनिवार सुबह सदर थाना पुलिस और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने सिविल अस्पताल में चिकित्सकों के बोर्ड से मृतक का पोस्टमार्टम कराया और सातों श्रमिकों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। सभी आरोपी उत्तर-प्रदेश के पीलीभीत जिले के गांव आमडर के रहने वाले हैं और उनकी तलाश पुलिस ने शुरू कर दी है। हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के अनुसार, टिकान कलां निवासी कश्मीर(35) शुक्रवार शाम श्रमिकों के साथ खेत में तूड़ा डालने के लिए घर से गया था। शनिवार सुबह वह खेत में मृत मिला। मृतक के पिता लीलाराम ने बताया कि गत 15 मार्च को उत्तर-प्रदेश के पीलीभीत जिले के गांव आमडर निवासी सात श्रमिक उनके यहां काम करने आए थे। उन सभी को रहने के लिए उन्होंने कमरा दिया हुआ था। शुक्रवार शाम कश्मीर उन सभी को साथ लेकर तूड़ा लेने के लिए खेत में गया हुआ था। इसी दौरान अज्ञात कारणों के चलते उनके बीच झगड़ा हो गया और श्रमिकों ने ट्रैक्टर की लिफ्ट की रॉड से कश्मीर के सिर पर कई वार कर मौत के घाट उतार दिया।

हत्याकांड को अंजाम देकर सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। मृतक के पिता ने बताया कि शनिवार सुबह उनके खेत के समीप बने मकान में रहने वाला एक व्यक्ति मौके पर पहुंचा तो उसे कश्मीर मृत मिला। इसके बाद मामले की जानकारी परिजनों को दी गई। सूचना मिलते ही परिजन और ग्रामीण खेत में पहुंचे। वहीं, मामले की सूचना मिलते ही सदर थाना प्रभारी नरेंद्र दहिया मौके पर पहुंचे और उन्होंने शव को अपने कब्जे में ले लिया। कुछ देर बाद ही एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंच गई और शव की जांच की। इसके बाद शव को सिविल अस्पताल लाया गया और कागजी प्रक्रिया पूरी कर पुलिस ने चिकित्सकों के बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया।
... और पढ़ें

चरखी दादरीः जोहड़ के पास मिला महिला का शव, पति ने घर पर तोड़ा दम, जांच में जुटी पुलिस

पति से घर से अल सुबह टहलने निकली महिला का शव गांव में ही एक जोहड़ के पास मिला जबकि पति घर में मृत मिला। दोनों सुबह एक साथ टहलने के लिए निकले थे। ऐसे में दोनों के शव अलग-अलग स्थानों पर मिलने से मौत की गुत्थी उलझती जा रही है। वहीं सूचना पर एसपी बलवान सिंह राणा के साथ ही एफएसएल टीम ने घटनास्थल की जांच पड़ताल की। प्रारंभिक जांच में जहर खाकर दोनों की जान देने की बात सामने आ रही है। हालांकि दोनों के शवों का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से कराने के लिए पीजीआई रोहतक भेज दिया गया। 

समसपुर गांव निवासी राजेश (45) मजदूरी करता था। परिवार में पत्नी पत्नी सीता (40) के अलावा तीन बेटे भी है। बेटे के मुताबिक दोनों सुबह-सुबह एक साथ टहलने जाते थे। शुक्रवार की अल सुबह तीन बजे दोनों टहलने के लिए घर से निकले थे। एक घंटे बाद बड़े बेटे ने पिता को घर पर अचेत पाया। इसके तुरंत बाद वह उनको लेकर सिविल अस्पताल पहुंचा। जहां डॉक्टरों ने राजेश को मृत घोषित कर दिया। 

वहीं, तीनों बेटों और अन्य परिजनों ने सीता की तलाश शुरू की। इस दौरान पता चला कि एक महिला का शव जोहड़ के समीप नग्न अवस्था में पड़ा है। परिजन वहां पहुंचे तो शव सीता का मिला। सुबह छह बजे सूचना मिलते ही सदर थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह अपनी टीम सहित मौके पर पहुंचे। इसके बाद डीएसपी हेडक्वार्टर जोगेंद्र सिंह और शमशेर सिंह दहिया भी घटनस्थल पर पहुंचे। करीब सात बजे एसपी बलवान सिंह राणा समसपुर पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया गया। फिलहाल जहर निगलने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।
... और पढ़ें

'महिला दिवस' पर एक मां की हत्या, बेटे ने मुंह और गर्दन पर किए कुल्हाड़ी से वार, हो गया फरार

झज्जर जिले के गांव दुबलधन निवासी एक महिला की चरखी दादरी के गांव भांडवा में शनिवार रात हत्या कर दी गई। हत्याकांड को अंजाम देने का आरोप मृतका के बड़े बेटे पर है। वारदात के बाद से ही वह गायब है। मृतका के भाई की शिकायत पर पुलिस ने बेटे सुनील के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। रविवार दोपहर बाद बाढ़ड़ा थाना पुलिस ने मृतका सुमन देवी का चरखी दादरी सिविल अस्पताल में बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया।

जानकारी अनुसार सुमन देवी (52) अपने पति समर सेन और तीनों बेटों के साथ करीब डेढ़ साल पहले दुबलधन से भांडवा शिफ्ट हुई थी। भांडवा गांव में उसका मायका है। यहां उन्होंने जमीन खरीद ली थी। शनिवार रात समर सेन अपने छोटे बेटे सुधीर और साले सोमबीर के साथ खेत में था जबकि घर पर सुमन देवी और बड़ा बेटा सुनील था। रात करीब सवा नौ बजे सुधीर और समर सेन घर लौटे तो सुमन मृत हालत में मिली।

मृतका के माथे से लेकर गर्दन तक चार वार किए गए जिसके चलते रक्त स्त्राव होने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। देर रात ही बाढ़डा थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया। रविवार दोपहर बाद पुलिस ने दादरी सिविल अस्पताल में मृतका का पोस्टमार्टम कराया। वारदात के समय मृतका का मंझला बेटा सुमित नौकरी के सिलसिले में रेवाड़ी गया हुआ था।

 पिता पर पहले हमले कर घर में आग लगा चुका है आरोपी
हत्याकांड के बाद से मृतका का बड़ा बेटा सुनील घर से गायब है। समर सेन ने बताया कि 2008 से सुनील की मानसिक हालत ठीक नहीं है। बारह साल में वह उस पर 50 से अधिक हमले कर चुका है। वो हर जगह उसका उपचार करवा चुके हैं लेकिन बीमारी पकड़ में नहीं आ रही। समर सेन ने बताया कि गत अक्तूबर माह में सुनील ने उस पर हमला करने के बाद घर में आग भी लगा दी थी। इतना ही नहीं मां की हत्या करने के बाद चूल्हे में कुल्हाड़ी जलाने का प्रयास भी किया लेकिन परिवार के लोगों की नजर कुल्हाड़ी पर पड़ गई।  

सुमन देवी का पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल में करवा दिया है। इस संबंध में मृतका के बड़े बेटे सुनील के खिलाफ 302 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हमारी टीमों ने दबिश शुरू कर दी है।
- वीर सिंह, बाढ़डा, थाना प्रभारी।
... और पढ़ें

चरखी दादरीः तीन साल के बेटे संग फंदे पर झूली महिला, देखकर पुलिस वाले भी रह गए हैरान

सांकेतिक तस्वीर
तीन साल के बेटे के साथ एक महिला ने फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। फांसी पर झूलते मासूम को देखकर पुलिस वाले भी हैरान रह गए। घटना हरियाणा के चरखी दादरी जिले के बाढड़ा उपमंडल के गांव जीतपुरा की है। गांव निवासी एक महिला अपने तीन वर्षीय बेटे के साथ घर पर ही संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे पर झूलती मिली।

मृतका रितु की शादी पांच साल पहले हुई थी और उसकी एक ही संतान थी। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, महिला ने पहले बेटे रौनक को फंदे पर लटकाया और फिर उसी फंदे पर खुद फांसी लगा ली। बाढड़ा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को अपने कब्जे में ले लिया है। चरखी दादरी सिविल अस्पताल में मृतका और उसके बेटे का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।
... और पढ़ें

बाढड़ाः नाचते समय हुआ विवाद, डीजे मालिक ने बराती को पिकअप से कुचला

गोबिंदुपरा गांव में आयोजित शादी समारोह में नाचते समय हुए विवाद के बाद एक बाराती की पिकअप से कुचलकर हत्या करने का मामला सामने आया है। मृतक के चचेरे भाई ने डीजे मालिक सहित चार लोगों पर हत्या के आरोप लगाए हैं।

वारदात के बाद आरोपी पिकअप सहित मौके से फरार हो गए। बाढड़ा थाना पुलिस ने लोहारु के ढाणी टोडा निवासी मृतक प्रवीन का पोस्टमार्टम दादरी सिविल अस्पताल में करवाया। पुलिस ने चारों आरोपियों पर हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दिए बयान में ढाणी टोडा निवासी नरेंद्र ने बताया कि 22 नवंबर को उनके परिवार के अमित व पुनित की शादी थी। बारात बाढड़ा उपमंडल के गांव गोबिंदपुरा आई थी। बारात में उसके ताऊ के बेटे कुलदीप और प्रवीन पुत्र शेर सिंह भी आए हुए थे।

नरेंद्र ने बताया कि शादी के लिए बसीरवास निवासी सज्जन सिंह अपना डीजे लेकर आया हुआ था। नाचते समय प्रवीन की सज्जन, बलवान, महाबीर व फौजी नामक लोगों के साथ कहासुनी हो गई। वहां मौजूद लोगों ने बीच-बचाव कर विवाद शांत करवा दिया।

मृतक के चचेरे भाई ने बताया कि रात करीब सवा 12 बजे उक्त चारों प्रवीन से दोबारा मारपीट करने लगे और वह उसे छुड़ाकर अपने साथ ले गया। इसी दौरान उक्त चारों वहां पहुंच गए। उन्होंने आते ही प्रवीन से मारपीट शुरू कर दी।

इस दौरान आरोपी सज्जन ने पिकअप प्रवीन पर चढ़ा दी। मृतक के भाई का आरोप है कि पिकअप प्रवीन के ऊपर से गुजरने के बाद आरोपियों ने बैक कर दोबारा प्रवीन पर चढ़ा दी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मामले की सूचना मिलते ही ही बाढड़ा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया।

पुलिस ने मृतक के भाई नरेंद्र के बयान दर्जकर मृतक का पोस्टमार्टम दादरी अस्पताल में चिकित्सकों के बोर्ड से करवाया। बाढड़ा थाना प्रभारी तेलूराम ने बताया कि पुलिस ने सज्जन, बलवान, महाबीर व फौजी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

संतुलन बिगड़ने से पलटी बोलेरो कैंपर, यूपी और बिहार के 16 श्रमिक घायल, एक की मौत

चरखी दादरी के लोहारू चौक पर निर्माणाधीन ओवरब्रिज पर काम करने आ रहे श्रमिकों की बोलेरो कैंपर शुक्रवार सुबह अनियंत्रित होकर पलट गई। दुर्घटना में एक श्रमिक की मौत हो गई, जबकि 16 गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों में से चार को प्राथमिक उपचार के बाद रोहतक पीजीआई रेफर किया गया है। 

सिटी थाना पुलिस ने सिविल अस्पताल पहुंचकर घायलों के बयान दर्ज किए। सभी घायल बिहार और उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। वे काम के सिलसिले में चरखी दादरी आए हुए हैं। सिटी थाने के एसआई राजबीर सिंह ने बताया कि मृतक श्रमिक के परिजन शुक्रवार शाम तक चरखी दादरी नहीं पहुंचे, जिसके चलते उसका पोस्टमार्टम नहीं हो पाया।

एसआई राजबीर सिंह ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे महेंद्रगढ़ चौक के समीप अस्थाई बस्ती से श्रमिकों को लेकर बोलेरो कैंपर लोहारू रोड चौक स्थित निर्माणाधीन ओवरब्रिज साइट पर आ रही थी। 

आरओबी पर करीब 100 मीटर चलने के बाद चालक अचानक संतुलन खो बैठा और कैंपर अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गई। दुर्घटना में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के गांव पांडोली निवासी राजेश (32) की मौके पर ही मौत हो गई। वह विवाहित था और उसका परिवार पांडोली गांव में ही रहता है।
... और पढ़ें

चरखी दादरीः 4 साल पहले किया था प्रेम विवाह, पति की प्रताड़ना से तंग आकर युवती ने लगाया फंदा

चार साल पहले मंदोली निवासी एक युवक से प्रेम विवाह करने वाली गुरुग्राम निवासी महिला ने पति की प्रताड़ना से तंग आकर फंदा लगा लिया। युवती का शव रविवार दोपहर खेत में एक पेड़ पर लगे फंदे पर लटका मिला। आदमपुर चौकी पुलिस ने सोमवार सुबह मृतका का सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया। पुलिस ने मृतका के पिता के बयान पर पति के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजूबर करने का केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस को दिए बयान में गुरुग्राम के अमनपुरा के वार्ड-12 निवासी अवदेश शर्मा ने बताया कि वो फर्नीचर का कारोबार करते हैं। उनकी बड़ी रेणु (23) ने मंदोली निवासी अमित के साथ 2015 में प्रेम विवाह किया था। इसके बाद दोनों मंदोली गांव रहने लगे थे। मृतका के पिता ने बताया कि कुछ समय बाद वो दोनों गुरुग्राम आकर रहने लगे। वहां वे दो साल तक रहे और इस दौरान रेणु को एक बेटी भी हुई। इसके बाद वे वापस मंदोली गांव आ गए। अवदेश शर्मा ने बताया कि अमित गुरुग्राम में नौकरी करता था और इसी दौरान उसकी रेणु से मुलाकात हुई थी।

मृतका के पिता ने बताया कि मंदोली आने के बाद अमित उसकी बेटी के साथ मारपीट करने लगा। बात-बात पर वह उसे प्रताड़ित करता रहता था और तलाक देने की धमकी देने लगा था। उन्होंने बताया कि रविवार शाम उन्हें सूचना मिली कि रेणु ने खेत में फंदा लगा लिया है। सूचना पाकर दादरी सिविल अस्पताल पहुंचे तो रेणु की मौत हो चुकी थी। आदमपुर चौकी प्रभारी भीम सिंह ने बताया कि रविवार दोपहर करीब डेढ़ बजे पुलिस को सूचना मिली कि मंदोली गांव मेें एक महिला ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है।

इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया। भीम सिंह ने बताया कि पुलिस ने गुरुग्राम में रह रहे मृतका के मायके पक्ष के लोगों को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने मृतका के पिता के बयान पर पति के खिलाफ प्रताड़ना का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

एक माह पहले मायके रहकर आई थी रेणु
मृतका के पिता अवदेश शर्मा ने बताया कि उसकी बेटी रेणु करीब एक माह पहले उनके यहां गुरुग्राम आई थी। उस दौरान रेणु करीब एक सप्ताह वहां रुकी थी और उस दौरान उसने अपनी मां को बताया था कि उसकी पति उसे तलाक देने की धमकी देता है। इसके अलावा उससे मारपीट करता है। अवदेश ने बताया कि रेणु के दो वर्ष की बेटी भी है।

आदमपुर पुलिस चौकी प्रभारी भीम सिंह ने बताया कि मृतका के पिता की शिकायत पर पति के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस मामले की जांच करेगी और तथ्यों के अनुसार आगामी कार्रवाई अमल में लाएगी।
... और पढ़ें

चरखी दादरीः बैंकॉक ले जाकर नर्स से दुष्कर्म करने का आरोपी गिरफ्तार, मारपीट का भी आरोप

नर्स को बहलाकर बैंकॉक ले जाकर दुष्कर्म करने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी गांव बेरला का रहने वाला है। इस संबंध में पीड़िता ने गत 29 जुलाई को ही सिटी थाने में शिकायत सौंपी थी।

इसके बाद आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं के तहत पुलिस ने केस दर्ज किया था। पुलिस प्रवक्ता संदीप पिलानिया ने बताया कि शहर निवासी एक महिला ने शिकायत दी थी कि वह भिवानी के एक अस्पताल में नर्स है। 

बेरला निवासी एक व्यक्ति अपने भाई का ऑपरेशन करवाने अस्पताल आया था। वहां उन दोनों की मुलाकात हुई और इसके बाद आरोपी ने उसका मोबाइल नंबर ले लिया। प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी ने महिला को शादी के नाम पर बहलाकर कई बार दुष्कर्म किया और चार जुलाई को आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली।

आरोपी ने नर्स को कुछ दिन तक शादी का जिक्र घर न करने की बात कही। गत 16 जुलाई को आरोपी पीड़िता को बैंकाक ले गया और वहां पर भी उसने होटल में शारीरिक संबंध बनाए। 

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि विरोध करने पर महिला से मारपीट भी की गई। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने संज्ञान लेते हुए आरोपी सुमेश के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। प्रवक्ता ने बताया कि बुधवार को पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसे गुरुवार सुबह कोर्ट में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया गया है। आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

हरियाणाः चरखी दादरी के क्रशर जोन में दीवार गिरने से दो बच्चों की मौत, एक पीजीआई रेफर

मानकावास क्रेशर जोन में टंकी के पास खेल रहे तीन बच्चों पर गुरुवार सुबह दीवार गिर गई। हादसे में दो बच्चों की मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल बच्ची को पीजीआई रोहतक रेफर किया गया है। हादसे का शिकार बने तीनों बच्चे एक ही परिवार के हैं। सदर थाना पुलिस ने मृतक बच्चों का पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल में कराया। 

पुलिस ने मृतक बच्चों के परिजनों के बयान पर इत्तफाकिया हादसे की कार्रवाई की है। जांच अधिकारी का कहना है कि बारिश के दौरान दीवार के समीप से मिट्टी का कटाव हो गया था। इसके चलते गुरुवार सुबह दीवार ढह गई और बच्चे इसकी चपेट में आ गए। मृतक दोनों बच्चे मूलरूप से उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के मारकंडी गांव के रहने वाले थे।

पुलिस बयान में मृतक शिवा (2) के पिता सिलोचन व मृतक शोभित के पिता उमेश ने बताया कि वे काम की तलाश में मानकावास क्रेशर जोन पर आए थे। गुरुवार सुबह उन दोनों के साथ तीनों बच्चे शिवा, शोभित व समुंद्री (4) श्री बालाजी क्रेशर पर बनी टंकी पर नहाने के लिए गए थे। वे दोनों नहाकर वापस कमरे पर आ गए, जबकि तीनों बच्चे वहीं खले रहे थे। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन