बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

खबर जो खो गईः 23 साल पहले दिल्ली के इस आशिक ने प्रेमिका को पाने के लिए बहा दिया था उसी का खून

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: पूजा त्रिपाठी Updated Fri, 19 Jul 2019 12:25 PM IST
विज्ञापन
khabar jo kho gayi priyadarshini mattoo murder case full story convict
ख़बर सुनें
23 साल पहले 1996 में पूरे देश को हिलाकर रख देने वाली एक ऐसी घटना हुई थी जिसने लोगों का पुलिस और कानून से भरोसा लगभग उठा दिया था। एक बड़े पिता की बिगड़ी औलाद ने कुछ ऐसा कर दिया जो लंबे समय तक लोगों के जेहन में रहा।
विज्ञापन


यह मामला था प्रियदर्शिनी मट्टू दुष्कर्म और हत्या का। आप सोच रहे होंगे कि हम आपको इस बारे में आज क्यों बता रहे हैं, तो इसके पीछे वजह है कि इस मामले का दोषी संतोष सिंह सालों बाद रिहा हो सकता है।


प्रियदर्शनी मट्टू हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे संतोष कुमार को रिहा करने की तैयारी है। जेल प्रशासन ने इनके साथ 205 कैदियों को छोड़ने के लिए 19 जुलाई को इनके नाम सेंटेंस रिव्यू बोर्ड (एसआरबी) को भेजने का फैसला किया है।

संतोष की रिहाई की अर्जी पहले भी एसआरबी खारिज कर चुका है। ऐसे में इस बार यह देखना रोचक होगा कि अब एसआरबी क्या फैसला लेता है। 

आइए जानते हैं कि आखिर संतोष सिंह ने ऐसा क्या किया था, जिसकी इतनी लंबी सजा काटने के बाद भी एसआरबी उनकी रिहाई के लिए नहीं मान रहा है।

विज्ञापन
आगे पढ़ें

हुआ बार-बार रिजेक्ट फिर भी करता रहा पीछा

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X